आत्मनिर्भर भारत अभियान Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan

आज के इस लेख में हम आपको आत्मनिर्भर भारत अभियान Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan के बारे में जानकारी देने वाले है जिसके अंतर्गत हम आपको आत्मनिर्भर भारत योजना क्या है, इसका उद्देश्य, विशेषता तथा आत्मनिर्भर भारत योजना 3.0 आदि के बारे में बताने वाले है

आत्मनिर्भर की परिभाषा Definition of Atma Nirbhar (in Hindi)

आत्मनिर्भर का शाब्दिक अर्थ स्वयं अथवा खुद पर निर्भर या आश्रित होना। इससे आप सभी समझ सकते है कि आत्मनिर्भर भारत का सही अर्थ। आत्मनिर्भर भारत यानी हम भारत को ऐसा देश बनाने की बात कर रहे है जहाँ भारत की किसी भी चीज के लिए दुनिया के किसी भी देश पर निर्भर ना रहना पड़े चाहे वो नई तकनीकी हो, इलेक्ट्रानिक उपकरण, दवाई, मशीनों, खाद्य पदार्थ या सैनिक हथियार हों। 

हम चाहते है कि हर वो चीज जो हम इस्तेमाल करते है जैसे ट्रेन, हवाई जहाज़, मोबाइल, कंप्यूटर आदि हमारे जरूरत की सारे सामान अच्छी गुणवत्ता के साथ भारत में ही निर्माण किया जाए जिससे हमे किसी भी देश से कम से कम वस्तुओं का आयात ना करना पड़े और हम किसी भी देश पर कम से कम निर्भर रह सके। आत्मनिर्भर भारत का अर्थ यही है। 

आत्मनिर्भर भारत का एक और अर्थ भी निकलता है, कि भारत में रहने वाले युवा जो बेरोज़गारी से परेशान है, उनके संदर्भ में कह सकते है कि वो आत्मनिर्भर बने। जिससे भारत भी आत्मनिर्भर बन सके।

आत्मनिर्भर भारत अभियान Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan

अगर हम आत्मनिर्भर भारत योजना के बारे में बात किया जाए, तो आत्मनिर्भर भारत अभियान (Aatm Nirbhar Bharat Yojana) को हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा 12 मई 2020 को इस योजना की घोषणा की। जब पूरी दुनिया कोरोना जैसे महामारी से गुज़र रहा था, उस समय प्रधानमंत्री मोदी जी ने भारत के 130  करोड़ को संबोधित करते हुए लोगों को आत्मनिर्भर करने के लिए प्रोत्साहन भी  किया जिससे हम कोरोना जैसे महामारी से लड़ने में सक्षम हो सके। 

कोरोना के महामारी से पूरे देश में लॉकडाउन के चलते मजदूरों, किसानों और छोटे उद्योगों के साथ आम जनता को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। इसके साथ भारत की अर्थव्यवस्था का भी बुरा हाल हो गया था। इस समस्या से निपटने के लिए हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने आत्मनिर्भर भारत की घोषणा किया।

जिसके अंतर्गत 20 लाख करोड़ का राहत पैकेज की घोषणा की, जो देश की सकल घरेलू उत्पाद (Gross domestic product – GDP) का 10 % है। इस योजना के लाभार्थियों को आर्थिक मदद दी जाने की बात कही गई और साथ ही उन प्राइवेट सेक्टर की भी मदद की जाएगी जो बंद होने के कगार पर है।

और पढ़ें -  प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना Pradhan Mantri Saubhagya Yojana in Hindi (PMSY)

इसके लिए सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत योजना का आधिकारिक वेबसाइट का निर्माण किया गया। जिस पर जाकर आप आवेदन के द्वारा इस योजना का लाभ उठा सकते है।  

आत्मनिर्भर भारत अभियान (Aatm Nirbhar Bharat Yojana) के तीन चरण है,  जिसे हम 1.0, 2.0  और 3.0  के नाम से जानते है। आत्मनिर्भर भारत अभियान 1.0 में सरकार ने कई योजनाओं को लागू किया है, जिसमे एक देश एक राशनकार्ड (One Nation One Ration Card ), किसान क्रेडिट कार्ड योजना, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना, इसीएलजीएस1.0, लिक्विडिटी इंजेक्शन फॉर डिस्कम्स, स्पेशल लिक्विडिटी स्कीम फॉर एनबीएफसी/एचएफसी, पार्शियल क्रेडिट गारंटी स्कीम 2.0 आदि है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान 2.0 (Aatm Nirbhar Bharat Yojana 2.0) में लागू किये गए योजनाओं में एलटीसी कैश वाउचर स्कीम, जो अर्थव्यवस्था में सुधार करने के लिए लागू किया गया। फेस्टिवल एडवांस स्कीम के अंतर्गत SBI उत्सव कार्ड सभी लाभार्थियों को दिए जायेंगे।

