मानवता पर निबंध Essay on Humanity in Hindi

मानवता पर निबंध Essay on Humanity in Hindi

मानवता क्या है? What is Humanity in Hindi?

मानवता का अर्थ इंसानियत, दया, मनुष्य जाति का स्वभाव, मानव जाति, मानव स्वभाव, भलामानस का गुण, मनुष्यत्व होता है। जब हम पशु पक्षियों और दूसरे जीवो के प्रति दया का भाव दिखाते हैं तो उसे मानवता कहते हैं।

ईश्वर ने मानव (मनुष्य) को सर्वश्रेष्ठ प्राणी बनाया है। मनुष्य 86 लाख योनियों में सर्वश्रेष्ठ जीव है। मनुष्य को ईश्वर ने बोलने की शक्ति दी है। मनुष्य बोलकर अपने मन के भावों को व्यक्त कर सकता है। हम अपने सुख-दुख, खुशी, गम, आश्चर्य सभी भावों को बोलकर प्रकट करते हैं।

आज दुनिया को मानवता की जरूरत क्यों है? Why Humanity is important in Hindi?

दोस्तों यह सवाल उठता है कि आज दुनिया को मानवता की जरूरत क्यों है? तो इसका बहुत ही सीधा जवाब है। विश्व के अनेक भागों में आज कई तरह का संकट मौजूद है।

  1. पाकिस्तान, अफ़गानिस्तान, सऊदी अरब अमीरात जैसे मुस्लिम देशों में स्त्रियों की स्तिथि खराब है। पुरुष उनका शोषण करते हैं। स्त्रियां अपने मन से कोई काम नहीं कर सकती हैं। उनको घर के कामों के लिए ही समझा जाता है। उनको बाहर जाकर नौकरी करने की इजाजत नही है। उन पर बंदिश लगाई जाती है। यह मानव अधिकारों का हनन है। यह मानवता का भी हनन है।
  2. कई गरीब देशो में बच्चों पर अत्याचार किए जाते हैं।
  3. स्वार्थ में आकर लोग अच्छे-बुरे सभी काम करने को तैयार हैं। मानव अंगों की तस्करी, बाल शोषण, यौन शोषण जैसी समस्याएं आज विश्वभर में देखने को मिलती हैं।
  4. कई देशो में मजदूरों से जानवरों की तरह 12 घंटों से अधिक का काम कराया जाता है और उन्हें कम वेतन दिया जाता है।
  5. समाज में दिन प्रतिदिन अपराध, हत्या, लूटमार, दुष्कर्म की घटनाएं सुनने को मिलती हैं। विश्व में बढ़ता क्राइम रेट बताता है कि कहीं न कहीं मनुष्यों ने अपनी मानवता खो दी है।
  6. जानवरों के प्रति क्रूरता दिखाई जा रही है। मीट स्लॉटरहाउस, मीट मंडियों में उनके साथ बुरा बर्ताव किया जाता है। जानवरों को सिर्फ मनुष्य का खाना समझा जाता है।
  7. समाज में घूसखोरी, भ्रष्टाचार जैसी चीजें बढ़ती जा रही हैं।
  8. ऑफिस में महिलाओं के साथ किया गया अभद्र व्यवहार, यौन शोषण ऐसी कुछ प्रमुख समस्याएं हैं जो यह बताती हैं कि आज मानवता खतरे में है। हमें जल्दी इस पर कुछ कदम उठाना होगा।
इसे भी पढ़ें -  प्रवासी भारतीय दिवस पर निबंध Essay on Pravasi Bharatiya Divas in Hindi

हम मानवता कैसे दिखा सकते है? How to show Humanity in Hindi?

1.  असहाय, दीन दुखी लोगों की मदद करके

यदि हम दूसरे लोगों की मदद करते हैं तो हम मानवता का धर्म निभाते हैं। भूखे को खाना खिलाकर, अंधे व्यक्ति को सड़क पार करा कर, सड़क पर दुर्घटना में घायल किसी व्यक्ति को अस्पताल पहुंचा कर- इस तरह के कई काम करके हम मानवता दिखा सकते हैं। याद रखें मनुष्य का जन्म दूसरों की मदद के लिए ही हुआ है। हमें अपने अनमोल जीवन का पूरा उपयोग करना चाहिए।

2.  मांसाहार छोड़कर शाकाहारी बनकर

आज हमारा समाज मांसाहार की तरफ बढ़ रहा है। अखबार, टीवी, सोशल मिडिया में मांसाहार प्रोडक्ट जैसे चिकन बर्गर जैसे विज्ञापनों की भरमार है, पर क्या आपने सोचा है कि मांसाहार करने से आप पशु पक्षियों के प्रति कैसा व्यव्हार करते है? उनकी निर्मम तरीके से हत्या करके उनका मीट आपको बेच दिया जाता है।

प्रोटीन के नाम पर लोग मांसाहार का सेवन करते हैं, पर प्रोटीन प्राप्त करने के अन्य स्रोत भी हैं। यदि हम पशु पक्षियों के प्रति मानवता दिखाते हैं तो हमें मांसाहार छोड़कर शाकाहार की ओर बढ़ना चाहिए।

