मेरे पिता मेरे हीरो हैं पर निबंध Essay on My father my hero in Hindi

मेरे पिता मेरे हीरो हैं पर निबंध Essay on My father my hero in Hindi

मेरे पिता मेरे हीरो ही नही बल्कि मेरे लिए एक प्रेरणा के पात्र है। हम सभी जानते है कि पिता का हर किसी के जीवन में एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। एक महान पिता, एक अच्छा पिता होने के साथ अच्छा पति और एक अच्छा इन्सान भी होता है। वो प्रत्येक व्यक्ति के साथ सामान व्यवहार करता है। और किसी के साथ कोई अंतर नही करता है।

हमारे जीवन में पिता की जगह कोई नही ले सकता है क्योंकि पिता के लिए बच्चे हमेशा विशेष होते है। और बच्चों के लिए पिता प्रेरणा का स्रोत होते है। बच्चे अपने पिता से बहुत कुछ सीखते है और उनके लिए उनके पिता हीरो की तरह होते है।

मेरे पिता का व्यक्तित्व (Personality of my father)

मेरे पिता की उम्र 40 साल है और वो स्वस्थ और स्वछता को और ज्यादा ध्यान देते है। वे सरकारी नौकरी करते है और वो समय के बहुत ही अनुशासित है। उनसे हमें अनुशासन और भी बहुत कुछ सीखने को मिलता है। वो हमारी प्रवाह करते है और हमसे बहुत प्यार करते है। हमारे कहने पर हमारी ज़रूरतों को एक बार में ही पूरा कर देते है, लेकिन वो बहुत शक्त भी है। 

मेरे पिता ऑफ़िस में फॉर्मल (Formal) और घर पर समान्य कपडे पहनते है। वो दूसरों की मदद करने मे हमेशा ही तैयार रहते है, किसी की मदद करते समय वो जाति, धर्म या अन्य किसी भी चीज को लेकर किसी के साथ भेदभाव नही करते है। वे सदैव जल्दी उठते है और हमें भी सलाह देते है कि जल्दी उठाना चाहिए, जिससे हमारा स्वास्थ्य अच्छा रहे।

इसे भी पढ़ें -  भारत की ऋतुएँ निबंध व जानकारी Essay on Seasons of India in hindi

वो समय के बहुत ही पाबंद है। अपने सभी काम को सही समय से ख़त्म कर देते है।  वो हमेशा ही बड़ों की इज़्ज़त करते है और हमें भी इज़्ज़त करने की सलाह देते है। मैं हमेशा अपने पिता के द्वारा दिए सलाह से प्रेरित रहता हूँ। मैं मानता हूँ मेरा भी व्यक्तित्व आज उनकी वजह से अच्छा बन रहा है। क्योंकि उनके सलाह को मान कर मैं अपनी आदतों और अपने व्यवहार में सुधार कर पा रहा हूँ।

मेरे पिता दोस्त की तरह (My father as a friend)

मेरे पिता का व्यवहार मेरे साथ एक दोस्त की तरह है। वो हमेशा मेरे हर निर्णय में मेरा साथ एक दोस्त की तरह देते है। जब मैं उनसे अपने दिल की बात बताता हूँ, तो वो मुझे एक दोस्त की तरह समझाते है और अगर मैं कही गलत होता हूँ तो उसे भी बताते हैं। कभी कभी तो मुझे लगता है कि उनसे अच्छा मेरा कोई और दोस्त ही नही है।

मेरे पिता एक एक शिक्षक के रूप में (My father as a teacher)

मुझे जब भी किसी भी तरह की पढ़ाई में दिक्कत होती है,तो मैं हमेशा अपने पिता से ही सलाह लेता हूँ। क्योंकि किसी के पिता कभी भी अपने बच्चे को गलत सलाह नही देते है। जैसे मुझे किसी विषय को लेकर परेशानी है, तो मैं अपने पिता से उसका हम पूछता हूँ। वो हमेशा हमें नैतिकता के बारे में बताते है और हमें एक अच्छा इंसान बनाना चाहते है।

Loading...

