क्रिकेट पर निबंध Essay on Cricket in Hindi (Mera Priya Khel)

क्रिकेट पर निबंध Essay on Cricket in Hindi (Mera Priya Khel)

आज के समय में क्रिकेट का खेल बेहद लोकप्रिय खेल है। यह 125 से अधिक देशों में खेला जाता है और इसके 12 मुख्य व पूर्ण इंटरनॆशनल क्रिकेट काउंसिल के सदस्य हैं। इस खेल को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग स्टेडियम में जाते है।

इसे गली, मोहल्ले से लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक खेला जाता है। आमदनी और इनकम के लिहाज से यह खेल अन्य खेलो को कड़ी टक्कर देता है। क्रिकेट के खेल में टिकट और विज्ञापन से लाखों रूपये की आमदनी होती है। भारत, आस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, वेस्टइंडीज़, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफग़ानिस्तान, आयरलैंड देश की टीम प्रमुख रूप से क्रिकेट का खेल खेलती है।

क्रिकेट पर निबंध Essay on Cricket in Hindi (Mera Priya Khel)

क्रिकेट का इतिहास

क्रिकेट खेल की शुरुवात सन 1478 में फ़्रांस में हुई थी। उस समय गेंद को एक पतली छड़ी से मारा जाता था। सन् 1850 में गिलफोर्ड स्कूल में इस खेल को खेला जाता था। 1926 में क्रिकेट का खेल अन्य देशों में फैला। 1844 में पहली बार संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा के बीच अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया था।

1927 में भारत में राजगुरु क्रिकेट टूर्नामेंट का आरंभ हुआ और 1928 में भारत की टीम इंग्लैंड गई। महाराजा रणजीत सिंह इस खेल को विशेष रूप से पसंद करते थे।  1975 में पहला क्रिकेट वर्ड कप इंग्लैंड में आयोजित हुआ।

क्रिकेट के नियम

यह खेल बेहद सरल और मनोरंजक होता है। इसे बल्ला (Bat) और गेंद (Ball) की मदद से खेला जाता है। इसे 22 यार्ड लम्बी पिच पर खेला जाता है। 2 टीम इसे खेलती है। प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते है। 3 लकड़ी के स्टम्प से विकेट बना होता है। विकेट पर 2 लकड़ी की गुल्लियाँ रखी जाती है। गेंदबाज दौड़कर बल्लेबाज को गेंद फेकता है और विकेट को मारने का प्रयास करता है।

इसे भी पढ़ें -  कुत्ते पर निबंध व तथ्य Essay on Dog in Hindi and Facts

उधर बल्लेबाज बैट से जोर से गेंद को मारके दौड़ कर रन बनाता है। गेंदबाजी करते समय गेंदबाज का पिछला पैर दो रिटर्न क्रीजों के बीच में होना चाहिए। गेंदबाज का अगला पैर पोप्पिंग क्रीज के ऊपर पड़ना चाहिये। यदि गेंदबाज़ इस नियम को तोड़ता है तो उस बाल को “नो बाल” घोषित कर दिया जाता है। बल्लेबाज को एक अतिरिक्त रन दिया जाता है।

सुरक्षा के लिए बल्लेबाज पैड, दस्ताने और हेलमेट पहनता है। खेल शुरू करने के लिए दोनों टीम के कप्तान को बुलाकर टॉस किया जाता है। जीतने वाला कप्तान फैसला करता है की उसे गेंदबाजी करनी है या बल्लेबाजी।

गेंदबाजी करने वाली टीम अपने सभी खिलाड़ियों को मैदान में रक्षण करने के लिए लगा देती है। क्रिकेट का खेल ओवर में खेला जाता है। एक ओवर में 6 गेंदे फेंकी जाती है। जिस ओवर में रन नही बनता है उसे मेडन ओवर कहा जाता है।

11 में से 10 बल्लेबाज आउट हो जाने पर एक टीम आल आउट कहलाती है। एक बल्लेबाज कई तरह से आउट हो सकता है। रन आउट, कैच आउट, बोल्ड स्टम्पड, हिट विकेट, लेग बिफोर विकेट, टाइम आउट जैसे प्रकार से कोई बल्लेबाज आउट हो सकता है।  जो टीम अंत में अधिक रन बनाती है वो विजयी होती है।

