मुल्तानी मिटटी के 15 ज़बरदस्त स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Multani Mitti in Hindi

आईये जानते हैं मुल्तानी मिटटी के 15 ज़बरदस्त स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Multani Mitti in Hindi क्या-क्या हैं।

दोस्तों, जब बात खूबसूरत त्वचा पाने की हो तो ‘मुल्तानी मिट्टी’ से बेहतर कोई घरेलू उपचार नहीं हो सकता। हममें से लगभग सभी ने इसका उपयोग किया होगा, बल्कि ब्यूटी पार्लर में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। यहां तक कि कई स्किन केयर उत्पाद में भी यह शामिल होती है। आपको जानकर हैरानी होगी, कि मुल्तानी मिट्टी के फायदे न सिर्फ त्वचा के लिए, बल्कि बालों और स्वास्थ्य के लिए भी हैं।

Contents

मुल्तानी मिटटी क्या है? What is Multani Mitti or fuller’s earth in Hindi?

इससे पहले कि हम मुल्तानी मिट्टी के फायदे के बारे में बात करें, हमारे लिये जरूरी है, कि हम मुल्तानी मिट्टी को जाने। मुल्तानी मिट्टी को इंग्लिश में फुलर्स अर्थ (fuller’s earth) कहते हैं। 

मुल्तानी मिट्टी मुख्य रूप से हाइड्रेटेड एल्यूमीनियम सिलिकेट्स का रूप हैं, जिसमें मैग्नीशियम, सोडियम और कैल्शियम जैसे धातु के अणु पाए जाते हैं। इस मिट्टी में मोंटमोरिल्लोनाइट (Montmorillonite) के अलावा एटापुलगाइट (attapulgite) और पैलगोरोसाइट (palygorskite) जैसे अनेक तत्व भी शामिल होते हैं। 

मुल्तानी मिटटी के फायदे और नुक्सान Multani Mitti Benefits and Side-effects in Hindi

मुल्तानी मिटटी के फायदे Benefits of Fuller’s earth powder

दोस्तों आज हम आपके सामने मुल्तानी मिटटी के ऐसे 15 फायदे लेकर आये है, जिसको अपना कर आप भी स्वस्थ त्वचा प्राप्त कर सकते है, तो दोस्तों शुरूआत करते है, एक एक करके उन फ़ायदों को जानने की-  

1. एंटीसेप्टिक के रूप में Antiseptic properties

एंटीसेप्टिक के रूप में उपयोग करने के लिए आज हम कई प्रकार की मिट्टी, पत्ती और दूसरे प्रकार के प्राकृतिक उत्पादों का उपयोग कर है। शायद हम यह नही जानते कि मुल्तानी मिट्टी भी अन्य एंटीसेप्टिक उत्पादों जैसे ही कारगर साबित होती है। यदि आपको किसी प्रकार का घाव है, तो आप अन्य एंटीसेप्टिक उत्पादों जैसे इस को भी घाव पर लगा सकते है। (source)

2. बॉडी वाश (शरीर की सफाई) के रूप में An amazing body wash

हम अपना अधिकतर पैसा बॉडी वाश पर खर्च करते है, लेकिन हम अपने शरीर की मुल्तानी मिट्टी से बॉडी वाश करके अपने पैसे को बचा सकते है। साथ ही साथ इनकी अपेक्षा लंबे समय तक स्वस्थ और ताजे रह सकते है। यह हमें त्वचा रोग से भी बचाता है। पहले के समय मे लोग इसको अपने शरीर पर लगाकर इसका उपयोग करते थे, और दिन भर ताज़गी महसूस करते थे।

इसे भी पढ़ें -  कीवी फल खाने के फायदे और नुकसान Health benefits of Kiwi fruit in Hindi

3. झुर्रियों को दूर करता है Good for wrinkles

दोस्तों जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे हमारी त्वचा में झुर्रियां होने लगते है, इसमे हमारी त्वचा ढीली पड़ने के साथ लटक जाती है, और यह हमें अनाकर्षित बनाती है। लेकिन मुल्तानी मिट्टी ढीली त्वचा को ठीक करके फिर से हमे आकर्षित बना देती है। इसको अंडे एवं एक चम्मच दही के साथ पेस्ट बनाकर करीब एक घंटे तक त्वचा पर लगाने से त्वचा का ढीलापन कम होता है। (source)

