विराट कोहली के अनमोल कथन Virat Kohli quotes in Hindi

विराट कोहली के अनमोल कथन Virat Kohli quotes in Hindi

इस लेख में आप क्रिकेटर विराट कोहली के अनमोल कथन (Virat Kohli quotes in Hindi) पढेंगे। विराट कोहली एक भारतीय क्रिकेटर हैं जिन्होंने विश्व स्थर पर क्रिकेट …

पूरा पढ़ें >>विराट कोहली के अनमोल कथन Virat Kohli quotes in Hindi

30 ज़बरदस्त: मित्रता पर अनमोल विचार Best Friendship Quotes Hindi

30 ज़बरदस्त: मित्रता पर अनमोल उद्धरण Best Friendship Quotes Hindi

मित्रता पर अनमोल उद्धरण Best Friendship Quotes Hindi

मित्रता/दोस्ती या Friendship दो लोगों के बीच एक ऐसा बंधन है जिसमें वे दोनों एक दुसरे की चिंता/परवाह करते हैं। एक दोस्त ऐसा होता है जिसे आपको क्या पसंद है क्या नहीं सब पता होता है। उसे हमेशा पता होता है की आपको अचार खाना अच्छा लगता है या नहीं।

दुसरे शब्दों में अगर हम Friendship का बखान करे तो या अद्भुत है। ना हम दोस्ती को आसान बोल सकते हैं और ना ही मुश्किल। दोस्ती एक ऐसा ज़बरदस्त रिश्ता है जिसको अटूट बनाने के लिए जीवन का अनमोल समय लगता है।

पर इन सब बातों से अलग एक दोस्त हमेशा अपने दुसरे दोस्त को हर कोशिश मदद करता है उसके अच्छे और बुरे दोनों समय में। एक अच्छा दोस्त होने के लिए कुछ चीजों की आवश्यकता होती है – बिना किसी शर्त के अच्छी दोस्ती, ईमानदारी, विश्वसनीयता और निष्ठा।

एक मित्रता में उनका रिश्ता कुछ ऐसी होनी चाहिए कि दोनों को इससे ख़ुशी मिले और अपने बिताये हुए टाइम में उनका मज़ा भी आये।

मित्रता पर अनमोल उद्धरण व विचार Best Friendship Quotes Hindi

निचे हमने कुछ ज़बरदस्त दोस्ती पर अनमोल विचारों के बारे में बताया है जो आपकी दोस्ती को और भी मजबूत और विश्वास वाला बना देगामित्रता पर अनमोल उद्धरण।

#1 A real friend is one who walks in when the rest of the world walks out. – Walter Winchell

एक असली दोस्त वो होता है जो तब आपके साथ चलता है जब साड़ी दुनिया आपके साथ चलना छोड़ देती है – वाल्टर विन्चेल्ल

#2 A single rose can be my garden… a single friend, my world. – Leo Buscaglia

एक अकेला गुलाब मेरा बगीचा है और एक अकेला दोस्त, मेरी दुनिया – लियो बुस्काग्लिया

#3 It is not a lack of love, but a lack of friendship that makes unhappy marriages. – Friedrich Nietzsche

दुखी विवाह का कारण, प्यार की कमी नहीं दोस्ती की कमी होता है – फ्राइडरिच निएत्ज़्स्चे

#4 If you go looking for a friend, you’re going to find they’re very scarce. If you go out to be a friend, you’ll find them everywhere. – Zig Ziglar

अगर आप एक दोस्त की तलाश में निकलेंगे, तो दोस्त ढूँढना दुर्लभ बात हो जायेगा लेकिन अगर आप दोस्त बनने के लिए बाहर निकलेंगे तो आप हर जगह दोस्त पाएंगे – जिग जिगलर

#5 Keep away from those who try to belittle your ambitions. Small people always do that, but the really great make you believe that you too can become great. – Mark Twain

दूर रहें उन लोगों से जो आपके महत्वाकांक्षा को छोटा बनाते हैं। ऐसा करने वाले लोग बहुत छोटे लोग होते हैं। पर जो सच में महान व्यक्ति होते हैं वे हमेशा आपको विश्वास दिलाते हैं कि आप भी महान बन सकते हैं। -मार्क ट्वेन

#6 No person is your friend who demands your silence, or denies your right to grow. – Alice Walker

कोई भी व्यक्ति आप मित्र नहीं है जो आपको हमेशा चुप रहने को कहे और जो आपके विकास को रोके। -ऐलिस वॉकर

