गधे और कुत्ते की ज्ञानवर्धक कहानी The Donkey and The Dog Story in Hindi

गधे और कुत्ते की ज्ञानवर्धक कहानी The Donkey and The Dog Story in Hindi

यह गधे और कुत्ते की कहानी बहुत ही मज़दार to है साथ ही इससे हमें बहुत ही महत्वपूर्ण चीज सिखने को भी मिलता है।

गधे और कुत्ते की ज्ञानवर्धक कहानी The Donkey and The Dog Story in Hindi

एक बार की बात एक गाँव में एक धोबी रहता था। उसके पास एक कुत्ता और एक गधा था। वह उन दोनों का अच्छा ध्यान रखता था और वो दोनों भी अपने मालिक का हर कार्य अच्छे से करते थे। कुत्ता धोबी के घर की रखवाली करता था और गधा धोबी के कपडे एक जगह से दुसरे जगह ले जाने में मदद करता था।

एक रात की बात है धोबी सोया हुआ था उसी समय दो चोर उसके घर में चोरी करने के लिए घुसे। कुत्ते को पता चल गया की कोई घर में घुसा है और वह जोर-जोर से भौकने लगा। तभी धोबी और पास के घर वाले उठ गए और उन्होंने चोरों को पकड़ लिया। धोबी और पास के लोगों ने कुत्ते की बहुत तारीफ की और धोबी बोल पड़ा – मुझे गर्व है की मेरे पास यह कुत्ता है।

उस दिन से गधा सोचने लगा की उसका मालिक कुत्ते को उससे बेहतर समझता है और वह मन ही मन कुछ ऐसा करने की सोचने लगा जिससे की मालिक उसकी भी तारीफ करे। कुछ महीने बीत गए। एक दिन दोबारा तिन चोर धोबी के घर चोरी करने के लिए घुसे। उस दिन गधा जाग रहा था इसलिए उसने चोरों को बात करते हुए सुन लिया। चोर बात कर रहे थे की – देखो घर के बाहर एक कुत्ता सोया है ध्यान से।

तभी गधा को एक तरकीब सूझी। उसने सोचा अगर वो जोर-जोर से चिल्लाया तो चोरों को पकड़ा जा सकता है और यह उसके लिए यह साबित करने का भी एक अच्छा मौका है की वह भी अपने मालिक को अपनी काबिलियत दिखा सकता। यह सोच कर गधा ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगा। रात के समय गधा को चिल्लाता देख धोबी घुस्से से आया और उसने गधे को डंडे से पीट डाला और बोला – इसके बाद तु रात को कभी नहीं चिल्लाएगा।

इसे भी पढ़ें -  हाथी और खरगोश की कहानी Elephant & Rabbit Panchatantra Story in Hindi

चोर भी वहां से भाग निकले।

उसके बाद वहां कुत्ता आया और गधा से बोला – बेहतर है की तुम अपना कार्य करो। गधा हो कुत्ता मत बनो। गधे को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसके बाद दोनों शांति से रहने लगे।

कहानी से सिख

हमें स्वयं का कार्य सही तरीके से करना चाहिए और दूसरों के किसी कार्य में सफलता को देख कर उस कार्य को शुरू नहीं करना चलिए। हमें यह समझना चाहिए की हमारा काबिलियत क्या है और हम किस कार्य में सफल हो सकते हैं।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.