धूम्रपान के हानिकारक स्वास्थ्य प्रभाव Harmful Health Effects of Smoking in Hindi

Contents

धूम्रपान के हानिकारक स्वास्थ्य प्रभाव Harmful Health Effects of Smoking in Hindi

क्या आप धुम्रपान के नुक्सान जानना चाहते हैं?
क्या आप धुम्रपान से होने वाले रोगों के बारे में जानते हैं?

धूम्रपान के हानिकारक स्वास्थ्य प्रभाव Harmful Health Effects of Smoking in Hindi

धूम्रपान पर निबंध Essay on Smoking in Hindi

धुम्रपान या सिगरेट स्मोकिंग शरीर के लिए बहुत ही हानिकारक है। धुम्रपान शरीर के इतना खतरनाक है की यह शरीर के लगभग सभी अंगों को नुक्सान पहुंचाता है। इससे शरीर में कई प्रकार की बीमारियाँ होती हैं और स्मोकिंग करने वाले व्यक्ति का स्वास्थ्य धीरे-धीरे ख़राब होने लगता है।

प्रतिवर्ष विश्व के बड़े देशों में लाखों की तगाद में स्मोकिंग करने के कारण लोगों की मृत्यु हो रही है। अगर एक अनुमान लगाएं तो हर 5-6 व्यक्ति में एक व्यक्ति की मौत सिगरेट स्मोकिंग से हो रही है। कुछ ऐसी खतरनाक बीमारियाँ जैसे HIV Aids, दवाइयों का नशा, शराब की लत, और दुर्घटना के साथ धूम्रपान का नशा मिल जाने के कारण इसमें मृत्यु की गिनती बढ़ जाए रही है।

सिगरेट की जगह हुक्का, सिगार या किसी पाइप का इस्तेमाल करने से कोई फर्क नहीं आता है। यह सब इस्तेमाल करने पर भी शारीर को उतना ही हनी पहुंचता है जितना की सिगरेट से। कहा जाता है सिगरेट में लगभग 600 प्रकार के रसायनिक तत्व होते हैं जो लगभग जलने के बाद 7000 प्रकार के हानिकरटीवी में बदल जाता है। उसमे से 70 जहरीले रसायन कैंसर से जुड़े हुए हैं।

इसे भी पढ़ें -  पर्यावरण पर भाषण Environment Speech in Hindi

धूम्रपान के नुक्सान / रोग Smoking Harmful Effects on Body in Hindi

स्व-प्रतिरक्षित रोग Autoimmune Diseases

सभी मनुष्य के शरीर में रोगों और अन्य प्रकार के इन्फेक्शन से लड़ने की शक्ति होती है जिसे प्रतिरक्षा प्रणाली कहते हैं और इस प्रणाली से जुड़े रोगों को स्व-प्रतिरक्षित रोग कहते हैं। धुम्रपान करने वाले व्यक्ति का प्रतिरक्षा प्रणाली धीरे-धीरे कमज़ोर हो जाता है इसलिए Smokers को श्वसन तंत्र जे जुड़े संक्रमण (Respiratory Infection) जल्दी-जल्दी होते रहते हैं।

धुम्रपान अन्य कई प्रकार के स्व-प्रतिरक्षित बिमारियों जैसे क्रोहन रोग और आर्थराइटिस का कारण भी बन सकता है। ज्यादातर धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों में डायबिटीज टाइप 2 (IDDM) होने कारण भी स्मोकिंग को ही माना गया है।

हड्डियों में कमज़ोरी Weakness of Bones

शराब की लत की तरह ही धुम्रपान से भी ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है। इसमें हड्डियाँ कमज़ोर हो जाती है और कुछ भी हादसा होने पर हड्डियों के टूटने का खतरा बढ़ जाता है। ज्यादातर स्मोकिंग करने वाले बुजुर्ग महिलाओं और पुरुषों में इसका खतरा ज्यादा होता है।

