फुटबॉल पर निबंध Essay on Football in Hindi (Mera Priya Khel)

फुटबॉल पर निबंध Essay on Football in Hindi (Mera Priya Khel)

फुटबॉल विश्व में सबसे अधिक खेला जाने वाला खेल है। यह विश्व के सभी देशों में प्रचलित है। लोकप्रियता के मामले में फुटबॉल, क्रिकेट से भी आगे है। 200 से ज्यादा देशों में फुटबॉल खेला जाता है। अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस, स्पेन, बेल्जियम, इंग्लैंड, रूस, कोलंबिया, पेरू, उरूग्वे, अर्जेंटीना, दक्षिण कोरिया, मोरक्को, नाइजीरिया, सेनेगल, कोस्टा रिका जैसे देशों में फुटबॉल बहुत लोकप्रिय खेल है।

इस खेल में सिर्फ 90 मिनट का समय लगता है, इसलिए यह क्रिकेट की तुलना में अधिक लोकप्रिय है। दर्शक इसे देखने के लिए उत्साहित रहते हैं। उन्हें बहुत अधिक समय भी नहीं देना पड़ता है जबकि क्रिकेट खेलने के लिए कम से कम 3 घंटे का समय देना पड़ता है।

फुटबॉल पर निबंध Essay on Football in Hindi (Mera Priya Khel)

फुटबॉल खेलने से ना सिर्फ मनोरंजन होता है बल्कि स्वास्थ्य भी अच्छा हो रहता है। इस खेल में शरीर के सभी अंगो का भरपूर व्यायाम हो जाता है। इस तरह मनोरंजन के साथ-साथ स्वास्थ्य भी उत्तम बनता है। फुटबॉल के खेल को बच्चे से लेकर बूढ़े तक खेलना पसंद करते हैं। इसमें बड़ी सी गेंद जिसे फुटबॉल कहते हैं, उसे पैर से किक मार के विपक्षी टीम के नेट में डालना होता है।

उस नेट को गोल कहते हैं। गेंद को पैर से किक मारते हैं। फुटबॉल हवा में बड़ी तेजी से आगे बढ़ती है जिसे देखकर सभी लोग रोमांचित हो उठते हैं। युवाओं के बीच यह खेल बहुत प्रसिद्ध है। इसे खेलने से चुस्ती फुर्ती बढ़ती है और एक अच्छा व्यायाम होता है। यह एक अंतरराष्ट्रीय खेल है। हर 4 साल पर फुटबॉल वर्ल्ड कप होता है। 2018 का फीफा वर्ल्ड कप का विजेता फ्रांस बना था।

इसे भी पढ़ें -  मेरे शहर पर निबंध Essay on My City in Hindi - Delhi

फुटबॉल का इतिहास HISTORY OF FOOTBALL

अंग्रेजी में फुटबॉल को Football कहते हैं जिसका अर्थ है Ball को Foot से मारना। यानी गेंद को पैर से मारना। ऐसा माना जाता है कि फुटबॉल एक चीनी खेल सूजु से विकसित हुआ। इस खेल को चीन में ह्याँ वंश ने विकसित किया था। जापान में इसी खेल को असुका वंश के लोग खेलते थे।

1409 में ब्रिटेन के राजकुमार हेनरी चतुर्थ ने फुटबॉल को अंग्रेजी में Football कहकर संबोधित किया था। इसे 1586 में डेविस नाम के समुद्री जहाज के कप्तान ने अपने साथियों के साथ ग्रीनलैंड में खेला था। 1878 में रॉबर्ट ब्राउन स्मिथ ने फुटबॉल के विकास पर एक पुस्तक लिखी थी।

21 मई 1984  को FIFA फीफा फेडरेशन इंटरनेशनल ऑफ फुटबॉल एसोसिएशन की स्थापना की गई। इसके अध्यक्ष रॉबर्ट गुएरिन थे। यूरोप के सात बड़े देश फ्रांस, बेल्जियम, डेनमार्क, नीदरलैंड, स्पेन, स्वीडन और स्विट्जरलैंड इसमें पहली बार शामिल हुए थे।

