छाछ के स्वास्थ्य लाभ और साइड-इफ़ेक्ट Buttermilk Health benefits Side-effects in Hindi

छाछ के स्वास्थ्य लाभ और साइड-इफ़ेक्ट Buttermilk Health benefits Side-effects in Hindi

दोस्तों आज हम आपके साथ एक ऐसे विषय पर बात करने वाले है, जो हमारे स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत ही फ़ायदेमंद साबित होती है, हम बात कर रहे है छाछ की, जिसका सेवन हममें से कई लोग गर्मियों में भरपूर मात्रा में करते है।

दोस्तों देखा जाये तो साधारण सा दिखने वाला पेय पदार्थ अपने में कई खास गुणों को समावेशित किये हुए है, आयुर्वेद में छाछ को सात्विक आहार की श्रेणी में रखा गया है। आज हम बात करेंगे कि किस प्रकार हम छाछ का सेवन करके स्वास्थ्य लाभ ले सकते है, तो दोस्तों शुरू करते है-                  

Contents show

छाछ क्या है? What is Buttermilk?

अधिकतर लोग छाछ को दूध और मक्खन का मिश्रण मानने कि गलती कर बैठते हैं, जबकि ऐसा नहीं है। जब हम दही को मथनी से मथते है, तब उससे मक्खन अलग हो जाता है और जो बचता है वही छाछ कहलाता है। दूध की तुलना में छाछ में कैलोरी और वसा दोनों की ही मात्रा कम होती है।

छाछ में उच्च मात्रा में पोटैशियम, विटामिन B12, कैल्शियम, रोइबोफ्लैविन पाया जाता है। इसके साथ ही फॉस्फोरस भी पर्याप्त मात्रा में होता है। देखा जाये तो छाछ जरूरी पोषक तत्वों से भरा एक स्फूर्तिदायक शीतल पेय पदार्थ है, यह तापमान बढने पर शरीर की गर्मी को कम करता है।

इस का मुख्य घटक लैक्टिक एसिड है, जो मानव शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करता है, जिससे बीमारियों और जीवाणु संक्रमण से लड़ने में शरीर को शक्ति मिलती है। यह विटामिन और खनिज से समृद्ध होने के साथ ही अच्छे पाचन में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। (source)

छाछ के स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Buttermilk

आयुर्वेद में छाछ का विशेष उल्लेख है, इसके इस्तेमाल करने से स्वास्थ्य को बनाए रखा जा सकता है और बीमारियों से बचा जा सकता है। स्वास्थ्य के दृष्टि से छाछ पीने के कई फायदे हैं। गर्मियों में इससे अच्छा कोई और दोस्त नही हो सकता, इसका स्वाद कुछ खट्टा होता है।

इसे भी पढ़ें -  बालों के लिए चावल के पानी के फायदे और नुकसान Rice water for hair in Hindi

वैसे तो यह तरल रूप में होता है, लेकिन यह शरीर के लिए आवश्यक तत्वों की पूर्ति करता है, यदि हम साधारण पानी का सेवन कर रहे है तो हमे इसकी जगह छाछ का उपयोग करना चाहिए। यह सूजन, जलन, पाचन संबंधी विक़ार, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारी, एनीमिया और भूख की कमी से रक्षा करता है। छाछ के कई लाभ है जिनको हम एक एक करके जानेंगे-

1. एसिडिटी ठीक करता है Reduces Acidity

अधिकतर लोगो में एसिडिटी की शिकायत होती है और इसके ठीक करने के लिए लोग कई प्रकार की दवाओं का सेवन करते है, लेकिन यदि आप भी इस समस्या से जूझ रहे है तो छाछ का सेवन आपके लिए लाभप्रद हो सकता है। इसके लिए आप छाछ में आवश्यक मसाले जैसे अदरक, नमक, जीरा व काली मिर्च आदि को मिलाकर पी सकते है, यह एसिडिटी से होने वाली पेट की जलन को भी शांत कर देता है।

2. रक्तचाप कम करने में मदद करता है Lower blood pressure

छाछ में बायोएक्टिव प्रोटीन होने के कारण यह कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करते हैं। साथ ही छाछ में एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल गुण भी होते हैं, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने का कार्य करता है। इसके नियमित सेवन से रक्तचाप को नियंत्रित किया जाता है और आपको किसी भी प्रकार की दवाओ के सेवन करने की आवश्यकता नही पड़ती।

3. शरीर से टॉक्सीन हटता है Remove toxins from body

शरीर से टॉक्सीन ख़तम करने में भी छाछ का जवाब नही, इसमें राइबोफ्लेविन (Riboflavin) नाम का तत्व पाया जाता है, जो भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करने, हार्मोन के स्राव और पाचन में सहायता प्रदान करता है। जिससे ऊर्जा का उत्पादन होता है। यह लीवर के कार्य को भी प्रभावित करता है, और शरीर से टॉक्सीन निकाल कर डिटॉक्स करने में सहायता प्रदान करता है। इसमें एंटी-ऑक्सीडेशन गुण भी पाए जाते हैं।

