गिलोय के स्वास्थ्य लाभ और नुक्सान Giloy health benefits and side effects in hindi

Contents

गिलोय के स्वास्थ्य लाभ और नुक्सान Giloy health benefits and side effects in hindi

गिलोय Giloy(tinospora cordifolia) को सभी पौधों की रानी कहा जाता है। इसे भगवान इंद्र के अमृत के रूप में माना जाता है इसलिए इसे अमृता के नाम से भी जाना जाता है। गिलोय के पौधे का उपयोग कई प्रकार के बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है।

गिलोय मन की चिंता व स्ट्रेस को दूर करके शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। गिलोय के उपयोग से डेंगू के रोगियों के रक्त में प्लेटलेट्स की मात्रा बढती है जिससे डेंगू के रोगियों का स्वास्थ्य जल्दी ठीक होता है।

गिलोय खासकर भारत के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाया जाता है। इसके उपयोग और फ़ायदों के बारे में आयुर्वेद और युनानी चिकित्सा इतिहास दोनों में वर्णन किया गया है। प्राचीन युग से गिलोय को कई प्रकार की बीमारियों में औषधि के रूप में उपयोग में लाया जाता रहा है।

इसे भी पढ़ें -  तंदुरुस्ती एवं स्वास्थ्य पर भाषण Speech on Fitness and Health in Hindi

गिलोय के स्वास्थ्य लाभ और नुक्सान Giloy health benefits and side effects in hindi

गिलोय के अन्य नाम Giloy names in different languages

अंग्रेजी: टीनोस्पोरा
हिंदी: गिलोय, गुलंचा
संस्कृत: अमृता, गुडूची, च्चिन्ना, अम्रितावाल्ली
पंजाबी: बतुंडू, गर्हम, गरुम
मराठी: गिलोया
बंगाली: गुलंचा
गुजराती: गिलय
कन्नड़: गिलोय

गिलोय के स्वास्थ्य लाभ Health benefits of Giloy plant in hindi

1. प्रतिरक्षा गुण Immunogenic properties

गिलोय प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में बहुत मदद करता है। इससे हड्डी, फेफड़े, अंतड़ियों, खून से जुडी बीमारियाँ, बुखार और लीवर से जुड़ी बीमारियाँ दूर होती हैं। इससे इम्युनिटी स्ट्रोंग रहता है जिससे बिमारियों से शरीर दूर रहता है।

2. त्वचा से जुडी बीमारियाँ Skin diseases

गिलोय को सवेरे खाली पेट में घी के साथ खाने से त्वचा से जुडी बीमारियाँ दूर होती है। त्वचा से जुड़ी बीमारियाँ जैसे डर्मेटाइटिस,  सनबर्न, रिंगवर्म, लेप्रोसी और अन्य एलर्जी को गिलोय दूर करता है।

3. गैस्ट्रो-इंटेस्टाइनल बीमारियाँ को ठीक करता है It helps in gastrointestinal disorders

गिलोय में बैक्टीरिया को खत्म करने की शक्ति होती है जिसके कारण यह पेट में होने वाली बीमारियाँ जैसे डिस्पेप्सिया, गैस्ट्राइटिस, डायरिया, जॉन्डिस, अल्सर को ठीक करने में मदद करता है। गिलोय पैंक्रियास को भी सुरक्षित रखता है और किडनी और हृदय से जुड़े रोगों को भी दूर करता है।

4.  कैंसर का इलाज Cancer treatment

गिलोय स्टेम कोशिकाओं के प्रसार को उत्तेजित करता है और शरीर में डब्ल्यूबीसी(WBC) की मात्रा को बढ़ाता है। इससे कोशिकाओं में एंटीबॉडी कोशिकाओं का उत्पादन ज्यादा होता है और कैंसर को रोकने में मदद मिलती है।

5. मन की चिंता को दूर करता है Reduce Stress

गिलोय के पौधे के तने में से जलीय, अल्कोहल, एसीटोन और पेट्रोलियम ईथर निकलता है जो मन को आराम प्रदान करता है और Pyrrolidine की मात्रा मन को शांत करता है।

6. डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभदायक Helps in Diabetes

गिलोय शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाता है जिससे शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मदद मिलती है इससे डायबिटीज के रोगियों को अच्छा लाभ मिलता है।

इसे भी पढ़ें -  चेहरे के लिए ग्लिसरीन का उपयोग कैसे करें? How to use glycerine for face in Hindi?

