मेरा प्रिय मित्र पर निबंध Essay on My Best friend in Hindi

इस लेख आप मेरा प्रिय मित्र पर निबंध Essay on My Best friend in Hindi पढ़ सकते हैं। यह निबंध 700 शब्दों मे स्कूल और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखा गया है। अगर स्कूल छात्र चाहें तो इस निबंध का उपयोग अपनी परीक्षा में अपने प्रिय दोस्त पर निबंध लिखने के लिए कर सकते हैं।

प्रस्तावना Introduction

मित्रता या दोस्ती हर किसी के जीवन में एक अहम भूमिका निभाता है। दोस्ती एक व्यक्ति के लिए प्यार, स्नेह, और सम्मान की भावना है। जीवन एक मित्र के बिना व्यर्थ है। एक अच्छा दोस्त आपको अपने दुख-सुख को बताता है आपके दुःख-सुख में आपका साथ देता है।

जब आप मुश्किल में फंसे होते हैं तो वह पूर्ण रुप से मदद करता है। वह आपकी समस्याओं को दूर करता है और आपको सांत्वना भी देता है। अगर सही मायने में देखें तो मित्रता जीवन को पूर्ण करता है। आज इस आर्टिकल के माध्यम से मैंने अपने प्रिय दोस्त पर एक निबंध प्रस्तुत किया है।

आईए मेरा प्रिय मित्र पर निबंध Essay on My Best friend in Hindi शुरू करते हैं…

मेरा प्रिय मित्र पर निबंध Essay on My Best friend in Hindi (700 Words)

जितेंद्र मेरा सबसे अच्छा दोस्त है। बचपन से ही हम दोनों एक ही कक्षा में पढ़ते आए हैं। वह एक आदर्श विद्यार्थी है। वह कक्षा में सबसे आगे है। वह सबके साथ उदार और शिष्टाचार का भाव रखता है। वह किसी के साथ झगड़ा नहीं करता है। जब हम स्कूल में पढ़ते थे शाम को मैं अपने घर जाता था, तो हम एक साथ पढ़ते हैं और खेलते हैं। उसकी मां मुझे बहुत प्यार करती है।

जितेन्द्र भी अक्सर मेरे घर आता है। जितेन्द्र के कोई भाई और बहन नहीं हैं। तो वह मेरे छोटे भाइयों को पसंद करता है। हर रविवार को दोपहर में, हम नदियों के किनारे घूमने जाते हैं। जितेंद्र को चित्रकला करने का शौक है। वह बहुत ही सुंदर चित्र बनाता है।

इसे भी पढ़ें -  परिवर्तन पर बेहतरीन उद्धरण Change Quotes in Hindi PDF

एक सच्चा दोस्त हमेशा आपके साथ खड़ा रहता है जैसे कि हर मुश्किल में जितेंद्र मेरे साथ रहता है। हर किसी के पास दोस्त तो कई सारे होते हैं परंतु प्रिय मित्र एक ही होता है। मुझे उससे बहुत प्यार है। हम लोगों का घर भी पास-पास है इसलिए हम बचपन से ही एक दूसरे के अच्छे मित्र हैं। हम दोनों दोस्त अपने प्रारंभिक शिक्षा से ही एक साथ जुड़े हुए हैं।

एक बार मुझे तेज बुख़ार हो रहा था तो जितेंद्र मेरा तबीयत देख कर रोने लगा और वह भी 2 दिन तक स्कूल नहीं गया। हम दोनों दोस्त को एक दूसरे की बहुत चिंता रहती है। यही हम दोनों के मित्रता को और मजबूत बनाता है।

अब हम दोनों दोस्त एक ही कॉलेज में पढ़ाई करते हैं। 11वीं में हम दोनों मित्रों ने अलग-अलग विषय चुना जिसके कारण हम दोनों अलग-अलग कक्षा में शिक्षा लेते हैं परंतु कॉलेज का समय खत्म होने के बाद हम साथ-साथ ही घर को लौटते हैं।

जितेंद्र बहुत ही मजाकिया दोस्त है। मुझे कविताएं लिखने का शौक है और जितेंद्र मेरी कविताओं को बहुत ही ध्यान से सुनता है और उसे मेरी कविताएं बहुत पसंद है। उसी प्रकार मुझे भी जितेंद्र के बनाए हुए चित्र बहुत पसंद है। कुछ तो मैंने अपने घर के कमरे की दीवार पर भी लगाएं हैं। जितेंद्र ने कई चित्रकला प्रतियोगिता में पुरस्कार जीता है।

मेरे प्रिय मित्र जितेंद्र की बातें सच में मुझे बहुत ही प्रेरित करती हैं। वह कहता है कि आगे बढ़कर उसे लोगों के लिए कुछ अच्छा काम करना है। अपने प्रारंभिक शिक्षा के समय में मैं पढ़ाई में उतना अच्छा नहीं था परंतु जितेंद्र के साथ रहकर मेरी शिक्षा में बहुत सुधार आया और साथ ही मैंने अपने मेट्रिक की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास किया। आज भी वह मेरे कैरियर के निर्माण में मेरे लिए एक प्रेरणा है।

इसे भी पढ़ें -  17+ तुलसीदास के दोहे हिन्दी अर्थ सहित Tulsidas Ke Dohe in Hindi

वह अपने सपने को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करता है और चाहता है कि मैं भी ऐसा ही करूँ। उनका सहयोग निश्चित रूप से मुझे अपना लक्ष्य प्राप्त करने में मदद करेगा। मेरा और उसका परिवार छुट्टियों में पिकनिक जाते हैं।

मुझे पूर्ण विश्वास है कि हमारी मित्रता जीवन भर ऐसे ही बनी रहेगी क्योंकि हम दोनों दोस्त एक दूसरे के विचारों की सराहना करते हैं। हमारी दोस्ती कभी खत्म नहीं होगी। यह सदाबहार है। यह तब तक चलेगा जब तक कि सूर्य-चंद्रमा इस ब्रह्मांड पर हैं।

आशा करते हैं आपको मेरा प्रिय मित्र पर निबंध Essay on My Best friend in Hindi अच्छा लगा होगा।

8 thoughts on “मेरा प्रिय मित्र पर निबंध Essay on My Best friend in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.