कोरोना वायरस के प्रकार, कैसे बचें, वुहान nCov Novel Coronavirus की पूरी जानकारी

इस लेख में आप पढेंगे, कोरोना वायरस क्या है? इसके प्रकार, कैसे बचें, वुहान nCov Novel Coronavirus की पूरी जानकारी दी है।

क्या है कोरोना वायरस? What is Coronavirus infection in Hindi?

कोरोना वायरस अन्य इन्फेक्शस वायरस के जैसे ही कुछ वायरस के समूह होते है जो खास कर नाक, और अप्पर-रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन फैलाते है। लेकिन ज्यादातर कोरोना वायरस खतरनाक नहीं होते हैं। यह वायरस मुख्यतः स्तनधारियों प्राणियों और चिड़ियों में पाया जाता है।

वायरस दो भाग में विभाजित होते हैं DNA virus और RNA virus. कोरोना वायरस एक प्रकार का RNA virus है जो कई वायरस का समूह से बना है।

कोरोना वायरस का इतिहास History of Corona Virus

यह सबसे पहले 1960 के दशक में पाया गया। इस आपकर एक ताज या मुकुट के जैसा होने के कारन इसका नाम कोरोना वायरस पड़ा। यह जानवरों के साथ मनुष्य को भी आसानी से हो सकता है।

जिस प्रकार सर्दी-जुखाम में वायरस एक दुसरे को फैलते हैं उसी प्रकार कोरोना वायरस भी आसानी से एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति को फ़ैल जाता है। 

चिकित्सकों का कहना है कोरोना वायरस से एक व्यक्ति जीवन में एक ही बार इन्फेक्टेड होता है खासकर बच्चों की उम्र में। सर्दियों में इसके होने के ज्यादा संभावना हो सकता है परन्तु यह कभी भी हो सकता है। कोरोना वायरस इन्फेक्शन को बढ़ा कर निमोनिया जैसा बड़ी बीमारियाँ भी फैला सकता है।

इसे भी पढ़ें -  मुह के छाले दूर करने के घरेलु उपाय Home remedies for Mouth ulcer in Hindi

कोरोना वायरस के प्रकार Types of Corona Virus

Common human coronaviruses

  1. 229E (alpha coronavirus) – 1960 में पाया गया था। इसमें सर्दी खांसी और जुखाम के लक्षण दीखते हैं।
  2. HCoV NL63 (alpha coronavirus) 2005 में पाया गया था। यह वायरस शरीरी में Bronchiolitis फैलता है।
  3. OC43 (beta coronavirus) 1960 में पाया गया था। इसमें सर्दी खांसी और जुखाम के लक्षण दीखते हैं।
  4. HKU1 (beta coronavirus) 2005 में पाया गया था। यह वायरस Respiratory problems को फैलता है।

Other human coronaviruses

  1. MERS-CoV (the beta coronavirus that causes Middle East Respiratory Syndrome, or MERS) 2012 में पाया गया था। इसको Camel Flu के नाम से भी जाना जाता है।
  2. SARS-CoV (the beta coronavirus that causes severe acute respiratory syndrome, or SARS) 2003 में पाया गया था।
  3. (2019-nCoV) Novel Coronavirus 2019 में पाया गया था Wuhan China में। इसी वायरस को Wuhan Coronavirus के नाम से जाना जाता है।

Source – https://www.cdc.gov/coronavirus/types.html

Novel Coronavirus in Wuhan China 2019-20 Infographics

(2019-nCoV) Novel Coronavirus 2019 – Wuhan Coronavirus – CHINA

Wuhan Coronavirus को ही Novel Coronavirus या 2019-nCoV का नाम दिया गया है। इसको Wuuhan Seafood market pneumonia virus के नाम से भी ज्यादातर लोग जानते हैं।

इसका पहला case चीन में December 31st, 2019 को पाया गया है। सभी रिसर्च टीम को अभी तक पता नहीं लग पाया है कि आखिर यह virus मनुष्यों के शारीर में कैसे पहुंचा है। हलाकि लोगों का मानना है यह Sea food के द्वारा लोगों के शारीर में आया है क्योंकि China में ज्यादातर लोग कच्चा meat कई प्रकार के जानवरों और समुद्री जीवों के खाते हैं।

