अकबर महान के 30 रोचक तथ्य Amazing Facts about Akbar The Great in HIndi

अकबर महान के 30 रोचक तथ्य Amazing Facts about Akbar The Great in HIndi

अकबर का पूरा नाम “जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर” था। उसका जन्म 15 अक्टूबर 1542 को अमरकोट किला (सिंध) में हुआ था। वह मुगल वंश का तीसरा शासक था। उसको अकबर महान, शहंशाह अकबर, महाबली शहंशाह के नाम से भी जाना जाता है। उसने हिंदू और मुसलमान दोनों जातियों को सम्मान और प्यार दिया।

हिंदू मुस्लिम के बीच दूरी कम करने के लिए उसने “दीन-ए-इलाही” धर्म की स्थापना की थी। उसकी सेना में मुसलमान सरदारों की अपेक्षा हिंदू सरदार अधिक थे। अकबर ने हिंदुओं पर लगने वाले तीर्थकर जजिया को भी समाप्त कर दिया था। इतिहास में उसे एक लोकप्रिय शासक के तौर पर देखा जाता है।

अकबर महान के 30 रोचक तथ्य Amazing Facts about Akbar The Great in HIndi

इस लेख में हम आपको अकबर महान के बारे में 30 रोचक तथ्य बताएंगे-

  1. अकबर के पिता का नाम हुमायूं और माता का नाम हमीदा बानो बेगम था।
  2. 9 वर्ष की उम्र में अकबर को गजनी का सूबेदार बना दिया गया था।
  3. हुमायूं ने 1555 ई० में सिकंदर सूरी से सरहिंद का ताज छीन लिया था। उसके बाद अकबर को युवराज घोषित कर दिया गया था।
  4. हुमायूं की मृत्यु के बाद बैरम खां को अकबर का संरक्षक बनाया गया जिसने 1556 ई० में अकबर का राज्याभिषेक करवाया था। उस समय अकबर की आयु सिर्फ 13 वर्ष थी। वह उस समय नाबालिग सम्राट था।
  5. सम्राट बनने के बाद अकबर ने बैरम खां को वजीर नियुक्त किया था और उन्हें “खाने-ऐ-खाना” की उपाधि दी थी।
  6. पानीपत की दूसरी लड़ाई 1556 ई० में अकबर और हेमू के बीच लड़ी गई थी। इस युद्ध में हेमू की आंख में तीर लगा था। इसी वजह से वह युद्ध में पराजित हुआ था।
  7. अकबर ने “बुलंद दरवाजा” का निर्माण करवाया था।
  8. 1571 ई० में अकबर ने आगरा के निकट फतेहपुर सीकरी नगर की स्थापना की थी।
  9. 1582 ई० में अकबर ने “दीन ए इलाही” धर्म बनाया था। दीन ए इलाही धर्म को सिर्फ अकबर के मंत्री बीरबल ने स्वीकार किया था।
  10. 18 जून, 1576 ई० में हल्दीघाटी का युद्ध अकबर और महाराणा प्रताप के बीच हुआ था जिसमें अकबर की जीत हुई थी।
  11. अकबर के दरबार में 9 नवरत्न थे- बीरबल, तानसेन, मानसिंह, मुल्ला दो प्याजा, फैजी, अबुल फजल, रहीम खानखाना, टोडरमल और हकीम हुकाम।
  12. अबुल फजल ने “अकबरनामा” और “आइने अकबरी” ग्रंथ की रचना की थी।
  13. सम्राट अकबर के शासन काल को हिंदी साहित्य का स्वर्ण काल कहा जाता है क्योंकि उसमें बहुत से हिंदी ग्रंथों की रचना की गई।
  14. अपने पूरे जीवन काल में अकबर अनपढ़ रहा। उसने कभी शिक्षा प्राप्त नही की।
  15. अकबर की याददाश्त बहुत तेज थी। वह जो बातें सुनता था उसे हमेशा याद रहती थी। इस कारण अनपढ़ होते हुए थे वह अत्यंत बुद्धिमान था।
  16. अकबर ने हिंदुओं पर लगने वाले कर जजिया को 1562 ई० समाप्त कर दिया था।
  17. अकबर वेश्यावृत्ति और हरम में महिलाओं को रखने के पक्ष में था। उसके शासनकाल में बहुत सी सुंदरियों का अपहरण हुआ जिन्हें हरम में लाकर रखा गया। कुछ विद्वानों का मत है कि सती प्रथा के समय जो भी सुंदरी उसके सैनिकों को पसंद आती थी। वे उसका अपहरण करके हरम में ले आते थे। इस तरह कहा जाता है कि अकबर हरम प्रथा के पक्ष में था।
  18. अकबर बहुत ही समझदार सम्राट था। जब तक आवश्यक ना हो वह युद्ध नहीं करता था। युद्ध से बचने के लिए वह दूसरे राज्यों से वैवाहिक संबंध, अधीनता स्वीकार करना और मित्रता करने की नीति अपनाता था।
  19. अकबर ने महाभारत और रामायण ग्रंथों का फारसी में अनुवाद कराया था। अब्दुल रहीम खानखाना ने हिंदी में बहुत से दोहे लिखे थे जो आज भी  प्रसिद्ध हैं।
  20. अकबर की माता महा अंगा ने उसके संरक्षक बैरम खां के विरुद्ध साजिश की थी। बैरम खां को हज जाने का आदेश दिया गया था। वहां पर 1561 ई० में उसकी हत्या कर दी गई थी।
  21. गुजरात विजय के बाद पहली बार सम्राट अकबर ने समुद्र देखा था।
  22. अकबर ने जैन धर्म के गुरु जैनाचार्य हरी विजय सूरी को जगतगुरु की उपाधि दी थी।
  23. सम्राट अकबर के शासन काल में राजस्व प्राप्ति के लिए जब्ती प्रणाली प्रचलित थी।
  24. अब्दुस्समद अकबर के दरबार का प्रसिद्ध चित्रकार था।
  25. तानसेन अकबर के दरबार का प्रसिद्ध संगीतकार था
  26. मुगलों की राजकीय भाषा फारसी थी।
  27. अकबर ने शीरी कलम की उपाधि “अब्दुस्समद” को और जड़ी कलम की उपाधि “मुहम्मद हुसैन कश्मीरी” को दिया। 
  28. युसुफजाइयों के विद्रोह को दबाने के दौरान बीरबल की हत्या की गयी थी।
  29. अकबर की मृत्यु 29 अक्टूबर 1605 ई० में हुई थी।  
  30. अकबर को सिंकदरबाद के पास दफनाया गया था।
  31. सम्राट अकबर के पास 20,000 से ज्यादा कबूतर थे, इस शौक को वो इश्कबाजी कहते थे।

Featured Image Credit – Wikimedia 

Loading...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.