सी सी टीवी कैमरा लगाने के फायदे CCTV Camera Benefits in Hindi

सी सी टीवी कैमरा लगाने के फायदे CCTV Camera Benefits in Hindi – इस आर्टिकल में हमने आपको सी सी टीवी क्या होता है, इसको घर या दूकान में आपको लगाने पर क्या फायदा है, साथ ही यह कैसे और कितना काम आता है इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे

सी सी टीवी कैमरा लगाने के फायदे CCTV Camera Benefits in Hindi

सी. सी. टी. वी. (CCTV) क्या है?

क्लोज़्ड सर्किट- टेलीविज़न (Closed circuit-television) , संक्षेप में सी. सी. टी. वी. (CCTV), एक प्रकार का कैमरा है, जिसका प्रयोग विशेष तौर पर निगरानी के कार्यों के लिए किसी चित्र अथवा वीडियो के रूप में किया जाता है।

सी. सी. टी. वी.(CCTV) के अंतर्गत फोटो कैमरा तथा वीडियो कैमरा दोनों ही आते हैं। वीडियो कैमरा एनालॉग (analog) अथवा डिजिटल (digital) होते हैं, इसका तात्पर्य यह है कि वीडियो कैमरा एनालॉग तथा डिजिटल तरंगों को एक स्टोरेज डिवाइस जैसे कि टेप- रिकॉर्डर, डेस्कटॉप अथवा लैपटॉप, कम्प्यूटर इत्यादि में भेजते हैं, तथा इन्ही डिवाइस के द्वारा उस वीडियो कैमरे को संचालित किया जाता है।

वहीं डिजिटल फोटो कैमरे किसी भी परिस्थिति में साफ़ एवं स्पष्ट फोटो खींचने की काबिलियत रखते हैं, उन्हें सीधे तौर पर यू. एस. बी. (USB) के माध्यम से किसी कम्प्यूटर से जोड़ कर तुरंत उस कैमरे में मौजूद फोटो प्राप्त की जा सकती है।

सी. सी. टी. वी. कैमरे की आविष्कारक का नाम मैरी वान ब्रिटन ब्राउन (Marie Wan Brittan Brown) था। सी. सी. टी. वी. कैमरा ऐसे स्थानों पर लगाया जाता है, जहां पर हर वक़्त निगरानी रखने की सख्त आवश्यकता होती है, उदाहरण के तौर पर बैंक, कैसिनो, हवाई अड्डे, सैनिक छावनियां, महंगी वस्तुओं की दुकानों इत्यादि में।

आज के समय में, सुरक्षा को गंभीरता से लेने की आवश्यकता होती है। कुछ लोगों का मानना है कि सिर्फ उद्योग- धंधों अथवा व्यवसाय से जुड़ी इमारतों को सुरक्षा की आवश्यकता होती है, परंतु ऐसा नही है। 

सी. सी. टी. वी. का क्या कार्य है? (What is the work performed by CCTV)?

आज का वक़्त ऐसा है कि निगरानी के अभाव में लोग अपने घरों के अंदर भी सुरक्षित नही हैं। घरों में चोरी- डकैती जैसे अपराधों की घटनाएं दिन- प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं, ऐसे में सी. सी. टी. वी. सुरक्षा का सहारा लेना अति आवश्यक हो गया है।

अतः घरों तथा कार्य- स्थलों में सुरक्षा सुनिश्चित करने का सबसे प्रचलित तथा किफायती तरीका वहां पर सी. सी. टी. वी. कैमरा तथा उपकरणों को लगवाना है। सी. सी. टी. वी. कैमरे लगवाने के पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि इसके लगे होने से घर में घुसे चोर तथा सेंधमार चौकन्ने हो जाते हैं तथा सी. सी. टी. वी. कैमरे को देखकर किसी वारदात को अंजाम देने के उनके हौसले भी पस्त हो जाते हैं। 

इसे भी पढ़ें -  विज्ञान के चमत्कार पर निबंध Essay on Vigyan ke Chamatkar

हाल ही के वर्षों में, गलियों, स्टेशनों, दुकानों तथा अन्य सार्वजनिक स्थलों पर सी. सी. टी. वी. कैमरे अत्यधिक तीव्र गति से लगवाए जा रहे हैं।

सी. सी. टी. वी. से क्या लाभ मिलते हैं? (What are the advantages of CCTV)?

