लहसुन के फायदे और नुकसान Garlic benefits and side effect in Hindi

Contents

लहसुन के फायदे और नुकसान Garlic benefits and side effect in Hindi

लहसुन (garlic) के बारे में आप सभी को पता होगा। ये भारत के लगभग हर घर में इस्तेमाल होने वाला पदार्थ है। इसका इस्तेमाल सब्जी तथा अन्य खाने की चीजों में उसका स्वाद बढ़ाने में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा इसमें उपयोग घरेलू उपचार तथा अन्य कई जगहों पर किया जाता है।

आज के इस लेख में हमने लहसुन खाने के फायदे और नुकसान के साथ उसका उपयोग कैसे करना है ये भी बताएँगे।

लहसुन में पाये जाने वाले तत्व Active Ingredients in Garlic

लहसुन (garlic) का वैज्ञानिक नाम – Allium sativum है। वैसे तो इसमें बहुत से गुणकारी तत्व पाए जाते है। इसमें एलिसिन (Allicin) नामक तत्व पाया जाता है, जो Antibacterial, Antiviral, antifungal और antioxidant का काम करते है।

लहसुन (garlic) में विटामिन और मिनरल्स प्रचुर मात्रा में पीता जाता है। इसमें विटामिन  B1 , विटामिन B6 , विटामिन C के साथ साथ मैग्नीशियम, कैल्सियम , आयरन, फॉस्फोरस, मैगनीज, पोटेशियम, जिंक और कॉपर भी पाया जाता है।

लहसुन के फायदे और नुकसान Garlic benefits and side effect in Hindi

लहसुन खाने के 15 बेहतरीन फायदे Health benefits of Garlic

 लहसुन हमारे स्वास्थ्य जीवन के लिए बहुत ही जरूरी है। इसमें पाये जाने वाले पोषक तत्व हमारे लिए बहुत ही आवश्यक है। लहसुन कहने के कुछ फायदे इस प्रकार है:-

इसे भी पढ़ें -  शारीरिक शिक्षा का महत्त्व निबंध Importance of Physical Education in Hindi

1. कैंसर से बचाव Prevent cancer

लहसुन (garlic) में पाये जाने वाले सेलेनियम (Selenium), जो कैंसर से लड़ने में में मदद करता है। इसके अलावा इसमें डायलिसिल्फाइड पाया जाता है, जो ओक्सिडेटिव स्ट्रेस को रोकने में मदद करता है। लहसुन पेट के कैंसर और ट्यूमर को कम करने में सहायक होता है। इसीलिए हमें अपने नियमित जीवन में लहसुन का उपयोग करते रहना चाहिए जिससे हमें कैंसर होने का खतरा कम रहे। (source)

2. वृक्क में संक्रमण से बचाव Prevention of Kidney infections

एक शोध से पता चलता है कि लहसुन वृक्क यानि किडनी में होने वाले संक्रमण से बचाता है। क्योंकि इसमें पाए जाने वाले तत्व होने वाले संक्रमण को रोकने का काम करते है। (source)

3. हाई ब्लड शूगर को कम करता है Reduce blood sugar levels

यदि आप को भी हाई ब्लड शूगर की समस्या है, तो आप को अपने रोज़ाना के आहार में लहसुन को शामिल करना चाहिए। क्योंकि वैज्ञानिको ने शोध से पता लगाया है कि लहसुन में शुगर के स्तर को कम करने की क्षमता होती है। (source)

4.  अस्थमा (दमा) से राहत Helps in Asthma

लहसुन अस्थमा के रोगियों के लिए अत्यंत ही लाभकारी है। वैज्ञानिको ने एक प्रयोग से ये साबित किया था कि लहसुन दमा के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। (source)