कम उम्र में धुम्रपान करने वाली महिलाओं के शरीर का एस्ट्रोजन लेवल कम हो जाता है। जिसके कारन कम उम्र में ही मेनोपौस (Menopause) हो जाता है जो ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ा देता है।

ह्रदय और रक्त वाहिकाओं से रोग Heart and Blood Vessels linked Disease

धुम्रपान इतना खतरनाक होता है की यह रक्त कोशिकाओं को धीरे-धीरे नष्ट कर देता और ह्रदय को पूरी तरीके से कमज़ोर कर देता है। ह्रदय और रक्त वाहिकाओं से जुड़े कई प्रकार के 70 जहरीले रसायन कैंसर

हृदय रोग Cardiovascular disease (CVD)
  • कोरोनरी ह्रदय रोग Coronary heart disease (CHD) – इसमें धमनियां पतली और बंद हो जाती है।
  • दिल का दौरा पड़ना Heart attack
  • एनजाइना Angina – ह्रदय तक सही प्रकार से रक्त न पहुँच पाने के कारण छाती में बहुत तेज़ दर्द होना।
  • हाइपरटेंशन Hypertension (High Blood Pressure)
अथेरोस्क्लेरोसिस Atherosclerosis

इस रोग में Plaque नामक चीज़ रक्त धमनियों में जमा हो जाता है।

स्ट्रोक Stroke

दिमाग में रक्त जमा होने या ब्लीडिंग होने के कारण दिमाग के कोशिकाएं नष्ट हो जाते हैं जिसके कारण स्ट्रोक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें -  विश्व तंबाकू निषेध दिवस World No Tobacco Day Essay in Hindi

फेफड़ों और श्वास से जुड़े रोग Lungs and Breathing Disease

वैसे तो धुम्रपान से पुरे शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं पर सबसे ज्यादा इसका बुरा प्रभाव फेफड़ों पर पड़ता है क्योंकि सबसे पहले सिगरेट या हुक्का से निकलने वाला धुआं फेफड़ों में ही घुसता है। चलिए जानते हैं कुछ धुम्रपान से होने वाले रोगों के बारे में –

एम्फ्य्सेमा Emphysema

यह एक ऐसा रोग है जिसमें फुसफुस के वायु कोषों(Air Sacs) की दिवार कमज़ोर हो जाती है जिसके कारण उसके खिंचाव और वापस हटना संभव नहीं हो पाटा है। ऐसे में साँस लेने में दिक्कत होती है।

क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीस Chronic obstructive pulmonary disease (COPD)

इसमें घरघराहट, सांस की कमी, सीने में जकड़न जैसे लक्षण दीखते हैं।

निमोनिया

इस बीमारी में इन्फेक्शन होने के कारण फेफड़ों में पानी भर जाता है।

अस्थमा, ट्यूबरक्लोसिस

आँखों में मोतियाबिंद Cataract in Eyes

जैसे की हम पहले ही बता चुके हैं की धुम्रपान पुरे शरीर के लिए ख़राब है। आँखों के लिए भी धुम्रपान बहुत ही खतरनाक है। बहुत सारे रिपोर्ट्स में पाया गया है की ज्यादातर मोतियाबिंद के रोगीयों को स्मोकर्स पाया गया है।

एक और आँखों से जुदा रोग जैसे Age related macular degeneration (ARMD) जिसमें आँखों के रेटिना के मध्य भाग में इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। आँखों की देखने की शक्ति कम हो जाती और धुंधलापन सा दीखता है।

कैंसर Cancer

तम्बाकू से धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों को कई अंगों के कैंसर होने का खतरा बना रहता है जैसे –

  • फेफड़े
  • ट्रेकिआ
  • श्वसनी
  • घेघा
  • मुंह
  • ओंठ
  • नाक का छेद
  • गला
  • पेट
  • मूत्राशय
  • अग्न्याशय
  • गुर्दा
  • जिगर
  • गर्भाशय ग्रीवा
  • कोलोन
  • मलाशय

धूम्रपान छोड़ने के स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Stopping Smoking