#7 Friends are those rare people who ask how we are and then wait to hear the answer. – Ed Cunningham

दोस्त वो अनमोल लोग होते हैं जो हमसे पूछते हैं – आप कैसे हो और उसके बाद वे हमारे उत्तर का इंतज़ार भी करते हैं। एड कन्निंगहम

#8 A good friend can tell you what is the matter with you in a minute. .– Arthur Brisbane

एक अच्छा मित्र एक मिनट में आपके अन्दर क्या चल रहा है बता सकता है। अर्थुर ब्रिसबेन

#9 If you make friends with yourself you will never be alone. – Maxwell Maltz

अगर आप अपने साथ दोस्त बनायेंगे तो आप कभी अकेले नहीं होगे। मैक्सवेल माल्ट्ज

#10 A true friend is someone who thinks that you are a good egg even though he knows that you are slightly cracked.– Bernard Meltzer

एक सच्चा मित्र वो होता है जो आपको एक अच्छे अंडे के समान सोचता है भले ही वो जनता है कि आप थोडा। बर्नार्ड मेल्त्ज़ेर

#11 People are lonely because they build walls instead of bridges.— Joseph F. Newton Men

लोगों के जीवन में अकेलापन होता है क्योंकि वे पुल की जगह दीवारें बनाते हैं। जोसफ ऍफ़. न्यूटन मेन

#12 Friendship is like a glass ornament, once it is broken it can rarely be put back together exactly the same way. – Charles Kingsley

दोस्ती एक कांच के आभूषण के जैसा होता है, एक बार यह टूट गया तो पहले के जैसा समान रूप देना बहुत मुश्किल है। चार्ल्स किंग्सले

#13 A friend knows the song in my heart and sings it to me when my memory fails.– Donna Roberts

एक दोस्त मेरे दिल में जो गीत है उसे जनता है और जब में उसे भूल जाता हूँ वह उस गीत को गाकर याद दिलाता है।

#14 The best time to make friends is before you need them.– Ethel Barrymore

दोस्त बनाने का सबसे अच्छा समय तब होता है जब आपको दोस्त की ज़रुरत ना हो। -एथल बैरीमोर

#15 Truly great friends are hard to find, difficult to leave, and impossible to forget.

सच्चे महान दोस्त मुश्किल से मिलते हैं, मुश्किल से छोड़ते हैं, और मुस्किल से भूलते हैं।

#16 Don’t walk in front of me; I may not follow. Don’t walk behind me; I may not lead. Just walk beside me and be my friend.– Albert Camus

मेरे सामने मत चलो; में पीछा नहीं करूंगा। मेरे पीछे मत चलो; में पीछे नहीं देखूंगा। बस मेरे बगल में चलो और मेरे दोस्त बन जाओ। अल्बर्ट कामस

#17 To the world you may be just one person, but to one person you may be the world.– Brandi Snyder

दुनिया के लिए भले ही आप एक व्यक्ति हों, पर एक व्यक्ति ऐसा है जिसको आप पूरी दुनिया मानते हो। ब्रांडी स्न्यीडर

#18 The greatest gift of life is friendship, and I have received it.  – Hubert H. Humphrey

जीवन का सबसे बड़ा तौफा दोस्ती है, और मुझे वह मिल चूका है। हबर्ट एच. हम्फरे

#19 There is nothing on this earth more to be prized than true friendship.  – Thomas Aquinas

इस धरती पर सच्ची मित्रता या दोस्ती से बेशकीमती और कुछ नहीं। थॉमस अकुइनस

#20 Friendship is always a sweet responsibility, never an opportunity. – Khalil Gibran

दोस्ती हमेशा एक मीठा कर्तव्य होता है, ना की कोई मौक़ा या अवसर। खलील गिबरन

#21 Friendship… is not something you learn in school. But if you haven’t learned the meaning of friendship, you really haven’t learned anything.–Muhammad Ali

दोस्ती … ऐसी कोई चीज नहीं है जो आप स्कूल में सीखते हैं। परन्तु अगर आपने दोस्ती का नहीं मतलब नहीं सिखा है, तो आपने जीवन में कुछ भी नहीं सिखा है। मुहम्मद अली

#22 Remember that the most valuable antiques are dear old friends. –H. Jackson Brown, Jr.