आज के समय में, सी. सी. टी. वी. कैमरों की उपयोगिता को अनदेखा नही किया जा सकता है। अप्रत्यक्ष रूप से ही सही, परंतु सी. सी. टी. वी. कैमरों ने हमारे जीवन को आसान तथा सुरक्षित बनाया है, क्योंकि जनता, वाहनों, भवनों तथा इमारतों की सुरक्षा का अधिकांश भार इन्होंने अपने ऊपर ले लिया है। सी. सी. टी. वी. कैमरों की एक प्रमुख उपयोगिता अपराध को कम करना भी है। 

अपराधों के प्रति आम जन सदैव चिंतित रहता है। सी. सी. टी. वी. कैमरे सिर्फ अपराधियों को अपराध करते समय रंगे- हाथों पकड़ने के ही काम नही आते हैं, बल्कि किसी स्थान पर सी. सी. टी. वी. कैमरों को उपस्थिति मात्र से ही अपराधी अपराध को अंजाम देने से पहले कम से कम दो बार ज़रूर सोचेगा।

इस प्रकार से सी. सी. टी. वी. कैमरे अपराध को रोकने में भी अपनी सक्रिय भागीदारी निभाते हैं। अपराधों की भी अलग- अलग श्रेणियां होती हैं जैसे कि किसी व्यक्ति के खिलाफ अपराध तथा पीड़ित- रहित अपराध, हिंसापूर्ण अपराध तथा सफेदपोश अपराध इत्यादि। किसी व्यक्ति के खिलाफ किये गए अपराध को व्यक्तिगत अपराध भी कहा जाता है।

उदाहरण के तौर पर, हत्या, हमला, दुष्कर्म तथा डकैती इत्यादि व्यक्तिगत अपराध की श्रेणी में आते हैं। इसके अलावा पीड़ित-रहित अपराध, वह अपराध है, जिसमे उस व्यक्ति की अनुपस्थिति होती है, जिस पर अपराध किया गया हो। यह अपराध आम-तौर पर समाज के खिलाफ उसके ही नियमों, मूल्यों, विश्वासों तथा आचरण इत्यादि के माध्यम से किया जाता है।

उदाहरण के तौर पर, जब कोई व्यक्ति सिगरेट पीते है अथवा कोकीन आदि पदार्थों का सेवन करता है, तब वह अपने आचरण तथा व्यव्हार के माध्यम से अपनी संस्कृति के मूल्यों के खिलाफ जा रहा है तथा समाज को चोट पहुंचा रहा है। वह व्यक्ति यहाँ पर अपराध तो कर रहा है, परंतु यहाँ पर कोई भी प्रत्यक्ष पीड़ित नही है, जैसा कि अन्य अपराधों में किसी व्यक्ति पर हमला होता है अथवा उसका सामान लूट लिया जाता है।

इसे भी पढ़ें -  पुरंदर किला का इतिहास Purandar Fort History in Hindi

इसके अन्य उदाहरणों में देह- व्यापार, वेश्यावृत्ति, गैरकानूनी-सट्टेबाजी, तथा अन्य नशीले पदार्थों का सेवन करना इत्यादि सम्मिलित हैं। सफेदपोश अपराध वे अपराध होते हैं जो समाज के ऊँचे दर्जे वाले लोगों के द्वारा किये जाते हैं। उदाहरण के तौर पर, अपने कर्मचारियों का वेतन मार लेना, आतंरिक व्यापार, भ्रष्टाचार तथा कर- चोरी इत्यादि। इस प्रकार के सभी अपराध सी. सी. टी. वी. कैमरों की सहायता से रोके जा सकते हैं।

सी. सी. टी. वी. कैमरों की उपयोगिता पर की गई शोध के अनुसार, निगरानी के लिए प्रयोग किये गए कैमरों का सबसे अधिक फायदा पार्किंग एरिया में हुआ है। सी. सी. टी. वी. कैमरों के प्रयोग से अपराध दर में 51 प्रतिशत तक की कमी आई है।

हम सभी जानते हैं कि सी. सी. टी. वी. कैमरे अपराध को रोकने में काफी हद तक कारगर साबित हुए हैं, परंतु, इसके प्रयोग के और भी बहुत सारे फायदे हैं, जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे। कानूनी मामलों में अक्सर, डकैती तथा अन्य तरह के अपराधों में वहां पर लगे हुए सी. सी. टी. वी. कैमरे द्वारा कैद की गई तस्वीर अथवा वीडियो, उस अपराधी के खिलाफ एक पक्के सबूत के रूप में काम करती है। 

विशिष्ट रूप में, अगर हमारे आस- पास कोई आपराधिक घटना होती है, और यदि वह अपराधी उस वारदात को अंजाम देते हुए उस कैमरे में कैद हो जाता है, तो उस कैमरे की तस्वीर अथवा वीडियो को आधार बनाकर हम उस अपराधी के खिलाफ अदालत में मुकदमा दायर कर सकते हैं। अदालत में उपस्थित न्यायाधीश तथा अन्य सदस्य उस वीडियो को अनदेखा नही कर सकते तथा इसे अपराध एक अहम सबूत के तौर पर लेंगे। 

