अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियों के लाभ Benefits of Extra Curricular Activities in hindi

Contents

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज के फायदे (अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियों के लाभ) Extra Curricular Activities in hindi

स्टूडेंट के लिए एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज बहुत आवश्यक होती है। इसे non academic activities भी कहते है। छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए ये आवश्यक होती है। आजकल सभी स्कूलों में बच्चों को एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज करवाई जाती हैं।

इससे उनके मस्तिष्क के साथ उनके शरीर का भी भरपूर विकास होता है। म्यूजिक, स्पोर्ट्स, एक्टिंग, जूडो, डांस, मार्शल आर्ट्स जैसी बहुत सी करिकुलर एक्टिविटीज स्कूल में करवाई जाती हैं।

अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियों के लाभ Benefits of Extra Curricular Activities in hindi

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कौन कौन सी एक्टिविटी एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज के अंतर्गत आती है-

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज के प्रकार Types of
Extra Curricular Activities

वाद विवाद प्रतियोगिता (Debate competition)

डिबेट एक तरह की वाद विवाद प्रतियोगिता होती है। इसमें 2 टीम बनाई जाती हैं जो किसी विषय पर चर्चा करती हैं और अंत में उन्हें एक निष्कर्ष तक पहुंचना होता है। इसे करने से स्टूडेंट में तर्क शक्ति का विकास होता है।

इसे भी पढ़ें -  भारत का झंडा तिरंगा पर निबंध Essay on Indian National Flag Tiranga in Hindi

स्पोर्ट्स (Sports)

आप सभी यह जानते होंगे कि हर स्टूडेंट के लिए स्पोर्ट (खेल कूद) का बहुत महत्व है। इसे खेलने से ना सिर्फ मनोरंजन होता है बल्कि तनाव भी दूर होता है और शरीर का विकास भी होता है।

स्टूडेंट्स वॉलीबॉल, बास्केट बॉल, क्रिकेट, स्विमिंग, जिमनास्टिक, शतरंज जैसे खेलों में अपना करियर भी बना सकते हैं। आजकल खिलाड़ी किसी बड़ी हस्ती से कम नहीं होते हैं। उनकी आमदनी भी अच्छी होती है और उन्हें विश्व भर में सभी लोग पहचानते हैं।

सामाजिक सेवा (Community Service)

कम्युनिटी वर्क करने से स्टूडेंट्स में समाज सेवा करने का भाव पैदा होता है। कम्युनिटी सर्विस में आसपास की सफाई करना, गंदगी को साफ करना, पेड़ पौधे लगाना, गरीब असहाय लोगों की मदद करना, दृष्टिहीन लोगों को सड़क पार कराना जैसे काम शामिल है।

नाटक (Drama)

हर स्कूल में साल में एक दो बार ड्रामा प्रस्तुत किया जाता है। इसमें स्टूडेंट्स किसी किरदार का अभिनय करते हैं। इसे करने से स्टूडेंट्स के अंदर छिपी हुई अभिनय शक्ति विकसित होती है। आगे चलकर ऐसे स्टूडेंट्स फिल्मों, टीवी सीरियल, डोक्युमेंट्री फिल्म में काम करने लग जाते हैं और पूरे विश्व में प्रसिद्ध हो जाते हैं।

इंटर्नशिप (Internship)

इसके अंतर्गत स्टूडेंट्स को दूसरी कंपनी और संस्थानों में कुछ समय के लिए काम करने का मौका मिलता है। इससे उन्हें बहुत लाभ होता है। उन्हें प्रैक्टिकल नॉलेज मिलती है। किताबों से बाहर किस तरह काम किया जाता है उन्हें यह जानकारी प्राप्त होती है।

मार्शल आर्ट (Martial Arts)

आजकल हर नामी स्कूल में मार्शल आर्ट सिखाई जाती है। इसमें आत्मरक्षा के तरीके बताए जाते हैं। लड़कियों के लिए यह बहुत आवश्यक है क्योंकि अक्सर उन से छेड़खानी की घटनाएं होती रहती है। मार्शल आर्ट सीख कर लड़कियां अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकती हैं।

डांस क्लासेस (Dance Classes)

डांस करने के बहुत से फायदे हैं। इससे ना सिर्फ मनोरंजन होता है बल्कि इसमें बहुत से लोग अपना करियर थी बनाते हैं। डांस क्लासेस देखर अच्छा पैसा भी कमा लेते हैं। इसे करियर के रूप में भी अपनाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें -  कैरियर काउंसलिंग क्यों आवश्यक है? Why Career Guidance is Important in Hindi

कुछ अन्य एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज Some other Extra Curricular Activities

