धन के महत्व पर निबंध Essay on Importance of Money in Hindi

धन के महत्व पर निबंध Essay on Importance of Money in Hindi

आज के समय में धन का बहुत महत्व है। आज हम सभी भौतिकतावादी हो गये है, अधिक से अधिक सुखो का भोग करना चाहते है जिसके लिए धन बहुत आवश्यक है। कई बार तो आपने लोगो को कहते हुए सुना होगा कि “पैसा ही सब कुछ होता है” कई बार ऐसा लगता भी है।

धन में बहुत शक्ति होती है। इसके द्वारा हम किसी भी चीज को खरीद सकते हैं। किसी भी अच्छे डॉक्टर, इंजीनियर की सेवाएँ ले सकते है। अच्छे से अच्छा भोजन खरीद सकते हैं।

धन के महत्व पर निबंध Essay on Importance of Money in Hindi

धन के रूप FORMS OF MONEY

  • सोना, चाँदी, बहुमूल्य रत्न, महंगे पत्थर, हीरे जवाहरात
  • अचल सम्पत्ति जैसे जमीन, जायदाद, फैक्ट्री, कारखाने, उद्द्योग- धंधे
  • शेयर, बांड्स, म्युचुअल फंड्स
  • मुद्रा के रूप में- कागज के नोट और सिक्के  (hard currency and coins)
  • ई-मुद्रा जैसे बिटक्वाइन (Bitcoin)

धन से लाभ ADVANTAGES OF MONEY

भौतिक सुखो का भोग कर सकते हैं

पर्याप्त मात्रा में धन होने पर सभी भौतिक सुखो का भोग किया जा सकता है जैसे अच्छा मकान लेना, अच्छे कपड़े, कारे और अन्य दूसरी चीजे।

इसे भी पढ़ें -  फुटबॉल पर निबंध Essay on Football in Hindi (Mera Priya Khel)

सम्मानित जीवन जी सकते है

आज के समय में जिसके पास धन है वो समाज में सम्मानित जीवन जी सकता है। बच्चो को अच्छे स्कूलों में पढ़ाया जा सकता है। मरीज अपनी दवा अच्छे डॉक्टर से करवा सकते हैं। वादी अच्छा वकील रखकर न्याय पा सकते है। इस तरह प्रचुर मात्रा में धन होने पर व्यक्ति एक सम्मानित जीवन जी सकता है

पौष्टिक भोजन खरीद सकते है

धन होने पर दूध, दही, फल, मेवे , मांसाहार, अंडे, हरी सब्जियाँ जैसा अच्छा पौष्टिक भोजन ले सकते है। जबकि देश का गरीब, मजदूर वर्ग पौष्टिक भोजन न मिलने से कुपोषण, और दूसरी बीमारियों का शिकार हो रहा है। धन होने पर व्यक्ति अच्छी सेहत पा सकता है।

सुविधा का साधन

आजकल धन होने पर हर तरह का सुख प्राप्त किया जा सकता है। जैसे अच्छा भोजन, अच्छे कपड़े, मोबाइल फोन, टीवी, फ्रिज, ओवन, बंगला, मोटर कार आदि। जबकि गरीब लोग धन न होने के कारण विभिन्न परेशानियों से जूझते रहते है।

वो बसों, ट्रेनों में जनरल डिब्बे में धक्के खाने को मजबूर है। मलिन बस्तियों में रहने को मजबूर है जहाँ वो अनेक रोगों से ग्रस्त हो जाते हैं. एक अमीर व्यक्ति उच्च श्रेणी का टिकट लेकर आराम से यात्रा कर सकता है।

अपनी सुरक्षा की जा सकती है

आजकल पर्याप्त मात्रा में धन होने पर अच्छा घर बनाया जा सकता है। गार्ड्स को रख सकते है जो 24 घंटे आपकी सुरक्षा करेंगे।

कर्ज चुका सकते है

इसके द्वारा अपना कर्ज चुका सकते हैं।

धन से हानि DISADVANTAGES OF MONEY

अपराध का कारण

आजकल सभी लोग अधिक से अधिक धन संग्रह करना चाहते है। लोग इसे नैतिक व अनैतिक तरीके से प्राप्त करना चाहते है। आजकल धन पाने के लिए आये दिन बैंक लूटी जाती है। चोरी,  हत्या और लूटपाट की जाती है। जिसमे अपराधी हिंसा का सहारा लेते है और कई लोगो की जान चली जाती है। इसलिए धन अपराध का कारण भी है।

