तेंदुआ पर निबंध Essay on Leopard in Hindi

क्या आप तेंदुआ पर निबंध (Essay on Leopard in Hindi) खोज रहे हैं? इस लेख को हिंदी में दिया गया है। जिसे पूछे गए परीक्षाओं में बेझिझक लिखा जा सकता है।

तेंदुआ पर निबंध Essay on Leopard in Hindi (1000 Words)

आज दुनिया में ऐसे कई पशु और पक्षी हैं, जिनकी प्रजाति विलुप्त हो चुकी है और बहुत जानवरों तथा पक्षियों की प्रजाति विलुप्त होने की कगार पर है, जिनमें से एक है तेंदुआ।

तेंदुआ बिल्ली की प्रजाति का ही एक जानवर है, जो अपने तेज रफ्तार तथा शरीर पर काले धब्बे के कारण पहचाना जाता है और यह दुनिया का तेज दौड़ने वाला तथा चतुर जानवर है, जो लगभग 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता है। किंतु दुर्भाग्य से आज संसार में तेंदुओं की संख्या लगातार कम होती जा रही है।

बढ़ते हुए औद्योगीकरण तथा जनसंख्या के कारण वनों को काटा जा रहा है तथा मनुष्य अपनी उपभोग की वस्तुएँ प्राप्त करने के लिए तथा शौक के लिए भी तेंदुए का शिकार कर रहे हैं, जिसके चलते आज तेंदुए बहुत कम नजर आते है।

यधपि भारत में कई जगह तेंदुए है तथा उनका संरक्षण भारत सरकार द्वारा बनाये गए वन्य जीव अभ्यारण्य में किया जा रहा है। किन्तु तेंदुओं की संख्या को लगातार कम होते हुए देख भारत सरकार तथा अन्य देशों ने भी तेंदुओं के संरक्षण में कई प्रकार की योजनाओं को लागू किया है।

इस योजना के अंतर्गत भारत में भी विदेशों से तेंदुओं को लाया जायेगा तथा उनका संरक्षण भारत में गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान आदि प्रदेशों में बने राष्ट्रीय पार्क और वन्यजीव अभ्यारण्य में किया जायेगा।

क़्योकी तेंदुआ एक ऐसा जीव है जो उष्ण और शीत दोनों जगहों पर रह सकता है।

तेंदुआ कहां रहता है? Where Does Leopard Live in Hindi?

तेंदुआ विभिन्न देशों में पाया जाने वाला एक जंगली जानवर है। यह भी सच है, कि यह अब लुप्तप्राय प्राणियों  की श्रेणियों में आ चुका है तथा अन्य कई देशों में तो यह विलुप्त ही हो गया है। तेंदुआ मुख्यतः भारत के पड़ोसी देशों पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, के जंगली भागों में पाये जाते हैं तथा अफ्रीका तथा उत्तरी एशिया में भी इनकी झलक दिखाई देती है।

और पढ़ें -  कबूतर पर निबंध Essay on Pigeon in Hindi

तेंदुए की नस्लें वहाँ की जलवायु परिवर्तन के कारण रंग, रूप, आकार आदि में अलग-अलग होती हैं। एशियाई नस्ल के तेंदुओं के सिर और पैर छोटे होते हैं जबकि अफ्रीकी तेंदुओं के मुकाबले में एशियाई तेंदुए की गर्दन मोटी होती है।

अफ्रीकी तेंदुए के सिर पर लंबे बाल होते हैं जबकि एशियाई तेंदुए की पूंछ अधिक लंबी होती है। तेंदुआ अधिकतर जंगलों में और दूर दराज के भागों में पाए जाते हैं जहाँ पर इंसानों की संख्या बहुत कम होती है। आमतौर पर तेंदुए बड़े और घने जंगलो में गुफाओं में तथा बड़े-बड़े पेड़ो पर देखे जा सकते है।

तेंदुआ क्या खाता है? What Does a Leopard Eat in Hindi?

तेंदुआ अधिकतर आराम की जिंदगी जीता है तथा रात के समय ही शिकार करता है, इसलिए तेंदुआ मुख्यत: दिन में सुबह और दोपहर के समय पर आराम करने के लिए बड़े बड़े वृक्षों पर रहता है।

यह हमेशा ताजा माँस ही खाते है इसलिए ये खरगोश लोमड़ी आदि का शिकार करते है। किन्तु कभी-कभी तेंदुए को नदी, झरना के पास भी मछली खाते देखा जा सकता है।

नर तेंदुए के लिए खाने की कभी भी असुविधा नहीं होती, क्योंकि तेंदुआ एक फुर्तीला जानवर है, जो अपने शिकार को आराम से पकड़ लेता है। किन्तु मादा तेंदुए के लिए यह बहुत ही दुविधापूर्ण होता है, जब उसे अपने बच्चों की देखभाल भी करनी होती है।