4. सर्दी जुकाम से दूर रखता है Keeps away from cold fever

साधारण सर्दी जुकाम से लड़ने के लिए छाछ एक सुप्रसिद्ध एंटीडोट होता है, छाछ में लहसुन और अदरक को पीसकर मिलाकर पीने से कुछ ही दिनों में इससे राहत मिलती है। यदि आप चाहे तो दवाओ का सेवन करने से पहले छाछ के सेवन कर सकते है।    

5. हड्डियों को मजबूत करता है Its makes bones more stronger

छाछ कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत है, जो शरीर की हड्डियों और उनके ढांचे के लिए आवश्यक है। इसके अलावा, यह दाँतों को मजबूत बनाने में भी मदद करता है। बच्चों की हड्डियाँ व दाँत स्वस्थ रखने के लिए उन्हें नियमित रूप से छाछ पीना चाहिए। इस पेय में मौजूद कैल्शियम को हड्डियों का टिशू सोख लेता हैं, जिससे बोन डेंसिटी को बनाए रखने में मदद मिलती है।

6. शरीर में पानी की कमी को पूर्ण करता है Maintains body water level

गर्मियों में अधिकतर शरीर में पानी की कमी हो जाती है। दही में नमक व मसाले डालकर बनाई गई छाछ डिहाइड्रेशन को रोकने का एक प्रभावी उपचार है। यह इलेक्ट्रोलाइट से भरा प्रभावी पेय है, जो शरीर से पानी की कमी और शरीर में गर्मी के खिलाफ लड़ने का काम करता है।

इसे भी पढ़ें -  चेहरे के लिए बादाम तेल के फायदे और नुकसान Almond oil for face in Hindi

7. प्यास बुझाता है Quenches thirst

यदि आपको ज्यादा प्यास लगती है, तो दिन में 2 से 3 गिलास छाछ पीने से प्यास कम लगती है और साथ ही पानी की पर्याप्त मात्रा शरीर में पहुँच जाती है। यदि आप छाछ को गटकने से पहले थोड़े समय के लिए मुंह में रखते है, तो यह दांतों में होने वाली कैविटी से भी रक्षा करता है।  

8. बवासीर में मदद Help in piles

दोस्तों यदि आपको बवासीर से सम्बंधित समस्या है, तो छाछ का सेवन आपको जरुर करना चाहिए। क्योकि छाछ पेट को ठंडक प्रदान करती है, साथ ही यह मल त्यागने में मदद करती है, जिसके कारण मल त्यागने में होने वाली समस्या से निजात मिलती है। जल्द ही लाभ लेने के लिए छाछ में चावल और केला का मिश्रण करके सेवन करें, लाभ अवश्य होगा।

9. वजन कम करने करता है Reduce body weight

अस्त व्यस्त दिनचर्या के कारण कई लोगो में वज़न बढ़ने की समस्या पैदा हो जाती है, लेकिन छाछ का सेवन अपने गुणों के कारण बढ़ते वजन पर भी रोक लगा सकता है। जो व्यक्ति अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं, वे रोज़ाना नियमित रूप से छाछ का सेवन कर सकते हैं।

क्योकि इसमें प्रोटीन, विटामिन्स, मिनरल, पोटेशियम आदि तत्व पाए जाते है, छाछ अन्य डेयरी उत्पाद जैसे दूध, दही और पनीर में पाए जाने वाली कैलोरी व वसा के बिना शरीर को आवश्यक पोषण और एंजाइम प्रदान करता है।

 10. सुस्ती को दूर करता है Removes lethargy

अधिकतर लोग भारी भोजन के बाद सुस्ती महसूस करने लगते हैं, लेकिन भोजन के बाद एक गिलास छाछ का सेवन आपकी इस सुस्ती को दूर कर सकता है। साथ ही यदि आप भारी भोजन के बाद पेट को फूला हुआ महसूस करते हैं, तो एक गिलास छाछ आपकी इस समस्या को शांत कर सकता है। छाछ के साथ अदरक, जीरा व धनिया आदि मिलाकर पीने से लाभ मिलता है।

11. कब्ज में सहायक Helps in Constipation

कब्ज के इलाज की दृष्टि से छाछ का जवाब नही है, यह एक प्राकृतिक औषधि है, जिसका सेवन कब्ज जैसी समस्या को ठीक करने के लिए किया जा सकता है। अगर आप कब्ज से पीड़ित हैं, तो एक गिलास छाछ ले सकते हैं, जिससे आपको मल त्याग करने में आसानी होगी। यह उन लोगों के लिए भी सही है, जो पर्याप्त मात्रा में फाइबर का सेवन नहीं करते हैं।

