आगरा के लाल किला का इतिहास History of Red Fort Agra in Hindi

इस लेख में आप लाल किला आगरा का इतिहास History of Red Fort Agra in Hindi पढ़ेंगे। इसमें हमने इस किले की विशेषता, इतिहास (किसने बनाया था?), वास्तुकला, कैसे पहुंचे?, टिकट से जुड़ी जानकारियाँ दी है।

क्या आप सुंदर आगरा फोर्ट के विषय में जानते हैं?
आप आगरा के किला की वास्तुकला व निर्माण के विषय में जानना चाहते हैं?

आगरा का लाल किला (Red Agra Fort) भारत के उत्तरप्रदेश के आगरा शहर में स्थित है। यह एक  यूनेस्को  द्वारा घोषित  विश्व धरोहर स्थल है। 

यह उनकी विश्व के आठ अजूबों में से प्रसिद्ध स्मारक ताजमहल से करीब 2.5 कि.मी. उत्तर-पश्चिम में स्थित है। किले को एक दीवार वाले विशाल राजसी शहर के रूप में भी वर्णित किया गया है।

आगरा के लाल किला की विशेषता Features of the Red Fort Agra in Hindi

वास्तु कला, स्थापत्य एवं संस्कृति की दृष्टि से भारत एक बेहद समृद्ध देश रहा है। यहां सुंदरता को परिभाषित करने वाले विभिन्न ऐतिहासिक साक्ष्य मौजूद है, जो इतिहास में आए तमाम उतार-चढ़ाव को स्वयं में समेटे हुए हैं। 

हिंदुस्तान में मुगलों के अधिपत्य के पश्चात हिंदू और इस्लाम को मिलाकर एक मिश्रित स्थापत्य कला देखने को मिलता है। आगरा का लाल किला स्थापत्य कला का एक ऐसा ही खूबसूरत नमूना है, जो दुनिया भर के लिए एक आकर्षण का केंद्र है।

अक्सर लोग आगरा के लाल किले को भ्रमित होकर दिल्ली के लाल किले से तुलना कर बैठते हैं, लेकिन मुगलों द्वारा स्थापित लाल किले को वास्तव में मुगल लाल हवेली कहकर बुलाते थे। आगरा का लाल किला मुगल स्थापत्य की बेहतरीन कलाओं में से एक आदर्श है। 

यदि इतिहास को देखते हुए भारत को मेहलों अथवा किलों का देश कहा दिया है, तो इसमें कोई दो राय नहीं होगी। कहा जाता है कि भारत पर आक्रमण करने के पश्चात मुगलों ने आगरा के लाल किले को अपना आवास बनाया था। 

कुछ साक्ष्यों के अनुसार यह कहा जाता है कि बाबर से लेकर उनके वंशज औरंगजेब तक सभी मुगल सम्राट यहां पर निवास कर चुके हैं।

वर्ष 2004 में आगा खां वास्तु पुरस्कार से आगरा के लाल किले को सम्मानित किया जा चुका है। इसके अलावा इसी वर्ष में भारतीय डाक विभाग द्वारा इस यादगार स्थापत्य को याद करते हुए एक अनोखा डाक टिकट भी निकाला गया था। 

दुनिया के सात अजूबों में से एक प्रेम की निशानी ताजमहल से आगरा के लाल किले की दूरी उत्तर पश्चिम में लगभग 2.5 किलोमीटर  है। कई इतिहासकार आगरा के लाल किले को चारदीवारी से घिरी प्रसाद महल नगरी भी कहते हैं।

और पढ़ें -  राजा राममोहन राय की जीवनी Raja Ram Mohan Roy in Hindi

आगरा के लाल किला का इतिहास History of Red Fort Agra in Hindi

आगरा का लाल किला किसने बनवाया था? यह न पूछ कर इसे किन-किन लोगों ने यहाँ वास किया और इसका मरम्मत करवाया था यह पूछा जाए तो ज्यादा सही होगा।

