गौरैया और हाथी की ज्ञानवर्धक कहानी Elephant and Sparrow Story in Hindi

आज हमने गौरैया और हाथी की ज्ञानवर्धक कहानी Elephant and Sparrow Story in Hindi हिन्दी मे लिखा है। यह कहानी बच्चों को बहुत अच्छी लगती है और इससे अच्छी सिख या ज्ञान भी उनको प्राप्त होता है।

गौरैया और हाथी की ज्ञानवर्धक कहानी Elephant and Sparrow Story in Hindi

एक बार एक पेड़ पर अपने पति के साथ एक गौरैया रहती थी। उसने एक अच्छा घोंसला बनाया था और घोंसले में अपने अंडे रखे थे।

एक सुबह, बुखार होने के कारण एक जंगली हाथी छाया की तलाश में पेड़ के नीचे आया और गुस्से में पेड़ की उस शाखा को तोड़ दिया जिस पर गौरैया चिड़िया ने घोंसला बना रखा था। दुर्भाग्य से सभी गौरैया के अंडे गिर कर टूट गए, हालांकि दोनों माता-पिता गौरैया बच गए थे। वह गौरैया दुख मे विलाप करने लगी।

उसके विलाप को देखकर, कठफोड़वा पक्षी (woodpeckers) उसके पास आया। सारी बात जानने के बाद उसने गौरैया को सांत्वना दीया। उसने उसे कहा कि वह हाथी को मारने का एक तरीका सोचे। फिर वह अपने दोस्त सलाहकार मेंढक (frog) के पास गई।

फिर मेंढक ने हाथी को मारने के लिए एक योजना तैयार की। उसने गौरैया को हाथी के कानों में गूंजने के लिए कहा, ताकि हाथी संगीत सुनकर रोमांचित और पागल सा हो जाए और अपनी आँखें बंद कर ले।

आँखें बंद करते ही कठफोड़वा पक्षी अपनी तेज़ चोंच से उसकी आँख फोड़ देगी। स्वयं मेंडक एक गड्ढे के पास रह कर आवाज करेगा जिससे वह गुमराह हो कर गड्ढे मे गिर जाएगा और तड़प कर मर जाएगा।

अगले दिन दोपहर को तीनों ने इस योजना को अंजाम दिया और हाथी को मार दिया गया। भले ही तीनों जानवर हाथी से कमजोर थे परंतु उन तीनों ने मिलकर बुद्धि के साथ दुष्ट हाथी से बदला लिया और सफल हुए।

इसे भी पढ़ें -  तेनालीराम की 3 कहानियां बच्चों के लिए Tenali Raman Stories in Hindi for Kids

कहानी से शिक्षा (Moral)

बुद्धि बल से श्रेष्ठ है।

आशा करते हैं गौरैया और हाथी (पंचतंत्र की कहानी) Elephant and Sparrow Story in Hindi आपको पसंद आई होगी। पढ़ने के लिए धन्यवाद।

पढ़ें: हाथी और खरगोश की कहानी

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.