जीवन को सरल बनाने में मदद (Help simplify life)

मेरे पिता का हमेशा से ही साधारण जीवन जीने में विश्वास रहा है। जबकि वो चाहे तो एक अच्छी और लग्जरी जीवन जी सकते है लेकिन उनका मानना है कि हमें अपने जीवन को साधारण रखना चाहिए और लोगो की मदद करते हुए अपने जीवन को बिताना चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  इंधन बचत पर निबंध Essay on Fuel Conservation in Hindi

वे तो एक ऐसा गैर- लाभकारी संस्था से भी जुड़े हुए है जहाँ से उनको लाभ नही होता है लेकिन उस संस्था के वजह से बहुत से ऐसे बच्चे को खाना मिलता है जिनको खाना भी नही नसीब होता है। वो उन बच्चों को खाना खिलाते है और ऐसे अनाथ बच्चों की मदद करते है। मुझे भी उनके इस निर्णय से बहुत खुशी होता है। मैंने भी सोच लिया है कि जब मैं कमाऊंगा तो मैं भी अपने पिता की तरह लोगो की मदद करूँगा।

मेरे पिता सलाहकार के रूप में (My father as a consultant)

मेरे पिता एक बहुत ही अच्छे सलाहकार है। उनसे बहुत से बाहरी लोग सलाह लेने आते है। वो हमेशा लोगो को सही और उनके लिए जो सबसे अच्छा रास्ता होता है वही करने को बताते है। मैं भी अपने सभी परेशानियों को दूर करने के लिए अपने पिता के पास ही जाता हूँ।

बहुत बार मुझे समझ नही आता है कि मैं क्या करूँ, तो उसके समाधान के लिए मैं केवल अपने पिता से ही सलाह लेता हूँ। जैसे पढ़ाई ने ध्यान केन्द्रित करने में असमर्थ या किसी के साथ लड़ाई होने की स्थिति में या अन्य किसी विषय में जब मैं निर्णय लेने में असमर्थ होता हूँ, तो मैं अपने पिता से सलाह लेता हूँ। और वो हमेशा मुझे सही सलाह देते है।

पर्यावरण को सुधारने के लिए तैयार (Ready to improve the environment)

मेरे पिता को प्रकृति (Nature) से बहुत प्यार है। वो हमेशा ही पर्यावरण को लेकर चिंतित रहते है। वो बहुत से लोगो को सलाह भी देते है कि वो पेड़ की कटाई कम करे और वृक्षारोपण करे, और प्लास्टिक का उपयोग कम करें। जिससे हमारा पर्यावरण स्वच्छ रहे और हमारा स्वस्थ्य भी।

उन्होंने बहुत से सफाई अभियान भी किया है, जिससे आस पास के लोग जागरूक रहे और अपने घरों से निकलने वाले कचरे को सही तरह से कूड़ेदान में डाले। सफाई को लेकर मेरे पिता बहुत ही उत्सुक रहते है। उन्हें अपने घर के आस-पास साफ सफाई करना अच्छा लगता है।

इसे भी पढ़ें -  प्रिय बापू आप अमर हैं - पत्र लेखन Priya Bapu Aap Amar Hain

मेरे पिता सफाई के लिए, वृक्षारोपण के लिए और प्लास्टिक उपयोग को लेकर जागरूकता फ़ैलाने के लिए कई बार मेरे स्कूल में भी आये है। उनका मानना है जब किसी काम को युवा समझने लगेंगे। तो वो उसे सही तरीके से करेंगे। इनकी ऐसी सोच के कारण मैं हमेशा ही अपने पिता से प्रभावित रहता हूँ।

मुझे अपने पिता से बहुत से प्रेरणा मिली है। इसी लिए मैं अपने जीवन का हीरो अपने पिता को ही मानता हूँ। मुझे अपने पिता से बहुत चीजें सीखने को मिली है। जिसके कारण मेरा जीवन बहुत ही सुखमय और अच्छा बीत रहा है। मैं अपने आप को बहुत लकी मानता हूँ कि मेरे पिता है। जिन्होंने मुझे जीने का सभी मतलब समझया और मेरे जीने के तरीके को बदल दिया। इसीलिए मेरे पिता हमेशा मेरे हीरो रहेंगें।

Loading...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.