वायु की संरचना Composition Of Air In Hindi

आज के इस आर्टिकल में हम आपको – वायु की संरचना Composition Of Air in Hindi

वायुमंडल और वायु काफी वृहद हैं और उन्ही के कारण समस्त संसार का निर्माण हुआ है| गौरतलब है कि वह मंडल जहां विशेष रूप से केवल वायु का स्थान हो उसे वायुमंडल कहा जाता है|

वायु लगभग हर जगह है और वायु सजीवों के जीवन के लिए काफी ज्यादा आवश्यक है| यह सभी लोग जानते हैं कि बिना साँस के किसी भी सजीव का जीवित रहना मुमकिन नहीं है|

वायु की संरचना Composition Of Air In Hindi

वायु जहां सभी सजीवों के लिए आवश्यक है वहीं एक कारक यह भी है कि सजीवों के अलग अलग वर्ग जैसे वृक्ष और मनुष्य, अलग अलग प्रकार के वायु के घटकों के आश्रय पर जीवित हैं| 

जैसे मनुष्यों को जीवित रहने के लिए ऑक्सिजन की आवश्यकता होती है वहीं वृक्षों को जीवित रहने के लिए कार्बन डाई ऑक्साइड की आवश्यकता होती है| 

वायु का निर्माण Composition Of Air 

वायु का निर्माण अलग अलग प्रकार की अलग अलग गैसों की सहायता से हुआ है| ये अलग अलग गैसें वायु में एक ही समय पर विद्यमान रहती हैं| वायु का निर्माण निम्न गैसों को मिलाकर किया गया है| 

नाइट्रोजन Nitrogen

नाइट्रोजन जैविक रूप से निष्क्रिय और एक भारी प्रवृत्ति की गैस होती है| यह अलग अलग प्रकार से चक्रित होती रहती है| मूलतः इसका चक्रण मृदामंडल, वायुमंडल, जैवमंडल में होता है| यह वायुमंडल की सबसे बड़ी गैस है और यह कुल 78.03% भाग में स्थित है| 

ऑक्सिजन Oxygen

 ऑक्सिजन वायुमंडल की दूसरी सबसे बड़ी गैस है और यह विश्व के सभी प्राणियों (वृक्षों को छोड़कर) को जीवन भी देती है| यह गैस सम्पूर्ण वायुमंडल का 20.99% है| यह जैविक स्रोतों से बनती है| 

इसे भी पढ़ें -  ‪प्रधानमंत्री जन भारतीय जन औषधि परियोजना Pradhan Mantri Bhartiya Jan Aushadhi Pariyojana Kendra (PMBJP) details in hindi

ऑर्गन Argon

यह गैस वायुमंडल के 0.93% भाग में स्थित है और रेडियोलॉजी की सहायता से उत्सर्जित की जाती है|

कार्बन डाई ऑक्साइड Carbon Dioxide

कार्बन डाई ऑक्साइड सम्पूर्ण वायुमंडल के 0.03% भाग में स्थित है और यह जैविक एवं औद्योगिक रूप से उत्सर्जित की जाती है| कार्बन डाई ऑक्साइड का उपयोग वृक्षों द्वारा साँस लेने के लिए किया जाता है|

हाइड्रोजन Hydrogen

 हाइड्रोजन सम्पूर्ण वायुमंडल के कुल 0.01% भाग में स्थित है| यह जैविक एवं प्रकाश रासायनिक रूप से उत्सर्जित की जाती है| 

नियोन Neon

नियोन सम्पूर्ण वायुमंडल के कुल 0.0018% भाग में स्थित है| यह आंतरिक स्रोतों द्वारा उत्सर्जित की जाती है|

हीलियम Helium

 हीलियम सम्पूर्ण वायुमंडल के कुल 0.00005% भाग में स्थित है| यह रेडियोलॉजी द्वारा उत्सर्जित की जाती है|

कृपटन Krypton

यह वायुमंडल के कुल 0.00001% भाग में स्थित है| कृपटन का निर्माण आंतरिक स्रोतों द्वारा होता है|

जेनॉन Xenon

जेनॉन वायुमंडल में नगण्य है| यह आंतरिक स्रोतों द्वारा बनती है| 

ओजोन Ozone

 यह वायुमंडल का एक छोटा लेकिन महत्वपूर्ण भाग है| यह प्रकाश रासायनिक द्वारा उत्सर्जित किया जाता है| यह 20-35 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित होती है| ये पराबैंगनी किरणों को रोकती है| 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.