चाय पीने के फायदे और नुकसान Advantages Disadvantages of Drinking Tea in Hindi

Contents

चाय पीने के फायदे और नुकसान Advantages Disadvantages of Drinking Tea in Hindi

चाय विश्व भर में पसंद की जाती है। हमारे देश में भी लोग सुबह उठकर चाय पीना पसंद करते हैं। भारत में सर्दी, गर्मी, बरसात हर मौसम में लोग चाय पीते हैं। यहां 70 से 80% लोग सुबह उठकर चाय पीना पसंद करते हैं।  काली, अदरक, तुलसी, ग्रीन टी जैसी चाय को स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है।

चाय पीने के बहुत से फायदे हैं। इसके साथ ही नुकसान भी हैं। इस लेख में हम आपको चाय पीने के फायदे और नुकसान के बारे में बताएंगे।

चाय पीने के फायदे और नुकसान Advantages Disadvantages of Drinking Tea in Hindi

चाय पीने के फायदे Benefits of Drinking Tea

नींद को दूर करती है

चाय के अंदर कैफीन तत्व होता है जो दिमाग को सक्रिय कर देता है। चाय पीने से नींद दूर हो जाती है और व्यक्ति चुस्त दुरुस्त महसूस करता है।

इसे भी पढ़ें -  एचआईवी एड्स का इलाज 2019 HIV AIDS Treatment in Hindi (Overview)

बढ़ती उम्र को घटाती है

चाय मैं एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो बढ़ती उम्र को रोकते हैं। व्यक्ति की खूबसूरती बढ़ाते हैं। उम्र भी कम लगती है।

चाय पीने से ऊर्जा जाती है

चाय पीने से हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है। चाय खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करती है। कैफ़ीन तत्व नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करता है जिससे थकावट दूर हो जाती है। चाय पीने के बाद ताजगी और शक्ति महसूस होती है। आलस दूर होता है।

वजन कम करती है

ग्रीन टी पीने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

याददाश्त बढ़ाती है

चाय के अंदर कैफीन पाया जाता है जो एक प्राकृतिक अमीनो एसिड है। इससे व्यक्ति की याददाश्त बढ़ती है। याद करने की शक्ति बढ़ती है। चाय पीने के बाद व्यक्ति अपने कामों को अधिक ध्यान देकर कर पाता है। चाय पीने के बाद लोग अधिक फोकस और अधिक ध्यान केंद्रित कर पाते हैं।

एलर्जी दूर करते हैं

चाय पीने से एलर्जी की समस्या दूर होती है। चाहे में शहद मिलाकर पीने से यह और भी अधिक लाभकारी साबित होती है क्योंकि शहद एलर्जी की समस्या को दूर करता है।

दिल के रोग और स्ट्रोक में मदद

चाय पीने से दिल की मांसपेशियां में जमा वसा और खनिज खत्म होता है। प्रतिदिन तीन कप काली या हरी चाय पीने से हार्ट अटैक होने का खतरा 21 % तक कम हो जाता है।

कम कैलोरी वाला पेय

चाय एक ऐसा पेय है जिसके अंदर यदि चीनी और दूध ना मिलाएं तो कोई कैलोरी नहीं होती है। इसलिए बहुत से लोग ब्लैक टी या ग्रीन टी पीना पसंद करते हैं। दूध डाल देने से चाय में कैलोरी हो जाती है। जो लोग अपने वजन को कम करना चाहते हैं और कम से कम कैलोरी का सेवन करना चाहते हैं उनके लिए चाय एक बेहतर पेय विकल्प है।

इसे भी पढ़ें -  गुड़ खाने के फायदे और नुकसान Health benefits of Jaggery or Gur in Hindi

बॉडी हाइड्रेट करती है

चाय एक तरल पदार्थ है। इसे पीने से शरीर के अंदर पानी की मात्रा बनी रहती है। यह बॉडी को हाइड्रेट करती है।

संक्रमण से लड़ने में मदद करती है

चाय पीने से संक्रामक रोग जैसे सर्दी जुखाम दूर होते हैं। अदरक, काली मिर्च, अजवाइन, इलायची वाली चाय पीने से सर्दी जुखाम दूर होता है।

