झूठे दोस्त को कैसे जाने? How to know a fake friend in Hindi?

झूठे दोस्त को कैसे जाने? How to know a fake friend in Hindi?

हेल्लो दोस्तों, आप सभी जानते है कि हम अपने जीवन में बहुत से दोस्त बनाते है और उनमे से कुछ तो हमारे सच्चे दोस्त होते है, लेकिन बहुत झूठे दोस्त भी बन जाते है। आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले है कि आप अपने झूठे दोस्तों को अपने सच्चे दोस्तों से कैसे अलग कर सकते है या झूठे दोस्तों को कैसे पहचान सकते है।

हम सभी जानते है कि दोस्ती एक बहुत ही खूबसूरत रिश्ता है। जिसे हम अपने दिल के सबसे पास रखते है। जब बात दोस्तों की आती है, तो हम किसी की परवाह किये अपने दोस्तों का साथ देते है, लेकिन आज के समय में इस बात को नाकारा नहींं जा सकता है कि बहुत से झूठे दोस्त भी होते है जो केवल अपने फायदे के लिए ही हमसे दोस्ती करते है। इसलिए हमें ऐसे दोस्तों को अपने जीवन और अपने सच्चे दोस्तों से अलग ही रखना चाहिए। जिससे हमारे जीवन में उनकी वजह से कोई गलत प्रभाव न पड़े।

किसी के साथ अपनी दोस्ती निभाने के लिए हमें अपने जीवन में कई प्रयास करने पड़ते है। अपने दोस्तों के प्रति निष्ठा, समय इसके साथ बहुत सी चीजों का समर्पण करना पड़ता है। इसीलिए हमें हमेशा एक बेहतर और सच्चे दोस्त को ही चुनना चाहिए। जिससे हमारा प्रयास उन झूठे दोस्तों पर ना जाये, जो हमें अपने सच्चे दोस्तों के लिए करना चाहिए। आइये जानते है कि आप अपने झूठे दोस्तों को कैसे पहचान सकते है।

झूठे दोस्तों को कैसे पहचानें? How to know fake friend in Hindi

दोस्तों झूठे दोस्तों की कुछ विशेषताएँ भी होती है जैसे एक सच्चे दोस्त की विशेषता होती है। –

इसे भी पढ़ें -  भारत में कुल कितने राज्य हैं उनकी राजधानी States and Capitals of India in Hindi

1. ईर्ष्या

ईर्ष्या एक ऐसी चीज है जिससे आप अपने उन झूठे दोस्तों को आसानी से पहचान सकते है, जो आपके साथ एक सच्चे दोस्त की तरह रहते है। किसी भी सच्चे दोस्त के भीतर कभी भी अपने दोस्त के प्रति ईर्ष्या या जलन नहीं होता है।

एक सच्चा दोस्त आपकी सफलता से कभी भी नहीं जलता है, लेकिन एक झूठा दोस्त आपकी हर कामयाबी से जलाता रहेगा और हमेशा आपकी ख़ुशियों को देखकर अंदर ही अंदर आपकी बर्बादी के बारे में सोचेगा। एक सच्चा दोस्त आपकी कामयाबी और आपकी ख़ुशी और दुख में आपके साथ ही रहता है।

2. नकारात्मकता

किसी भी दोस्ती में हम अपने सच्चे दोस्त के हर फैसले में उसे प्रोत्साहित करते है। लेकिन जब बात झूठे दोस्तों की करते है, तो एक झूठा दोस्त हमेशा आपको आपके फैसले को गलत साबित करेगा और आपको उससे हमेशा नेगेटिव वाइब्स मिलती है। किसी भी झूठे दोस्त में ये एक खूबी होती है कि वो आपको हमेशा हालत सोचने पर मजबूर करते है जिससे आप अपनी लाइफ में कभी भी सफल न हो।

पढ़ें : नकारात्मक को सकारात्मक में कैसे बदलें ?

3. वादा तोड़ना

आप सभी ने अपने जीवनी में बहुत से लोगो के साथ दोस्तों की होगी,  लेकिन उनमे से बहुत कम ही दोस्त ऐसे रहें होंगे जो अपने वादे को पूरी तरह से निभाते होंगे। एक सच्चा दोस्त हमेशा अपने वादे पर खरा उतरता है लेकिन जब बात झूठे दोस्तों की आती है, तो वो कभी भी अपने वादे को पूरा नहींं करते है।

इसकी वजह है कि वो आपको अपना सच्चा दोस्त नहीं मानते है। हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हम अपने उन झूठे दोस्तों को अपने जीवन से दूर रखना चाहिए जो हमारे सच्चे और अच्छे दोस्तों के लिए सही नहीं है।

4. बुरे समय में साथ न देना

हम सभी को पता है कि जब किसी भी दोस्त के कुछ बुरा होता है, तो हम उसके बुरे वक्त में उसके साथ कदम के कदम मिलकर चलते है। लेकिन एक झूठा दोस्त हमेशा आपके बुरे वक्त में आपके साथ नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें -  मातृ -पितृ दिवस पर निबंध Matru Pitru Diwas Essay in Hindi