4. बालों में उपयोग Give healthy looks to hairs

मुल्तानी मिट्टी में मिनरल होने के कारण, इसको प्राचीन काल से ही उपयोग में लाया जा रहा है। शैम्पू जैसे, सिल्की बाल को पाने में भी मुल्तानी मिट्टी का जवाब नही, यह एक प्राकृतिक उपाय है, जिसका हम उपयोग कर सकते है।

मुल्तानी मिट्टी को 2 घंटे भिगोकर लगाने से न केवल बाल सिल्की होते है बल्कि सिर में भी हल्कापन रहता है। इसका उपयोग डेंड्रफ से छुटकारा पाने में, बालो को झड़ने से रोकने में भी किया जाता है। बालो को कंडीशनर करने एवं डेमेज को रिपेयर करने में भी मदद करता है। (source)

5. स्क्रब के रूप में A Natural Scrub

मुल्तानी मिट्टी को प्रभावी रूप से स्क्रब के रूप में भी उपयोग में लाया जा सकता है। यह प्रकृति में पाया जाने वाला सब से सस्ता एवं सबसे उपयोगी होता है। यह चेहरे की मृत त्वचा को हटा कर एक नई त्वचा प्रदान करने में मदद करता है, साथ-साथ चेहरे की कोशिकाओं को नया जीवन प्रदान करता है।

पिसे बादाम या संतरे के छिलके को पीसकर मुल्तानी मिट्टी के साथ पेस्ट बना कर और इससे दो से तीन मिनट चेहरे की मसाज करने से यह परफेक्ट स्क्रब का काम करता है।

6. तैलीय त्वचा में फ़ायदेमंद Remove oil form face

यदि आपकी त्वचा भी तैलीय है, तो आपके चेहरे के लिए मुल्तानी मिट्टी का पेस्ट सबसे फ़ायदेमंद रहेगा। सुबह या शाम जब भी समय मिले, इसे तकरीबन पांच मिनट के लिए चेहरे पर लगा लें। इससे त्वचा का तैलीयपन खत्म हो जाएगा। त्वचा में तेल होने से त्वचा के रोमछिद्र बंद हो जाते है, जो कील-मुंहासे व दाने होने की खास वजह बनते हैं। यही नहीं, 

इसे भी पढ़ें -  घरेलु उपाय : बाल झड़ना कैसे रोकें? Best Home Remedies for Hair Fall Treatment in Hindi

यह पेस्ट चेहरे के ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स को तो  साफ कर ही देता है, साथ ही त्वचा को भी हेल्दी बनाता है। मृत कोशिका को खत्म कर यह त्वचा को गहराई से साफ करता है, इसलिए यह कहना गलत न होगा कि त्वचा की नियमित देखभाल के लिए मुल्तानी मिट्टी का उपयोग बेहतर है। ये ना केवल तेल को नियंत्रित करती है बल्कि त्वचा के लिए आवश्यक तत्वों की पूर्ति करती है। (source)

7. क्लींजर के रूप में Good cleanser

मुल्तानी मिट्टी में जो मैग्नीशियम क्लोराइड पाया जाता है, वो चेहरे पर क्लींजर के रूप में काम करता है। क्योकि यह त्वचा से धुल, मिट्टी आदि के कण को निकाल देता है।

यदि हम इसका रोज़ाना सही तरीके से इस्तेमाल करते है, तो चेहरा तो साफ रहता ही है, साथ साथ चेहरे पर मुंहासे, पिंपल्स, झाइयां जैसी समस्या भी पनप नहीं पाती हैं। यही नहीं, अगर आप इसे गाजर के जूस के साथ मिलाकर लगाते हैं, तो आप चेहरे के दाग-धब्बों से भी निजात पा सकते हैं।

8. त्वचा की बनावट में Give glow to face

त्वचा की बनावट को सही रखने में भी मुल्तानी मिट्टी बेहद काम आती है। यदि आपकी त्वचा पर सफेद दाग धब्बे, हो तो मुल्तानी मिट्टी का उपयोग किया जा सकता है। जिन लोगों को ड्राई स्किन (शुष्क त्वचा) की समस्या रहती है, वह भी मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन सर्दियों के दिनों में उन्हें इसके उपयोग से बचना चाहिए, वरना चेहरे पर रूखापन आ सकता है। 

9. कोमल होंठो के लिए Make lips soft

लगातार मुल्तानी मिट्टी का होंठो पर उपयोग करके मोहक होठो को प्राप्त किया जा सकता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करके लाल एवं कोमल होंठो को प्रदान करता है। कभी भी इसको अकेला नही लगाना चाहिये। बेहतर परिणाम के लिए इसमे शहद, गुलाब जल, और दूध आदि को मिला लेना चाहिए।

