Loading...

मक्का मदीना का इतिहास और तथ्य Makka Madina History Facts Hindi

3
Makka Madina History Facts Hindi

मक्का मदीना का इतिहास और तथ्य Makka Madina History Facts Hindi

क्या आप जानना चाहते हैं मक्का (Mecca) के अन्दर क्या है?
क्या आप जानते हैं मक्का मदीना कहाँ हैं?
क्या आप मक्का मदीना के इतिहास और तथ्य जानना चाहए हैं?
क्या सच में मक्का मदीना में कोई शिवलिंग / शिव मंदिर है?

Featured Image Credit – Google Maps Street View

इन सभी प्रश्नों के उत्तर जानने के लिए मक्का मदीना के इस पुरे इतिहास को पढ़ें और जाने।

मक्का मदीना का इतिहास और तथ्य Mecca / Makka Madina History Facts Hindi

मक्का मदीना – पवित्र स्थल (Mecca) Makka Madina –The Holy Place

मक्का मदीना मुस्लिमों के लिए जन्नत का दरवाज़ा है। हर मुस्लिम की यह इच्छा होती है कि जीवन में वो एक बार मक्का मदीना जाकर अपनी हज यात्रा को पूरा करे। इसी जगह कई हज़ार वर्ष पहले प्रथम बार कुरान की घोषणा हुई थी।

प्राचीन काल से मक्का मदीना व्यापार का केंद्र रहा है। यहाँ साल में बहुत कम बारिश होती है जिसके कारण यहाँ की जमीन अनुपजाऊ है।

Loading...

मक्का शहर का इतिहास और जानकारी Mecca / Makka City Details in Hindi

सऊदी अरब के एतिहासिक हेज़ाज क्षेत्र में मक्का शहर (Mecca City) स्थित है। मक्का इस्लाम धर्म का सबसे पवित्रतम स्थल है जहाँ पर काबा तीर्थ और सबसे बड़ा प्रसिद्ध मस्जिद मस्जिद-अल-हरम स्थित है। यहाँ की जनसँख्या 2012 की जनगणना के आधार पर लगभग 20 लाख थी परन्तु प्रतिवर्ष इससे 3 गुना ज्यादा हज तीर्थयात्रि प्रतिवर्ष यहाँ पहुँचते हैं।

हज के लिए तीर्थयात्री प्रतिवर्ष धू-अल-हिजाह के समय यहाँ पहुंचते हैं। इस स्थान को महान पैगम्बर मुहम्मद का जन्म स्थान माना जाता है और यह भी माना जाता है कि यही वह स्थान है जहाँ पहली बार मुहम्मद द्वारा कुरान की क्रांति की शुरुवात हुई थी।

काबा Kaba

मक्का में ही पवित्र काबा है। काबा वह पवित्र क्यूब आकार का ईमारत है जिसे माना जाता है की वह एक हज़ार चार सौ साल से भी पुराना है। परन्तु इस्लामी परंपरा के अनुसार इसे इब्राहीम के समय से जोड़ा जाता है। पुरे विश्व के सभी मुसलमान चाहे वह कहीं भी हों नमाज़ पढ़ते समय काबा की और मुहँ करके नमाज़ पढ़ते हैं।

यह भी पढ़े -   2017 हिन्दी दिवस पर भाषण Hindi Diwas Speech in Hindi

यहाँ के नगर का खर्च, हज के लिए जाने वाले मुस्लमान लोगों से लिए गए कर से चलता है। मक्का में पत्थरों से बना हुआ एक विशाल मस्जिद है जिसके बीचों बिच काबा है। काबा ग्रेफाइट पत्थर से बना हुआ 40 फीट लम्बा और 33 फीट चौड़ा ईमारत है। इसमें कोई भी खिड़की नहीं है परन्तु एक दरवाज़ा है। जो लोग भी हज के लिए जाते हैं वह तवाफ़ नाम की रस्म के अनुसार काबा की 7 परिक्रमायें करते हैं।

काबा के पूर्वी कोने में जमीन से लगभग 5 फीट की ऊंचाई पर पवित्र काला पत्थर स्थित है । काबा के 7 चक्कर लागाने के बाद इससे सभी मुस्लिम हज तीर्थयात्री चुमते हैं।

मक्का और मदीना क्षेत्र में गैर मुस्लिम लोगों का जाना मना है। काबा के ईमारत काले पत्थर और सोने से बना हुआ है। लोग इसका चक्कर लगाते समय इसके कोने के पत्थर को चुमते हैं।

आज के दिन में मक्का आकार और बुनियादी ढांचे में बहुत ही उन्नत हो चूका है। मक्का का अब्राज-अल बैत जो की मक्का रॉयल क्लॉक टॉवर होटल है दुनिया का तीसरा ऊँचा ईमारत है। मुसलमानों के जीवन के लिए मक्का शहर एक बहुत ही महत्वपूर्ण जगह है। मक्का शहर समुद्र तट से लगभग 910 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।

मक्का में शराब पीना पूरी तरीके से मना है क्योंकि यह एक पवित्र स्थल है।

मक्का मदीना हज तीर्थयात्रा Haj Pilgrimage

हर मुसलमान व्यक्ति को एक दिन में पांच बार पश्चाताप के साथ काबा की ओर मुख करके पूजा करना अनिवार्य है। साथ ही पैगम्बर मोहम्मद ने लोगों को अपने पापों से मुक्ति पाने के लिए जीवन में एक बार मक्का जाना जरूरी बताया है।