क्या Novel Coronavirus के फैलने का कारण सांप खान हैं?
यह सवाल अभी तक एक सवाल है

आज की तारिक है 12 फरवरी 2020, और इसके मरीजों की संख्या लगभग 45,206 के आसपास हो चुकी है जिसके कारण WHO ने Novel Coronavirus इन्फेक्शन के बढ़ते हुए मरीजों को देखते हुए इस PHEIC (Publlic Health Emergency of International Concern) घोषित कर दिया है।

इसे भी पढ़ें -  तरबूज बीज के फायदे नुक्सान Watermelon Seeds Benefits and Side-effects in Hindi

नावेल कोरोना वायरस के Live Confirmed Cases, Total Death, Total Recovered Country wise देखने के लिए नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करें – https://gisanddata.maps.arcgis.com/apps/opsdashboard/index.html#/bda7594740fd40299423467b48e9ecf6

कैसे फैलता है कोरोना वायरस? How Coronavirus infection spread?

यह जानवरों से इंसान को आसानी से हो सकता है।

  1. इन्फेक्टेड व्यक्ति के खांसने से
  2. इन्फेक्टेड व्यक्ति के छिकने से 
  3. इन्फेक्टेड व्यक्ति के मुह या चेहरे को छूने से

कोरोना वायरस इन्फेक्शन के लक्षण Symptoms of Coronavirus infection

  1. नाक में पानी बहना
  2. खांसी होना 
  3. गले में दर्द (सोर थ्रोट)
  4. बुखार भी हो सकता है
  5. साँस लेने में दिक्कत होना
  6. दस्त होना

कोरोना वायरस का निदान या जांच कैसे होता है? How Coronavirus infection is Diagnose?

अमरीका के CDC में ब्लड सैंपल की Reverse transcription polymerase chain reaction test (RT-PCR) के द्वारा जांच होती है जिसमे RNA को DNA में बदल कर जाना जाता है की आखिर जो इन्फेक्शन हुआ है वह एक Novel Coronavirus (जानलेवा सांस की बीमारी फ़ैलाने वाला) है यह एक सर्दी-जुखाम फुलाने वाला साधारण वायरस है।

नावेल कोरोना वायरस से बचने के लिए विश्व स्वास्थ्य संघटन की कुछ मुख्य बातें Novel Coronavirus advice for the public by WHO

साथ ही WHO (विश्व स्वस्थ्य संघटन) ने इससे दूर और बचने के लिए कुछ हिदायतें दी हैं जैसे –

  1. अपने हांथों को अच्छे से एंटीसेप्टिक हैण्ड-वश, लोशन, साबुन और पानी से धोएं।
  2. अपने चेहरे पर मास्क लगायें।
  3. सर्दी-खांसी हुए लोगों सेदूर रहें।
  4. जानवरों से दूर रहें।
  5. ज्यादा भीड़-भादाके वाले जगहों से दूर रहें।

कोरोना वायरस का इलाज Treatment for Coronavirus Infection in Hindi

कोरोना वायरस का कोई भी वैक्सीन नहीं है। इसका इलाज़ अन्य सर्दी-खांसी या वायरल इन्फेक्शन के जैसे ही किया जाता है। अगर किसी को सर्दी-खांसी या ऊपर दिए हुए लक्षण हैं तो –

  1. ज्यादा से ज्यादा पानी पियें।
  2. आराम करें।
  3. बुखार के लिए पेरासिटामोल की गोली लें।
  4. अगर तबियत ज्यादा बिगड़ रही है तो जितना जल्दी हो सके अपने डॉक्टर से संपर्क करें या नजदीकी स्वास्थय केंद्र पहुंचें।
इसे भी पढ़ें -  गाजर के जूस के फायदे और साइड-इफ़ेक्ट Carrot health benefits and side-effects in Hindi

Sources

https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019/advice-for-public
https://en.wikipedia.org/wiki/Coronavirus
https://www.webmd.com/lung/coronavirus#2
https://www.cdc.gov/coronavirus/about/symptoms.html
https://www.medicalnewstoday.com/articles/256521.php#symptoms
https://www.businessinsider.in/science/news/there-is-only-one-way-to-know-if-you-have-the-coronavirus-and-it-involves-machines-full-of-spit-and-mucus/articleshow/73783040.cms

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.