इन सब के अलावा कुछ अन्य एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज है जैसे- फोटोग्राफी, संगीत, सिंगिंग, पेंटिंग, चित्रकारी, लेखन, स्टोरी लिखना, योगा क्लासेस, बागवानी, एनसीसी, स्काउट, रेडियो जॉकी, शतरंज, स्कूल के लिए पत्रिकाएं और अखबार निकालना आदि।

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज के फायदे Advantages of Extra Curricular Activities

मानसिक तनाव को कम करती है It reduces Mental Stress

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज का सबसे अधिक फायदा है यह है कि पढ़ाई के दौरान स्टूडेंट्स का तनाव कम करती है। खेलना, कूदना, स्विमिंग, साइकिलिंग, म्यूजिक सुनना, गाने गाना, बैडमिंटन, वॉलीबॉल, फुटबॉल ,क्रिकेट जैसे एक्टिविटीज बच्चों के तनाव को कम करने में मदद करती है।

बच्चे पढ़ते पढ़ते काफी बोर हो जाते हैं। उन्हें कुछ नई एक्टिविटी करनी होती है। इसे करते हुए स्टूडेंट्स पढ़ाई में बेहतर परफॉर्म कर सकते हैं।

हॉबी को कैरियर बनाने में मदद करती है It helps making your hobby as career

कुछ मां-बाप का सोचना होता है कि बच्चे अगर खेलकूद में समय देंगे तो पढ़ाई कब करेंगे परंतु उनकी यह सोच गलत है। हर दिन कुछ घंटे खेलकूद करने से पढ़ाई का कोई नुकसान नहीं होता है। शरीर का व्यायाम भी हो जाता है।

यह भी संभव है कि आपके बच्चे में क्रिकेट, बैडमिंटन, कुश्ती, वॉलीबॉल, फुटबॉल जैसे खेल खेलने की प्रतिभा छिपी हो। आजकल बहुत से लोग खेलों में अपना करियर बनाते हैं। सचिन तेंदुलकर, साइना नेहवाल, सानिया मिर्जा, विश्वनाथन आनंद, विराट कोहली, महेंद्र सिंह धूनी, सुशील कुमार जैसे बहुत से खिलाड़ियों ने अपना कैरियर खेलकूद में ही बनाया है।

इस तरह एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज करके आपका बच्चा अपने मनपसंद स्पोर्ट्स में अपना करियर बना सकता है। इसमें पैसा और सोहरत दोनों है।

छुपी हुई प्रतिभा पहचानने में मदद मिलती है Helps to recognize your hidden talent

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज में एक्टिंग करना, ड्रामा, स्टेज परफॉर्मेंस जैसी चीजें भी आती हैं। कुछ स्टूडेंट्स के अंदर एक्टिंग करने का हुनर होता है। वह कॉलेज के वी कॉलेज में ड्रामा परफॉर्म करते रहते है। स्टूडेंट्स को अपना छिपा हुआ टेलेंट पहचानने का मौका मिलता है।

इसे भी पढ़ें -  निरक्षरता पर निबंध Essay on Illiteracy in India Hindi

व्यायाम होता है Its a type of Exercise

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज का सबसे अच्छा फायदा है कि स्टूडेंट का इससे व्यायाम हो जाता है। स्टूडेंट्स पढ़ाई के दौरान एक जगह घंटों बैठे रहते हैं और कोई भी कैलोरी बर्न नहीं होती। परंतु जब वे एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज करते हैं तो उनकी कैलोरी बर्न होती है और अच्छा व्यायाम होता है। उनकी लम्बाई तेजी से बढ़ती है। दिमाग तेज भी बनता है।

आत्मविश्वास बढ़ता है Increase your Self-confidence

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज करने से स्टूडेंट्स के मन में आत्मविश्वास बढ़ता है। उनको यह पता चलता है कि पढ़ाई के साथ-साथ वह दूसरे कामों को भी कर सकते हैं।

टीम स्पिरिट विकसित होती है Develop Team Spirit

एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज करने से स्टूडेंट्स को दूसरे बच्चों के साथ मिलकर काम करना होता है जिससे उनके बीच टीम भावना विकसित होती है। उनको प्रैक्टिकल जानकारी होती है जो नौकरी पाने के काम आती है।

नौकरी मिलने में मदद मिलती है Helps you to get hired faster

आजकल की कंपनी सिर्फ पढ़ाई में होशियार लोगों को नौकरी नहीं देना चाहती। वह चाहती है कि उन्हें सर्वगुण संपन्न कैंडिडेट मिले। इसके लिए वे एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज भी देखती है। जो स्टूडेंट पढ़ाई के साथ-साथ स्पोर्ट में होशियार होते हैं उन्हें कंपनियां पसंद करती हैं और नौकरी देती है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.