10. पेट की गैस कम करने में Balance pita levels in body

पेट की गैस कम करने में भी मुल्तानी मिट्टी का उपयोग किया जा सकता है, यदि इसको पैरो के तलवे में लगाया जाए तो पित्त दोष को कम किया जा सकता है, जो पेट की गैस का मुख्य कारण है। यह एसिड रिफ्लक्स की वजह से हुई सूजन को भी कम कर देती है और उसको सामान्य बनाये रखती है।

11. त्वचा में चमक के लिए Gives glowing skin

मुल्तानी मिट्टी त्वचा को साफ कर मिनटों में चमक देती है। दरअसल, इसमें मैग्नीशियम क्लोराइड होता है, जो त्वचा पर आने वाली समस्या से आपको निजात दिलाता है, और लम्बे समय तक आपकी त्वचा की चमक को बनाये रखता है।  

इसे भी पढ़ें -  चेहरे के लिए बेहतरीन सौंदर्य टिप्स Beauty Tips for Face in hindi

12. त्वचा के कालेपन में Reduce skin blackness

यदि चेहरे के कालेपन से आप भी परेशान है, आपका चेहरा धूप में काला पड़ जाता है, तो आपको भी मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल करना चाहिए। यह चेहरे की रंगत को निखार देती है। लंबे समय के फायदे के लिए कम से कम 10 से 15 दिनों तक उसका उपयोग करें। 

13. मुंहासे से छुटकारा Remove Acne from face

मुल्तानी मिट्टी में पाए जाने वाले तत्व चेहरे से मुंहासे हटाने में आपकी मदद करते हैं। यही वजह है कि मुंहासों की समस्या या तैलीय त्वचा पर इसका इस्तेमाल बहुत फ़ायदेमंद माना जाता है। 

14. प्राकृतिक निखार पाने में Natural fairness

मुल्तानी मिट्टी से प्राकृतिक निखार भी पाया जा सकता है। गुलाब जल और मुल्तानी मिट्टी को मिलाकर अपने चेहरे पर फेस पैक की तरह लगाने से आपकी त्वचा में प्राकृतिक निखार आएगा। मुल्तानी मिट्टी, चंदन और कुछ बूंदे दूध मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट बाद अपने चेहरे को धो लें। 

15. खून का प्रसार बढ़ाने में Better blood circulation

खून का प्रसार बढ़ाने में भी इसका उपयोग किया जाता है। मुल्तानी मिट्टी को भिगोकर शरीर पर लगाकर एवं 10 से 15 मिनट तक लगा रहने दे, उसके बाद उसे धो दे आप देखेंगे कि आपकी त्वचा में ग्लो आ रहा है। इसका सीधा सा कारण रक्त प्रसार का है, क्योंकि इसके उपयोग से रोमछिद्र खुल जाते है है, और पर्याप्त मात्रा में त्वचा को ऑक्सीजन मिलती है, जिसके कारण रक्त का प्रसार ठीक होने से शरीर मे चमक आने लगती है। (source)

कैसे करें मुल्तानी मिटटी का इस्तेमाल? How to use Multani Mitti?

मुल्तानी मिट्टी को सीधे चेहरे पर पेस्ट के रूप में लगाया जा सकता है। इसे लगाने से त्वचा में किसी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं होता। आप घर पर ही मुल्तानी मिट्टी में दही, क्रीम, नींबू का रस और गुलाब जल को बराबर मात्रा में मिक्स कर लें। इसे फेस पर लगाएं, आपकी स्किन को कई तरह से फायदा होगा।

मुल्तानी मिट्टी के नुकसान Side-effect of Fuller’s earth powder

दोस्तों जैसा की आप जानते है अति सभी की बुरी होती है, ऐसा ही मुल्तानी मिटटी के साथ है, यदि हम इसका उपयोग हद से ज्यादा या गलत करते है, तो ये हमे नुकसान पंहुचा सकती है      

  • हद से ज्यादा उपयोग से त्वचा में पानी की कमी यानि डिहाइड्रेशन हो सकता है। 
  • यदि आपको मुल्तानी मिट्टी खाने की आदत है, तो ये आपके लिए बेहद घातक साबित हो सकता है। क्योंकि नियमित रुप से मुल्तानी मिट्टी खाने से गुर्दे की पथरी या आंतों में जलन की बीमारी हो सकती है। (source)

तो दोस्तों ये थे वो 15 फायदे जिनको आप भी उपयोग में ला सकते है, एवं प्राकृतिक उपचार करके आने चेहरे की रंगत को कायम रख सकते है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.