गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi

इस लेख में पढ़ें गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी (Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi) हिन्दी में। साथ में आलिया भट्ट की इस फिल्म पर आने वाली फिल्म की जानकारी, कास्ट, रिलीज तारीख, ट्रैलर विडिओ की पूरी जानकारी पढ़ें।

गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi

हम सभी जानते है कि भारत एक ऐसा देश है जहाँ अनेक प्रकार के लोग रहते है और हर एक किसी की अपनी अलग कहानियां होती है। लेकिन ये कहानियाँ लोगों के सामने ला पाना इतना भी आसान नही होता।

भारत में ऐसी बहुत सी कहानियाँ जो आज भी दफ़न है, इन्ही कहानियों में आज हम गंगूबाई काठियावाड़ी के बारे में बताने वाले है। ये कहानी एक ऐसी महिला की है जिसने अपने पूरे जीवन में बहुत सी दयनीय परिस्थितियों का सामना किया और एक वैश्या के रूप में प्रसिद्ध हुई।

गंगूबाई कौन थी? Who was Gangubai?

गंगूबाई बाई जिनका पूरा नाम गंगूबाई हरजीवनदास काठियावाडी था। जो 60 के दशक में मुंबई माफ़िया की एक खतरनाक महिला हुआ करती थी।

इनको जनता कमाठीपुरा की मैडम (Madam Of Kamathipura) के नाम से जानते थे।  ‘Mafia Queens of Mumbai’ जो हुसैन जैदी द्वारा लिखी गई किताब से  प्रभावित होकर संजय लीला भंसाली ने आलिया भट्ट के साथ इनके जीवन के सफ़र पर फिल्म बनाई है। (source)

Gangubai Kathiawadi Teaser Video or Trailer

गंगूबाई काठियावाड़ी का प्रारंभिक जीवन Early Life of Gangubai Kathiawadi

गंगूबाई हरजीवनदास काठियावाडी उर्फ़, गंगूबाई  का जन्म 1939  में गुजरात मे के काठियावाड़ नामक स्थान पर हुआ था। इनका जन्म एक बहुत ही परिवार सम्मान जनक था, इनके माता-पिता इनसे बहुत प्यार करते थे।

और पढ़ें -  एक ही स्रोत से प्रेरित विचार - सकारात्मक या नकारात्मक One Source - Get Positive or Negative

क्योंकि ये अपने परिवार की इकलौती बेटी थी। इसके पिता चाहते थे कि ये पढ़ लिख कर आगे बढे, लेकिन इनकी पढ़ाई में जरा भी मन नही लगता था। ये हमेशा फिल्मों की बातें किया करती थी क्योंकि ये हिरोइन बनना चाहती थी। 

जब गंगूबाई काठियावाड़ी की उम्र 16 साल थी, तो इनको अपने ही पिता एक एकाउंटेंट से प्यार हो गया। जिसका नाम रमणीक लाल था। इसके साथ भाग कर गंगूबाई ने शादी कर ली।

इनके घरवालों का इनका रिश्ता स्वीकार नही था, इसलिए गंगूबाई अपने पति रमणीक (Ramnik Lal) के साथ भाग कर मुंबई चली आई। गंगूबाई इस बात से बिलकुल भी बेखबर थी कि उनके जीवन में कठिन परिस्थितियाँ आने वाली है।

गंगूबाई काठियावाड़ी की ख़ुशियाँ ज्यादा दिन नही चली। रमणीक ने गंगूबाई को अपनी मौसी कह कर एक औरत से मिलवाया जोकि एक कोठेवाली थी। रमणीक ने नया घर ढूढने के बहाने से गंगूबाई को 500 रुपये में बेच कर चला गया। (source)

गंगूबाई को क्या पता था कि उसका पति उसे जिसके साथ भेज रहा है वो मुंबई के कमाठीपुरा रेड लाईट एरिया में कोठा चलती है। रमणीक के जाने के कुछ हफ़्तों बाद गंगूबाई को समझ आ गया था कि वो अब इस जगह से कहीं और नही जा सकती है।

इसलिए उसने वैश्या के जीवन को स्वीकार करने का फैसला कर लिया, लेकिन वो वहां बारे में कुछ भी नहीं जानती थी। शौकत खान नाम के एक आदमी ने गंगूबाई के साथ पूरी रात ज़बरदस्ती की और पूरी रात गुजारने के बाद उसने गंगूबाई को पैसे भी नही दिए।

इस दर्दनाक घटना  के कारण गंगूबाई की हालत बहुत बिगड़ गई और उसे अस्पताल भी जाना पड़ा। पूरी तरह से ठीक होने के बाद गंगूबाई ने शौकत अली के बारे में जानकारी निकालने पर पता चला कि वो वहां के मशहूर डॉन करीम लाला का आदमी था।

और पढ़ें -  God helps those who help themselves - Best 2 Stories in Hindi

माफिया डॉन करीम लाला की मुँह बोली बहन Sister of Mafia Don Karim Lala

गंगूबाई ने करीम लाला के के पास जाकर, शौकत के द्वारा किये गए बलात्कार के बारे में बताया, और आपनी पूरी कहानी भी सुनाई।