हमेशा याद रखिये … कि दुनिया में सबसे मूल्यवान हमारे प्यारे पुराना दोस्त होते हैं। एच. जैक्सन ब्राउन, जूनियर

#23 Friends show their love in times of trouble, not in happiness. –Euripides

दोस्त अपना प्यार मुश्किल के समय जताते और दिखाते हैं ना कि खुशियों के समय – यूरीपिडेस

#24 A friend is a gift you give yourself. –Robert Louis Stevenson

एक मित्र ऐसा तौफा होता है जो आप अपने आपको देते हैं। रोबर्ट लुइस स्टीवेंसन

#25 Friendship is one mind in two bodies. –Mencius

दोस्ती एक दिमाग और एक जान होता है। मेनसिउस

#26 Instead of loving your enemies – treat your friends a little better. –E. W. Howe

अपने दुश्मनों से प्यार करने से अच्छा – अपने मित्रों को कुछ ज्यादा अच्छा व्यवहार देना है। इ. व्लू. हॉवे

#27 A true friend is one who overlooks your failures and tolerates your success –Doug Larson

एक सच्चा दोस्त वो होता है जो आपके विफलताओं को ध्यान से नज़र में लता है। डौग लार्सन

#29 Friendship multiplies the good of life and divides the evil. –Baltasar Gracian

दोस्ती जीवन में अच्छी चीजों को बढ़ावा देता है और सभी अमंगल को दूर करता है।

#30 As iron sharpens iron, so a friend sharpens a friend. –King Solomon

एक लोहा जिस प्रकार से होहे को निखरता है उसी प्रकार एक दोस्त दुसरे दोस्त को निखरता है।

यह कुछ ज़बरदस्त उद्धरण हैं जो आपके जीवन में मित्रता को बनाये रखेंगे ! अगर आपको यह 30 ज़बरदस्त Friendship Thoughts अच्छे लगे तो अपने Social Media पर Share करना ना भूलें।

बच्चों के लिए अनुशासन पर निबंध Essay on Discipline for Children in Hindi

बच्चों के लिए अनुशासन पर निबंध Essay on Discipline for Children in Hindi

बच्चों के लिए अनुशासन पर निबंध Essay on Discipline for Children in Hindi अनुशासन का अर्थ है, कुछ नियमों का पूरा आश्वासन। समाज की प्रगति और व्यक्तित्व …

पूरा पढ़ें >>बच्चों के लिए अनुशासन पर निबंध Essay on Discipline for Children in Hindi

पर्यावरण पर भाषण Environment Speech in Hindi

पर्यावरण पर भाषण Best Environment Speech in Hindi

पर्यावरण पर भाषण Best Environment Speech in Hindi पर्यावरण मनुष्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण विषय है। सही नजरिए से देखा जाए तो पर्यावरण के कारण ही पृथ्वी …

पूरा पढ़ें >>पर्यावरण पर भाषण Environment Speech in Hindi

गुरु नानक देव जी की जीवनी Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi

गुरु नानक देव जी की जीवनी Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi क्या आप गुरु नानक जी का इतिहास हन्दी में पढना चाहते हैं Guru nanak dev ji history hindi me? क्या आप गुरु नानक देव जी की पूरी कहानी पढ़ना चाहते हैं? Guru nanak dev history  अगर हाँ, तो चलिए Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi भाषा में पढ़ते हैं और उनके सकारात्मक सुविचारों को करीब से समझते हैं।

नाम – नानक (Nanak)
प्रसिद्ध नाम – श्री गुरु नानक देव जी (Shri Guru Nanak Dev Ji)
जन्म -Guru nanak birth place 15अप्रैल,1469 में गाँव तलवंडी, शेइखुपुरा डिस्ट्रिक्ट(जो आज के दिन ननकाना साहिब, पंजाब ,पाकिस्तान में है) गुरुनानक दिवस (Celebrated as Guru Nanak Jayanti )
मृत्यु – 22सितम्बर, 1539 करतारपुर, मुग़ल साम्राज्य, पाकिस्तान
महान कार्य – विश्व भर में सांप्रदायिक एकता, शांति, सदभाव के ज्ञान को बढ़ावा दिया और सिख समुदाय की नीव रखा।

गुरु नानक देव जी की जीवनी Guru Nanak Dev Ji Biography Hindi

गुरु नानक देव जी का प्रारंभिक जीवन (Gurus of sikh) Early Life of Guru Nanak Dev Ji Hindi