चाय पीने के नुकसान Side-effect and Disadvantages of Drinking Tea

चाय की लत लगना

चाय के अंदर कैफीन पाया जाता है जिसका सेवन करने से इसकी लत लग जाती है और बार-बार चाय पीने की तलब लगती है। कई लोग तो दिन में 10 से 15 कप चाय पी जाते हैं। बहुत अधिक चाय पीना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक साबित होता है। चाय के शौकीनों को यदि चाय पीने को नहीं मिलती है तो उन्हें उलझन और बेचैनी महसूस होने लगती है।

शुगर की मात्रा बढ़ाती है

यह बात तो सभी लोग जानते हैं कि अधिकतर लोग चाय का सेवन चीनी के साथ ही करते हैं। बार-बार चाय पीने से व्यक्ति के शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है और उसे मधुमेह होने का खतरा रहता है। यदि बिना चीनी वाली चाय पी जाए तो यह स्वास्थ्यवर्धक होती है, परंतु अधिकतर लोग चीनी वाली चाय पीना ही पसंद करते हैं।

दांत को पीला बनाती है

बार-बार चाय का सेवन करने से दांत पीले, लाल, धब्बेदार, रेड वाइन रंग जैसे हो जाते हैं। यदि चाय पीने के तुरंत बाद तुरंत ही ब्रश किया जाए तो दांतों के पीलेपन की समस्या से बचा जा सकता है।

पेट का अल्सर होता है

अधिक स्ट्रांग चाय पीने से पेट में अल्सर की शिकायत होती है। एसिडिटी (गैस) की समस्या भी उत्पन्न होती है। इसलिए यह सलाह दी जाती है कि बहुत स्ट्रांग चाय नहीं पीना चाहिए।

प्रोस्टेट कैंसर का खतरा

बहुत अधिक चाय पीने से प्रोस्टेट कैंसर होने का खतरा रहता है। जो लोग हर दिन 7 कप से अधिक चाय का सेवन करते हैं उन्हें प्रोस्टेट कैंसर का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़ें -  सूर्य नमस्कार, फायदा और कैसे करे? Surya Namaskar Benefits and Steps in Hindi

गैस की समस्या

खाली पेट चाय पीने से गैस की समस्या हो सकती है।

नींद ना आना

जो लोग हर दिन 5 से 10 कप चाय का सेवन करते हैं उनको नींद आने में बहुत दिक्कत महसूस होती है। एक कप चाय में 14 से 60 मिलीग्राम कैफीन पाया जाता है।

बार-बार पेशाब लगना

जो लोग अधिक चाय का सेवन करते हैं उनके शरीर में यूरिक एसिड बढ़ जाता है और बार-बार पेशाब लगती है।

भूख कम लगना

जो लोग प्रतिदिन अधिक चाय का सेवन करते हैं उनकी भूख कम हो जाती है।

हड्डियां कमजोर होना

जो व्यक्ति अधिक मात्रा में चाय का सेवन करते हैं उनमें स्केलेटन फ्लोरोसिस नामक समस्या उत्पन्न हो जाती है। इससे हड्डियों में विकार और कमजोरी होने लगती है। हड्डियों में दर्द भी शुरू हो जाता है। बहुत अधिक चाय पीने से शरीर में फ्लोराइड तत्व बढ़ जाता है जिससे गठियाबाई (आस्टियोफ्लोरोसिस) नामक बीमारी हो जाती है।

गर्भपात का खतरा

गर्भवती महिलाओं के लिए चाय हानिकारक हो सकती है। इसमें कैफीन नामक तत्व गर्भाशय में भ्रूण के लिए हानिकारक होता है। यदि संभव हो तो स्त्रियों को गर्भावस्था में चाय का सेवन नहीं करना चाहिए।

पेट में सूजन

कई लोगो को चाय पीने से पेट में सूजन की समस्या हो जाती है। पेट का फूलना और जलन की समस्या भी हो जाती है।

2 thoughts on “चाय पीने के फायदे और नुकसान Advantages Disadvantages of Drinking Tea in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.