सम्मोहन पर निबंध Essay on Hypnotism or Hypnosis in Hindi

सम्मोहन पर निबंध Essay on Hypnotism or Hypnosis in Hindi

सम्मोहन के द्वारा किसी को भी अर्धचेतना अवस्था (subconscious mind) में लाया जा सकता है, इस अवस्था में सब्जेक्ट लिख, पढ़ और बोल सकता है। सम्मोहनकर्ता उससे कोई भी काम इच्छा अनुसार करवा सकता है।

यह एक तरह की चमत्कारिक विद्या है जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति को अपने वश में किया जा सकता है। आम भाषा में इसे वशीकरण भी कहते है। भारत में ऋषि मुनि इसे “प्राण विद्या” या “त्रिकाल विद्या” के नाम से पुकारते थे। सम्मोहनकर्ता कोई जादूगर नही होता है, वो भी इन्सान होता है।

सम्मोहन पर निबंध Essay on Hypnotism or Hypnosis in Hindi

सम्मोहन क्या होता है? WHAT IS HYPNOTISM OR HYPNOSIS?

18वीं सदी में वियना शहर में “फ्रांज ए मेस्मर” नामक चिकित्सक ने सबसे पहले सम्मोहन का अध्ययन किया था। सम्मोहन को अंग्रेजी में Hypnosis या Hypnotism कहते है जो ग्रीक भाषा के hypnos शब्द से बना है जिसका अर्थ है सोना या सोने की अवस्था में चले जाना।

यह घड़ी के पेंडुलम को हिलाकर, सम्मोहन चक्र दिखाकर, लाल बल्ब दिखाकर, जलती मोमबत्ती दिखाकर, आँखों की सीध में ऊँगली रखकर जैसी विधियों से किया जाता है। सम्मोहन के द्वारा इलाज करवाने को “हिप्नोथेरेपी” (hypnotherapy) कहते है।

सम्मोहन के प्रकार TYPES OF HYPNOTISM/ HYPNOSIS

सम्मोहित करने के प्रकार निम्नवत है-

  • साधारण सम्मोहन- इस तरह के सम्मोहन में व्यक्ति सिर्फ उपर से सम्मोहित होता है। वो आपकी सिर्फ वही बाते मानेगा जो उसको उचित लगेगी।
  • दूसरे स्तर का सम्मोहन- इसमें व्यक्ति आपकी जादातर बाते मानता है पर सभी नही। यदि आप उससे किसी का कुछ बुरा करने को कहेंगे तो वो नही करेगा।
  • तीसरे स्तर का सम्मोहन- इसके द्वारा किसी व्यक्ति को पूरी तरह से सम्मोहित कर सकते है। व्यक्ति के मन में दूसरी बाते भी डाल सकते है।
  • पोस्ट हिप्टोनिस्म- इसमें व्यक्ति किसी वस्तु की मदद से लोगो को सम्मोहित करता है। उदाहरण के तौर पर – रुमाल, पेन आदि।
  • स्व: सम्मोहन- इसमें व्यक्ति खुद को ही सम्मोहित कर लेता है। अपने मन, मस्तिष्क पर कंट्रोल कर लेता है।
और पढ़ें -  विश्व रेडियो दिवस पर निबंध Essay on World Radio Day in Hindi

दैनिक जीवन में सम्मोहन  HYPNOTISM/ HYPNOSIS EXAMPLES IN DAY TO DAY LIFE

ऐसा नही है की यह कला या विद्द्या पूरी तरह से गुप्त है। किसी खूबसूरत लड़की को देखकर लड़के सम्मोहित हो जाते है। नेता, राजनेता, धर्मगुरु, मोटीवेशनल स्पीकर भाषण देते समय लोगो को सम्मोहित कर लेते है। हमारे बड़े-बड़े नेता और प्रेरणा देते महान व्यक्ति भी भाषण देते समय जनता को सम्मोहित कर लेते है।

दैनिक जीवन में किसी सोते हुए व्यक्ति को देखकर सोने की इच्छा होने लगती है, आइसक्रीम खाते हुए व्यक्ति को देखकर आइसक्रीम खाने की इच्छा होने लगती है, यदि किसी को उबासी लेते हुए देखते है तो उबासी लेने लग जाते है, दूसरो को हँसते हुए देखने पर खुद भी हँसने लग जाते है, रोते हुए देखने पर खुद भी रोने लग जाते है- इस तरह की घटनाये भी सम्मोहन का उदाहरण है।