श्री गुरु नानक देव जी का जन्म 15अप्रैल,1469 में गाँव तलवंडी, शेइखुपुरा डिस्ट्रिक्ट में हुआ जो की लाहौर पाकिस्तान से 65KM पश्चिम में स्तिथ है। उनके पिता बाबा कालूचंद्र बेदी और माता त्रिपता नें उनका नाम नानक रखा। उनके पिता गाँव में स्थानीय राजस्व प्रशासन के अधिकारी थे।

अपने बाल्य काल में श्री गुरु नानक जी नें कई प्रादेशिक भाषाएँ सिखा जैसे फारसी और अरबी। उनका विवाह वर्ष 1487 में हुआ और उनके दो पुत्र भी हुए एक वर्ष 1491 में और दूसरा 1496 में हुआ।

वर्ष 1485 में अपने भैया और भाभी के कहने पर उन्होंने दौलत खान लोधी के स्टोर में अधिकारी के रूप में निकुक्ति ली जो की सुल्तानपुर में मुसलमानों का शासक था। वही पर उनकी मुलाकात एक मुस्लिम कवी के साथ हुई जिसका नाम था मिरासी।

वर्ष 1496 में उन्होंने अपना पहला भविष्यवाणी किया – जिसमें उन्होंने कहा कि “कोई भी हिन्दू नहीं और ना ही कोई मुस्लमान है” और कहा कि यह एक महत्वपूर्ण घोषणा है जो ना सिर्फ आदमी के भाईचारा और परमेश्वर के पितृत्व की घोषणा है,  बल्कि यह भी स्पष्ट है की मनुष्य की प्राथमिक रूचि किसी भी प्रकार के अध्यात्मिक सिधांत में नहीं है, वह तो मनुष्य और उसके किस्मत में हैं। इसका मतलब है अपने पड़ोसी से अपने जितना प्यार करो।

गुरु नानक देव जी के मिशन की कहानी Mission Story of Guru Nanak Dev Ji Hindi

गुरु नानक जी नें अपने मिशन की शुरुवात मरदाना के साथ मिल के किया। अपने इस सन्देश के साथ साथ उन्होंने कमज़ोर लोगों के मदद के लिए ज़ोरदार प्रचार किया। इसके साथ उन्होंने जाती भेद, मूर्ति पूजा और छद्म धार्मिक विश्वासों के खिलाफ प्रचार किया।

उन्होंने अपने सिद्धांतो और नियमों के प्रचार के लिए अपने घर तक को छोड़ दिया और एक सन्यासी के रूप में रहने लगे। उन्होंने हिन्दू और मुस्लमान दोनों धर्मों के विचारों को सम्मिलित करके एक नए धर्म की स्थापना की जो बाद में सिख धर्म के नाम से जाना गया।

भारत में अपने ज्ञान के प्रसार के लिए कई हिन्दू और मुश्लिम धर्म की जगहों का भ्रमण किया।

एक बार वे गंगा तट पर खड़े थे और उन्होंने देखा की कुछ व्यक्ति पानी के अन्दर खड़े हो कर सूर्य की ओर पूर्व दिशा में देखकर पानी डाल रहें हैं उनके स्वर्ग में पूर्वजों के शांति के लिए। गुरु नानक जी भी पानी और वे भी अपने दोनों हाथों से पानी डालने लगे पर अपने राज्य पूर्व में पंजाब की ओर खड़े हो कर। जब यह देख लोगों नें उनकी गलती के बारे में बताया और पुछा ऐसा क्यों कर रहे थे तो उन्होंने उत्तर दिया – अगर गंगा माता का पानी स्वर्ग में आपके पूर्वजों तक पहुँच सकता है तो पंजाब में मेरे खेतों तक क्यों नहीं पहुँच सकता क्योंकि पंजाब तो स्वर्ग से पास है।

पुरे भारत में अपने ज्ञान को बाँटने के पश्चात उन्होंने मक्का मदीना की भी यात्रा की और वहां भी लोग उनके विचारों और बातों से अत्यंत प्रभावित हुए।

जब गुरु नानक जी 12 वर्ष के थे उनके पिता ने उन्हें 20 रूपए दिए और अपना एक व्यापर शुरू करने के लिए कहा ताकि वे व्यापर के विषय में कुछ जान सकें। पर गुरु नानक जी नें उस 20 रूपये से गरीब और संत व्यक्तियों के लिए खाना खिलने में खर्च कर दिया। जब उनके पिता नें उनसे पुछा – तुम्हारे व्यापर का क्या हुआ? तो उन्होंने उत्तर दिया – मैंने उन पैसों का सच्चा व्यापर किया।

