पीठ दर्द या कमर दर्द के लक्षण, कारण, इलाज Lower Back Pain Symptoms Causes Treatment in Hindi

Contents

पीठ दर्द या कमर दर्द के लक्षण, कारण, इलाज Lower Back Pain Symptoms Causes Treatment in Hindi

क्या आप लम्बे समय से निचले पीठ दर्द से परेशान हैं?
क्या कमर दर्द से राहत पाना चाहते हैं?
कुछ पीठ दर्द कम करने के कुछ घरेलु उपायों के विषय में आप जानना चाहते हैं?

पीठ दर्द या कमर दर्द के लक्षण, कारण, इलाज Lower Back Pain Symptoms Causes Treatment in Hindi

निचला कमान दर्द क्या होता है? What Is Low Back Pain?

निचला कमर दर्द या पीठ दर्द ज्यादातर लोग कभी ना कभी अपने जीवन में अनुभव करते हैं। कमर दर्द हमारी पीठ के छाती की हड्डियों के निचले भाग मैं सबसे ज्यादा होता है जिसे लम्बर रीजन(Lumbar Region) कहा जाता है।

इस जगह पर सबसे ज्यादा दर्द होता है और कुछ भी काम करने में बहुत मुश्किल होती है। वैसे तो निचला कमर दर्द हालांकि अपने आप ठीक हो जाता है परंतु कभी-कभी दर्द कम ना होने पर चिकित्सा की आवश्यकता पड़ती है।

लक्षण Symptoms of Low Back Pain

सामान्य लक्षण Normal Symptoms

यह कुछ सामान्य लक्षण है जिनके लिए आपको ज्यादा घबराने की जरुरत नहीं है या फिर आप बाद में भी अस्पताल या चिकित्सा केंद्र जाकर अपना इलाज करवा सकते हैं –

  1. पेट के निचले भाग में हल्का हल्का जकड़न या चुभन होना।
  2. सीधे खड़े होने मे मुश्किल होना।
  3. कभी कभी किसी खेल की चोट या दुर्घटना के तुरंत बाद दर्द शुरु हो जाता है। ज्यादातर भारी वजन उठाने वाले खेलो में इस प्रकार की मुश्किलें देखी गई हैं।
  4. अगर पीठ का दर्द 2-3 महीने से लंबा हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लें।
इसे भी पढ़ें -  सूर्य नमस्कार, फायदा और कैसे करे? Surya Namaskar Benefits and Steps in Hindi

तत्काल या आपातकाल चिकित्सा के लक्षण Symptoms That Require Urgent Care

  • किसी बड़ी दुर्घटना के बाद कमर में अत्यधिक दर्द होना जिससे कि हिलने-डुलने में मुश्किल होना।
  • कमर के दर्द के साथ साथ खड़े न हो पाना और पैर सुन्न पड़ जाना।
  • कमर के दर्द के साथ साथ अत्यधिक बुखार आना।
  • पेशाब करने में मुश्किल या दर्द होना साथ ही कमर में भी दर्द होना।
  • पेशाब को न रोक पाना और कमर में दर्द हो रहा हो।

नोट : डॉक्टर से मिलने के बाद भविष्य में हुए हर बीमारियां और यह हुए दवाइयों के बारे में डॉक्टर को पूर्ण जानकारी दें जिससे उन्हें आपके कमर के दर्द के कारण को समझने में आसानी हो सके।

मांशपेशियों में खिंचाव या तनाव / साइटिका Muscle Strain or Sciatica?

कभी कभी अत्यधिक वजन उठाने पर या ज्यादा व्यायाम करने पर मांसपेशियों में खिंचाव आ जाता है जो निचले कमर में अत्यधिक दर्द का कारण बनता है। कभी कभी मांसपेशियों में ज्यादा तनाव होने के कारण रीड की हड्डी को चोट पहुंचती है जिसके कारण साइटिक नस पर दबाव पड़ता है जो कमर में बहुत ज्यादा दर्द को उत्पन्न करता है जिसे साइटिका कहते हैं।

कमर दर्द के मुख्य कारण Causes of Lower back pain

आपका नौकरी या काम Your Job

अगर आपके ऑफिस के ज्यादातर काम में खींचना, भारी चीजों को उठाना या कुछ ऐसा काम करना जिससे आपके रीड की हड्डी को दबाव महसूस हो कमर के दर्द का मुख्य कारण हो सकता है। कभी-कभी लंबे समय तक ऑफिस के कुर्सी पर बैठे रहने पर भी कमर का दर्द होता है या पीठ मे असुविधा होती हैं।