इसे भी पढ़ें -  भारत में जल संसाधन Water resources in India Hindi

भ्रष्टाचार का कारण

आजकल धन पाने के चक्कर में सरकारी अधिकारी अपने कर्तव्य का सही तरह से पालन नही करते है। अब देश में भ्रष्टाचार हर सरकारी दफ्तर में व्याप्त हो चुका है। सरकारी अधिकारी, बाबू और कर्मचारी धन पाने के लिए योजनाओं में भारी लूट करते है। सड़कों, पुलों, रेलमार्गों, अस्पताल, दवाओं आदि के लिए आये सरकारी धन में घोटाला करते है जिससे कोई भी काम सही तरह से नही हो पाता है।

गरीबो का शोषण होता है

धन पाने के लिए आज गरीब मजदूरों से फैक्ट्री में अधिक से अधिक काम लिया जाता है और कम से कम वेतन दिया जाता है। पूंजीपति गरीब मजदूर वर्ग का शोषण कर रहे हैं और अमीर बनते जा रहे है। जबकि कमजोर वर्ग मुश्किल से अपनी जरूरत पूरा कर पा रहा है।

सामाजिक बुराइयों का जन्मदाता

आज के समय में धन की वजह से अनेक सामाजिक बुराइयां जन्म ले चुकी है। दहेज प्रथा चलन में है। आज एक बाप को अपनी बेटी की शादी करने के लिए मोटी रकम दहेज़ में देनी पडती है। बिना दहेज़ के कोई भी योग्य लड़का शादी को तैयार नही होता है।

इसके अलावा धन को पाने के लिए लोग बुरे रास्ते अपना रहे है। जैसे – सिगरेट, शराब, ड्रग्स, मारिजुआना (गांजा) और दूसरे नशीले पदार्थो की बिक्री की जा रही है जिससे देश की युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है।

खाद्द पदार्थ बनाने वाली कम्पनियां अपने उत्पाद में मिलावट कर रही है जिससे अधिक से अधिक धन पैदा कर सके। एक जज धन पाकर एक अपराधी को निर्दोष सिद्ध कर देता है। धन पाने के लिए डॉक्टर मरीजो का अधिक से अधिक शोषण करने लगे है।

महंगी से महंगी दवाइयां लिख रहे है जिससे अधिक से अधिक मुनाफा कमा सके। समाज में वेश्यावृति, रिश्वतखोरी, हत्याये, मानव- तस्करी, नक्सलवाद, आतंकवाद, जैसी सामाजिक बुराइयाँ पैदा हो गयी है।

इसे भी पढ़ें -  राजनीति पर भाषण Speech on Politics in Hindi

कलह का कारण

जिस घर में धन की कमी होती है वहां आये दिन लड़ाई झगड़ा और कलह चलती रहती है। पति-पत्नी में रोज झगड़ा होता है। धन न कमाने की दशा में माँ- बाप, भाई बहन कोई इज्जत नही करता है। पड़ोसी और रिश्तेदार व्यक्ति को हेय दृष्टी से देखते है। उससे कतराने लगते है यह सोचकर कि कही वो व्यक्ति उससे धन न मांग ले। गरीब व्यक्ति से कोई दोस्ती नही करना चाहता।

धन की सीमायें LIMITATONS OF MONEY

  • यह किसी मृत व्यक्ति को जीवित नही कर सकता
  • इससे परोक्ष रूप से खुशियाँ खरीदी जा सकती है, पर प्रत्यक्ष रूप से नही
  • यह लेने देन का एक साधन मात्र है

निष्कर्ष Conclusion

आज के समय में सब लोग अधिक से अधिक धन पाना चाहते है। कुछ लोग भ्रष्ट तरीके से धन का संग्रह करते है जो कि गलत है। यह जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण है पर अवैध तरह से धन एकत्र करना गलत बात है। लोगो को ईमानदारी से धन कमाना चाहिए।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.