मित्रता दिवस पर निबंध Friendship Day Essay in Hindi

इस लेख में हमने मित्रता दिवस पर निबंध (Friendship Day Essay in Hindi) को छात्रों के लिए बेहद सरल रूप से लिखा है। इसमें मित्रता दिवस कब है, क्यों मनाया जाता है, महत्व, मनाने का तरीके, और 10 लाइन जैसी जानकारियां दी गयी है।

मित्रता दिवस पर निबंध Friendship Day Essay in Hindi

संसार में माता पिता और गुरु के बाद एक सच्चे मित्र का जीवन में होना बड़े भाग्य की बात होती है। जब एक शिशु अपनी माता के कोख में पल रहा होता है, तभी से उसके रिश्ते नाते बनना प्रारंभ हो जाते है। 

मित्रता के संबंध में यह बात बिल्कुल विपरीत है। सगे संबंधियों से ज्यादा एक सच्चा मित्र ही जीवन की कठिनाई में हमेशा साथ खड़ा रहता है।

मित्रता दिवस क्या है? What is Friendship Day in Hindi

जीवन में कई ऐसी परिस्थितियां आती है, जब हमें किसी के सहारे की आवश्यकता होती है, लेकिन कई बार खून के सगे रिश्ते भी मुंह मोड़ लेते हैं, ऐसी विपत्ति की घड़ी में एक सच्चा मित्र ही अपने मित्र को लड़ने का साहस देता है और मुश्किलों से उभरता है।

भले ही सच्ची मित्रता के रिश्ते जन्म से ना बनते हो, लेकिन सच्चे दोस्त ताउम्र साथ रहते हैं। जाति, धर्म, रंग- रूप, लिंग के भेदभाव वाली कड़ी को तोड़कर एक मित्र की परिभाषा बनती है। 

यह जरूरी नहीं कि दोस्ती केवल मनुष्य से ही की जाए। मित्रता एक भावना होती है, जो जानवरों और निर्जीव चीजों से भी हो सकती है।

मित्रता के नाम पर कभी कभी ऐसे लोगों से भी सामना हो जाता है, जो केवल अपना हित साधने के लिए दोस्ती किया करते हैं। अपनी आकांक्षाओं और जरूरतों को पूरा करने के लिए कुछ स्वार्थी लोग दोस्ती का दिखावा करते हैं और जैसे ही उनका हित निकल जाए, अपने काम में व्यस्त हो जाते हैं। 

यह दुनिया की वास्तविकता है कि अच्छे लोग अथवा अच्छे मित्र अपवाद स्वरूप रह गए हैं, जो पूरे मन से कोई भी रिश्ता निभाते हैं।

मित्रता के इस अटूट बंधन को देखते हुए विभिन्न देशों में मित्रता दिवस मनाया जाता है। विभिन्न देशों में अलग-अलग समय पर मित्रता दिवस को मनाया जाता है। 

मित्रता दिवस यह दोस्तों के लिए बहुत ही खास दिन होता है। सभी दोस्त यार मिलकर मित्रता दिवस के इस मौके पर हर्षोल्लास के साथ जीवन का आनंद लेते हैं और पूरा दिन मस्ती में बताते हैं।

और पढ़ें -  बिपिन चन्द्र पाल की जीवनी Bipin Chandra Pal Biography in Hindi

मित्रता दिवस क्यों मनाया जाता है? – इतिहास Why is Friendship Day Celebrated? – History in Hindi

दोस्ती एक पवित्र बंधन होता है, जो किसी भी प्रकार के छुआछूत और धारणाओं से मुक्त होता है। मित्रता दिवस अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़े ही भव्य तरीके से हर साल आयोजित किया जाता है। इस दिन को मनाने के पीछे कई तर्क दिए जाते हैं।

ऐसा कहा जाता है, कि सन 1958 में अमेरिकी सरकार द्वारा एक व्यक्ति को बिना किसी दोष के मार दिया गया था। मरने वाले व्यक्ति का एक दोस्त था, जो अपने मित्र से बहुत लगाव रखता था। 

जैसे ही इस घटना की खबर उस शख्स को लगी तो, उसे गहरा झटका लगा। अपने दोस्त की इस प्रकार हत्या कर देने के गम से वह बाहर नहीं आ पा रहा था। चौंकाने वाली घटना तब हुई जब उस इंसान ने अपने दोस्त की हत्या कर दिए जाने के बाद खुद की जान ले ली।

यह खबर जब अमेरिका में फैली तब लोगों में भूचाल आ गया था। हर कोई इस घटना से बेहद आश्चर्यचकित और दुखी था। उस समय यह समाचार देश विदेशों में छापी गई थी जिसके बाद अमेरिकी सरकार ने उस दिन को मित्रता दिवस के रूप में मनाए जाने का प्रस्ताव पारित किया।

