पुनर्चक्रण पर निबंध व महत्व Essay on Recycling in Hindi

पुनर्नवीनीकरण या पुनर्चक्रण पर निबंध व महत्व Essay on Recycling in Hindi

रीसाइक्लिंग या पुनर्चक्रण का अर्थ है कचरे को कुछ नए रूप के सामग्री में बदलना। ग्लास, पेपर, प्लास्टिक, और धातु जैसे एल्यूमीनियम और स्टील सभी का आम तौर पर पुनर्नवीनीकरण या पुनर्चक्रण किये जा सकते हैं।

मृत पौधों, फल पत्तों और सब्जीयों को कंपोस्टिंग के माध्यम से पुनर्नवीनीकरण किया जा सकता है। जहां पुरानी चीजें, जैसे कपड़े, आदि को हम अनाथालय में दान कर देते हैं इस तरह इसे बाहर फेंकने के बजाए हम इन वस्तुओं का दोबारा उपयोग कर सकते है।

पुनर्नवीनीकरण या पुनर्चक्रण पर निबंध व महत्व Essay on Recycling in Hindi

अगर हम अपने ग्रह पृथ्वी को हमारी भविष्य की पीढ़ियों के लिए बचाना चाहते हैं तो आज की दुनिया में पुनर्चक्रण सबसे महत्वपूर्ण है। यह हमारे पर्यावरण को बचाने का सबसे बेहतरीन तरीका है। हम जिन सामानों का उपयोग नहीं करते हैं, हम उन पुराने उत्पादों से नए उत्पाद बना सकते हैं।

अगर हम चाहे तो पुनर्चक्रण घर से भी शुरू कर सकते है। यदि आप अपने पुराने उत्पाद को फेंकना नहीं चाहते हैं तो इसके बजाय आप इससे कुछ नया उपयोग कर रहे हैं, तो आप वास्तव में पुनर्चक्रण कर रहे हैं। जब आप पुनर्चक्रण के बारे में सोचते हैं, तो आपको वास्तव में पूरे विचार से सोचना चाहिए। पुनर्चक्रण में हम तीन चरण का उपयोग करते है – उपयोग कम करें, दोबारा उपयोग करें और रीसायकल करें।

रीसाइक्लिंग की मदद से पृथ्वी का कचरा कम होता है। इसका एक अन्य कारण यह है, कि चीजों को बनाने में उपयोग की जाने वाली कच्ची सामग्री और ऊर्जा की मात्रा में कम खपत होती है। एक अर्थशास्त्री का कहना है, कि ज्यादातर पुनर्चक्रण करने में कम ऊर्जा लगता है। पुनर्चक्रण दुनिया भर के कचरे के आकार को कम करने में भी मदद कर रहा है।

इसे भी पढ़ें -  ध्यान पर निबंध (मेडिटेशन) Essay on Meditation in Hindi

पुनर्चक्रण करने के लाभ Benefits of Recycling in Hindi

पुनर्चक्रण का महत्व Importance of Recycling in Hindi

कभी कभी लोग पुनर्चक्रण होने वाले उत्पाद के बारे में नहीं जानते इस प्रकार वह इसे करने में सक्षम नहीं हो पाते है। रीसाइक्लिंग आज हमारी दुनिया में एक बेहद महत्वपूर्ण मुद्दा है। पुनर्चक्रण अपने कच्चे माल के घटकों को नई सामग्री में परिवर्तन कर रहा है और फिर नए उत्पादों के निर्माण में नई सामग्री को प्रतिस्थापित करने के लिए इन्हें फिर से उपयोग किया जाता है।

प्रत्येक व्यक्ति को पुनर्चक्रण करने के इस प्रयास में अपना पूर्णतः योगदान देना बहुत ही आवश्यक है।  पुनर्चक्रण का मतलब न केवल हमारे कचरे का पुन: उपयोग करना, बल्कि पुराने कपड़े को धर्मार्थ संगठनों में दान देना ।