12. अल्सर को कम करता है Reduces ulcer

छाछ का सेवन अल्सर से भी बचाव करता है। यह जमा होने वाले एसिड को खत्म करता है, और पेट के अल्सर से सुरक्षा प्रदान करता है। यह पेट में अम्ल को फैलने से बचाने में मदद करता है। छाछ का सेवन करने से पेट के सभी विक़ार दूर हो जाते है। इसका नियमित सेवन घेंघा रोग से भी निजात दिलाता है|

इसे भी पढ़ें -  व्यायाम का महत्व निबंध Importance of Exercise Essay in Hindi

13. बॉडी मास को बढ़ता है Reduce body mass

प्रोटीन से भरपूर होने के कारण यह शरीर में प्रोटीन की मात्रा भी बढ़ाता है। क्योंकि मांसपेशियों के निर्माण के लिए प्रोटीन जरूरी है। छाछ का उपयोग कई बॉडी बिल्डर करते है। यह शरीर के अच्छे स्वास्थ्य के लिए विटामिन्स प्रदान करता है। प्रोटीन मजबूत हड्डियों, सख्त मांसपेशियों और स्वस्थ त्वचा के लिए महत्वपूर्ण तत्व है।

14. पोषक तत्वों से भरपूर Lots of nutritious

छाछ को सभी पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण इसे एक संपूर्ण भोजन के रूप में माना जाता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और आवश्यक एंजाइम होते हैं। छाछ में 90 प्रतिशत से अधिक पानी पाया जाता है, आंतें इसे धीरे-धीरे अवशोषित कर लेती हैं, क्योंकि इसमें ज्यादातर प्रोटीन पाया जाता हैं। छाछ पीना किसी भी अन्य स्वाद वाले पेय या फिर सादे पानी की तुलना में बेहतर होता है।

15. त्वचा की चमक के लिए लाभकारी Good for skin

छाछ त्वचा को मॉइस्चराइज करने में भी मदद करता है, और उसे प्राकृतिक चमक देता है। छाछ को त्वचा के लिए फ़ायदेमंद माना गया है। यह प्रोबायोटिक लैक्टिक एसिड में समृद्ध है, इसलिए इसका इस्तेमाल फेस मास्क के रूप में किया जा सकता है। इसका उपयोग त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने और मुलायम करने के लिए किया जा सकता है।

16. सूर्य से जली त्वचा को ठीक करता है Heals Sunburns

यदि आप को अधिक समय तक धूप में रहना पड़ता है, और आपकी त्वचा लाल हो जाती है, जिसके कारण जलन होती है, तो तुरंत राहत पाने के लिए आधा कप छाछ में समान मात्रा में टमाटर का रस मिलाकर प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएँ। इसे लगभग एक घंटे तक लगा रहने दें। बाद में त्वचा को धो लें। यह त्वचा को ठंडक प्रदान करता है, और सनबर्न से त्वचा में होने वाले दर्द को कम करता है। साथ ही त्वचा पर पड़ी लालिमा को भी कम करेगा।

छाछ के नुकसान Side-effects Of Buttermilk

दोस्तों जैसा की हम सभी जानते है की अति सभी की बुरी होती है, जिस प्रकार छाछ के सेवन के लाभ है उसी प्रकार इसके कुछ नुकसान भी है, जो निम्न है-  

  1. भूल कर भी बुखार की स्थिति में छाछ का सेवन ना करें, क्योंकि यह बहुत घातक सिद्ध हो सकता है।
  2. अत्यधिक मात्रा में छाछ का सेवन करने से डायरिया एवं उल्टी की समस्या हो सकती है।
  3. खांसी में छाछ का उपयोग करने से बचे, अन्यथा स्थिति और बिगड़ सकती है।
  4. छाछ में सैचुरेटेड फैट होने के कारण यह गंभीर परिस्थितियों में कोलेस्ट्रॉल बढ़ा सकता है। इसलिए हृदय रोगियों को इसके अत्यधिक सेवन बचना चाहिए।
  5. एक्जिमा रोगी को इसके सेवन से दूर रहना चाहिए।

दोस्तों आपने जाने छाछ के फायदे और नुकसान। वैसे तो दही, पनीर दूध से बनी सारी चीज़े ही शरीर के लिए फ़ायदेमंद हैं। लेकिन छाछ सबसे अधिक लाभदायक है। छाछ को कुछ लोग मट्ठा भी बोलते हैं। यह भारत के दक्षिणी क्षेत्र में सबसे ज़्यादा पाया जाता है। अगर हम यह कहें कि गर्मियों में छाछ का सेवन अमृत के समान है तो यह कहना ग़लत नही होगा।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.