सेंधा नमक के 15 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ Amazing benefits of Rocksalt in Hindi

Contents

जानें सेंधा नमक या काला नमक के स्वास्थ्य फायदे (Amazing benefits of Rocksalt) क्या हैं?

दोस्तों आज हम बात करेंगे अपने घर की रसोई में पाए जाने वाले ऐसे पदार्थ की जो लगभग सभी लोगो की रसोई में आसानी से पाया जाता है, और वो है सेंधा नमक, जी हाँ दोस्तों हम बात कर रहे है, एक साधारण से दिखने वाले काला नमक के गुणों की, कि कैसे इसका उपयोग करके हम कई लाभ प्राप्त कर सकते है। इसके एक और नाम हिमालयन रॉक साल्ट भी है।

वैसे नमक को अगर स्वास्थ्य के नज़रिये से देखा जाए तो इसे सेहत का दुश्मन माना जाता है। क्योंकि हम सभी लोग जानते है, अधिक नमक के सेवन से यह शरीर पर गलत प्रभाव डालता है। इसलिए सभी डॉक्टर नमक का अधिक सेवन न करने की हिदायत देते है। परन्तु बहुत ही कम लोगो को यह पता है, कि एक ऐसा नमक भी है जो आपको कई गंभीर बीमारियों से बचा सकता है।

आयुर्वेद में सेंधा नमक को उसके गुणों के लिए सर्वोत्तम माना गया है। सेंधा नमक का निर्माण पृथ्वी की गहराइयों में दब कर होता है, जिसके कारण यह लाखों साल पुराना समुद्री नमक होता है। लेकिन कम ही लोग इसके फायदे के बारे में जानते है। पुराने समय में इसे लाहौर से पूरे भारत में बेचा जाने के कारण इस नमक को लाहौरी नमक भी कहते है। सेंधा नमक दो रंगों में पाया जाता है, लाल रंग और सफेद रंग।

सेंधा नमक के 15 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ Amazing benefits of Rocksalt in Hindi (Himalayan Salt)

आज हम आपको सेंधा नमक के 15 फ़ायदों के बारे में जानकारी देने जा रहे है, तो उन फायदों को एक एक करके जानते है और साथ ही हमें इसे उपयोग करने के कुछ तरीकों के विषय में भी बताया है –

इसे भी पढ़ें -  लेमन ग्रास के फायदे और नुकसान Lemon Grass Benefits and Side Effects in Hindi

1. व्रत में उपयोगी Good in fasting

नवरात्रि व्रत के दौरान सेंधा नमक ही खाने-पीने में डाला जाता है, क्योंकि यह सबसे शुद्ध होता है, और इसमें किसी भी तरह के केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। (source)

अधिकतर व्रत में हल्की-फुल्की चीजें खाने की ही, सलाह दी जाती है, जिससे पाचन क्रिया दुरुस्त बनी रहे, और ऐसे में बाकी के नमक की तुलना में सेंधा नमक शरीर को ठंडा रखने में बहुत मददगार साबित होता है, क्योंकि इसमें सोडियम की मात्रा कम और पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होती है।

2. वजन कम करने में Helps to lose weight

यदि आप वजन कम करने की सोच रहे है, तो आपको साधारण नमक की जगह सेंधा नमक का सेवन करना चाहिए। सेंधा नमक के सही प्रयोग से शरीर के मोटापे को दूर किया जा सकता है। सेंधा नमक के गुण के कारण ही यह शरीर को न केवल डिटॉक्स करता है, बल्कि आपके बढ़े हुए वजन को आसानी से कम भी करता है।

प्रकृति में पत्थर के रूप में पाए जाने के कारण इसमें कुदरती तौर पर कई खनिज तत्व मौजूद होते हैं। यह मेटाबॉलिक रेट बढ़ाने में मदद करता है, जिसके कारण से वजन कंट्रोल में रहता है और शरीर में जमा बसा धीरे-धीरे कम होता है। (source)

3. रक्तचाप को स्थिर करने में Maintains body circulation

सेंधा नमक निम्न और उच्च रक्तचाप में संतुलन बनाकर रक्तचाप को स्थिर करता है। जिनको उच्च रक्तचाप की शिकायत रहती है, उनको साधारण नमक की जगह इसका उपयोग करना चाहिए, क्योंकि इसमें पोटैशियम अधिक मात्रा में पाया जाता है।