भारत में जब मुगलों का अधिपत्य नहीं हुआ था, तब भी यहां कला और स्थापत्य के अचंभित कर देने वाले धरोहर मौजूद थे। कुछ इतिहासकारों का मानना है की आगरा का लाल किला मुगलों के आने से पहले ही स्थापित किया गया था। 

सबसे पहले सिकरवार वंश के राजाओं द्वारा ईंटों का भव्य किला तैयार किया गया था, जिसका उल्लेख इसवी सन 1080 में महमूद गजनवी के द्वारा इस महल पर कब्जा करने के पश्चात मिलता है।

दिल्ली सल्तनत पर शासन करने वाला सबसे पहला सुल्तान सिकंदर लोदी था, जिसने आगरा में लाल किले की मरम्मत ईसवी सन् 1504 में करवाई थी। 

जिसके बाद सिकंदर लोदी ने इसे 1487 में अपनी राजधानी बना कर हिंदुस्तान पर शासन किया था। कहा जाता है कि सुल्तान सिकंदर लोदी की मौत 1517 में इसी किले में हुई थी। सिकंदर लोदी के मृत्यु के पश्चात उसका पुत्र इब्राहिम लोदी ने शासन संभाला और लगभग 9 सालों तक उसने पानीपत के प्रथम युद्ध में हारने के पहले तक शासन किया।

पानीपत के प्रथम युद्ध के पश्चात मुगलों द्वारा इस किले पर आधिपत्य जमा लिया गया। कहा जाता है कि आगरा का यह लाल किला इतिहास के सबसे समृद्ध और वास्तुकला की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ था, जिसे मुगलों द्वारा लूट लिया गया था। 

इसके अपार खजाने के भंडार में एक कोहिनूर नाम का हीरा भी था, जो आज भी प्रसिद्धि में बना रहता है। इब्राहिम लोदी के मारे जाने के बाद बाबर ने उसकी जगह ले ली। बाबर के पश्चात उसका बेटा हुमायूं और फिर शेरशाह सूरी जैसे कई शासकों ने आगरा के लाल किले पर शासन किया था।

मुगलों के सबसे प्रसिद्ध शासक अकबर ने आगरा के इस महल की प्रसिद्धि को देखते हुए इसे अपनी राजधानी बनाई। अकबर के दरबारी साहित्यकार अबुल फजल ने इस बात की चर्चा की है। आगरा के लाल किले का नाम सबसे पहले बादलगढ़ था, जो कई आक्रमणकारियों के हमले से बहुत खस्ता हालत में पहुंच चुका था। 

मुगल सम्राट अकबर द्वारा इस महल को वास्तुकारों के द्वारा वापस से मरम्मत करवाया गया। इस महल के भीतर ईटों का ढांचा तैयार किया गया तथा बाहर के आवरण को लाल बलुआ पत्थर से ढका गया था। 

जब बाबर ने 1526 में पानीपत में इब्राहिम लोदी को पराजित किया और मार डाला, तब आगरा मुगल साम्राज्य का एक महत्वपूर्ण स्थान था। यह एक खंडहर हालत में था और तब अकबर ने इसे अपनी राजधानी बनाने का फैसला किया और 1558 में आगरा पहुंचे अकबर ने इसे लाल बलुआ पत्थर से पुनः बनवाया था।

कहा जाता है कि आगरा के इस लाल किले को बनवाने का खर्चा उस समय में अरबों खरबों में था, जिसे लगभग 14,44,000 मजदूरों द्वारा तैयार किया गया था। 8 सालों की कड़ी मेहनत के बाद यह किला 1573 में बनकर पूरी तरह से तैयार हो गया। 

और पढ़ें -  सुशांत सिंह राजपूत की जीवनी Sushant Singh Rajput Biography in Hindi

आधुनिक युग में आगरा का लाल किला जिस स्वरुप में स्थित है उसका श्रेय शाहजहां को जाता है। शाहजहां के विषय में कहा जाता है कि उसने अपनी प्रिय बेगम के लिए प्रेम की निशानी ताजमहल का निर्माण करवाया था, जिसके पश्चात वह और भी कई महलों को बनवाना चाहता था। 