जिस जगह पर गुरु नानक जी नें उन गरीब और संत व्यक्तियों को भोजन खिलाया था वहां सच्चा सौदा नाम का गुरुद्वारा बनाया गया है।

आखिर में अपनी 25 वर्ष की यात्रा के बाद श्री गुरु नानक देव जी करतारपुर, पंजाब के एक गाँव में किसान के रूप में रहने लगे और बाद में उनकी मृत्यु भी वही हुई। भाई गुरुदास जिनका जन्म गुरु नानक के मृत्यु के 12 वर्ष बाद हुआ बचपन से ही सिख मिशन से जुड़ गए। 

उन्हें सिख गुरुओं का प्रमुख चुना गया। उन्होंने सिख समुदाय जगह-जगह पर बनाया और अपने बैठक के लिए सभा बनाया जिन्हें धरमशाला के नाम से जाना जाता है। आज के दिन में धरमशालाओं में सिख समुदाय गरीब लोगों के लिए खाना देता है।

श्री गुरु नानक जी से जुड़े कुछ प्रमुख गुरुद्वारा साहिब

1. गुरुद्वारा कंध साहिब- बटाला (गुरुदासपुर) –  गुरु नानक का यहाँ पत्नी सुलक्षणा से 18 वर्ष की आयु में संवत्‌ 1544 की 24वीं जेठ को विवाह हुआ था। यहाँ गुरु नानक की विवाह वर्षगाँठ पर प्रतिवर्ष उत्सव का आयोजन होता है।

2. गुरुद्वारा हाट साहिब- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) गुरुनानक ने बहनोई जैराम के माध्यम से सुल्तानपुर के नवाब के यहाँ शाही भंडार के देखरेख की नौकरी प्रारंभ की। वे यहाँ पर मोदी बना दिए गए। नवाब युवा नानक से काफी प्रभावित थे। यहीं से नानक को ‘तेरा’ शब्द के माध्यम से अपनी मंजिल का आभास हुआ था।

3. गुरुद्वारा गुरु का बाग- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) यह गुरु नानक देव जी का घर था, जहाँ उनके दो बेटों बाबा श्रीचंद और बाबा लक्ष्मीदास का जन्म हुआ था।

4. गुरुद्वारा कोठी साहिब- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) नवाब दौलतखान लोधी ने हिसाब-किताब में ग़ड़बड़ी की आशंका में नानकदेवजी को जेल भिजवा दिया। लेकिन जब नवाब को अपनी गलती का पता चला तो उन्होंने नानकदेवजी को छोड़ कर माफी ही नहीं माँगी, बल्कि प्रधानमंत्री बनाने का प्रस्ताव भी रखा, लेकिन गुरु नानक ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया।

5.गुरुद्वारा बेर साहिब- सुल्तानपुर लोधी (कपूरथला) जब एक बार गुरु नानक अपने सखा मर्दाना के साथ वैन नदी के किनारे बैठे थे तो अचानक उन्होंने नदी में डुबकी लगा दी और तीन दिनों तक लापता हो गए, जहाँ पर कि उन्होंने ईश्वर से साक्षात्कार किया। सभी लोग उन्हें डूबा हुआ समझ रहे थे, लेकिन वे वापस लौटे तो उन्होंने कहा- एक ओंकार सतिनाम। गुरु नानक ने वहाँ एक बेर का बीज बोया, जो आज बहुत बड़ा वृक्ष बन चुका है।

6. गुरुद्वारा अचल साहिब- गुरुदासपुर अपनी यात्राओं के दौरान नानक देव जी यहाँ रुके और नाथपंथी योगियों के प्रमुख योगी भांगर नाथ के साथ उनका धार्मिक वाद-विवाद यहाँ पर हुआ। योगी सभी प्रकार से परास्त होने पर जादुई प्रदर्शन करने लगे। नानकदेवजी ने उन्हें ईश्वर तक प्रेम के माध्यम से ही पहुँचा जा सकता है, ऐसा बताया।

7. गुरुद्वारा डेरा बाबा नानक- गुरुदासपुर जीवनभर धार्मिक यात्राओं के माध्यम से बहुत से लोगों को सिख धर्म का अनुयायी बनाने के बाद नानकदेवजी रावी नदी के तट पर स्थित अपने फार्म पर अपना डेरा जमाया और 70 वर्ष की साधना के पश्चात सन्‌ 1539 ई. में परम ज्योति में विलीन हुए।