रेफ्रिजरेटर में भोजन को स्टोर करने के लिए प्लास्टिक कंटेनर का पुन: उपयोग किया जा सकता है,प्लास्टिक के डिब्बों में हम बगीचे में फूल लगा सकते है, हालांकि पुनर्चक्रण ने हमने हमारे जीवन के कई क्षेत्रों को शामिल किया गया है, उन्हें हम पुनर्चक्रण कर सकते है।

घर का कचरा जैसे  बची कुची सब्जियां या खाद्य पदार्थ, पेड़ों से गिरने वाले पत्तों को एक बड़ा गड्ढा बनाकर उसमें नियमित रूप से जमा करके कुछ महीने तक मिट्टी ढक कर प्राकृतिक उर्वरक या खाद्य बनाया जा सकता है। इससे हमारा पर्यावरण स्वच्छ रहता है और साथ ही घर के कचरे से प्राकृतिक खाद मुफ्त में मिलता है।

प्लास्टिक का पुनर्चक्रण द्वारा पुनः उपयोग Recycling of Plastic in Hindi

सबसे पहले, प्लास्टिक एकत्र किया जाता है और एक रीसाइक्लिंग सेंटर में ले जाया जाता है जहां इसे पिघलाया जाता है। जब प्लास्टिक को पिघलाया जाता है तो इस्तेमाल किए जाने वाले प्रत्येक पुनर्नवीनीकरण योग्य प्लास्टिक उत्पाद पर चिन्ह मुद्रित किया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  चिड़ियाघर की सैर पर निबंध Essay about Zoo Park Visit in Hindi

प्लास्टिक दो प्रकार के होते हैं: पॉलीथीन और बहुलक। दो प्रकार के पॉलीथीन प्लास्टिक भी हैं: उच्च घनत्व पॉलीथीन (एच डी पी ई), और कम घनत्व पॉलीथीन। एच डी पी ई प्लास्टिक आमतौर पर फर्नीचर बनाने के लिए प्रयोग किये जाते है, और एल डी पी ई प्लास्टिक आमतौर पर दूध के पैकिट, किराने के सामान के लिए उपयोग किये जाने वाले थैली के रूप में प्रयोग की जाती हैं।

इससे  हम इन संसाधनों को बचा रहे हैं और पृथ्वी का कचरा कम हो रहा हैं, इससे वायु और जल प्रदूषण को कम करने में मदद मिलती है। भविष्य में ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव को कम करने के लिए ऊर्जा की बचत महत्वपूर्ण है। यदि हम एक एल्यूमीनियम केन को रीसायकल करते हैं, तो हम लगभग 3 घंटे तक टीवी चलाने के लिए पर्याप्त ऊर्जा को बचाने में सक्षम होते हैं, लेकिन यह स्पष्ट रूप से आपके टीवी की ऊर्जा खपत पर निर्भर करेगा।

हम हर साल कई मिलियन प्लास्टिक पैकिंग के लिए उपयोग करते है, जो कि कचरे में जाती है हम चाहे तो इसे इकठ्ठा कर ले और इसे रीसायकल सेंटर में दे सकते है  लेकिन यह आपके लिये एक अच्छा विचार है कि पुनर्चक्रण उत्पादों की प्रक्रिया के दौरान कितनी ऊर्जा बचाई जा सकती है । इससे हम प्रदूषण को काफी हद तक कम कर सकते है और ऊर्जा को बचा सकते है ।

निष्कर्ष Conclusion

आज हमें अपनी पृथ्वी को अनुपयोगी सामान को रीसायकल करके बचाना है और आज हमारे पास इसके लिए समय है। पेपर, प्लास्टिक, कांच, एल्यूमीनियम के डिब्बे कुछ उत्पादों के उदाहरण हैं जिन्हें बड़ी मात्रा में पुनर्नवीनीकरण या रीसायकल किया जाता है, इसीलिए हमें इसे बर्बाद नहीं करना चाहिए । तभी हम अपने पृथ्वी को सुरक्षित रख सकते है।

Source –Wikipedia

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.