विश्व के कोने-कोने से मुस्लिम लोग पैदल, ऊंट चढ़ कर, ट्रकों, और जहाजों से यहाँ पहुंचते है। मक्का में पैगम्बर मोहम्मद के पैरों के चिन्ह भी बहुत ही सलामती से रखा गया है जो तीर्थयात्रियों के दर्शनार्थ के लिए है। इसके दर्शन पाने के बाद हज तीर्थयात्री स्वयं को धन्य मानते हैं।

मक्का का हज यात्रा बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि इसे इस्लाम का पांचवा स्तम्भ माना जाता है। यह भी कहा जाता है कि काबा वह स्थान है जहाँ से पृथ्वी की शुरुवात हुई थी।

मदीना शहर का इतिहास और जानकारी Madina City Details in Hindi

मदीना शहर भी हेज़ाज़ क्षेत्र के पश्चिमी भाग में स्तिथ है। इसे सम्मानपूर्वक अल-मदीना अल-मुनव्वरा के नाम से बुलाया है। मक्का के बाद यह इस्लाम का दूसरा पवित्र स्थान है। यहाँ पैगम्बर मोहम्मद को दफनाया गया है।

यह भी पढ़े -   संदीप महेश्वरी जीवनी Sandeep Maheshwari Wiki Biography in Hindi

मदीना शहर में इस्लाम के तीन प्रमुख मस्जिद मस्जिद अल नबवी (पैगंबर का मस्जिद), मस्जिद ए क़ुबा (इस्लाम के इतिहास का प्रथम मस्जिद) और मस्जिद अल क़िब्लतैन (वह मस्जिद जिसमें दो क़िब्लओं की तरफ़ मुंह करके नमाज़ पढी गयी) स्थित है।

आब ए ज़म ज़म का पानी Aab E Zam Zam Water

मक्का क्षेत्र में एक पवित्र कुआँ है जिसका नाम है ज़म-ज़म। शायद ही कोई मक्का-मदीना में हज के लिए जाने वाला तीर्थयात्री होगा जो ज़म-ज़म का पानी पिए बिना और लिए बना वापस लौटता होगा। माना जाता है ज़म-ज़म का पानी कुदरती तरीके से बहुत ही चमत्कारी है।

ज़म ज़म के पानी के कुछ चमत्कारी तथ्य Interesting Facts About Zam Zam Water

  • ज़म ज़म का पानी कई वर्षों से लाखों-करोड़ों तीर्थयात्रियों द्वारा पीने के बाद भी आज जरूरत के मुताबिक मौजूद है।
  • आज तक इसका पानी कभी भी ख़तम नहीं हुआ है और ना सुखा है।
  • इसके पानी का स्वाद हमेशा एक सा रहा है।
  • ज़म ज़म के पानी कैल्शियम और मैग्नीशियम के साल्ट पाए गए हैं जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं बल्कि बहुत ही स्फूर्तिदायक हैं।
  • कहा जाता है ज़म ज़म के पानी को पीने से शरीर को ताकत मिलती है।
  • ज़म ज़म का पानी पुरु तरीके से स्वच्छ है और इसके पानी में किसी भी प्रकार के जैविक विकास नहीं पाया गया है।

जेद्दाह Jeddah

जेद्दाह मक्का, सऊदी अरब के पश्चिमी क्षेत्र में स्तिथ एक प्रमुख शहर है। रिज़ॉर्ट होटल, समुद्र तट और अब्दुल-अज़ीज़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भी यहीं स्तिथ है। हज तीर्थयात्रा के समय यहाँ बहुत ज्यादा भीड़ होती है।

यही पर मुख्य रोड पर जाते समय पुलिस गैर मुस्लिम लोगों को जाने से रोक दिया जाता है। वहीं से 50 मिल की दूरी पर एक सुन्दर पर्वतीय शहर है जिसका नाम है तैफ।

मक्का मदीना में शिवलिंग Shivlinga in Makka Madina

ऐसा बहुत कुछ आपने सुना होगा और इन्टरनेट पर कई विडियो में देखा भी होगा कि मक्का में कुछ हिन्दू रस्म भी निभाए जाते हैं और वहां शिवजी का मंदिर और शिवलिंग भी है।

आपको मैं बताना चाहता हूँ की ऐसी कोई बात नहीं है। मक्का मैं ना ही कोई शिवलिंग है और शिव मंदिर। वहां कोई भी हिन्दू रीती रिवाज़ के अनुसार पूजा नहीं किया जाता है।

आशा करते हैं आपको यह पोस्ट मक्का मदीना का इतिहास और तथ्य Makka Madina History Facts Hindi अच्छा लगा होगा। यह पोस्ट मात्र मक्का मदीना के इतिहास के विषय में जानकारी के लिए है। हिंदी लिखते समय कुछ छोटी गलतियां हो सकती है। इस पोस्ट में अगर आपको किसी भी प्रकार की गलती दिखे तो तुरंत comment के माध्यम से हमें बताएं।

Print Friendly, PDF & Email
Loading...
Load More Related Articles

3 Comments

  1. Sakshr

    April 6, 2017 at 9:50 am

    I like your post. Thanks to give me this information.

    Reply

  2. vinit tripathi

    July 26, 2017 at 11:52 am

    Nice

    Reply

  3. Khushboo sangevieya

    August 30, 2017 at 8:15 pm

    very nice I like your post

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

2017 हिन्दी दिवस पर भाषण Hindi Diwas Speech in Hindi

2017 हिन्दी दिवस पर भाषण Hindi Diwas Speech in Hindi हिन्दी दिवस पर अपने स्कूल, कॉलेज के क…