फुटबॉल खेलने के नियम RULES OF FOOTBALL

इस खेल में खिलाड़ी शर्ट्स, शोर्ट्स, मोजे, जूते पहनते है। घड़ी, गहने या कोई दूसरी चीज पहनने की मनाई होती है जिससे दूसरे खिलाड़ियों को चोट पहुँच सके। गोल कीपर ऐसे कपड़े  पहनता है जिससे विपक्षी टीम के खिलाड़ी उसे आसानी से पहचान सके। फुटबाल के अंतर्राष्ट्रीय मैचों में अधिकतम 3 खिलाड़ियों को बदलने की अनुमति होती है। घायल हो जाने या कोई और समस्या होने पर खिलाड़ी को बदलने की अनुमति होती है।

यह खेल 120  गज लंबा और 90 गज चौड़े मैदान पर खेला जाता है।  यह खेल कुल 90 मिनट का होता है। इसे दो भागों में बंटा हैं- 45 मिनट और 15 मिनट के अंतराल में। इसमें 2 टीमें होती हैं। प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं। खिलाड़ियों को अपनी विरोधी टीम के गोल पोस्ट में गेंद को मारकर गोल करना होता है। विपक्षी टीम का गोलकीपर गोल को रोकने का प्रयास करता है।

इसे भी पढ़ें -  भारत में जल संसाधन Water resources in India Hindi

वह हाथ पैरों और पूरे शरीर की मदद से गोल रोक सकता है परंतु बाकी किसी खिलाड़ी को हाथ का इस्तेमाल करने की परमिशन नहीं होती है। अन्य खिलाड़ी सिर्फ पैर से ही यह खेल खेल सकते हैं। कोई फुटबॉल को हाथ से नहीं छू सकता है। विपक्षी टीम का गोलकीपर गोल रोकने का भरपूर प्रयास करता हैं। जो टीम अधिक गोल करती है, वह विजय मानी जाती है। फुटबॉल के खेल को सही तरह से संचालित करने के लिए एक रेफरी और दो लाइन मैन होते हैं।

रेफरी इस बात का ध्यान रखता है कि दोनों टीमों के सभी खिलाड़ी खेल के नियमों का पालन करें। खेल का मैदान 2 लंबी रेखाओं (स्पर्श लाइन) और दो छोटी लाइन (साइट गोल लाइन) में बंटा हुआ आयताकार मैदान होता है। फुटबॉल की गेंद का आकार लगभग 70 सेंटीमीटर का होता है। 1 गोल होने पर खेल को दोबारा शुरू करने के लिए फ़ुटबाल पर किक लगाकर खेल दोबारा शुरू किया जाता है।

फुटबॉल खेलने से लाभ ADVANTAGES OF PLAYING FOOTBALL

फुटबॉल का खेल खेलने से अनेक लाभ है। इसे खेलने से टीम भावना का विकास होता है। विभिन्न देशों के बीच जब फुटबॉल का मैच होता है तो इससे आपसी भाईचारा और प्रेम बढ़ता है। यह खेल खेलने से ह्रदय स्वस्थ बनता है। यह एक अच्छा व्यायाम साबित होता है।

इस खेल को खेलने में बहुत अधिक ऊर्जा नष्ट होती है, जिससे खिलाड़ियों की अतिरिक्त कैलोरी बर्न हो जाती है और उनको उत्तम स्वास्थ्य प्राप्त होता है। फुटबॉल खेलने से मांसपेशियों की ताकत बढ़ती है और कोई भी रोग नहीं होता है। यह मानसिक और शारीरिक शक्ति प्रदान करता है। जो लोग डिप्रेशन, अवसाद, तनाव जैसे रोगों से ग्रस्त हैं उन्हें फुटबॉल खेलना चाहिए।

अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबाल का संचालन ORGANISING INTERNATIONAL FOOTBALL GAMES

वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबाल के खेलों का संचालन फीफा FIFA Fédération Internationale de Football Association (फेडरेशन इंटरनेशनेल डी फुटबॉल एसोसिएशन) करती है।

इसे भी पढ़ें -  फैशन पर निबंध Essay on Fashion in Hindi

फुटबॉल के प्रसिद्ध खिलाड़ी FAMOUS FOOTBALL PLAYERS

क्रिस्टियानो रोनाल्डो, रोनाल्डिन्हो, नेमर, लियोन मेसी, लुईस सुआरेज़, मैनुएल नॉयर,  गेराथ बेल, ज़्लाटन इब्राहिमोविक, जेरोम बोटेंग, रॉबर्ट लेवानडॉस्की, डेविड डे गिया दुनिया के मशहूर फुटबॉल खिलाड़ी हैं।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.