  1. साँस लेने में आसानी मिलेगी क्योंकि धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों को साँस लेने में दिक्कत होती है इससे आराम मिलेगा।
  2. धुम्रपान रोकने से आपके शरीर को शक्ति और Age related macular degeneration (ARMD)
  3. मन से चिंता दूर होगी।
  4. बेहतर तरीके से सेक्स का आनंद उठा सकेंगे।
  5. महिलाओं के प्रजनन शक्ति में सुधार आता है।
  6. हमेशा गर्म धुएं को पीने के कारण स्मोकर्स के सूंघने और स्वाद की ताकत में कमी आ जाती है पर धुम्रपान छोड़ने से वे खाने के असली स्वाद को दोबारा जान सकते हैं।
  7. ज्यादा धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों की त्वचा रुखी और काली पड़ जाती है जिसको स्मोकिंग छोड़ने के बाद दोबारा सुन्दर बना सकते हैं।
  8. मरने से बच सकते हैं।
इसे भी पढ़ें -  बीमा क्या है? इसके प्रकार और फायदे What is Insurance Hindi?

धुम्रपान छोड़ने के 10 उपाय Best Ideas for Quitting Smoking

धुम्रपान भी अन्य नशीली चीजों के जैसे ही एक नशा है। पर अगर आप दृढ निश्चय बना लें की आप स्मोकिंग से हमेशा के लिए दूर होना चाहते हो तो आप आसानी से कुछ काम करके इसे हमेशा के लिए अपने जीवन से दूर कर सकते हो।

धुम्रपान छोड़ने के 1o ज़बरदस्त तरीकों को अच्छे से पढ़ें और अपने जीवन में अपनाएं –

  1. सबसे पहले अपने एक डायरी / चार्ट में उन चीजों का एक लिस्ट बनायें जो आपको धुम्रपान छोड़ने का एक रास्ता / प्रेरणा देते हैं।
  2. धुम्रपान आप एक दिन में तो अचानक नहीं छोड़ सकते हैं इसलिए पहले महीने के हर हफ्ते में से दो ऐसे दिन निकालें जब आप स्मोकिंग बिलकुल नहीं करेंगे। उस दिन चाहें कुछ भी हो जाएँ बिलकुल भी स्मोकिंग ना करें।
  3. जब भी आप किसी सिगरेट की दुकान पर जाएँ पूरा पैकेट ना खरीद कर बस एक-दो खुला सिगरेट ही खरीदें।
  4. जब भी आपको सिगरेट पीने का ज्यादा मन करे कहीं घुमने जाएँ या किसी अन्य काम में अपना मन लगायें जो आपका मन स्मोकिंग से दूर रखे।
  5. ऐसे किसी भी प्रकार की वस्तु को अपने कमरे में ना रखें जो बार-बार आपको स्मोकिंग की याद दिलाये।
  6. आप जितना भी पैसा सिगरेट ना पिए बचाते हो उसको एक डब्बे या जार में रख कर जमा करें। इससे आपको एक अनुमान और प्रेरणा मिलेगी की आप अपने मेहनत से कमाए हुए पैसों का क्या कर रहे हैं।
  7. कैफीन युक्त चीज़ें जैसे चाय, चॉकलेट, आइस क्रीम, कॉफ़ी का सेवन ना करें।
  8. अपने सुबह के नाश्ते में साफ़ स्वस्थ भोजन करें।
  9. अपने घर, गाडी और ऑफिस में No Smoking लिखे या इसके Sticker चिपकाएँ।
  10. अपने घर के लोगों और दोस्तों से बात करें की स्मोकिंग छोड़ने से आपको कैसा एहसास हो रहा है।

आशा करते हैं आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा और इससे कुछ मूल्यवान जानकारी मिली होगी। इस पोस्ट को जितना हो स अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करें।

3 thoughts on “धूम्रपान के हानिकारक स्वास्थ्य प्रभाव Harmful Health Effects of Smoking in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.