3.  समाज में प्रेम का संदेश देकर

हमें समाज में प्रेम का संदेश देना चाहिए। नफरत भुलाकर एक दूसरे से मिलना चाहिए। दुश्मन को भी गले लगाना चाहिए। समाज के कई वर्ग में आज लोग परेशान हैं। वे पीड़ित हैं। उनके पास खाने को भोजन नहीं है, रहने को मकान नहीं है, पहनने को कपड़े नहीं है। हमें उन जैसे लोगों की मदद करनी चाहिए। समाज में नफरत नहीं पर आनी चाहिए। दूसरे लोगों से लड़ाई झगड़ा मारपीट नहीं करनी चाहिए। हमें जाति धर्म लिंग भाषा के आधार पर भेदभाव नहीं करना चाहिए।

4.  लोगों को क्षमा करके

कई बार जब किसी व्यक्ति के साथ दूसरे लोग कुछ गलत काम कर देते हैं तो वह बदला लेने का प्रयास करता है। ऐसे में हमें लोगों को क्षमा कर देना चाहिए। मन में किसी भी तरह की शिकायत शिकवा नहीं रखनी चाहिए। दूसरों को माफ करने से हम और महान बन जाते हैं। माफ करने से मन में एक संतुष्टि का भाव भी पैदा होता है।

इसे भी पढ़ें -  विश्व मानवाधिकार दिवस पर भाषण Speech on World Human Rights Day in Hindi

5.  ईश्वर को धन्यवाद देकर

कई बार हमारे पास रुपए, पैसे, गाड़ी, बंगला जैसी सारी चीजें होती है। उसके बावजूद भी हम ईश्वर को कोसते रहते हैं कि उसमें हमारे जीवन में कई तरह के समस्याएं पैदा कर दी। पर जब हम अपने से गरीब लोगों को देखते हैं तो पता चलता है कि हमारी स्थिति तो दूसरे लोगों की तुलना में अच्छी है।

इसलिए कभी भी अपनी स्थिति पर शिकायत नहीं करनी चाहिए। जो हमें ईश्वर ने दिया है उसके लिए हमें ईश्वर का धन्यवाद देना चाहिए। अपने मन में संतोष रखना चाहिए। इस तरह हम मानवता दिखा सकते हैं

मानवता का आदर्श उदाहरण “मदर टेरेसा” Mother Teresa – A Perfect example of humanity in Hindi

आप लोगों ने मदर टेरेसा के बारे में अवश्य सुना होगा। प्रथम विश्व युद्ध में अनेक लोग मारे गए। इसे देखकर मदर टेरेसा के मन में बहुत पीड़ा उत्पन्न हुई। उन्होंने दीन दुखियों की सेवा के लिए “मोडालिति” नामक एक संस्था बनाई।

वह सन्यासी बन गई और लोगों की सेवा करने लगी। मदर टेरेसा ने कोलकाता में गरीब और असहाय लोगों की मदद करने के लिए “मिशनरीज ऑफ चैरिटी” नामक संस्था बनाई थी। कुष्ठ रोगियों की सेवा के लिए उन्होंने 1950 में शांति नगर की स्थापना की।

भारत सरकार ने उनको “पद्मश्री” का पुरस्कार दिया था। 19 अक्टूबर 2003 को मदर टेरेसा को संत की उपाधि दी गई थी। उन्होंने आजीवन असहाय, दीन दुखी लोगों की सेवा की और मानवता का उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया। हम सबको मदर टेरेसा के जीवन से मानवता की शिक्षा लेनी चाहिए।

क्या दुनिया से मानवता विलुप्त हो गई है? Is humanity extinct from the world?

कई बार तो ऐसा लगता है कि दुनिया से मानवता खत्म हो चुकी है। अखबार, टीवी न्यूज चैनल्स अपराध की खबरों से भरे पड़े हैं। हर जगह भ्रष्टाचार, रिश्वतखोरी हो रही है। लोग अपना काम ठीक से नहीं करते। मौका मिलने पर पैसों का घोटाला कर देते हैं।

इसे भी पढ़ें -  दादा-दादी और नाना-नानी के महत्व पर निबंध Essay on Grandparents in Hindi

समाज में बेईमानी, मक्कारी, बढ़ती जा रही है। महिलाओं और बच्चों के साथ विभिन्न तरह के अपराध किए जाते हैं। ये देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि दुनिया से मानवता समाप्त हो गई है, पर यह सच नहीं है।

आज भी दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने मानवता की रक्षा की है। महात्मा गांधी, नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी, बराक ओबामा, मदर टेरेसा जैसे बहुत से उदाहरण हमारे सामने हैं। इन सभी ने मानवता को बचाने का भरपूर प्रयास किया है।

कैलाश सत्यार्थी ने अपने प्रयास से 80000 बाल मजदूरों को देश के विभिन्न भागों से आजाद करवाया और उन्हें एक नई जिंदगी प्रदान की। उन्होंने “बचपन बचाओ आंदोलन” नाम से एक एनजीओ की शुरुआत की है जो बंधुआ मजदूरों को आजाद करने के लिए काम करती है।

उपसंहार Conclusion

जब तक मनुष्य इस पृथ्वी पर है उसे मानवता दिखानी होगी। मनुष्य का धर्म ही है दूसरों के प्रति दया भाव दिखाना। जिस दिन हम दूसरों के प्रति दया दिखाना बंद कर देंगे हम जानवर बन जाएंगे। इसलिए हमें दूसरो के प्रति दया दिखानी चाहिए।

4 thoughts on “मानवता पर निबंध Essay on Humanity in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.