एमएसएमई क्या है? इसके फायदे MSME Scheme Details in Hindi?

आईये जानते हैं एमएसएमई क्या है? इसके फायदे क्या हैं? MSME Scheme Details in Hindi?

एमएसएमई क्या है? इसके फायदे MSME Scheme Details in Hindi?

MSME पंजीकरण क्या है?

आज हम इस आर्टिकल में MSME स्कीम के बारे में बात करेंगे। ये स्कीम लघु व् सूक्ष्म उधोगो को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गयी है इसके तहत कई लघु उधोगो को फायदा मिलता है। भारत सरकार ने लघु उधोगो को बढ़ावा देने के लिए कई सारी योजनाएं शुरू की है जिनका लाभ MSME रजिस्ट्रेशन के माध्यम से उठाया जा सकता है।

कई सारी सरकारी स्कीम्स ऐसी भी है जिनमे  बिना MSME का रजिस्ट्रेशन करवाए लाभ नहीं उठाया जा सकता है तो इसे करवाना बहुत जरुरी है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप जान सकेंगे के की MSME स्कीम क्या है और कैसे हम इसपे रजिस्टर कर सकते है और इस स्कीम के क्या-क्या फायदे है।

MSME पंजीकरण क्या है?

Micro, Small and Medium Enterprise (MSME) रजिस्ट्रेशन एक सरकारी रजिस्ट्रेशन है जिसे सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा संचालित किया जाता है। ये रजिस्ट्रेशन उन व्यवसाय के लिए है जो लघु, सूक्ष्म या फिर मध्यम वर्ग उद्योगों में आते है और इसे मंत्रालय द्वारा वर्गीकृत किया गया है जिसके तहत अगर किसी व्यवसाय को इसमें पंजीकृत किया जाता है तो उसे कई सारे सरकारी फायदे मिलते है।   

Enterprises
उद्यम
Manufacturing Sector
(Investment in plant &
machinery) निर्माण क्षेत्र
(प्लांट और मशीनरी में निवेश)
Service Sector
(Investment in equipments)
सेवा क्षेत्र (उपकरण में निवेश)
Microसूक्ष्मपच्चीस लाख रुपये से अधिक नहीं हैदस लाख रुपये से अधिक नहीं है
Small लघुपच्चीस लाख रुपये से 
अधिक लेकिन पांच 
करोड़ रुपये से अधिक नहीं
दस लाख रुपये से अधिक लेकिन 
दो करोड़ रुपये से अधिक नहीं
Medium मध्यमपांच करोड़ रुपये से अधिक 
लेकिन दस करोड़ रुपये से 
अधिक नहीं 
दो करोड़ रुपये से अधिक 
लेकिन पांच करोड़ रुपये से 
अधिक नहीं

जैसे की आप ऊपर दी गयी टेबल में देख सकते है की सरकार ने  एमएसएमई को उनके टर्नओवर और केटेगरी के हिसाब से वर्गीकृत किया है। जैसे की आप देख सकते है की दो अलग-अलग क्षेत्र हैं जो विनिर्माण और सेवा क्षेत्र हैं जिसके तहत एक व्यवसाय पंजीकृत किया जा सकता है। MSME रजिस्ट्रेशन के माध्यम से सरकार को पता चल सकेगा की हमारे देश में कितने लघु उधोग चल रहे है और उनके लिए बेहतर नियम व् फायदे देने के लिए  सरकार ये रजिस्ट्रेशन करती है। 

इसे भी पढ़ें -  विमुद्रीकरण के फायदे और नुकसान Advantages Disadvantages of Demonetization in Hindi

अब एमएसएमई पंजीकरण की प्रक्रिया बदल दी गई है,अब MSME Registration online भी किया जा सकता है उसके लिए आपको उद्योग आधार का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। आप अपने कंपनी, पार्टनरशिप फर्म, LLP फर्म का उधोग आधार रजिस्ट्रेशन करवा सकते है पर उनका बिज़नेस रजिस्ट्रेशन किया हुआ होना चाहिए जैसे पार्टनरशिप फर्म के लिए Partnership Firm Registration होना चाहिए। 

उधोग आधार एक 12 अंको का अद्वितीय नंबर है जो सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय द्वारा आवंटित किया जाता है जो Udyog Aadhar रजिस्ट्रेशन के बाद मिलता है। इसे मिलने के बाद सरकारी स्कीम्स का फायदा उठा सकेंगे।

इसके रजिस्ट्रेशन के लिए आपको उधोग आधार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और वह पे उधोग आधार मेमोरेंडम भरना होगा। और उसे भरते समय सारी आवश्यक जानकारी उसमे लिखनी होगी जैसे व्यापार प्रमाण, पता प्रमाण, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, बैंक विवरण, इत्यादि। फॉर्म भरने के बाद आपको उधोग आधार सर्टिफ़िकेट मिलेगा वो ही आपका MSME सर्टिफ़िकेट भी होगा।

MSME के फायदे क्या हैं?

MSME registration के फायदे निम्नलिखित हैं-

  • MSME रजिस्ट्रेशन के बाद आपको आसानी से लोन मिल सकेगा वो भी कम ब्याज पर जैसे आप MUDRA स्कीम का लाभ ले सकते है जिसके तहत आसानी से लोन मिल सकेगा। 
  • एमएसएमई पंजीकरण के बाद, आपकी COST कम हो जाएगी क्योंकि विभिन्न योजनाएं हैं जो निर्माता को सब्सिडी प्रदान करती हैं। जीएसटी में भी छूट दी जा रही  है और आपको कई सारे टैक्स बेनिफिट्स भी मिलेंगे। 
  • इसे प्राप्त करने के बाद, आप विदेशी एक्सपो में भाग ले सकते हैं और आपको इसके लिए सरकार से सब्सिडी मिलेगी।
  • MSME रजिस्ट्रेशन के बाद आप कई सारी सरकारी स्कीम्स का फायदा उठा सकेंगे और सरकार आपको कई सारी स्कीम्स के तहत आपको सब्सिडी भी देगी।  बिना MSME रजिस्ट्रेशन आप उन सरकारी स्कीम्स का लाभ नहीं उठा सकेंगे जिनमे MSME रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है।

निष्कर्ष 

जैसे की आप ऊपर दिए गए लेख में देख सकते है की MSME रजिस्ट्रेशन आज के समय में कितना जरूरी है क्योंकि इसके बिना आप सरकार की कई सारी स्कीम्स से वंचित रह जायेंगे तो अगर आपका व्यवसाय MSME के लिए रजिस्टर हो सकता है तो उसे जरूरी करवाए, ऊपर MSME का वर्गीकरण किया गया है तो उस हिसाब से अपने व्यवसाय का MSME रजिस्ट्रेशन ज़रूर करवाए जैसे की आप देख सकते है की आज कल MSME Registration online भी करवा सकते है।

इसे भी पढ़ें -  प्रोपराइटरशिप या एकल स्वामित्व क्या होता है और इसका पंजीकरण कैसे कराएं? What is Proprietorship in Hindi? and Its Registration Process

Official Website –

https://msme.gov.in/

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.