क्योंकि उसे आपके सुख और दुःख से कोई पर वाह नहीं होता है। इसीलिए जब किसी के साथ दोस्ती करे, तो उसके नेचर, उसकी सोच और उसका अपने दोस्तों के प्रति स्वभाव कैसा है इस बात का ध्यान ज़रूर रखें।

पढ़ें : दोस्त वही जो विपत्ति में काम आये

5. समय न बिताने पर बुरा महसूस करना

जब आप अपने किसी सच्चे मित्र के साथ कम समय भी बिताते है, तो उसको जरा-सा भी बुरा नहीं लगता है, क्योंकि वो आपके परेशानियों को समझता है और वो नहीं चाहेगा कि आप उसके साथ ज्यादा समय बिताने के कारण और भी परेशान हों। लेकिन जब आप आपने झूठे दोस्त के साथ समय नहीं बिताते है, तो वो आपको इस बात के लिए बहुत बुरा महसूस करवाता है कि आप उसके साथ ज्यादा समय क्यों नहीं बिता रहे है।

6. पीठ पीछे बुराई

जहाँ तक मुझे पता है कोई भी अपने सच्चे दोस्त की पीठ पीछे बुराई नहीं करता है, और अगर उसके दोस्त की कोई बुराई भी कर रहा है तो हम उससे अपने दोस्त के लिए लड़ पड़ते है। लेकिन जो झूठा दोस्त होता है वो हमेशा आप से जलाता है और आपकी बुराई पीठ पीछे करता रहता है।  

“Fake friends: once they stop talking to you, they start talking about you.” (source)

7. नीचा दिखाने की कोशिश

अगर आपका दोस्त आपको हमेशा नीचा दिखने की कोशिश करता है या आपको नीचा दिखता है, तो वो आपका सच्चा दोस्त नहीं हो सकता है, आप खुद ही इस बात के बारे में सोच सकते है कि अगर वो आपका सच्चा दोस्त होता, तो आपको नीचा दिखाने की कोशिश नहीं बल्कि हमेशा सम्मान के नज़र से देखता और सफलता प्राप्त करने में साथ देता।

8. दोस्ती के नाम पर टाइम पास

दोस्तों, किसी का भी सच्चा दोस्त आपके साथ दोस्ती के नाम पर टाइम पास नहीं करेगा। उसकी आपके साथ दोस्ती बहुत ही लंबी और वो अपने दोस्तों को पूरी तरह से निभाता है। लेकिन एक झूठा दोस्त आपके साथ दोस्ती के नाम पर केवल टाइम पास ही करता है। उसकी आपके साथ दोस्ती ज्यादा समय तक नहीं चल सकती है, क्योंकि उसने केवल अपने मतलब के लिए आप से दोस्ती की है।

इसे भी पढ़ें -  30 ज़बरदस्त: मित्रता पर अनमोल विचार Best Friendship Quotes Hindi

पढ़ें : मित्रता पर अनमोल कथन

9. पर्सनल बातों को सबसे बताना

दोस्तों हम सभी जानते है कि हम अपनी बहुत सी पर्सनल बातों को अपने दोस्तों को बताते है, क्योंकि हमें उन पर विश्वास होता है कि वो हमारे बात कोई किसी से नहीं कहेंगे। लेकिन एक झूठा दोस्त आपकी सबी पर्सनल बातों को सबसे बताता है जिससे आपकी बदनामी हो और आपके बारे में सबको पता चल जाये।

सच्चे दोस्तों की कुछ खास बातें Some amazing things about true friends

दोस्तों हम सभी जानते है कि सच्चे दोस्त की क्या ख़ास बाते होती है लेकिन फिर भी हम आपको एक सच्चे दोस्तों की कुछ ख़ास बातों को बताएँगे।

  1. एक सच्चे दोस्त के लिए दोस्ती का रिश्ता कोई आम बात नहीं है। वो अपने दोस्तों का हर हाल में साथ देता है। वो अपने दोस्तों के अच्छे और बुरे वक्त में हमेशा साथ देता है।
  2. सच्चा दोस्त हमेशा आपके फैसले में आपके साथ होता है और वो आपको प्रेरित भी करते है।
  3. सच्चे दोस्त आपकी कमियों को आप से बिना किसी संकोच के आप से बताते है और उसे सही करने का सुझाव भी देते है।
  4. कोई भी सच्चा दोस्त आप से प्रतिस्पर्धा नहीं रखता है, वो आपके साथ आपकी सफलता में अपना पूरा योगदान देता है।
  5. सच्चा दोस्त अपने दोस्त की कभी नीचा दिखाने की कोशिश नहीं करता है। वो आपको कमजोरियों को आप से बताता है।
  6. एक सच्चा दोस्त किसी दूसरे के सामने अपने दोस्त की बुराई नहीं करता है।
  7. एक सच्चा दोस्त कभी भी आपकी सफलता से जलता नहीं है। वो आपकी सफलता में आपके साथ जश्न मनाता है।

इस लेख को पूरा पढने के बाद आप एक सच्चे और झूठे दोस्तों ने बीच का अंतर समझ सकते है। इस लेख को पढ़ कर आप अपने जीवन से उन दोस्तों को निकाल सकते है, जिसके लिए आपको लगता है कि वो आपके लिए केवल एक झूठा दोस्त है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.