इसके अलावा 11 राज्यों को 3621 करोड़ रुपये कैपिटल खर्च के लिए दिए गए। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of Road Transport) तथा रक्षा मंत्रालय (Ministry Of Defence) को अतिरिक्त खर्च के लिए 25000 करोड रुपये दिए गए।

आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 के विषय में जानकारी Information on Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan 3.0

कोरोना काल (COVID19) में आत्मनिर्भर भारत अभियान के दो सफल चरणों के बाद इस तीसरा चरण यानी आत्मनिर्भर भारत योजना 3.0 को हमारे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 1 फरवरी 2021 को आम बजट के साथ लॉन्च किया गया। जिसमे सरकार द्वारा 27 लाख करोड़ रुपये का निवेश करन की बात कही गई, जो हमारी GDP  का 13 प्रतिशत है।

इसके अभियान के अंतर्गत सरकार ने 12 नई योजनाओं की घोषणा की गई। जिसमे लगभग सभी क्षेत्रों को ध्यान में रखा गया है। इन योजनाओं से पाने वाले लाभार्थियों में किसान, मज़दूर, गरीब और आर्थिक रूप से पीछे लोग, छोटे व्यापारी, पशु पालने वाले इसके अलावा कई अन्य क्षेत्र भी शामिल है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के उद्देश्य Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan Objectives

हम सभी जानते है कि विश्व महामारी कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ हुआ था, इसके चलते देश की अर्थव्यवस्था का बुरा हाल हो गया था। साथ देशवासियों की आर्थिक स्थिति भी बिगड़ गई थी। इस समस्या से निपटने के लिए सरकार द्वारा आत्मनिर्भर भारत का आरम्भ किया गया था।

जिसमे कई योजनाएं लाई गई और देश की आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए कार्य किये गए। इसी दिशा में आत्मनिर्भर भारत का तीसरा चरण 3.0 भी लॉन्च किया गया जिससे देश और नागरिकों की आर्थिक स्थिति को फिर से पहले के जैसे वापस लाई जा सके। 

और पढ़ें -  उन्नत भारत अभियान योजना निबंध Unnat Bharat Abhiyan Scheme in Hindi

आत्मनिर्भर भारत अभियान की विशेषताएँ Features of Aatma Nirbhar Bharat Yojana

यदि हम आत्मनिर्भर भारत अभियान की विशेषताओं की बात करें, तो मुख्य विशेषताएँ इस प्रकार है:

  1. रोज़गार को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने मनरेगा के लिए 40,000 करोड़ रुपये की बढ़ोत्तरी की गई।
  2. हम सभी जानते है कि कोरोना के कारण देश की आर्थिक स्थिति बिगड़ गई थी, भविष्य के ऐसी समस्याओं से निपटने के लिए सरकार ने सार्वजनिक स्वास्थ्य सुधारों के लिए भी निवेश किये गए।
  3. इस अभियान के तहत आसानी से व्यापार करने के लिए भी कई प्रकार के छूट दिए गए।
  4. आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत विकास के लिए लगभग सभी क्षेत्रों में निवेश किये गए।
  5. इस योजना में किसानों की आय को दोगुना करना, बुनियादी ढांचे को मजबूत करने, युवाओं के लिए रोज़गार अवसर के साथ अन्य कई प्रकार के विकास के विषयों पर ध्यान दिया गया। 

पढ़ें : 2020 कृषि बिल के विषय में जानकारी

आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 के अंतर्गत लांच की गई योजनाएं (Launched Yojanas Under Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan)

