दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की पूरी जानकारी (DDU-GKY) Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana details in hindi

दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की पूरी जानकारी Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)  details in hindi

इस योजना को संछेप में DDUGKY भी कहते है। इस योजना को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और वेंकैया नायडू ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 98 वें जन्म दिवस पर 25 सितंबर 2014 को शुरू किया था। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर युवाओं को अपने पैरों पर खड़ा करना है।

उनकी कार्य क्षमता में वृद्धि करनी है। इस योजना के अंतर्गत 15 से 35 साल तक के युवाओं को कौशल दिया जाएगा।  इस योजना को देश के 33 राज्यों / संघ राज्य के क्षेत्रों के 610 जिले में 200 से पीआईऐ के साथ साझेदारी करके 50 से अधिक क्षेत्रों और 250 से अधिक व्यापार क्षेत्रों में लागू किया गया है।

दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की पूरी जानकारी Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)  details in hindi

उद्देश्य Aim of (DDUGKY)

1.  योग्यता के आधार पर चयन करना

2.  समुदाय के बीच जागरूकता बढ़ाना

3.  काम करने वाले ग्रामीण युवाओं को एकत्र करना

इसे भी पढ़ें -  स्त्री स्वाभिमान योजना की पूरी जानकारी Stree Swabhiman Yojana details in Hindi

4.  युवाओं के साथ-साथ माता-पिता की काउंसलिंग करना

5.  नियुक्ति के बाद कार्यरत व्यक्ति को स्थिरता के लिए सहायता करना

6.  ऐसी नौकरियॉ प्रदान करना जिनका सत्यापन स्वतंत्र जांच करने के तरीकों से किया जा सके और जो न्यूनतम मजदूरी से ज्यादा भुगतान करती हों

परियोजनाओं के वित्त पोषण हेतु प्राथमिकता निम्न पेशकश करने वाले पीआईए को दी जाती है-

  1. विदेश प्लेसमेंट
  2. कैप्टिव रोजगार: उन पीआईए या संगठनों को जो आंतरिक मानव संसाधन की जरूरत को पूरा करने के लिए कौशल प्रशिक्षण कर रहे हों
  3. उद्योग इंटर्नशिप: उद्योग से सह वित्त पोषण के साथ इंटर्नशिप के लिए समर्थन
  4. चैंपियन नियोक्ता: पीआईए जो 2 साल की अवधि में 10,000 डीडीयू-जीकेवाई प्रशिक्षुओं की एक न्यूनतम संख्या के लिए कौशल प्रशिक्षण और प्लेसमेंट का आश्वासन दे सकता हो
  5. उच्च प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान: राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (एनएएसी) से न्यूनतम 3.5 ग्रेडिंग प्राप्त संस्थान, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) या अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद से वित्त पोषित सामुदायिक कॉलेज जो डीडीयू-जीकेवाई परियोजनाओं में रूचि रखते हों।

ग्रामीण कौशल्य योजना की ख़ास बाते Special features of Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)

1.  यह योजना “राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन National Rural Livelihoods Mission (NRLM) का एक हिस्सा है। इस योजना के द्वारा 550 लाख ग्रामीण बेरोजगारों को लाभ मिलेगा।

2.  यह योजना कम से कम 75% शिक्षित बेरोजगारों को नौकरी की गारंटी देती है।

3.  इस योजना में SC/ ST 50%, महिलाये 33%, minority 15% को शामिल किया गया है।

4. इस योजना के अंतर्गत ग्रामीणों को बिना किसी जातिगत भेदभाव के कौशल विकास प्रशिक्षण दिया जाता है जिससे वे अपनी आय बढ़ा सकें।

5.  इस योजना में लोगों को नियमित तौर पर मजदूरी का काम दिया जाता है। इस योजना का लक्ष्य ग्रामीणों को स्थाई रोजगार देना हैं।

