झूठे लोगों को कैसे पहचाने How to recognize fake people in Hindi

झूठे लोगों को कैसे पहचाने How to recognize fake people in Hindi

झूठे इंसानों से सभी लोग परेशान रहते हैं। कई बार हमारी ऑफिस या काम करने की जगह झूठे लोगों से मुलाकात हो जाती है। उनकी बातों में आकर हम लोगों का नुकसान भी हो जाता है। झूठ बोलने वाले लोग अक्सर अपना कोई काम बनाना चाहते हैं, जैसे- इंश्योरेंस एजेंट अक्सर झूठ बोलते हुए बड़े मुनाफे की बात बोलते हैं।

परंतु इतना मुनाफा बीमा धारक को मिलता नहीं है। दुकानदार झूठ बोल कर अपनी वस्तु को अच्छा बताते हैं परंतु वह वस्तु अच्छी नही होती है। इस तरह के बहुत से उदाहरण हमें रोजमर्रा की जिंदगी में देखने को मिलते हैं।

झूठे लोगों को कैसे पहचाने How to recognize fake people in Hindi

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि झूठे लोगों की पहचान कैसे करें-

शारीरिक संकेत पहचाने

झूठ बोलने वाले व्यक्ति के शारीरिक संकेत पहचान कर आप आसानी से यह जान सकते हैं कि वह सच बोल रहा है या झूठ। झूठ बोलने वाले लोग जल्दी नजरें नहीं मिलाते हैं। हमेशा भागने की कोशिश करते हैं। हर सवाल का उत्तर देने से बचते हैं।

आप से हाथ मिलाते समय वह बहुत हल्के से हाथ मिलाते हैं और गर्मजोशी का अभाव रहता है। वह बोलते समय काफी डरे हुए होते हैं और हिचकते हुए बोलते हैं। उनकी हंसी भी नकली होती है। इस तरह आप आसानी से शारीरिक संकेत के द्वारा जान सकते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है या सच।

इसे भी पढ़ें -  दोस्ती या मित्रता पर निबंध Essay in Friendship in Hindi

आत्मविश्वास की कमी होना

जब कोई व्यक्ति आपसे झूठ बोलता है तो उसके अंदर बिल्कुल भी आत्मविश्वास नहीं होता। इस तरह भी आप आसानी से पहचान सकते हैं कि वक्त सच बोल रहा है या झूठ।

बालों में हाथ फेरना

झूठ बोलने वाला व्यक्ति बार-बार अपने हाथ बालों में फेरता रहता है। उसका आत्मविश्वास भी बहुत कम होता है। उसे डर लगा रहता है कि कहीं उसका झूठ ना पकड़ा जाए। इस तरह भी आप पहचान कर सकते हैं।

चेहरा ब्लश करता है

जो भी व्यक्ति झूठ बोलता है उसका चेहरा लाल रहता है। चेहरे का रंग बदल जाता है। आप उस एक्स्प्रेसन को समझ जायेंगे यदि गौर से देखेंगे। बार बार पलकें झुकाना, नाखून चबाना, पैर हिलाना, गहरी सांसे लेना, नाक की नथुने फूल जाना, ओंठ चबाना ऐसी मुद्राएं हैं जो लोग झूठ बोलने के समय बनाते हैं। इस तरह भी आप आसानी से यह पता लगा सकते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है या सच।

बदलती आवाज को पहचाने

झूठ बोलने वालों की आवाज सामान्य से बदल जाती है। अगर आप जरा सा भी ध्यान देंगे तो आप आसानी से पढ़ सकते हैं।

सवाल पूछ कर सच्चाई का पता करें

यदि आपको किसी व्यक्ति पर शक है कि वह झूठ बोल रहा है तो आप उससे बहुत से सवाल पूछिए। वह इधर उधर देखने लग जाएगा। जवाब देने से बचने की कोशिश करेगा। वह तुरंत आप से भागने की कोशिश भी कर सकता है। इस तरह आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है या नहीं।

मुंह ढकने की कोशिश करना

झूठ बोलने वाले व्यक्ति अक्सर अपने मुंह को ढ़कने की कोशिश करते हैं। वह सामना करने से बचते हैं। नजरें चुराते हैं और सामने आकर जवाब नहीं देना चाहते। इस तरह भी आप झूठ बोलने वाले लोगों को पकड़ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  पर्यावरणीय प्रदूषण पर भाषण Speech on Environmental Pollution in Hindi

जल्दी-जल्दी बोलना

झूठ बोलने वाले अक्सर जल्दी-जल्दी बोलते हैं। उनकी आवाज में तनाव पाया जाता है। उनकी आवाज में स्थिरता नही होती। इस तरह भी आप झूठ बोलने वाले लोगों को पहचान सकते हैं।

बढ़ा चढ़ाकर बात करना

जब कोई व्यक्ति आपके सामने बढ़ा चढ़ाकर बात करने लगे तो समझ जाइए कि वह झूठ बोल रहा है। इस तरह के लोग लंबे लंबे स्पष्टीकरण देने लग जाते हैं। अपने आप को सही साबित करने लग जाते हैं। इस तरह भी आप जान सकते हैं कि वह व्यक्ति सच बोल रहा है या नहीं।

क्रॉस चेक करें

यदि आपको किसी व्यक्ति पर संदेह है कि वह झूठ बोल रहा है तो आप उसके साथियों, मित्रों, परिवार के सदस्यों और दूसरे ऑफिस कर्मियों से बात करके क्रॉस चेक करें। इस तरह आप सच्चाई जान जाएंगे।

बोलते समय पसीना छूटना

झूठ बोलने वाला व्यक्ति काफी तनाव में रहता है। उसे डर रहता है कि कहीं उसका झूठ ना पकड़ा जाए। इस कारण उसके पसीने छूटते रहते हैं। झूठ बोलते समय उसके माथे के ऊपर पसीने की बूंदें आपको दिख जाएंगी। इस तरह भी आप आसानी से झूठ पकड़ सकते हैं।

घबराना और कांपना

झूठ बोलने वाला व्यक्ति अक्सर घबराया हुआ होता है। इसके साथ ही वह बोलते समय काँपता रहता है। उसकी आवाज स्थिर नहीं होती। वह इधर उधर की बातें करने लगता है। जिससे भी आप पता कर सकते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है या नही।

बोलते समय संकोच करना

झूठ बोलने वाला व्यक्ति बोलते समय बहुत ही संकोच करता है। वो अटक-अटक कर बोलता है। इस तरह भी आप पता कर सकते हैं कि वह झूठ बोल रहा है या नहीं। कोई व्यक्ति जब सच बोलता है तो कभी कोई संकोच नहीं करता है और खुलकर बात करता है।

गले का तर होना

जब कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो उसके गले पर पसीने की बूंदें आ जाती हैं। गला पसीने की बूंदों से तर हो जाता है। इस तरह भी आप पता लगा सकते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है या सच।

इसे भी पढ़ें -  ज्वार भाटा क्या है? कारण और प्रकार What are Tides in Hindi? Its Causes and Types

तेजी से सांस लेना

झूठ बोलने वाला व्यक्ति जल्दी-जल्दी सांस लेता है। उसकी सांसों में स्थिरता नहीं होती है। इसके साथ ही वह घबराया होता है। उस व्यक्ति के दिल की धड़कन तेज हो जाती है। जोर जोर से दिल धड़कता है। इस तरह भी आप पता लगा सकते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है या सच।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.