क्रोध या गुस्सा कम कैसे करें? 10 Tips : How to Control Your Anger Tips in Hindi

Contents

क्रोध या गुस्सा कम कैसे करें? 10 Tips : How to Control Your Anger Tips in Hindi

क्या जब कोई आप की बात नहीं मानता तो आपका दिमाग गरम हो जाता है? क्या ड्राइविंग करते समय कोई आपसे आगे बढ़ जाये तो आपका खून खौल बेठता है? क्या आपका बच्चा आपकी बात ना सुनने पर आप बहुत गुस्सा हो जाते हैं?

अगर हाँ! तो मैं आपको बताना चाहता हूँ आप क्रोध या गुस्से का शिकार हो चुके हैं। चलिए अच्छे से समझते हैं गुस्सा होने का कारण और गुस्सा कम करने के उपायों के बारे में।

क्रोध या गुस्सा कम कैसे करें? 10 Tips : How to Control Your Anger Tips in Hindi

क्रोध या गुस्सा क्यों आता है? Why People get Angry?

लगभग सभी लोगों को गुस्सा आता है पर सबसे ज़रूरी बात यह है गुस्सा क्यों आता है? गुस्सा आने का सबसे बड़ा कारण होता है जलन या इर्षा।

अगर आपको किसी ने यह नहीं सिखाया हो की कैसे आप अपने जलन को काबू कर सकते हैं तो यह बाद में गुस्सा के रूप में एक भयंकर रूप ले लेता है। कुछ लोगों के दिमाग में ज्यादा भावुक विचार होने पर भी एड्रेनालाईन की मात्र बढ़ जाने से गुस्सा या क्रोध उत्पन्न होता है।

गुस्सा या क्रोध से नुकसान क्या हैं? What are demerits of Anger?

गुस्सा भले ही दो सेकंड का क्यों ना हो वो होता बड़ा ही खतरनाक है। उन कुछ पलों के अंदर वह क्रोधित व्यक्ति सब कुछ भूल जाता है और बस उसे अपने क्रोध को शांत करने का उद्देश्य दीखता रहता है और वो उद्देश्य किस हद तक किसी को नुकसान पहुंचा सकता इसका कोई माप-दंड नहीं होता।

  • गुस्सा कभी-कभी आपके रिश्तों को भी तोड़ देता है।
  • कभी-कभी क्रोध के कारण लोग अपना नौकरी या कैरियर खो देते हैं।
  • इससे दिमाग पर बहुत बुरा असर पड़ता है।
  • ज्यादा क्रोधित होने से दिल की बीमारी, डायबिटीज़, कमज़ोर प्रतिरक्षा प्रणाली, हाइपरटेंशन जैसी स्वास्थ्य सम्बन्धी प्रॉब्लम हो सकती हैं।
इसे भी पढ़ें -  जीभ घुमा देने वाले 19 टंग ट्विस्टर Best Funny Tongue Twister for Kids Hindi

क्रोध शांत करने के 10 ज़बरदस्त उपाय Best tips for control your anger in Hindi

हर किसी व्यक्ति के क्रोध करने के पीछे एक शारीरिक प्रतिकिया होती है। इस बात पर ध्यान दें कि आपका शारीर आपसे क्या बोल रहा है, और शांति से काम लें। नीचे दिए हुए टिप्स को ध्यान से पढ़ें और समझें। मैं गारंटी के साथ कह सकता हूँ इससे आपको जरूर अपने गुस्से या क्रोध को काबू करने में मदद मिलेगी।

1. अपने गुस्से होने के संकेत को पहचाने Understand the early sign of your anger

ज्यादातर लोगों का गुस्सा आने से पहले – दिल की धड़कन तेज़ हो जाती है, कन्धों में टेंशन के कारण हलचल होने लगता है, मुट्ठी बंद होने लगता है।