5. योनि संक्रमण से बचाव Prevent Vaginal yeast infection

हम सभी जानते है कि महिलाओं में योनि संक्रमण एक आम बात है लेकिन वो किसी से साथ इसके बारे मे बात नही कर पाती है। इस समस्या को दूर करने के लिए घरों में मौजूद लहसुन आसानी से इस समस्या को दूर कर सकता है। योनि संक्रमण (Yeast infection) से बचाव के लिए हमें अपने रोज़ाना आहार में लहसुन का उपयोग सीमित मात्रा में करना चाहिए। (source)

6. स्ट्रेच मार्क को कम करने में सहायक Reduce stretch marks

महिलाओं में गर्भवस्था के दौरान जब अचानक से पेट बढ़ने लगता है, तो त्वचा में पाए जाने वाले सेल्स (cells) फट जाती है। और स्ट्रेच मार्क दिखने लगता है। पुरुषों में भी अचानक वृद्धि (growth) से स्ट्रेच मार्क शरीर पर आ जाते है। वैसे तो स्ट्रेच मार्क को पूरी तरह से ख़त्म नही किया जा सकता है। लेकिन लहसुन के इस्तेमाल से ये कम हो जाता है। इसके लिए लहसुन की दो या तीन कलियों को तेल में गर्म करके तेल को स्ट्रेच मार्क पर लगाने से इसके कम किया जा सकता है। (source)

7. बालों का गिरना और रुसी को कम करे Reduce dandruff and hair fall

बालों का झड़ना और बालों में रुसी आजकल बहुत आम हो गया है। क्या आप को पता लहसुन में पाए जाने वाले एंटी बायोटीक, एलिसिन और अन्य एंटीऑक्सीडेंट, एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण बालों का झड़ना और बालों में रुसी यानि डैंड्रफ की समस्या को कम करता है। (source)

Loading...
इसे भी पढ़ें -  कीवी फल खाने के फायदे और नुकसान Health benefits of Kiwi fruit in Hindi

8. त्वचा की झुरियों को कम करने में सहायक Act as anti-aging

लहसुन में पाए जाने वाले एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा की झुर्रियों को कम करता है। हमारे गलत खान पान के वजह से कई बार समय से पहले ही झुर्रियां आ जाती है, इससे बचने के लिए हमें नियमित रुप से लहसुन का सेवन करना चाहिए। इससे हमारी त्वचा चमकदार और सॉफ्ट रहेगी। (source)

9. दाद और खुजली से राहत Helps in fungal infection and itching

हम सभी जानते है दाद और खुजली के होने का मुख्य कारण कवक यानि फंगस होते है। जैसी कि हम पहले भी बता चुके है लहुसन में एंटीफंगल और एंटीबैक्टेरियल गुण पाये जाते है, जो दाद और खुजली को कम करने में सहायक होता है दाद और खुजली पूरी तरह से लहसुन नही ठीक हो सकता है लेकिन उसे कम कर सकता है। (sources)

10. मुहांसे या पिम्पल को ख़त्म करने में सहायक Reduce acne

हम अपनी रोज़ाना बहुत से ऐसी चीजें खाते है। जो हमारे शरीर में जमा होकर कील- मुहांसे या अन्य कई परेशानियाँ उत्पन्न करते है। किंतु लहसुन का सेवन नियमित रूप से करने से कील-मुहांसे जैसी समस्या से खत्म करने में मददगार है। (source)

11. ठंड और बुखार से राहत Relief from cold fever

ठंड और बुखार में भी लहसुन हमारे लिए फ़ायदेमंद होता है। ठंड और बुखार के समय सरसों के तेल में लहसुन की कलियों को डाल कर गर्म करके उसे शरीर में लगाने से ठंड और बुखार से राहत देता है।

12. फंगल संक्रमण से बचाव Prevent fungal infection

लहसुन में पाये जाने वाले एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टेरियल गुण पाए जाने के कारण लहसुन फंगल संक्रमण जैसे – कैंडिडा, दाद, Athlete’s Foot आदि से लड़ने में मदद करता है।

13. प्रतिरक्षा को बढ़ाता है Increase immunity

लहसुन में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट  गुण के कारण ये हमरे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र की क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। (source)