लेकिन इसके पहले ही उसके पुत्र औरंगजेब ने उसे इसी लाल किले में बंधी बनाकर कैद कर दिया। माना जाता है कि शाहजहां की मौत किले के मुसम्मन बुर्ज में ताजमहल को निहारते हुए हुई थी। 

आगरा के लाल किला की वास्तुकला Architecture of Red Fort Agra in Hindi

वास्तुकला की दृष्टि से आगरा का लाल किला बेहद शानदार है। लाल किले का नक्शा एक अर्ध वृत्ताकार के रूप में है, जो यमुना नदी के नजदीक समांतर में स्थित है। महल की सुरक्षा में चारों दीवारों की ऊंचाई लगभग 70 फीट ऊंची है। 

यहां दुश्मनों के आक्रमण से बचने के लिए रक्षा चौकियां और तोपों के झरोखे तैयार किए गए हैं, जिनके चार अलग-अलग कोनों पर द्वार है। इस महल का खिजड़ी नामक द्वार इकलौता ऐसा मार्ग था, जो सीधे नदी की तरफ खुलता था। इसके साथ ही ग्वालियर गेट और दिल्ली गेट भी बहुत प्रख्यात लाल किले का हिस्सा है।

आगरा के लाल किले का सबसे प्रमुख और खूबसूरत द्वार दिल्ली गेट है, जो अंदर से बेहद भव्यतम है। इसे अन्य शब्दों में हाथी पोल भी कहा जाता है, क्योंकि यहां मुख्य रूप से हाथियों की मूर्तियां और रक्षकों की प्रतिमाएं निर्मित है। आगरा के लाल किले की बनावट इतनी सुंदर तरीके से संपन्न की गई है, कि इसकी खूबसूरती की वजह से इसे यूनेस्को धरोहर में शामिल किया गया है।

इस लाल किले की खूबसूरती कुछ दूरी पर स्थित ताजमहल के कारण और भी बढ़ जाती है। महल के शाही झरोखे से ताज महल का नजारा बेहद आलीशान और भव्य दिखाई देता है। इसकी खूबसूरती को निहारने के लिए लोग देश विदेश से आया करते हैं। 

शाही बुर्ज, रंग महल, नौबत खाना, नगीना मस्जिद, मुसम्मन बुर्ज, शीश महल, मछली भवन, खास महल, स्वर्ण मंडप, जहांगीर महल इत्यादि आगरा के लाल किले के अभिन्न अन्य भाग है।

आगरा के लाल किला की सुंदर संरचना Most Beautiful Structures of Agra Fort

1. शीश महल Sheesh Mahal

शाब्दिक रूप से ‘कांच का महल’ अर्थात् दीवारों पर छोटे दर्पण की सजावट है अर्थात् यह शाही छोटे जड़ाऊ दर्पणों से सुसज्जित राजसी वस्त्र बदलने का कमरा था ।

2. दीवान-ए-आम Diwan-e-Aam

इसमें मयूर सिंहासन या तख़्त-ए-ताऊस  स्थापित था इसका प्रयोग आम जनता से बात करने और उनकी फरियाद सुनने के लिये होता था।

3. दीवान-ए-खास Diwan-e-Khas

इसका प्रयोग और उसके उच्च पदाधिकारियों की गोष्ठी और  मंत्रणा के लिये किया जाता था, जहाँगीर का सिंहासन इसकी विशेषता थी ।

4. अंगूरी बाग़ Anguri Bagh

यह एक 85 वर्ग मीटर, ज्यामितीय प्रबंधित उद्यान है।

5. खास महल Khas Mahal

सफ़ेद संगमरमर निर्मित यह महल, संगमरमर रंगसाजी का उत्कृष्ट उदाहरण है ।

और पढ़ें -  मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी Mark Zuckerberg Biography in Hindi