शरीर के pH मान को संतुलित करके यह शरीर में उपस्थित टोक्सिन को समाप्त करता है। यह कोलेस्ट्रॉल कम करने में सहायक है, जिससे दिल के दौरे की संभावना को भी कम किया जा सकता है। इसके अलावा हाई ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने में भी सेंधा नमक फ़ायदेमंद होता है।

4. कब्ज का उपचार Natural treatment for constipation

हम लोग कब्ज के उपचार के लिए कई प्रकार की दवाइयों का सेवन करते है, जिससे पूर्ण रूप से आराम नही मिलता, लेकिन कब्ज से निजात पाने के लिए सेंधा नमक का उपयोग किया जाता जा सकता है, क्योंकि कब्ज के उपचार में मैग्नीशियम का एक अहम रोल होता है, यह बाउल मूवमेंट को ठीक करने में सहायक है। कब्ज से आराम पाने के  लिए तकरीबन 10 से 30 ग्राम सेंधा नमक को 250 मिली पानी में घोल कर पीने से आपको कुछ ही देर में असर दिखाई देगा। (source)

5. पाचन क्रिया में मददगार Improve digestion

सेंधा नमक आयुर्वेद के अनुसार सर्वश्रेष्ठ नमक होता है, यह प्राकृतिक रूप से पेट दर्द में आराम पहुँचाता है, और पाचन क्रिया को भी सुधारता है। पेट के संक्रमण को भी ठीक करता है। यह भूख को बढाता है, और पेट मे बनने वाली गैस को खत्म करता है।

इसे भी पढ़ें -  गुड़ खाने के फायदे और नुकसान Health benefits of Jaggery or Gur in Hindi

यदि आप हर सुबह एक गिलास गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर पीते हैं, तो यह आपके मेटाबॉलिक दर को बेहतर बनाने के साथ ही आपके पाचन तंत्र को भी ठीक करता है। क्योंकि सेंधा नमक वाला पानी पीने से यह मुंह में लार वाली ग्रंथी को सक्रिय करने में मदद करता है, जिससे खाने के पचने की प्रक्रिया बेहतर हो जाती है। (source)

6. अन्य बीमारियों के उपचार में सहायक Helps in some other diseases

सेंधा नमक का उपयोग कई बीमारियों जैसे गठिया के दर्द और दाद, सूजन और कीड़े के काटने से जलन को ठीक करने के लिए किया जाता है। सेंधा नमक से सि‍काई करने से दर्द में राहत भी मिलती है। पेट मे उत्पन्न कीड़ों को खत्म करने में भी सेंधा नमक का उपयोग किया जाता है। इन्फ्लूएंजा में आराम में भी इसका उपयोग होता है।

7. मसूड़ों से खून का रिसाब रोकने में Help in stopping gum bleeding

मसूड़ों से खून का रिसाव बहुत ही दर्दनाक होता है, जिसके कारण रोगी को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

एक चम्मच त्रिफलाचूर्ण एवं नीम चूर्ण को सेंधा नमक के साथ मिलाकर मसूड़ों की हल्के हाथों से मालिश करने से खून का रिसाव बंद होता है, और आराम मिलता हैं। यह दाँतों को साफ करने के साथ साथ माउथ फ्रेशनर के रूप मे भी कार्य करता है। (source)

8. श्वसन रोग से पीड़ित के लिए Relief in Respiratory disease

जो लोग श्वसन रोग से पीड़ित है, उन लोगो के लिए भी यह काफी लाभदायक सिद्ध होता है। सेंधा नमक से ग़रारे करने से गले मे उत्पन्न दर्द, गले की सूजन, सुखी ख़ासी, और टॉन्सिल में राहत मिलती है, तथा इससे मौजूद मिनरल्स गले की खराश को दूर करके बैक्टीरिया को खत्म करते हैं। अस्थमा रोगियों के लिए सेंधा नमक को पानी मे मिलाकर भाप लेने से रोगियों को काफी हद तक फायदा होता हैं। (source)

