जल के महत्व पर निबंध Short essay on Importance of water in Hindi

इस लेख में हम आपको जल के महत्व पर निबंध Short essay on importance of water in Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। साथ ही इससे हमें पानी की बचत Save Water के लाभ के विषय में भी प्रेरणा मिलेगी।

जल के महत्व पर निबंध Short essay on the Importance of water in Hindi

हमारे जीवन में जल का बहुत महत्व है। जल के बिना कुछ भी संभव नहीं है। जल के बिना मनुष्य के जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। पृथ्वी पर जल पाया जाता है इसलिए इसे अनोखा ग्रह कहते हैं। जल के कारण ही आज मनुष्य जाति पृथ्वी पर विकसित हो सकी है। मनुष्य पशुओ पेड़-पौधों सभी के लिए जल आवश्यक होता है।

यदि पृथ्वी से जल समाप्त हो जाए तो कोई भी जीव जंतु जीवित नहीं रह पाएगा क्योंकि सभी जीव जंतु जल का उपयोग करते हैं। यह चिंता का विषय है कि मनुष्य ने अपनी व्यवसायिक गतिविधियों के द्वारा पृथ्वी पर पाए जाने वाले जल को संकट में डाल दिया है।

पृथ्वी के 78% भाग पर महासागर पाए जाते हैं जिनमें नमकीन जल मिलता है परंतु यह पीने के योग्य नहीं होता है। पीने योग्य जल को मीठा जल या मीठा पानी कहते हैं। पृथ्वी पर मौजूद कुल जल में से 2।7 प्रतिशत जल ही पीने योग्य है।

इसे भी पढ़ें -  कमल मंदिर (बहाई उपासना मंदिर) दिल्ली Lotus Temple History in Hindi

मानव जीवन के लिए जल का महत्व Importance of water in human life

मनुष्य के लिए जल बहुत महत्वपूर्ण है। बिना भोजन किए मनुष्य 7 दिनों तक जीवित रह सकता है पर बिना जल पिए वह 3 दिन में ही मर जाएगा। हम सभी लोगों को प्यास लगती हैं और प्यास बुझाने के लिए जल का प्रयोग करते हैं।

स्वस्थ रहने के लिए एक व्यक्ति को प्रतिदिन 2 से 3 लीटर पानी का सेवन करना चाहिए। प्यास लगने पर जब पानी नहीं मिलता है तो बड़ी बेचैनी अनुभव होती है। इससे ही जल का महत्व पता चलता है।

मनुष्य के लिए जल ही जीवन है। हमें जल का संरक्षण करना चाहिए क्योंकि पृथ्वी से जल तेजी से विलुप्त हो रहा है। मनुष्य की व्यवसायिक गतिविधियों ने आज पीने लायक जल को संकट में डाल दिया है। बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियों द्वारा प्रदूषण फैलाया जा रहा है।

रासायनिक कचरे को नदियों झीलों तालाबों में बहाया जा रहा है जिससे जल दूषित हो रहा है। हमें इसे रोकने के लिए मजबूत कदम उठाने होंगे।

स्वस्थ रहने के लिए जल का महत्व Importance of water to stay fit

मनुष्य के शरीर में 65 से 80% तक जल पाया जाता है। रक्त में 7% जल होता है। स्वस्थ रहने के लिए हमें साफ और शुद्ध जल का सेवन करना चाहिए। दूषित जल पीने से पीलिया, गैस, संक्रामक रोग, चेचक, पेचिश, दस्त जैसी बीमारियां हो जाती हैं। दस्त के रोग में शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है। इसलिए ओआरएस (ORS) का घोल रोगी को दिया जाता है।

जल को साफ करने के लिए उसमें ब्लीचिंग पाउडर, फिटकरी डाली जाती है। यदि जल दूषित हो तो उसे उबालना चाहिए, जिससे उसके सभी बैक्टीरिया मर जायें। जल को साफ कपड़े से छानकर पीना चाहिए।

पेड़ पौधों के लिए जल का महत्व Importance of water for plants

मनुष्य की तरह पेड़ पौधों को भी जल की आवश्यकता होती है। पौधे अपनी जड़ों से जल ग्रहण करते हैं और सभी शाखाओं पत्तियों तक जल पहुंचा देते हैं। पेड़ पौधों के तने में जल एकत्रित होता है। बिना पानी के कोई भी पेड़ पौधा विकसित नहीं होता है। पानी ना मिलने पर सभी पेड़ पौधे मुरझा जाते हैं और शीघ्र ही सूख जाते हैं।