क्योंकि मादा तेंदुआ एक बार में 5 बच्चों को जन्म देती है और 5 बच्चों का ख्याल रखना तथा उन्हें खाना खिलाना एक मादा तेंदुए के लिए बहुत बड़ी चुनौती है और तेंदुए के बच्चे भी माँस ही खाते है।

इसलिए मादा तेंदुए को अधिक मात्रा में खाना इकठ्ठा करना पड़ता है, किन्तु अगर मादा शिकार करने जाती है तो उसके बच्चों को कोई अन्य जानवर शिकार कर लेता है। इसलिए मादा के लिए प्रतिदिन शिकार करना मुश्किल होता है।

और पढ़ें -  भारत में आर्थिक अपराधी पर निबंध Economic Offenders in India in Hindi

तेंदुए के बारे में बेहतरीन तथ्य Best Facts About Leopard in Hindi

आईए तेंदुआ के विषय में कुछ बेहतरीन तथ्य जानें-

  • एक समय था जब तेंदुए पूरे विश्व में पाए जाते थे किन्तु अब भारत, पाकिस्तान तथा अन्य देशों के साथ तेंदुआ अफ्रीका तथा उत्तरी एशिया में ही देखने को मिलते है।
  • तेंदुआ के पंजे हमेशा बंद हुए होते हैं इसलिए तेंदुए की पेड़ पर पकड़ अच्छी होती और वह पेड़ पर चढ़ने में समर्थ होते हैं तथा पेड़ के शिकार को भी पकड़ पाते है।
  • तेंदुए की खास बात है कि नर तेंदुआ हमेशा झुंड बनाकर रहता है। चाहे झुंड में उसके भाई हो या फिर अन्य सदस्य किन्तु मादा झुण्ड में नहीं रहती।
  • मादा तेंदुआ एक बार में कम से कम 4 से 5 बच्चों को जन्म देती है तथा उनका पालन पोषण करने में उसे बहुत ही कठिनाई का सामना करना पड़ता है।
  • मादा तेंदुआ नर तेंदुए से केवल संभोग के समय ही मिलती है और संभोग के पश्चात अलग ही रहना शुरू कर देती है।
  • तेंदुआ एक अच्छा शिकारी होता है जो अपने शिकार को वृक्ष थल तथा जल में भी नहीं छोड़ता है। इसके शिकार के बचने की कोई संभावना नहीं होती।
  • तेंदुए के बारे में सबसे रोचक तथ्य है, कि वह दहाड़ नहीं सकता वह केवल गुर्राता है और तरह-तरह की आवाज निकालता है।
  • तेंदुआ दौड़ते वक्त कम से कम आधे समय हवा में ही रहता है और कम से कम 6 मीटर लंबी छलांग लगाता है
  • जिससे ज्ञात होता है तेंदुआ सबसे फुर्तीला जानवर है।

तेंदुआ  के बारे में 10 लाइन Few Lines About Leopard in Hindi

नीचे पढ़ें तेंदुआ  के बारे में 10 लाइन-

  1. तेंदुए को भारत सरकार ने ने संरक्षित घोषित प्राणी का दर्जा दिया है।
  2. तेंदुआ संसार का सबसे फुर्तीला और तेज दौड़ने वाले जानवरों में से एक है तथा अपने शिकार को घसीटकर पेड़ पर ले जाता है।
  3. भारत के राष्ट्रीय पशु बाघ की फॅमिली से तेंदुआ सम्बन्ध रखता है।
  4. तेंदुआ बिल्ली की प्रजाति का सबसे बड़ा जानवर है जिसका वैज्ञानिक नाम पेंथेरा पोर्ड्स है।
  5. यह रात्रि में ही शिकार करता है क़्योकी तेंदुआ मनुष्य से सात गुना अधिक दृष्टि रखता है।
  6. नर तेंदुआ मादा से थोड़ा बड़ा होता है और झुण्ड में रहना पसंद करता  है।
  7. तेंदुए पर गोल- गोल काले धब्बे पाए जाते है जो इसकी मुख्य पहचान है।
  8. तेंदुए का सामान्य वजन 60 से 70 kg के लगभग होता है किन्तु मादा तेंदुए का वजन लगभग 40 से 45 kg होता है।
  9. तेंदुआ की सम्पूर्ण शरीर की लम्बाई 105 cm के लगभग रहती है तथा पूंछ की लम्बाई 30 cm तक होती है।
  10. तेंदुआ अच्छा तैराक होता है।
और पढ़ें -  बतख पर निबंध Essay on Duck in Hindi

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख में आपने तेंदुआ पर निबंध (Essay on Leopard in Hindi) तथा उसके बारे में रोचक जानकारियाँ प्राप्त करी। आशा है यह निबंध आपको सरल लगा हो, अगर यह लेख आपको पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें।

1 thought on “तेंदुआ पर निबंध Essay on Leopard in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.