बाल श्रम या बाल मजदूरी पर निबंध Essay on Child Labour in Hindi

बाल श्रम या बाल मजदूरी पर निबंध Essay on Child Labour in Hindi

बाल मजदूरी को दूर और रोकने के लिए पुरे विश्व भर में मुहीम छिड़ चूका है। बाल मजदूरी किसी भी देश के समाज के लिए एक अभिशाप बन गया है क्योंकि इससें बच्चों का भविष्य खराब होता है। बाल श्रम एक बहुत बड़ा कारण है जिसके कारण आज विश्व में कई देश विकसित नहीं हो पा रहे हैं।

बच्चे ही भविष्य को और बेहतर और नई ऊँचाइयों पर ले कर जायेंगे और यही बच्चे अगर छोटी उम्र में शिक्षा के बजाय लोगों के घर और दुकानों में काम करने लगेंगे तो देश कैसे उन्नत करेगा।

भारतीय कानून के अनुसार 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों को किसी भी कारखाने, ऑफ़िस या होटल में काम करवाना क़ानूनन अपराध है। यहाँ तक की भारत में आज भी ज्यादातर जगहों में बाल मजदूरी कराया जा रहा है जिसके कारण बच्चे अशिक्षित रह जा रहे हैं और इस प्रकार मानवाधिकार का उल्लंघन बार-बार हो रहा है।

आज भी कई प्रकार के नए नियम और कानून निकलने पर भी बाल मजदूरी भारत में कई छोटे व्यापार, होटल, साफ़-सफाई, दुकानों में हो रहा है। यह बहुत ही शर्म की बात है क्योंकि बाल मजदूरी के कारण ही समाज में असाक्षरता, बेरोज़गारी और गरीबी को दूर करना और मुश्किल होते जा रहा है।

बाल श्रम या बाल मजदूरी पर निबंध Essay on Child Labour in Hindi

बाल मजदूरी के कारण Causes of Child Labour in Hindi

कारण –

  • गरीबी के कारण गरीब माता-पिता अपने बच्चों को घर-घर और दुकानों में काम करने के लिए भेजते हैं।
  • दूकान और छोटे व्यापारी भी बच्चों से काम तो बड़े लोगों के जितना करवाते हैं परन्तु दाम उनसे आधा देते हैं क्योंकि वो बच्चे हैं।
  • बच्चे ज्यादा चालाक नहीं होते हैं इसलिए ज्यादा चोरी और ठग का अवसर नहीं मिलता है।
  • व्यापार में उत्पादन लागत कम लगने के लोभ में भी कुछ व्यापारी बच्चों का जीवन बर्बाद कर देते हैं।
  • बच्चे बिना किसी लोभ के मन लगा कर काम करते हैं।
इसे भी पढ़ें -  युद्ध के लाभ और हानि निबंध Yuddh ke Labh aur Hani

बाल मजदूरी रोकने के उपाय Solutions to Child Labor in Hindi

रोकने के उपाय –

  • बाल मजदूरी के लिए और मजबूत तथा कड़े कानून बनाने चाहिए जिससे कोई भी बाल मजदूरी करवाने से डरे।
  • आम नागरिक को भी बाल मजदूरी के विषय में जागरूक होना चाहिए और अपने समाज में होने से रोकना चाहिए।
  • गरीब माता-पिता को भी अपने बच्चों की शिक्षा में पूरा ध्यान देना चाहिए क्योंकि आज सरकार मुफ्त शिक्षा, खाना, और कुछ स्कूलों में दवाइयों जैसी चीजों की सुविधाएँ भी प्रदान कर रही है।
  • कारखानों और दुकानों के लोगों को प्रण लेना चाहिए की वो किसी भी बच्चे से मजदूरी या श्रम नहीं करवाएंगे और काम करवाने वाले लोगों को रोकेंगे।

परिणाम Conclusion

एक बच्चे को 1000-1500 रुपए देकर बाल मजदूरी करवाने के कारण कई प्रकार के हानि होते हैं। इससे यह परिणाम निकलता है कि सबसे पहले तो वह बच्चा अशिक्षित रह जाता है, देश का आने वाला कल और अंधकार की और जायेगा, साथ ही बेरोजगारी और गरीबी और बढ़ेगा। अगर देश का आने वाला कल इतना बुरा होगा तो इसमें हम सभी का घाटा ही तो है।

2 thoughts on “बाल श्रम या बाल मजदूरी पर निबंध Essay on Child Labour in Hindi”

  1. Lokhandwala Andheri West Samarth Vaibhav Ke Samne do bache stol per kaam karte dikh rahe hai agar koi action ho sake to lichi

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.