इस घटना के बाद करीम लाला ने गंगू को अपनी मुँह बोली बहन बना लिया और शौकत खान को इस करतूत के लिए कड़ी सजा भी दिया। गंगूबाई काठियावाड़ी ने भी करीम लाला को रक्षाबंधन बांध कर उसे अपना भाई बना लिया। इसके बाद गंगूबाई धीरे- धीरे मशहूर होने लगी। कुछ ही समय में करीम के साथ से गंगूबाई बहुत ही शक्तिशाली बन गई।

समय के साथ गंगूबाई काठियावाड़ी मुंबई के अंडरवर्ल्ड में आ गई और कुछ समय बाद वो वैश्या से कोठे की मालकिन बन गई। उसने रेड लाईट एरिया में कई वैश्यालय भी खुलवाला और इसके अलावा भी कई और अच्छे काम भी किये। जिसके कारण लोग गंगूबाई को कमाठीपुरा की मैडम (Madam of Kamathipura) या कमाठीपुरा की डॉन के नाम से मशहूर हो  गई। 

गंगूबाई काठियावाड़ी 60 के दशक में ऐसी अमीर औरत थी जिसके पास काली रंग की बेंटले कार (Bentley Car) थी, वो हर तरह से वैश्याओं की मदद करती थी साथ उनके बच्चों को भी बहुत प्यार देती थी। गंगू किसी को भी ज़बरदस्ती उसके मर्जी के खिलाफ कोठे में नही रखती थी। 

गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी की मृत्यु Death of Gangubai Kathiawadi

अगर हम गंगूबाई काठियावाड़ी की मृत्यु की बात करे, तो इसके बारे में कोई भी सही जानकारी नही मिलती है। (source) इसके अलावा इनके मृत्यु के साल के बारे में भी कोई जानकारी नही मिलती। लेकिन माना जाता है कि इनकी मृत्यु 1975 और 1978  के बीच हुई थी।

Gangubai Kathiawadi Movie Cast , Release Date

बहुत ही जल्द आप सभी के सामने गंगूबाई की जीवन की संपूर्ण घटनाएँ बॉलीवुड के जरिये आने वाली है। इस फिल्म को बनाने के लिए बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के निर्देश में आलिया भट्ट की लीड रोल यानी गंगूबाई के किरदार में दिखने वाली है।

और पढ़ें -  काबुलीवाला कहानी - रबीन्द्रनाथ टैगोर Kabuliwala Story by Rabindranath Tagore in Hindi

कहा जा रहा है इस फिल्म के लिए आलिया भट्ट ने काठियावाड़ भाषा भी सीखी है। साथ ही रेड लाईट में उपयोग की जाने वाली गन्दी गन्दी गलियां भी सीखी है। (source) आलिया के अलावा इस फिल्म में करीम का किरदार अजय देवगन करने वाले है।

इसके अलावा इमरान हाशमी, विजय राज के साथ अन्य कई एक्टर दिखने वाले है। इस फिल्म को 30 जुलाई को रिलीज करने की तारीख निर्धारित किया गया है।

इस फिल्म से जुड़ा विवाद Controversy on Gangubai Kathiawadi Movie

संजय लीला भंसाली के निर्देशन में में बनी फिल्म गंगूबाई जिसके लीड रोल में आलिया भट्ट दिखने वाली है। इस फिल्म को लेकर विवाद शुरू हो गया है।

गंगूबाई के बेटे बाबूजी रावजी शाह ने इस फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली, आलिया भट्ट और पूरे प्रोडक्शन के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इसके साथ हुसैन जैदी (इनके उपन्यास Mafia Queens of Mumbai जिस पर फिल्म आधारित है) के ऊपर भी मामला दर्ज किया गया है। 

बाबूजी रावजी शाह ने आरोप लगाया है, कि हुसैन जैदी के द्वारा लिखी पुस्तक Mafia Queens of Mumbai में कुछ भाग सही नही है। इसमें उनकी स्वाभिमान, निजता और स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन किया गया है।

गंगूबाई के बेटे शाह ने इस किताब की छपाई और प्रचलन पर पूरी तरह से रोक लगाने के साथ फिल्म के कुछ हिस्से जैसे मुंबई माफ़िया वाले कुछ भाग को हटाने की मांग की थी। (source)

गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी फिल्म (Gangubai Kathiawadi Real Story Film) से जुड़ी और जानकारी के लिए इस पेज के updates देखते रहें।

3 thoughts on “गंगूबाई काठियावाड़ी कहानी Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi”

  1. बहुत ही शानदार वर्णन किया है विजय भाई आपने गंगुबाई के बारे में. इतनी सटीक जानकारी मुझे पहले नहीं मिल पाई थी पर यह पोस्ट पढने के बाद मैं गंगुबाई के बारे में जान सका.

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.