9. हड्डी ओर टिससु को शक्ति प्रदान करने में Makes muscles and bones strong

सेंधा नमक शरीर के साथ साथ हड्डियों के लिए भी काफी फ़ायदेमंद साबित होता है । इस नमक में पाए जाने वाले लिथियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, क्रोमियम, मैंगनीज,आयरन, जस्ता, स्ट्रोंटियम व कैल्शियम हमारे शरीर के साथ साथ हड्डियों को भी मज़बूती प्रदान करते है । इसके उपयोग से हमारी हड्डियों में कमज़ोरी व हड्डी कैंसर की समस्या नही आती है।

10. पथरी की समस्या में सहायक  Removes Kidney stone

पथरी यानी स्टोन हो जाने पर सेंधा नमक और नींबू को पानी में मिलाकर पीने की सलाह दी जाती है। कहा जाता है इससे सेवन से कुछ ही दिनों में पथरी गलने लगती है। लेकिन इस उपचार से पहले किसी डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले लेनी चाहिए।

11. शरीर मसाज के रूप में Body Massager

सेंधा नमक में शहद या नीबू मिलाकर स्क्रब के रूप में उपयोग करके, शरीर की मसाज़ की जा सकती हैं। ऐसा करने से शरीर की मसाज के साथ साथ त्वचा में ग्लो भी आता है। यह मृत कोशिकाओं को हटा कर नयी कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है और प्राकृतिक त्वचा की परत की देखभाल करता है, जिसकी कारण त्वचा में चमक आती है।

इसे भी पढ़ें -  बालों के लिए चावल के पानी के फायदे और नुकसान Rice water for hair in Hindi

12. स्वस्थ बालों के लिए For healthy hairs

बालों से गंदगी निकालने में भी सेंधा नमक काम करता है। अपने रोज़मर्रा में उपयोग होने वाले शेम्पू में सेंधा नमक मिलाकर धोने से लाभ मिलता है। इसमें पर्याप्त मिनरल होने के कारण यह बालों के लिए आवश्यक मिनरल एवं पोषक तत्वों को बालों को प्रदान करता है। इसके नियमित उपयोग से यह बालों को चमकदार और रेशमी बनाता है।

13. चयापचय क्रिया में सहायक Helps in better metabolism

चयापचय हमारे शरीर मे होने वाले रासायनिक क्रिया को दर्शाता है, जो हमारे शरीर की कोशिकाओं को बनाये रखने में मददगार साबित होता है। यह शरीर की कार्य-विधि को सुधारता है।

इसमे लगभग 92 में से 84 प्रकार के तत्व मौजूद होते है, जो हमारे शरीर के लिए उपयोगी होते है, जैसे पोटैशियम, आयरन, कैल्शियम, जिंक, मैग्नेशियम आदि। जिसके सेवन से शरीर में होने वाली चयापचय की क्रिया बड़ी ही आसानी से घटित हो जाती है। 

 14. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने में Increases immunity

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सेंधा नमक का जवाब नही, क्योंकि इसमें वो सारे आवश्यक तत्व पाए जाते है जो, शरीर मे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होते है, और यह हानिकारक बैक्टेरिया से बचाव करता है।

समुद्र के पानी के वाष्पीकरण द्वारा बने होने के कारण इसमें और नमक की तरह ज्यादा सोडियम क्लोराइड नही पाया जाता। यह शरीर के पीएच मान को संतुलित रखता है। यह पित्त में बैलेंस बनाकर रखता है। (source)

15. तनाव को कम करने में Reduce stress

यदि आप भी परेशान है तनाव से तो 1 चम्मच सेंधा नमक को पानी मे मिलाकर स्नान करने से तनाव कम होता है, और आराम मिलता है। इसको स्पा के रूप में भी उपयोग में लाया जा सकता है। सेंधा नमक सेरोटोनिन और मेलाटोनिन हारमोन का स्तर शरीर में बनाए रखता है, स्ट्रेस लेवल को कम करने के लिए जरूरी हैं।

तो दोस्तों यह थे, सेंधा नमक के वो 15 फायदे जिसको उपयोग में लाकर आप भी फायदा उठा सकते है। यह सभी नमक के प्रकारों में सबसे अच्छा माना जाता है। आयुर्वेद में इसे दैनिक उपयोग में लाने की सलाह दी जाती है। यह आम नमक से अपने गुणों, उपयोग और स्वास्थ्य लाभ के कारण काफी अलग है।

सेंधा नमक का और अधिक लाभ पाने के लिए। इसको ताम्बे के बर्तन में रखना चाहिए, जब तक यह लाल रंग का न हो जाये।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.