14. मधुमेह को कम करने में सहायक Helps in diabetes

जैसा कि हम पहले ही बता चुके है कि लहुसन है ब्लड सुगर को भी नियंत्रित करने में मददगार है। इसीलिए ये मधुमेह के मरीजों के लिए भी लाभकारी है। लहसुन रोज़ाना सेवन से हमारे शरीर की मधुमेह रोगियों को ग्लूकोज को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है साथ ही ये इन्सुलिन की मात्रा को भी बढ़ा देता है।

इसे भी पढ़ें -  सूर्य नमस्कार, फायदा और कैसे करे? Surya Namaskar Benefits and Steps in Hindi

15. हृदय संबंधी रोग में सहायक Keeps heart healthy

लहसुन के रोज़ाना सेवन से हृदय संबंधी रोगों से लड़ने में सहायता मिलती है। ये हाई ब्लेड प्रेसर, कोलेस्ट्रोल, मधुमेह जैसे बिमारिओं से लड़ने में मदद करता है। (source)

16. सर्दी-जुखाम से राहत Stay away from cough and cold

हम सभी जानते है कि सर्दी-जुखाम वायरल इन्फेक्सन की वजह से होती है। हम पहले भी बता चुके है लहसुन में  एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-फंगल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों पाए जाते है, जो हमें सर्दी-जुखाम से हमें बचाता है।

[easyazon_image align=”center” height=”500″ identifier=”B07GR4Y1MG” locale=”IN” nw=”y” src=”https://images-eu.ssl-images-amazon.com/images/I/31bpe-SQtrL.jpg” tag=”1hindi-21″ width=”334″] [easyazon_cta align=”center” identifier=”B07GR4Y1MG” key=”small-light” locale=”IN” tag=”1hindi-21″]

लहसुन खाने के नुकसान Side Effect Of Garlic

हम जानते है कि लहसुन हमारे लिए बहुत ही आवश्यक है। आप सोच रहे होंगे लहसुन इतना गुणकारी होने के बाद हमारे लिए नुकसानदायक कैसे हो सकता है। तो आप को पता होना चाहिए कि किसी भी चीज को ज्यादा उपयोग करने से उसके कुछ नुकसान भी होते है। इसके कुछ महत्वपूर्ण नुकसान के बारे में हम नीचे बताने जा रहे है:

  1. बहुत से लोगो को लहसुन से एलर्जी होती है, ऐसे लोगो को लहसुन का उपयोग से परेशानी हो सकती है। इसलिए इसका उपयोग करने से पहले एक बार ज़रूर सोच ले।
  2. यदि आप कच्चा लहसुन खा रहे है, तो आप को इससे उलटी, गैस, पेट फूलने की समस्या आ सकती है।
  3. लहसुन को  ज्यादा खाने खून पतला हो जाता है। इसलिए यदि आप को कोई सर्जरी करवानी है तो लहसुन को कम खाएं।
  4. पीरियड्स के दौरान लहसुन नही खाना चाहिए, क्योंकि ये खून को पतला कर देता है जिससे ज्यादा खून का बहाव होता है।
  5. ऐसे लोग जिनका ब्लड प्रेसर कम रहता है। उनको लहसुन नही खाना चाहिए।
  6. लहसुन खाने से मुह से दुर्गंध की समस्या आ सकती है।
  7. कच्चा लहसुन खाने से उलटी या दस्त भी हो सकता है। (source)

लहसुन का उपयोग कैसे करें? How to use garlic?

  1. लहसुन (garlic) का उपयोग सब्जियों में सीमित मात्रा में किया जा सकता है।
  2. लहसुन का पेस्ट बना कर भी इसका सेवन कर सकते है।
  3. इसका सेवन आप सूप में भी कर सकते है।
  4. यदि आप चाहे तो लहसुन की कलियों को घी या वैसे ही भुन कर इसे खा सकते है।
  5. बहुत से लोग लहसुन की चाय भी पीते है। यदि आप को पसंद हो, तो आप भी पी सकते हैं।
Loading...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.