आपका बैग / शरीर पर पड़ने वाला बोझ Your Bag

कभी-कभी काम के समय या फिर चलते समय जब हम किसी वजनदार सामान को उठाते हैं तो उससे भी हमारे कमर पर दबाव पड़ता है। हम जितना भी सामान उठाते हैं उसका दबाव हमारे रीड की हड्डी के निचले भाग पर पड़ता है जो हमारा कमर है।

कभी-कभी कुछ लोगों को कमर का दर्द उनका खुद का बैग उठाने के कारण भी होता है क्योंकि उनके बैग का वजन ज्यादा होता है और वह लंबे समय तक उसे अपने पीछे लटका कर रखते हैं। ऐसे में किसी चक्के वाले बैक का इस्तेमाल करना  आपके स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा।

जरूरत से ज्यादा व्यायाम Over or Excess Workout

कभी कभी जिम जाने वाले या गोल्फ खेलने वाले लोगों को अपने खेल या व्यायाम के दौरान मांसपेशियों पर ज्यादा जोर देने पर कमर का दर्द शुरू हो जाता है। ऐसे समय में या तो कुछ दिनों के लिए आराम करें या कुछ ऐसे आसान व्यायाम करें जिनसे आपके कमर पर दबाव ना पड़े।

इसे भी पढ़ें -  कृत्रिम परिवेशी निषेचन / टेस्ट ट्यूब बेबी IVF - In Vitro Fertilization Treatment Details Hindi

आपकी मुद्रा Your posture

आपने एक बात तो सुना ही होगा कि जब भी बैठे हैं सीधा बैठे। इसका सबसे बड़ा कारण यही है कि अगर आपके बैठने की मुद्रा ठीक नहीं है तो इसका सीधा असर आपक रीड की हड्डी पर पड़ता है।

कॉल सेंटर पर या सॉफ्टवेयर कंपनी पर काम करने वाल लोग या ऐसी कंपनियों में काम करने वाले लोग जहां जाता समय खड़े होकर काम करना पड़ता हो वैसे समय में कमर में दर्द एक साधारण बात होती है। ऐसे समय में कुछ देर के लिए ब्रेक लें क्योंकि स्वास्थ्य से बड़ा कुछ नहीं होता है।

Loading...

रीड़ की हड्डी के डिस्क पर चोट लगना Herniated Disc

रीड की हड्डी छोटे-छोटे हड्डियों के टुकड़ों से जुड़कर बना हुआ है जिन्हें डिस्क कहा जाता है और उन पर चोट लगने से अत्यधिक क्षति पहुंचने का खतरा बना रहता है। रीड की हड्डी के डिस्क पर अत्यधिक दबाव पड़ने पर या चोट लगने पर अत्यधिक पीठ दर्द होता है जिस अवस्था को हेरिन्टेड डिस्क कहा जाता ह।ै

कमर दर्द की कुछ बड़ी परेशानियां Chronic Conditions

कभी कभी कुछ बड़ी परेशानियों के कारण भी कमर के निचले हिस्से में बहुत ज्यादा दर्द होता है। कई प्रकार के कारण इसमें हो सकते हैं जैसे-

  • स्पाइनल स्टेनोसिस एक ऐसी अवस्था होती है जिसमें रीड की हड्डी के अंदर थोड़ी जगह बन जाती है जिससे स्पाइनल नर्व (spinal nerve) पर दवाब पड़ता है जिसके कारण कमर में अधिक दर्द महसूस होता है
  • स्पॉन्डिलाइटिस एक और ऐसी अवस्था है जिसमें रीड की हड्डी पर चोट लगने से पीठ में अत्यधिक जकड़न और दर्द महसूस होता है।
  • फाइब्रोमायल्जिया एक और ऐसी अवस्था है जिसमें मांसपेशियों में और कमर के निचले भाग मे और असहनशील दर्द होता है।

ज्यादातर कमर दर्द का खतरा किन लोगों के साथ बना हुआ रहता है? Who’s at Risk for Low Back Pain?