ऐसे में निचे दिए हुए इन स्टेप्स को अपनाएं –

  • अपने शरीर में हो रहे शारीरिक उत्तेजना को समझें।
  • एक लम्बी से सांस लें।
  • होश में रहें और सोचें।
  • अपने कन्धों को घुमाएँ तथा गर्दन और सर की मालिश करें।
  • धीरे-धीरे एक से दस तक गिने।
  • और उसके बाद हो रहे कार्य-कलापों के बारे में सोचें।

अगर आपके साथ ऐसा होता है तो जितना जल्दी हो सके आप वहां से निकल जाएँ क्योंकि ज्यादर गुस्सा या क्रोधित लोगों को अपने क्रोध या गुस्से पर काबू नहीं होता है। ऐसे में किसी भी प्रकार की दुर्घटना हो सकती है।

2. जितना हो सके संभव समाधान ढूंढें Search for a correct solution ASAP

यह ना सोच कर कि क्या आपको गुस्सा दिलाता है यह सोचोये कि अपने गुस्से को आप कैसे काबू कर सकते हैं और इसके संभव समाधान क्या हो सकते हैं? जैसे की हो सकता है आपका साथी आपको समय ना दे पा रहा हो अपने ऑफिस क कुछ कामों के कारण तो साथ बिताने के लिए हफ्ते में कुछ विशेष समय फ़िक्स करें। पर गुस्सा होने से इसका कोई फल नहीं निकलने वाला है।

इसे भी पढ़ें -  प्लास्टिक का उपयोग बंद करें निबंध Essay on Say No to Plastic in Hindi

3. कुछ व्यायाम करें Do some exercises

अगर आपको लगता है कि आपका गुस्सा आप पर हावी हो रहा है तो किसी भी प्रकार का व्यायाम जैसे दौड़, साइकिलिंग, योग, मार्सल आर्ट्स, स्विमिंग, नाचना, बॉक्सिंग, ध्यान लगा कर या किसी अन्य प्रकार का व्यायाम नियमित रूप से प्रतिदिन करें। शाररिक गतिविधि आपके मन में उत्पन्न होने वाले तनाव को कम करता है।

4. अपने गुस्से को अभिव्यक्त करें Express your anger

अपने गुस्से के कारण को अपने अन्दर छुपाना आपके लिए अच्छा नहीं है। इसलिए हमें इसके विषय में बात करने के लिए संकोच नहीं करना चाहिए। आप किसी भी प्रकार से अपने क्रोध को अभिव्यक्त कर सकते हैं चाहे वो मुहँ के द्वारा बोल कर हो या हाथ से लिख कर।

अगर आप गुस्से को सकारात्मक तरीके से उपयोग करें तो यह आपके लिए बहुत अच्छा साबित हो सकता है। गुस्सा होना तो बहुत आसान है परन्तु उसे सकारात्मक दिशा में मोड़ना हमारे हाथ में होता है। – डॉ. रौशनी सोंधी, मनोवैज्ञानिक, मानसिक स्वास्थ्य विभाग, फोर्टिस हेल्थकेयर।

5. कुछ दिनों के लिए काम से छुट्टी लें Go for Holiday

कभी-कभी ऑफिस काम के तनाव की वजह से भी चिडचिडापन बढ़ने लगता है और ऐसे में गुस्सा होने या क्रोध बढ़ने की सम्भावना बढ़ जाती है। तो आप को ऐसे समय में कुछ दिनों के लिए अपने नौकरी या काम से छुट्टी ले कर कहीं घूमने के लिए जाना चाहिये और अपने परिवार के लोगों के साथ थोड़ा समय बिताना चाहिए।

6. कुछ भी बोलने से पहले सोचें Think before saying something

बातों और दिमाग की गर्मी में कुछ लोगों को यह ध्यान नहीं रहता की बोल क्या रहे हैं। अपने मुख से निकले हुए हर एक शब्द को सोच-समझ कर बोलेन क्योंकि सोच समझ कर बोलने वाला व्यक्ति कभी भी गुस्सा या क्रोधित नहीं होता है।