वर्ल्ड फ्रेंडशिप डे अथवा अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस को मनाने का विचार सर्वप्रथम डॉ रामन आर्टिमियो ब्रैको 20 जुलाई 1958 में आया था। इसके पश्चात वर्ल्ड मैत्री क्रूसेड गठन किया गया, जिसका उद्देश्य पूरे विश्व में मित्रता का प्रसार करना था। 

दक्षिण अफ्रीका के एक देश पराग्वे में सबसे पहले 30 जुलाई 1958 में अंतरराष्ट्रीय मैत्री दिवस के रूप में मनाया गया। आज भी मित्रता दिवस को पूरे विश्व में किसी भी भेदभाव के बिना मनाया जाता है।

मित्रता दिवस का महत्व Importance of Friendship Day in Hindi

जीवन में सच्ची मित्रता का उतना ही महत्व है, जितना कि खुशियों का। एक सच्चा दोस्त कभी भी अपने दोस्त के मुख पर उदासी नहीं आने देता है। 

जीवन में हर कठिनाई के सामने एक सच्चा दोस्त ढलान बन कर खड़ा रहता है। मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है, जिसके कारण उसे अकेले में रहने की आदत नहीं होती।

एक रिसर्च के मुताबिक यह कहा गया है, कि जो लोग अपने दोस्तों के साथ समय व्यतीत करते हैं, वे उन लोगों की तुलना में कहीं बेहतर और खुशहाल जिंदगी जीते हैं जो अकेले अथवा लोगों से दूर रहना पसंद करते हैं।

जीवन में कुछ हो या ना हो लेकिन एक सच्चा दोस्त जरूर होना चाहिए, जो हमारी भावनाओं को समझ सके।

और पढ़ें -  दोस्ती या मित्रता पर निबंध Essay in Friendship in Hindi

जब मित्रता के महत्त्व की बात की जाए तो भला इतिहास के सबसे सुनहरे मित्रता के बंधन को कैसे भुला जा सकता है। श्री कृष्णा और सुदामा की मित्रता तो सदियों से ही प्रख्यात है और आगे भी रहेगी। 

जिस प्रकार भगवान श्री कृष्ण ने अपने बाल्यावस्था के गरीब ब्राह्मण मित्र के लिए कुछ मुट्ठी चावल के बदले अपना बैकुंठ सुदामा को देने के लिए तैयार हो गए थे। यह सच्चे मित्र की निशानी होती है, जो अपने मित्र के लिए अपना सब कुछ खोने के लिए तैयार रहता है।

हमें अपनी संस्कृति पर गर्व होना चाहिए, कि मित्रता की सच्ची मिसाल भारत से ही पूरी दुनिया में फैली है।

वास्तव में मित्रता का कोई दिन नहीं होता यह तो एक ऐसा रिश्ता होता है, जहा हर दिन मित्रता दिवस ही होता है। 

अच्छा मित्र ही अपने दोस्त के भावनाओं की सच्ची कदर कर सकता है। मित्रता का बंधन बेहद पवित्र होता है, जहां अमीर और गरीब का भेदभाव किए बिना सच्चे मित्र अपने रिश्तो को पूरे जीवन कायम रखते हैं।

संगति का मानव पर बेहद गहरा प्रभाव पड़ता है। अगर जीवन में बुरे मित्र मिल जाते हैं, तो उनके कारण हमेशा निराशा और बदनामी ही हाथ लगती हैl 

लेकिन सौभाग्य से अगर जीवन में सच्चे मित्र मिल जाए तो जीवन किसी स्वर्ग से कम नहीं होता। केवल भारत में ही नहीं मित्रता दिवस अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत महत्वपूर्ण दिन है। 

इस दिन सभी पुराने दोस्त यार मिलकर अपने गिले-शिकवे को छोड़कर एक बार फिर से से दोस्ती कायम रखने का प्रण लेते हैं।

मित्रता दिवस कब है? 2022 When is Friendship Day in 2022 in Hindi

दुनिया के विभिन्न देशों में मित्रता दिवस अलग-अलग तारीखों पर मनाया जाता है। भारत की बात की जाए, तो हर साल अगस्त महीने के पहले रविवार को अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस मनाया जाता है। 2022 में अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस भारत में 7 अगस्त रविवार के दिन मनाया जाएगा।

मित्रता दिवस कैसे मनाया जाता है? How does Friendship Day celebrated in Hindi

आज का समय डिजिटल मीडिया का समय है, जहां हर खबर आग की तरह फैलती है। हर किसी के पास वर्तमान में मोबाइल फोन और इंटरनेट अवश्य उपलब्ध रहता है। 