8.  अर्थराइटिस में मददगार Cure Arthritis

अर्थराइटिस के लगभग सभी प्रकार जैसे गाउट, अर्थराइटिस की बीमारी में जोड़ों में यूरेट डिपॉजिट हो जाता है जिसको दूर करने के लिए गिलोय बहुत मदद करता है।

9. यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को ठीक करता है Urinary tract infection

गिलोय लगभग सभी प्रकार के यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन जैसे यूरिकोसुरिया, केटोनुरिया, ग्लाइकोसुरिया, हेमूटीरिया, एल्ब्यून्यूरिया, डायसुरिया, क्रिस्टल्यूरिया, सिस्टिटिस, पेशाब करते समय जलन को दूर करता है।

गिलोय के साइड-इफेक्ट्स / नुक्सान Side-effects of Giloy plant in hindi

कई बार इसके ऊपर रिसर्च करके पाया गया है कि औषधि के रूप में इसका उपयोग सुरक्षित है परंतु दूसरी दवाइयों के जैसे ही इसके ज्यादा सेवन या सही तरीके से उपयोग ना करने पर इससे कई प्रकार के साइड इफेक्ट या नुकसान शरीर को हो सकते हैं। तो चलिए गिलोय के साइड-इफेक्ट्स के बारे में जानते हैं।

गर्भावस्था या स्तनपान के समय Pregnancy and Breast feeding

गर्भावस्था या स्तनपान के समय  बिना डॉक्टर की सलाह के दवाइयों का इस्तेमाल करना बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है। वैसे तो गर्भावस्था या स्तनपान के समय गिलोय के उपयोग के विषय में ज्यादा जानकारी प्राप्त नहीं किया गया है परन्तु इसका उपयोग न करना ही सही है।

ब्लड शुगर लेवल में कमी Reduce blood sugar level

जैसे की हमने आपको बताया था कि गिलोय, डायबिटीज के रोगियों का ब्लड शुगर कम करने में मदद करते हैं। वैसे मैं कभी-कभी ज्यादा गिलोय का सेवन करने से ब्लड शुगर कम हो जाता है जिससे चक्कर आना, उल्टी होना, जैसे साइड-इफेक्ट्स देखे जा सकते हैं। ऐसे समय में डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि इसे समय में अपने ब्लड लेवल को मेंटेन करना बहुत ही आवश्यक होता है।

कब्ज Constipation

कुछ जगह पर गिलोय के इस्तेमाल करने पर पेट में दर्द जलन और कब्ज की शिकायत देखा गया है। गिलोय के जूस और टैबलेट दोनों के उपयोग में इस प्रकार के साइड इफेक्ट देखे गए हैं इसलिए अगर आप को हाइपर एसिडिटी या अन्य कोई पेट से जुड़े प्रॉब्लम हैं अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही गिलोय का इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें -  पालक खाने के स्वास्थ्य लाभ Health benefits of Spinach in Hindi

ड्रग इंटरैक्शन Drug Interactions

कुछ दवाइयां जैसे एंटी डायबिटिक और  इम्यूनो- सप्रेजेंट के साथ गिलोय लेना सही नहीं माना जाता है। अगर आप पहले से ही कुछ प्रेसक्राइब्ड दवाइयां ले रहे हैं और आप गिलोय का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

अगर आपको गिलोय से जुडी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ज़रूर शेयर करें

1 thought on “गिलोय के स्वास्थ्य लाभ और नुक्सान Giloy health benefits and side effects in hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.