ज्यादातर लोगों को 25 से 30 वर्ष की उम्र के बाद से कमर दर्द का खतरा बना रहता है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ कमर दर्द की शिकायत भी धीरे-धीरे बढ़ कर चले जाते हैं। बढ़ती उम्र के साथ साथ कमर दर्द के कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं जैसे-

निदान Diagnosing Low Back Pain

अपने कमर के दर्द के निदान के लिए डॉक्टर को दर्द के विषय में अच्छे से बताएं, साथ ही किसी पुराने चोट के विषय में भी पूरी जानकारी दें जिससे डॉक्टर को इसका निदान ढूंढने में आसानी हो सके।

आपके डॉक्टर जरुरत के अनुसार एक्स रे(X-ray), सीटी स्कैन(CT Scan) या एमआरआई(MRI) करवाने के लिए आपको भेज भी सकते हैं। परंतु हो सकता है शुरुआती चिकित्सा डॉक्टर कुछ दवाइयों से शुरु करें।

इसे भी पढ़ें -  फ़ास्ट फ़ूड / जंक फ़ूड पर निबंध Essay on Junk Food in Hindi

कमर दर्द के लिए घर मे देखभाल कैसे करें Home Care for Low Back Pain

कमर में दर्द होने पर आप घर में ही कुछ बेहतरीन तरीकों से अपने कमर के दर्द के लिए देखभाल कर सकते हैं-

  • गरम पानी में नहाने से कमर का दर्द कम होता है।
  • गरम पैड का उपयोग करें और कमर की  जगह पर रखें।
  • इंफ्रारेड लैंप का उपयोग करें।
  • कमर दर्द होने पर भी अपने सभी काम नियमित रूप से करते रहें इससे कमर का जकड़न कम होता है।
  • कमर के दर्द को कम करने के लिए के लिए योगा एक बेहतरीन उपाय है। कई जगह में देखा गया है कि 3 से 4 महीने तक होने वाले लंबे कमर दर्द भी योगा के माध्यम से ठीक हो गए हैं। अगर कमर दर्द कम ना हो तो किसी अच्छे योग इंस्ट्रक्टर से मिले हैं और योग की मदद लें।

स्पाइनल मैनीपुलेशन Spinal Manipulation

स्पाइनल मैनीपुलेशन एक बेहतरीन सुरक्षित उपाय है जिसकी मदद से है आप अपनी कमर का दर्द दूर कर सकते हैं। इसमें कुछ ऑस्टियो पैथिक डॉक्टर कमर की जगह मांसपेशियों और हड्डियों को अपने हाथों की मदद से दबाकर इलाज करते हैं।

मसाज के द्वारा इलाज Massage Therapy

मांसपेशियों के मसाज के द्वारा भी कमर के दर्द को दूर किया जा सकता है। इसके लिए साथ में व्यायाम भी करना जरूरी होता है।

दवाइयां Medications

ज्यादातर छोटे-मोटे कमर दर्द दवाई की दुकानों पर मिलने वाले साधारण पेन किलर जैसे पेरासिटामोल,  आइबूप्रोफेन जैसे दवाइयों से छूट जाते हैं या आप चाहे तो डाईक्लोफेनाक अपॉइंटमेंट का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। अत्यधिक दर्द होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उनके द्वारा प्रेसक्राइब्ड दवाइयों का सेवन करें।

सर्जरी Surgery

अगर लंबे समय तक दर्द रहता है और किसी भी दवाइयों या अन्य प्रकार के इंजेक्शन से दर्द कम नहीं होता है तो आखिरी समय में चिकित्सक सर्जरी के लिए पेशेंट को कहते हैं।

कमर के दर्द से दूर कैसे रहे Preventing Low Back Pain

कमर के दर्द से दूर रहने के लिए कुछ चीजों का बहुत ध्यान देना जरूरी होता है –

  • अपना स्वस्थ वजन बनाए रखें जिससे कमर या पैरों पर ज्यादा दबाव ना पड़े।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • हमेशा सीधा चलें और सीधा बैठें।

आशा करते हैं आपको कमर दर्द के विषय में जानने में इस पोस्ट से मदद मिली होगी। यह पोस्ट मात्र जानकारी हेतु है किसी भी प्रकार की दवाइयां या इलाज के लिए इस पोस्ट की मदद ना लें। किसी भी प्रकार के इलाज के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Loading...

1 thought on “पीठ दर्द या कमर दर्द के लक्षण, कारण, इलाज Lower Back Pain Symptoms Causes Treatment in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.