मित्रता दिवस के दिन इंटरनेट के माध्यम से मित्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं आदान प्रदान की जाती हैं। केवल भारत में ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी लोग एक दूसरे को अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस की बधाइयां देते हैं।

अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस के अवसर पर मित्र अपने अन्य मित्रों के लिए ग्रीटिंग कार्ड तैयार करते हैं। सभी दोस्त मिलकर फ्रेंडशिप डे के अवसर पर पिकनिक मनाते हैं। एक दूसरे के लिए गिफ्ट भी मित्रों द्वारा तैयार कियाजाता है।

और पढ़ें -  75 महात्मा गांधी के अनमोल वचन Best Mahatma Gandhi Quotes in Hindi

मित्रता में छोटी- मोटी कहासुनी के कारण जो भी खटास होती है, उसे मित्रता दिवस के दिन दोस्तों द्वारा साथ मिलकर दूर कर दिया जाता है। पाश्चात्य देशों में मित्रता दिवस के दिन लोग एक दूसरे के हाथों में फ्रेंडशिप बैंड बांधते हैं। 

अब यह परंपरा भारत सहित एशिया के कई देशों में फैल चुका है। लोग अपने दोस्तों के घर पर जाकर तरह-तरह के खूबसूरत रंगीन फ्रेंडशिप बैंड बांधकर उन्हें फ्रेंडशिप डे की बधाइयां देते हैं।

स्कूल और कॉलेजों की बात की जाए तो यहां सभी छात्र मिलकर मित्रता दिवस को मनाते हैं। इस दिन विशेष कर बच्चे मित्रता दिवस का भरपूर लाभ उठाते हैं और एक दूसरे को फ्रेंडशिप बैंड बांधकर अपनी दोस्ती को और पका करते हैं।

मित्रता केवल एक रिश्ता ही नहीं बल्कि ह्रदय के साथ जुड़ी हुई भावना होती है। अपने जीवन के दुखों को केवल एक मित्र के साथ ही खुलकर बयां किया जा सकता है। मित्रता दिवस हर्षोल्लास का दिन होता है, जब पूरी दुनिया मित्रता के सच्चे भाव को समझ कर इसे मनाती है। 

सच्ची मित्रता जीवन में ईश्वर का दिया गया एक अनमोल तोहफा होता है। जिनके पास सच्चे मित्र होते हैं, वह लोग इस दुनिया में सबसे भाग्यशाली होते हैं।

मित्रता दिवस पर 10 लाइन 10 Line on Friendship Day in Hindi

  1. अंतरराष्ट्रीय मित्रता दिवस को मनाने का ख्याल सबसे पहले डॉ रामन आर्टिमियो ब्रैको को आया था।
  2. 30 जुलाई 1958 के दिन दक्षिण अफ्रीका महाद्वीप के पराग्वे नामक देश में सर्व प्रथम अंतर्राष्ट्रीय मित्रता दिवस मनाया गया था।
  3. मित्रता दिवस यह सभी दोस्तों के लिए बेहद खास दिन होता है।
  4. भारत में मित्रता दिवस के दिन भगवान श्री कृष्ण और उनके गरीब मित्र सुदामा की दोस्ती की मिसाल कायम की जाती है और उन्हें याद किया जता है।
  5. अलग-अलग देशों में विभिन्न दिनों पर मित्रता दिवस मनाया जाता है।
  6. इस दिन सभी दोस्त मिलकर एक दूसरे को गिफ्ट्स, ग्रीटिंग कार्ड और फ्रेंडशिप बैंड देते हैं।
  7. सामान्यतः मित्रता दिवस के दिन रविवार का दिन पड़ता है जब सबकी छुट्टी होती है।
  8. मित्रता दिवस यह लोगों को धर्म, संप्रदाय, लिंग, रंग रूप इत्यादि का भेदभाव किए बिना सच्ची मित्रता निभाने का संदेश देता है।
  9. इस दिन सभी मित्र अपने पुराने गिले शिकवे को छोड़ कर दोस्तों से मिलकर मित्रता दिवस मनाते हैं।
  10. मित्रता का अर्थ होता है, अंधेरे से प्रकाश की ओर लाना। सच्चे मित्रता केवल मनुष्य से ही नहीं बल्कि जानवर, अच्छी पुस्तकें इत्यादि से भी मित्रता की जा सकती।

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख में आपने हिन्दी में मित्रता दिवस पर निबंध (Friendship Day Essay in Hindi) पढ़ा। आशा है यह लेख आपको जानकारी से भरपूर लगा होगा। अगर यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.