6.  इस योजना में ग्रामीणों की कार्यक्षमता को बढ़ाया जाता है। उन्हें नये प्रकार के कौशल सिखाए जाते हैं, जिससे वे अपनी आय बढ़ा सके और खुशहाल जीवन जी सके।

इसे भी पढ़ें -  अमरावती स्तूप का इतिहास और वास्तुकला History of Amaravati Stupa in Hindi

7.  इस योजना को शुरू कर सरकार की मंशा एक मजबूत नेटवर्क बनाना है जिससे जनसांख्यिकीय अधिशेष को लाभ मिल सके।  

8.  इस योजना में 576 घंटे (3 महीने) से लेकर 2,304 घंटे (12 महीने) तक के प्रशिक्षण अवधि की परियोजनाओं को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

9.  यह योजना रत्न और आभूषण, पाइप लाइन, विद्युत, चमड़ा, मोटर वाहन, निर्माण, स्वास्थ्य, आतिथ्य, खुदरा व्यापार जैसे 250 से अधिक व्यापार क्षेत्रों के लिए अनुदान देती है।   

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना का दृष्टिकोण

1.  प्रमुखता में बदलाव – प्रशिक्षण से कैरियर में प्रगति

2.  विकास से गरीब और हाशिए पर खड़े लोगों को लाभ लेने हेतु सक्षम बनाना

3.  पलायन के दर्द को कम करना जब पलायन अनिवार्य हो

4.  भागीदारी के निर्माण के लिए सक्रिय दृष्टिकोण

5.  इनपुट और आउटपुट की निगरानी – जहां मुख्य ध्यान प्लेसमेंट यानी उत्पादन पर है

6.  यह राज्यों को डीडीयू -जीकेवाई परियोजनाओं का पूर्ण स्वामित्व लेने के लिए सक्षम बनाता है। यह फैसला किया गया है कि अब और किसी मल्टी स्टेट परियोजनाओं (एमएसपी) पर विचार नहीं किया जायेगा

7.  राज्य सरकार मुख्य निर्धारक – एकल राज्य परियोजना (एसएसपी) से वार्षिक कार्य योजनाओं(एएसपी) के लिए

8.  परियोजना कार्यान्वयन एजेंसियों (पीआईए) की क्षमता बढ़ाना

9.  सहमति और राज्य के हिस्से अनिवार्य है

आवश्यक योग्यता / शर्तें (पात्रता) Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY) eligibility

1.  इस योजना के लिए ग्रामीण युवकों का चयन किया जाता है। उनकी आयु 15 से 35 वर्ष होनी चाहिए

2.  अनुसूचित जाति / जनजाति / महिलाएं / PVTG / PWD की अधिकतम आयु 45 वर्ष तक होनी चाहिए।

आवश्यक कागजात Documents required for Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)

1.  आधार कार्ड

2.  वोटर आईडी

3.  पैन कार्ड

4.  पासपोर्ट साइज फोटो

5.  ईमेल आई डी

6.  मोबाइल नम्बर

योजना के लिए कैसे आवेदन करें How to apply for Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)

1.  लिंक http://ddugky.gov.in/apply-now पर क्लिक करे.

इसे भी पढ़ें -  भारत में युवा कौशल विकास Skilling the Youth of Indian in Hindi

2.  नाम, पता, राज्य का नाम, जिला, ईमेल आईडी, पहचान पत्र जैसे आधार / पैन कार्ड / वोटर आईडी, मोबाइल नंबर, काम, सेक्टर जैसी सभी जानकारी, पहचान पत्र की फोटो अपलोड करने के बाद captcha भी भरना होगा। उसके बाद आपका दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के लिए रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की वेबसाइट Official website of Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)

https://www.india.gov.in

http://ddugky.gov.in/

कौशल्य योजना का पता Address of Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana (DDUGKY)

Rural Skills Division,
Ministry of Rural Development,
7th Floor, NDCC-II Building,
Jai Singh Road, New Delhi-110001
Office Time: 9:30 A.M. -5:30 P.M.
[Monday to Friday Except Gazetted Holiday]

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.