जब कोई अपराधी गुनाह करते हुए पकड़ लिया जाता है, तब पुलिस, तथा अन्य महत्वपूर्ण अधिकारियों जैसे कस्टम अधिकारी, परिवीक्षा अधिकारी, आव्रजन अधिकारी तथा सुधार अधिकारी द्वारा उसकी सी. सी. टी. वी. फुटेज को अनेक मीडिया माध्यमों जैसे कि समाचार पत्र, पत्रिकाएं तथा इंटरनेट इत्यादि के द्वारा जनता के समक्ष जारी किया जा सकता है।

हम में से बहुत लोगों को आभास नही होता परंतु आरोपित के अपराध से सम्बन्ध को उजागर करती एक तस्वीर भी अपराध को कम करने तथा उचित कार्यवाही करने का रास्ता तय कर देती है। इसके अलावा सी. सी. टी. वी. कैमरे की मदद से हम छोटे बच्चों, मानसिक रूप से विक्षिप्त घर के सदस्यों तथा घर के बूढ़े- बुजुर्गों का भी ध्यान रख सकते हैं। हम में से बहुत से लोग बाहर के कामों में इतने अधिक व्यस्त रहते हैं कि घर में उपस्थित सदस्यों का ध्यान नही रख पाते। सी. सी. टी. वी. इसमें हमारी मदद करता है। 

इसे भी पढ़ें -  26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर भाषण Speech on Republic Day in Hindi for Teachers and Students

सी. सी. टी. वी. की क्या सीमाएं हैं? (What are the limitations or drawbacks of CCTV)?

यद्यपि हमे सी. सी. टी. वी. के अनेक लाभ पता हैं, परंतु कुछ लोग इसका विरोध भी करते हैं। उनके अनुसार सबके पास निजता का अधिकार होना चाहिए। यह सत्य है कि जहां अच्छाई होती है, वहां बुराई भी होती है। निजता का हनन ही वह मुद्दा है जिसे सभी उठाते हैं, जब भी बात सुरक्षा के लिहाज से सी. सी. टी. वी. कैमरो की आती है।

सी. सी. टी. वी. कैमरो का मुख्य कार्य लोगों की गतिविधियों पर निगरानी रखना है। यह बात अक्सर लोगों को बुरी लगती है क़ि उन पर लगातार नज़र रखी जा रही है। ज़ाहिर सी बात है कोई भी व्यक्ति नही चाहेगा कि कोई और व्यक्ति उसकी निजता में दख़ल दे।

हैकर्स के जाल से सार्वजानिक सुरक्षा प्रणाली को पूर्ण रूप से नही बचाया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि सुरक्षा प्रणाली को एक सिस्टम से जोड़ा जाता है, तथा इसी वजह से कंप्यूटर हैकर्स इसे बाहर किसी भी लोकेशन से हैक कर सकते हैं। 

इसके अलावा जब किसी ए. टी. एम. मशीन के आस- पास सी. सी. टी. वी. कैमरा लगाया जाता है। तब हैकर आसानी से किसी भी वीडियो को हैक करके किसी भी व्यक्ति का ए. टी. एम. कार्ड नंबर, पिन इत्यादि के बारे में पता लगाकर उसके खाते से मनचाही धन- राशि निकाल सकते हैं। अतः किसी गलत स्थान पर सी. सी. टी. वी. कैमरा लगाने से लोगों की निजता को नुकसान पहुंचता है। 

इन सारी कमियों के अलावा भी एक मुश्किल है, जो सी. सी. टी. वी. के कारण सामने आती है। वह यह है कि इनकी कीमत अधिक होने के कारण ये आम जन की पहुँच से दूर ही रह जाते हैं। 

निष्कर्ष( Conclusion):

अंत में यही कहा जा सकता है कि सी. सी. टी. वी. (CCTV) कैमरो के अपने- अपने लाभ तथा हानियां हैं। कुछ लोगों का मानना है कि ये कैमरे अपराध को रोकने में कारगर साबित होते हैं, परंतु कुछ लोग ऐसा नही मानते। तथा यह लाज़िमी भी है क्योंकि किसी की भी पांचों उँगलियाँ एक समान नही होती हैं। वे इसे निजता के अधिकार का हनन मानते हैं।

परंतु एक बात यह भी गौर करने वाली है कि इतनी कमियों के बावजूद सी. सी. टी. वी. कैमरे हमे सुरक्षा उपलब्ध कराते हैं तथा इसके प्रयोग मात्र से ही अपराध की दर तथा घटनाओं में भारी गिरावट आई है। मानते हैं कि इसमें कुछ कमियां हैं, परंतु यह भी सत्य है कि इस संसार में कुछ भी निष्कलंक अथवा सर्वोत्तम नही होता है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.