इसे भी पढ़ें -  पृथ्वी की पांच परतें Article On Five Layers Of Earth in Hindi

हम जितनी प्रकार की सब्जियां फल खाते हैं वह सभी पेड़ पौधों से प्राप्त होते हैं। मनुष्य के जीवित रहने के लिए पेड़ पौधों का जीवित रहना बहुत आवश्यक है। बिना पानी के सभी पेड़ पौधे सूख जाएंगे और कोई फसल नहीं होगी।

गेहूं मक्का चावल जैसी मूलभूत अनाज की खेती जल के द्वारा ही संभव हो पाती है। यदि पृथ्वी से जल ही गायब हो जाए तो कोई भी फसल नहीं हो पाएगी और मनुष्य भूख से मर जाएगा।

पशु पक्षी और अन्य जीवो के लिए जल का महत्व Importance of water for animals and birds

मनुष्य की तरह पशु पक्षियों और अन्य जीवो को भी प्यास लगती है। गाय भैंस बकरी भेड़ शेर भालू, पक्षी और दूसरे जीव भी पानी पीते हैं। यह एक ऐसी चीज है जिसके बिना कोई भी जीवित नहीं रह सकता है। कुछ ही ऐसे दुर्लभ जीव हैं जो ना के बराबर पानी का सेवन करते हैं पर अधिकतर पशु पक्षी और जीव जंतु पानी का इस्तेमाल करते हैं।

रेगिस्तान में पाए जाने वाले रूट को “रेगिस्तान का जहाज” कहते हैं क्योंकि वह एक ही बार में 50 लीटर तक पानी पीकर अपने शरीर में संचित कर लेता है और कई दिनों तक बिना पानी के जीवित रह सकता है।

जल संरक्षण के उपाय How to conserve water?

जल एक कीमती संसाधन है। इसे व्यर्थ में बर्बाद नहीं करना चाहिए। सभी टंकियों को ठीक कराना चाहिए जिनसे लगातार पानी गिरता रहता है। नहाते समय बहुत अधिक पानी नष्ट नहीं करना चाहिए। आवश्यकता के अनुसार पानी इस्तेमाल करना चाहिए।

वर्षा के पानी को हार्वेस्ट करना चाहिए और उसे किसी टैंक या तालाब में एकत्रित करना चाहिए। वाहनों गाड़ियों और घर की सफाई करते समय जल बहुत अधिक नष्ट नहीं करना चाहिए। दूषित पानी को नदियों तालाबों जिलों में नहीं छोड़ना चाहिए। इससे जल दूषित होता है और उसके अंदर के मछलियां और दूसरे जीव जंतु मर जाते हैं।

इसे भी पढ़ें -  पेट्रा जोर्डन का रहस्यमयी इतिहास Petra Jordan History In Hindi

जल के महत्व पर 10 पंक्तियां 10 Lines on importance of water

  1. जल का रासायनिक नाम H2O है। इसमें हाइड्रोजन का एक अणु और ऑक्सीजन के दो अणु होते हैं।
  2. धरती का 71 प्रतिशत भाग जल है परंतु 3% जल ही पीने योग्य है।
  3. जल से बिजली उत्पादन किया जाता है। बिजली मनुष्य के लिए बहुत उपयोगी है।
  4. जल दो प्रकार का होता है- मीठा जल और खारा जल। समुद्र में खारा जल पाया जाता है जो पीने के योग्य नहीं होता है।
  5. जल के बिना पृथ्वी पर कोई भी मनुष्य जीव जंतु जीवित नहीं रह सकता है।
  6. फसलों के उत्पादन और कृषि के लिए जल का इस्तेमाल किया जाता है।
  7. बिना जल के कोई पेड़ पौधे विकसित नहीं हो सकते हैं।
  8. स्वस्थ रहने के लिए एक वयस्क व्यक्ति को 2 लीटर (8 आउंस) जल प्रतिदिन पीना चाहिए।
  9. वर्षा के रूप में जल का बहुत महत्व है। वर्षा होने पर सभी पेड़ पौधे हरे हो जाते हैं और उन्हें नया जीवन प्राप्त होता है।
  10. सिर्फ पीने के लिए ही नहीं कपड़े साफ करने के लिए, घर की सफाई, बर्तन धोने के लिए भी जल का महत्व बहुत अधिक है। जल की मदद से ही हम भोजन पकाते हैं।

1 thought on “जल के महत्व पर निबंध Short essay on Importance of water in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.