छात्र जीवन में लाइब्रेरी का महत्व Essay on Importance of Library in Hindi for Student Life

इस लेख में हम आपको छात्र जीवन में लाइब्रेरी का महत्व Essay on Importance of Library in Hindi Student Life के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

छात्र जीवन में लाइब्रेरी का महत्व Essay on Importance of Library in Hindi for Student Life

Contents

लाइब्रेरी किसे कहते है? What is library?

लाइब्रेरी को पुस्तकालय भी कहते हैं। यह बहुत महत्वपूर्ण संसाधन है। ऐसी बहुत सी पुस्तकें होती हैं जो बहुत और दुर्लभ होती हैं। हर व्यक्ति उसे नहीं खरीद सकता। इस तरह की पुस्तकें हमें लाइब्रेरी में आसानी से मिल जाती है। लाइब्रेरी में हजारों लाखों की संख्या में विभिन्न प्रकार की किताबें होती हैं। पढ़ने वालों के लिए यह किसी स्वर्ग से कम नहीं होता है।

लाइब्रेरी का बहुत बड़ा फायदा है कि किसी भी विषय पर सैकड़ों किताबें मिल जाती हैं जिससे स्टूडेंट्स अच्छे नोट्स बनाकर अच्छे नंबर पा सकते हैं। आजकल लाइब्रेरी का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है। डिजिटल क्रांति आने के बाद ऑनलाइन लाइब्रेरी की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

पढ़ें: प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के टिप्स

लाइब्रेरी का उद्देश्य Purpose of Libraries

लाइब्रेरी का उद्देश्य स्टूडेंट्स को विभिन्न प्रकार की किताबें उपलब्ध कराना होता है जिससे वह अच्छे से पढ़ाई कर सकें। लाइब्रेरी मुफ्त में किताबे उपलब्ध कराती हैं जिससे स्टूडेंट्स का बहुत फायदा होता है।

और पढ़ें -  बारिश के महीने में स्वस्थ रहने के टिप्स Best Tips to Stay Healthy in Rainy Season in Hindi

लाइब्रेरी के महत्व को प्राचीन काल में ही समझ लिया गया था। इस तरह विश्व में अनेक प्राचीन लाइब्रेरी है। यदि छात्र-छात्राओं के पास पुस्तके ही नहीं होंगी तो वह पढ़ाई कैसे करेंगे। इसकी आवश्यकता को देख कर ही लाइब्रेरी पुस्तकालय की स्थापना की गई थी।

विद्यार्थी जीवन में लाइब्रेरी का महत्व Importance of Library in Students Life 

लाइब्रेरी से अनेक फायदे हैं। कुछ प्रमुख फायदे इस प्रकार हैं-  

आसानी से किताबें उपलब्ध होना

लाइब्रेरी का बड़ा फायदा है कि किसी भी विषय की किताब को आप आसानी से पा सकते हैं। सभी स्कूल कॉलेजों में लाइब्रेरी होती है जहां पर एक बार में दो या तीन किताबें दी जाती हैं। किताबें पढ़कर हम जमा करते हैं और दूसरी किताब उसके स्थान पर ले सकते हैं।

इस तरह कोई भी व्यक्ति सैकड़ों किताबें पढ़ सकता है। पुस्तकालय में किसी भी किताब को कई घंटों तक पढ़ सकते हैं। किसी प्रकार की रोक टोक नहीं होती है।

दुर्लभ किताबों को पढ़ने का अवसर

लाइब्रेरी में हर प्रकार की नई पुरानी के साथ दुर्लभ किताब उपलब्ध होती हैं। ऐसी बहुत ही किताबे हैं, जो बाजार में आसानी से नहीं मिलती हैं। उन्हें खरीदने के लिए बहुत भटकना पड़ता है। इस तरह की पुस्तकें भी लाइब्रेरी में आसानी से मिल जाती हैं।

गरीब छात्र छात्राओं को लाभ

देश में ऐसे बहुत से स्टूडेंट हैं जिनके पास किताब खरीदने के लिए पर्याप्त पैसा नहीं होता। आजकल तो किताबें भी बहुत महंगी मिलती हैं। ऐसी स्थिति में लाइब्रेरी वरदान साबित होती है।

वहां पर कोई भी स्टूडेंट किसी किताब को पढ़ सकता है और उसे इशू करा घर भी ला सकता है और पढ़ाई जारी रख सकता है। इसलिए लाइब्रेरी गरीब छात्रों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।

पढ़ें: गरीबी पर निबंध

अच्छे नोट्स बनाने में सहायक

लाइब्रेरी में जाकर विभिन्न किताबों से पढ़कर स्टूडेंट्स अच्छे नोट्स बना सकते हैं। और परीक्षा में अच्छे नंबरों से पास कर अपना भविष्य उज्जवल कर सकते हैं। पढ़ाई के लिए अच्छी पुस्तकों का होना बहुत आवश्यक है।

और पढ़ें -  एनसीसी क्या है? पूरी जानकारी What is NCC in Hindi? Complete Information