7. रात को अच्छी नींद सोयें Take a good sleep at night

ज्यादातर व्यस्क व्यक्तियों को रात को कम से कम 7-8 घंटा सोना चाहिए पर ऐसा होता नहीं है। जिसके कारण शरीर को कई प्रकार के स्वास्थ्य से जुड़ी प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है। इनमें सबसे सबसे बड़ा जो प्रभाव पड़ता है वो है लोगों अपने भावनाओं पर सही तरीके से काबू नहीं कर पाते हैं।

अच्छी नींद सोने से आपका मन शांत और गुस्सा कम उत्पन्न करता है। अगर आपको सोने में प्रॉब्लम हो रहा है यानि की नींद नहीं आ हारा है तो तुरंत अपने डॉक्टर से इस विषय में बात करें।

इसे भी पढ़ें -  गर्मी की छुट्टियों पर निबंध Essay on Summer Vacation in Hindi

8. ख़ुश करने वाली चीजों के विषय में सोचें

अगर आप जानते हैं कि आपको गुस्सा बहुत आता है तो ज्यादातार आपको ख़ुशी देने वाली चीजों के विषय में सोचें या फिर आप कोई ऐसा चीज भी कर सकते हैं जिससे आपको ख़ुशी मिलती है। अगर आपके साथ बुरा भी हो रहा हो तो भी खुश रहें क्योंकि दुखी होने से इसका कोई हल तो निकलने वाला है नहीं।

9. स्वयं से सकारात्मक बातें करें Talk positively with yourself

जीवन में सकारात्मक बातें करना या सकारात्मक चीजों से जुड़े रहना हर क्षेत्र में लाभकारी साबित हुआ है। अपने सोचने के तरीके को नकारात्मक से सकारात्मक में बदले को “संज्ञानात्मक पुनर्गठन” कहा जाता है जो आपके गुस्से या क्रोध को अच्छे तरीके से काबू करने में मदद करता है।

उदहारण – सोचिये की आप रस्ते पर चलते हुए कही जा रहे हैं। उसी समय कोई व्यक्ति इतनी तेज़ गाड़ी चलाते हुए आपके पास से गुज़रा हो की आप मरते-मरते बचें हो। ऐसे में कोई गुस्से वाला व्यक्ति चिल्ला कर क्या बोलेगा – वो पागल अभी-अभी मुझे गाड़ी से टक्कर मार देने वाला था, मैं भी उसे देखते ही मार डालूँगा।

पर एक सकारात्मक सोच वाला व्यक्ति क्या बोलेगा – वो व्य्करी बहुत ही हड़बड़ी में गाड़ी चला रहा है. हो सकता है कोई इमरजेंसी हो, भगवन का शुक्रिया की मेरी जान बच गयी। ना सिफ बोलने में बल्कि सोच में भी बहुत अंतर होता है एक पॉजिटिव और नेगेटिव व्यक्ति में।

#10 जोर-जोर से हंसिये Laugh

हम हस्ते नहीं हैं और ज्यादातर समय उदास रहते हैं। जब भी हमें कोई शारीरिक कार्य करने की आवश्यकता होती है, और हम हँसते हैं, तो हमें बहुत ही हल्का और आनंद ही आनंद महसूस होता है।

इस चीज को करने की कोशिश करें !

  • उन फिल्मों का कलेक्शन बनायें जो आपको हंसी देती हैं।
  • उन दोस्तों से मिले या दोस्त बनायें जो आपको हंसाते हैं।

दुनिया में हंसी ही एक ऐसा चीज है जो आपके सभी मानसिक तनाव को दूर कर देता है।

अगर आपको ये क्रोध या गुस्सा कम कैसे करें? ’10 Tips : How to Control Your Anger Tips in Hindi’ अच्छे लगें हों तो comment के माध्यम से ज़रूर बताएं।

1 thought on “क्रोध या गुस्सा कम कैसे करें? 10 Tips : How to Control Your Anger Tips in Hindi”

  1. Very good but need some more way to control anger.
    If a person is in anger first try to sit down and drink cold water.still anger persist lay down on bed for 15 minutes atleast still anger persist get up and drop a jug full with cold water three times at least

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.