6. मीना मस्जिद Meena Masjid

इसका शाब्दिक अर्थ ‘स्वर्गीय मस्जिद’ है। यह एक छोटी मस्जिद जनता के लिए बंद है

7. नगीना मस्जिद Nagina Masjid

आलिन्द बराबर में ही दरबार की महिलाओं के लिये निर्मित मस्जिद, जिसके भीतर  ज़नाना मीना बाज़ार था जिसमें केवल महिलायें ही सामान बेचा करती थी।

8. मुसम्मान बुर्ज Musamman Burj

एक बड़ा अष्टकोणीय टॉवर है, जिसमें एक बालकनी है जिससे ताजमहल साफ़ दिखाई देता है ।

आगरा के लाल किला तक कैसे पहुंचे? How to Reach the Red Agra Fort in Hindi?

आगरा रेलवे स्टेशन इस किले का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है, जो किले से लगभग 5 किलोमीटर जितनी दूरी पर स्थित है। उत्तर प्रदेश के आगरा शहर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय एयरपोर्ट, जो कि भारत के सबसे प्रसिद्ध एयरपोर्ट्स में से एक है, वह देश के कुछ बड़े शहरों से जुड़ता है। 

अगर कोई पर्यटक सीधे आगरा के लाल किले तक पहुंचना चाहता है, तो वह एयरपोर्ट से फ्लाइट पकड़कर वहां पहुंच सकता है। इसके अलावा आगरा के लाल किले तक पहुंचने के लिए सड़क मार्ग और ट्रेन की सुविधाएँ भी मौजूद रहती है। 

इस लाल किले तक पहुंचने के लिए आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग इसके अलावा हवाई मार्ग के जरिए भी सरलता से सैलानी यहां आ सकते हैं। यह खूबसूरत स्थल उन पर्यटकों के लिए बहुत अच्छी जगह है, जो किसी ऐतिहासिक और सुंदर जगह पर जाना चाहते हैं। 

आगरा के लाल किला को देखने आए देशी-विदेशी पर्यटक को यहां का इतिहास बताने के लिए कई मार्गदर्शक भी होते हैं, जो पैसे लेकर लोगों को लाल किला के हर एक जगह की अच्छे से जानकारी देकर घुमाते हैं।  

उत्तर प्रदेश में यमुना नदी के किनारे बसे आगरा में लाल किला आया हुआ है, जो ताजमहल से महज कुछ किलोमीटर की दूरी पर ही स्थित है। देखने के लिए इस लाल किला में बहुत कुछ है जिसे यदि शुरुआत से पर्यटक देखना शुरू करेंगे, तो शाम हो जाती है। 

आगरा का किला सुबह पर्यटकों के लिए खोल दिया जाता है और सूर्यास्त होने के पश्चात इसकी सुरक्षा के लिए सभी गेट बंद कर दिए जाते हैं।

लाल आगरा किला के टिकट की जानकारी Agra Fort Ticket Information in Hindi

क्योंकि आगरा का लाल किला बेहद प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है, जिसके कारण यहां विदेशों से आने वाले लोगों के लिए भी घूमने फिरने और खाने पीने की बेहतरीन सुविधाएं की जाती हैं। 

किले में प्रवेश करने से पहले पर्यटकों को कुछ शुल्क टिकट के रूप में अदा करना पड़ता है, इसके पश्चात ही सभी को अंदर जाने की अनुमति होती है।

हर वर्ष पर्यटन के आकर्षण के आधार पर इन टिकटों का शुल्क निर्धारित किया जाता है। वर्तमान समय में विदेशी पर्यटकों के लिए आगरा के लाल किले की टिकट ₹650 से बढ़ाकर लगभग 1200 तक कर दी गई है। 

वही यहां के लोक निवासियों के लिए ₹100 जितना टिकट का भुगतान करना आवश्यक कर दिया गया। आगरा के लाल किले तक पहुंचने के लिए वाहनों की सुविधाएं भी उपलब्ध होती हैं।

1 thought on “आगरा के लाल किला का इतिहास History of Red Fort Agra in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.