एक विषय की अनेक किताबें मिलती हैं

लाइब्रेरी में एक ही विषय की बहुत सी किताबें होती हैं जिसको पढ़ कर छात्र अच्छा स्टडी मैटेरियल तैयार करते हैं। वे अच्छे नोट्स भी बना पाते हैं। यदि एक विषय की एक ही किताब होगी तो उससे अच्छा स्टडी मैटेरियल नहीं बन पाएगा। बहुत सी किताबों से पढ़ने में ज्ञान की वृद्धि होती है और परीक्षा में अच्छे नंबर आते हैं।

शांत वातावरण

लाइब्रेरी ऐसा स्थान होता है जहां पर शांति होती है। लोग सिर्फ पढ़ते हैं। इसलिए यदि आपको शांति चाहिए और पढ़ना चाहते हैं तो लाइब्रेरी सबसे अच्छी जगह है।

बहुत से लोगों के घरों में लोगों की संख्या ज्यादा होती है। पारिवारिक सदस्य हमेशा बात करते रहते हैं। ऐसे लोगों को पढ़ने का मौका कम मिल पाता है। इस तरह के लोग लाइब्रेरी में आकर पढ़ सकते हैं।

पढ़ें: भारत में बदती जनसंख्या

अच्छी पुस्तको की प्राप्ति

लाइब्रेरी में बहुत सी अच्छी पुस्तकें होती हैं जिन्हें विद्यार्थी आसानी से लेकर पढ़ सकते हैं। उन्हें यह पुस्तकें फ्री में मिल जाती हैं और कोई पैसा भी नहीं देना होता है।

यदि सभी लाइब्रेरी को हटा दिया जाए तो छात्र-छात्राओं की पढ़ाई पर गहरा असर पड़ेगा। उन्हें पढ़ने के लिए अच्छी किताबे नही मिल पाएंगी और परीक्षा में अच्छे नंबर भी नहीं पा सकेंगे

लाइब्रेरी मानव इतिहास की रक्षा करती हैं

सभी प्रकार की घटनाएं और ज्ञानवर्धक तथ्यों को इतिहास की किताबों में दर्ज की जाती हैं। इस तरह यह भी कहा जा सकता है कि पुस्तकें हमारे इतिहास की रक्षा करती हैं।

लाइब्रेरी में हजारों पुस्तकें सुरक्षित रूप में रखी रहती हैं। इसलिए मनुष्य का ज्ञान, उसकी संस्कृति और उसकी सारी घटनाओं को लाइब्रेरी सुरक्षित रूप में रखती हैं जिससे भविष्य की पीढ़ी को पुराने समय के बारे में पता चल सके।

भारत में लाइब्रेरी का इतिहास History of Libraries in India

भारत में लाइब्रेरी का विकास धीमी गति से हुआ हुआ है। पर वर्तमान में भारत के हर शहर में एक लाइब्रेरी है।

और पढ़ें -  जल प्रदूषण पर निबंध हिन्दी में Essay on Water Pollution in Hindi

राष्ट्रीय पुस्तकालय कोलकाता National Library Kolkata

वर्तमान में यह भारत की सबसे बड़ी लाइब्रेरी है। राज्य सरकार इसका संचालन करती है। इसमें 22 लाख से अधिक किताब हैं। स्वतंत्रता प्राप्ति से पहले इस लाइब्रेरी में बंगाल के गवर्नर रहा करते थे। यह लाइब्रेरी भी भारत की प्राचीनतम लाइब्रेरी में गिनी जाती है। इसकी स्थापना जे एच स्टॉकर ने 1836 में की थी।

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी Delhi National Library

यह लाइब्रेरी 27 अक्टूबर 1951 में शुरू की गई थी। इसे यूनेस्को और भारत सरकार ने संयुक्त रूप से स्थापित किया था। इस लाइब्रेरी ने बहुत उन्नति की है। इसमें चार लाख से अधिक किताबें हैं। दिल्ली शहर में इसकी कई शाखाएं खोली गई हैं। इस लाइब्रेरी में बच्चों के लिए बाल पुस्तकालय भी है।

भारत के टॉप 10 लाइब्रेरी जो आपको देखनी चाहिए  Top 10 must-visit Biggest Libraries of India

भारत के 10 श्रेष्ट लाइब्रेरी –

  1. राष्ट्रीय पुस्तकालय कोलकाता
  2. दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी, दिल्ली  
  3. सरस्वती महल लाइब्रेरी, तमिलनाडु
  4. अन्ना लाइब्रेरी, चेन्नई, तमिलनाडु
  5. कृष्णदास श्यामा केंद्रीय लाइब्रेरी, गोवा
  6. इलाहाबाद पब्लिक लाइब्रेरी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
  7. श्रीमती हनसा मेहता लाइब्रेरी, बड़ौदा, गुजरात
  8. कौननेमारा पब्लिक लाइब्रेरी, चेन्नई, तमिलनाडु
  9. राज्य केंद्रीय लाइब्रेरी, तिरुअनंतपुरम, केरला
  10. राज्य केंद्रीय लाइब्रेरी, हैदराबाद, आन्ध्रप्रदेश  

1 thought on “छात्र जीवन में लाइब्रेरी का महत्व Essay on Importance of Library in Hindi for Student Life”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.