सम्मोहन से फायदे ADVANTAGES OF HYPNOTISM OR HYPNOSIS

सम्मोहन के अनेक फायदे है जो इस प्रकार है-

  • आज्ञा मनवाना- व्यक्ति को सम्मोहित करके उससे अपनी मर्जी का काम करवा सकते है। जैसे “खड़े हो जाओ” कहने पर व्यक्ति खड़ा हो जायेगा, “नहा लो” कहने पर व्यक्ति नहा लेगा, “बैठ जाओ” कहने पर व्यक्ति बैठ जायेगा। पर यदि आपने कोई गलत या अनुचित काम करने को कहा तो व्यक्ति नही करेगा। वह अपने विश्वास के अनुसार ही काम करेगा। सम्मोहन के दौरान व्यक्ति भूल जाता है की वह कौन है।
  • भ्रमित करना- इसके द्वारा सम्मोहनकर्ता व्यक्ति को आसानी से भ्रमित कर सकता है। यदि उसे दो और दो पांच होता समझाया जाये तो व्यक्ति पांच ही बतायेगा। यदि उससे कहो की कुत्ते की तरह चलो तो वह दोनों हाथो और घुटनों के बल बैठकर चलने लगता है। जो चीज उसके पास नही है उसे भी महसूस करवाया जा सकता है। यदि कुर्सी पर बैठे व्यक्ति से कहा जाये कि वह खड़ा हुआ है तो वह खुद को खड़ा समझकर कुर्सी से लुढ़क जाएगा।
  • ज्ञानेंद्रियों पर काबू- सम्मोहित करके सब्जेक्ट(व्यक्ति) के शरीर के किसी भी भाग को सुन्न कर सकते है। उसे जलाने, काटने, सूई चुभाने पर भी व्यक्ति को कोई अहसास नही होगा। सब्जेक्ट की शक्ति भी बढ़ाई जा सकती है जैसे वह दूर से कोई बात सुन सकता है।
  • सम्मोहन विस्मृति- इसमें व्यक्ति सम्मोहन के दौरान हुई घटनाओं को भूल जाता है।
  • मानसिक बीमारियों का इलाज- इसका जादातर इस्तेमाल अभी दिमाग के डॉक्टर (साइकेट्रिस्ट) करते है। अवसाद, डिप्रेशन, नींद न आना, अत्यधिक चिंता करना, फोबिया, हत्या या आत्महत्या के विचार, चीजो/ लोगो से डरना, दिमाग में बुरी बाते आना, जैसी मानसिक समस्याओं का इलाज सम्मोहन थेरेपी से आसानी से किया जा सकता है। इसकी मदद से दिमाग की बीमारियों को दूर किया जाता है, व्यक्ति के मन से डर निकालने में मदद मिलती है।
  • अपराधियों से पूछताछ के लिए- आजकल इसका इस्तेमाल अपराधियो से राज, खूफिया पता, ठिकाने, उनके साथियों का नाम बताने जैसे कामो में किया जा रहा है। अपराधी, गवाह के अवचेतन मन में जाकर उससे सही जानकरी पायी जा सकती है।
  • ऑपरेशन के लिए- डॉक्टर्स इस सम्मोहन कला का इस्तेमाल ऑपरेशन के लिए कर रहे है। युद्ध में डॉक्टर घायल सिपाहियों के हाथ पैर काटने और उनका इलाज करने के लिए सम्मोहन का इस्तेमाल करते है।
  • बुरी लत को दूर करने के लिए- इसके द्वारा धूम्रपान, शराब, नशीली चीजो का सेवन जैसी बुरी आदतों को समाप्त किया जा सकता है। व्यक्ति को सुधारा जा सकता है, उसकी आदत में सकारात्मक बदलाव किया जा सकता है। व्यक्ति की आंतरिक क्षमताओ को बाहर निकाला जा सकता है।
  • खोई याददास्त लौटाने के लिए- इसकी मदद से दुर्घटना में खोई हुई याददास्त को पाया जा सकता है। व्यक्ति को अतीत, गुजरे समय की बाते याद दिलाकर ऐसा किया जाता है।
  • आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए- इसके द्वारा व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ाया जा सकता है।
और पढ़ें -  70 नरेंद्र मोदी के प्रेरणादायक सुविचार Narendra Modi Quotes in Hindi

सम्मोहन से नुकसान DISADVANTAGES OF HYPNOTISM OR HYPNOSIS

सम्मोहन से निम्न नुकसान है-

  • कुछ लोगो को सम्मोहित होने में इतना आनन्द आने लगता है की उनको इसकी लत लग जाती है।
  • कुछ लोग कैंसर जैसे असाध्य रोगों को ठीक करने के लिए सम्मोहन थेरेपिस्ट के पास जाते है। वो सोचते है की इससे कोई भी रोग ठीक किया जा सकता है पर ऐसा नही है। अनेक लोग अपनी निजी समस्याओं को लेकर थेरेपिस्ट के पास आते है, पर सम्मोहन सभी निजी समस्याओं को ठीक नही कर सकता है।
  • अनेक सम्मोहन थेरेपिस्ट लोगो को झूठी बाते बताकर ठगते है और पैसा लूटते है।
  • एक्सपर्ट द्वारा सम्मोहन करने पर विपरीत असर हो सकता है। व्यक्ति की तबियत बिगड़ सकती है।
  • अवसाद/ डीप्रेशन जैसी समस्याओं का इलाज सम्मोहन थेरेपी से करवाने पर किसी प्रकार का बीमा नही मिलता है।
  • इलाज के बाद व्यक्ति को सिरदर्द, चक्कर, भारीपन महसूस हो सकता है, पर यह जल्द ही खत्म हो जाता है।
  • सम्मोहन थेरेपिस्ट बहुत महंगी फीस लेते है। हर व्यक्ति इसका खर्च नही उठा सकता है।

निष्कर्ष

हमे सम्मोहन थेरेपी (सम्मोहन चिकित्सा) का प्रयोग सोच समझकर अच्छे कामो के लिए करना चाहिये।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.