क्रिकेट के प्रकार

पहले टेस्ट क्रिकेट और एक दिवसीय क्रिकेट बहुत प्रसिद्ध थे। एक दिवसीय क्रिकेट मैच में दोनों टीम 50-50 ओवर की बल्लेबाजी करती है। पर अब ट्वेंटी 20 क्रिकेट भी बहुत प्रसिद्ध हो गया है। इसमें दोनों टीमो को 20-20 ओवर बल्लेबाजी करने का मौका मिलता है। रन बनाने का दबाव अधिक रहता है इसलिए बल्लेबाज जल्दी जल्दी रन बनाने की कोशिश करता है।

इस फ़ॉर्मेट में बहुत तेज गति से रन बनते है और विकेट भी उतनी ही तेजी से गिरते है। लोगो के बीच ट्वेंटी 20 क्रिकेट बहुत प्रसिद्ध हो गया है। पहली ट्वेंटी 20 विश्व चैंपियनशिप का आयोजन 2007 में किया गया।

इसे भी पढ़ें -  खेल के महत्व पर भाषण Speech on Importance of Sports in Hindi

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेल का संचालन

क्रिकेट के खेलों को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) संचालित करता है। इसका मुख्यालय दुबई में है, यह क्रिकेट की अंतर्राष्ट्रीय संस्था है। इसे 1909 ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधियों द्वारा स्थापित किया गया था।

वर्तमान में आई सी सी (ICC) के 104 सदस्य हैं; 10 सदस्य जो आधिकारिक टेस्ट मेच खेलते हैं, 34 सहयोगी सदस्य हैं और 60 संबद्ध सदस्य हैं। यह संस्था क्रिकेट के प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट खासकर क्रिकेट विश्व कप के संचालन, संगठन और शासन के लिए उत्तरदायी है।

क्रिकेट खेलने से लाभ

क्रिकेट खेल खेलने के फायदे –

  • क्रिकेट खेलने से अनेक लाभ होते है। इससे शरीर के सभी अंगो का अच्छी तरह व्यायाम हो जाता है। आपकी प्रेम और खेल भावना का विकास होता है। भारत में हर गली, मोहल्ले और गाँव में क्रिकेट के दीवाने मिल जायेंगे। इसे खेलने से बच्चो का उत्तम शारीरिक और मानसिक विकास होता है।
  • इसमें सरकार या बोर्ड को अच्छी ख़ासी कमाई होती है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों का प्रसारण टीवी चेनल्स पर किया जाता है जिससे अतिरिक्त कमाई होती है।
  • इसे खेलने से हृदय स्वास्थ रहता है। इसे खेलने के दौरान खिलाड़ियों को बहुत श्रम करना पड़ता है। इससे उनके शरीर में खून का बहाव बहुत तेज गति से होता है। इससे हृदय का अच्छा व्यायाम हो जाता है।
  • क्रिकेट खेलने से मोटापा दूर होता है। वजन संतुलित रहता है। इससे शरीर का अतिरिक्त वसा खत्म हो जाता है।
  • यह तनाव दूर करने का अच्छा विकल्प है। इसे अन्य खिलाडियों के साथ खेलने से मित्रता और भाईचारा भी बढ़ता है। रिश्ते मजबूत होते है।
  • इसे खेलने से स्टेमिना में वृद्धि होती है। अच्छा मनोरंजन का साधन है।

क्रिकेट के प्रसिद्ध खिलाड़ी

डॉन ब्रेडमैन, सचिन तेंदुलकर, कपिलदेव, सुनील गावस्कर, युवराज सिंह, राहुल द्रविड़, महेंद्र सिंह धोनी, इरफ़ान खान, अनिल कुंबले, हरभजन सिंह, वीरेंद्र सहवाग, विराट कोहली, और कई ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने क्रिकेट में दिग्गज प्राप्त किया और देश का नाम भी रोशन किया है।

इसे भी पढ़ें -  हिन्दू विवाह की सभी मुख्य रस्में Hindu Wedding Rituals Step by Step in Hindi

क्रिकेट मैच में फ़िक्सिंग

आजकल मैच फिक्सिंग की खबरे हर साल आ रही है। यह बेहद चिंता का विषय है। क्यूंकि क्रिकेट को भद्रजनों, सज्जनों का खेल कहा जाता है। ऐसे में कुछ लोग इतने सुन्दर खेल को बदनाम करते हैं।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.