इस आत्मनिर्भर भारत अभियान के चरण में कई योजनाओं की घोषणा की गई, जो इस प्रकार है-

  1. आत्मनिर्भर भारत रोज़गार योजना –  इसके अंतर्गत युवाओं के लिए रोज़गार पर जोर दिया गया। इस योजना 21 जून 2021 तक चलाया जाएगा। इस योजना का लाभ वही उठा सकते है जो EPFO में रजिस्टर है। इसका लाभ उठाने के लिए EPFO में खाता खुलवाना होगा।
  2. इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम – इस योजना के तहत लोगो को कोलेटरल फ्री लोन प्रदान किया जा रहा है, इसे 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया गया है। जिससे अधिक से अधिक लोग इस योजना का फायदा उठा सके। इसके लिए 2.05 लाख करोड़ रुपये प्रदान किये है, जो 26 सेक्टरों में बाटें जायेंगे।
  3. मैन्युफैक्चरिंग प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम – देश में उत्पादन बढाने के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव की शुरुआत किया गया है, जिसके अंतर्गत घरेलू निर्माण को बढ़ावा दिया गया। इसके लिए सरकार द्वारा 2 लाख करोड़ रुपये प्रदान किये गए।
  4. प्रधानमंत्री आवास योजना – प्रधानमंत्री आवास योजना को पूरा करने के लिए अतिरिक्त रूप से सरकार द्वारा 10,000 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया गया। इस योजना से लगभग 78 लाख रोज़गार के अवसर प्रदान होंगे। जिसमे 25 लाख मेट्रिक टन स्टील और 131 लाख मेट्रिक टन सीमेंट का इस्तेमाल किया जाएगा।
  5. कंस्ट्रक्शन तथा इंफ्रास्ट्रक्चर में मदद – इसमें सरकार ने Performance Security को घटाकर 3 प्रतिशत कर दिया गया, जिससे कंपनियों के पास ज्यादा कैपिटल हो। इसके अलावा सरकार ने टेंडर के लिए Earnest Money Deposit (EMD) को भी हटा दिया।
  6. रियल स्टेट को बढ़ावा देने के लिए सरकार घर बेचने और खरीदने में इन्काम टैक्स से रिलीफ दिया है। ये सिर्फ  के लिए है जो पहली बार बेचे जाने वाले घर जिनकी कीमत 2 करोड़ तक है।
  7. किसी भी फसल के लिए पानी और खाद की आवश्यकता होती है। इसीलिए सरकार द्वारा 65000 करोड़ रुपये खाद सब्सिडी के लिए दिए जायेंगे।
  8. प्रधानमंत्री गरीबी कल्याण योजना को वर्तमान समय में 116 जिलों में चलाई जा रहा है, जिसमे लगभग 37 हजार करोड़ रुपये खर्च किये जा चुके है, इसके अतिरिक्त 10000 करोड़ रुपये और खर्च करने की बात कही गई।
और पढ़ें -  भारतीय सभ्यता पर निबंध Essay on Indian Culture in Hindi - Bharatiya Sabhyata

इसके अलावा सरकार ने निर्यात बढाने के लिए 3000 करोड़ , कोरोना वैक्सीन के लिए 900 करोड़ आदि कई योजनाओं के संचालन के लिए भी पैसे दिए। 

आत्मनिर्भर भारत अभियान के पाँच स्तंभ 5 Pillars of Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan

भारत सरकार ने माना है कि आत्मनिर्भर भारत अभियान अर्थव्यवस्था (Economy), अवसंरचना (Infrastructure), प्रौद्योगिकी (Technology), गतिशील जनसांख्यिकी (Vibrant Demography) और मांग (Demand) इन पांचों स्तम्भ पर टिकी हुई है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत किए गए निवेश Investments in Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan

आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत सरकार द्वारा रोज़गार, कृषि, लघु उद्योग, निर्यात, रियल एस्टेट आदि को बढ़ावा देने के लिए इस अभियान के तीनों चरण में लगभग 29 लाख करोड़ का निवेश करने को कहा गया है।

सरकार ने अलग-अलग सेक्टर में अलग-अलग धनराशि खर्च किया जायेगा। इस अभियान के तहत सरकार ने कई पैकेज की घोषणा की है, जो अपने आप में पांच छोटे बजट के बराबर है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान पोर्टल पर रजिस्टर करने की प्रक्रिया (Registration Process for Aatma Nirbhar Bharat Abhiyaan)

1. आत्मनिर्भर भारत अभियान पोर्टल पर रजिस्टर करने के लिए सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

C:\Users\hp\Desktop\HOME.png

 2. होम पेज पर आपको रजिस्टर पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपके सामने नया पेज आ जायेगा।

C:\Users\hp\Desktop\REGISTER.png

जहाँ आपको रजिस्टर करने के लिए अपनी जानकारी जैसे नाम, ईमेल, जन्म तिथि और मोबाइल नम्बर आदि डाल कर सबमिट करे। इस प्रकार आप इस पोर्टल पर रजिस्टर हो जायेंगे।

आत्मनिर्भर भारत अभियान पोर्टल पर लॉगिन करने की प्रक्रिया

इसके लिए आपको इसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। होम पेज पर आपको लॉगिन पर क्लिक करना होगा। इसके पश्चात आपके सामने लॉगिन का पेज खुल जायेगा।

C:\Users\hp\Desktop\LOGIN.png

वहां अपनी ईमेल आईडी और और पासवर्ड  या मोबाइल नम्बर से लॉगिन  करने के लिए OTP डालने के बाद लॉगिन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आप इस पोर्टल पर लॉगिन कर सकते है।  

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.