मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध My Favourite Teacher essay in Hindi

इस लेख में गमने ‘मेरे प्रिय शिक्षक’ (My favorite teacher in Hindi)- राधेश्याम सर: पर निबंध लिखा है। वह पढ़ाई, अनुशासन और छात्र विकास के पूरक उदहारण हैं।

मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध- राधेश्याम सर Essay on My favorite teacher in Hindi (1200 Words)

परिचय:

हम सभी अपने जीवन में एक शिक्षक के मूल्य को जानते हैं। शिक्षक का हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण स्थान होता है। शिक्षक हमें हमारे अस्तित्व के लिए आवश्यक ज्ञान की बातें सिखाते है। शिक्षक द्वारा प्रदान की जाने वाली शिक्षा छात्रों के जीवन को बदल देती है। एक आदर्श शिक्षक खुद के बारे में कुछ नहीं सोचता है, वह केवल अपने छात्रों की परवाह करता है।

बच्चे शिक्षित बनते हैं और जीवन में सफलता प्राप्त करते हैं,तो एक शिक्षक को और भी अधिक गर्व महसूस होता है। इसलिए, शिक्षक को अपने छात्रों से बहुत लगाव होता है। प्रत्येक शिक्षक को आवश्यक और समान रूप से छात्रों द्वारा प्यार और सम्मान किया जाता है।

हालांकि हम अपने सभी शिक्षकों को समान रूप से दर्शातें हैं, कभी-कभी एक व्यक्तिगत शिक्षक का उनके कुछ गुणों के कारण, हम उन्हें ज्यादा पसंद करते है और वे हमारे पसंदीदा शिक्षक बन जाते है। उनके ये गुण कुछ भी हो सकते है जैसे की उनकी रचना, सहकारिता और प्रेम पूर्ण स्वभाव, पढ़ाने का तरीका या एक उत्कृष्ट शैक्षिक ज्ञान आदि-आदि ।

मेरे भी एक पसंदीदा शिक्षक हैं, जिन्होंने कभी-कभी मुझे अपनी शैक्षणिक उत्कृष्टता और अपने प्रत्येक छात्र के साथ समान व्यवहार करने की दुर्लभ क्षमता से प्रभावित किया है। मुझे याद है कि वह सवाल का जवाब देते समय जरा सा भी नहीं हिचकिचाते हैं ।

नहीं समझने पर कोई कितना बार भी पूछता है तो वे कभी बह नहीं झुंझलाते है और प्रत्येक सवाल का विस्तार से समझते है जिससे सभी छात्र पाठ्य को अच्छी तरह समझ जाता है इसके अलावा, उनके पास सभी छात्रों के साथ समान व्यवहार करने की असामान्य क्षमता है।

व्याख्यान देते समय, वह सभी के साथ बातचीत करते है, सभी को साथ लेकर क्लास में आगे बढ़ते है, यहां तक कि बैकबेंचर्स को भी नहीं बकसते  है। यह केवल उनके निष्पक्ष और सभी स्टूडेंट्स को साथ लेकर चलने के स्वभाव को दर्शाता है और वह अपने पेशे को कितनी गंभीरता से लेता है।

एक माली के रूप में, शिक्षक न केवल अपने विद्यार्थियों को पौधों के रूप में बड़ा करता है, बल्कि उन्हें बेहतर व्यक्तित्व का विकास करके गुणों की खुशबू से भर देता है। हमारे सामाजिक, शिक्षात्मक और मानसिक स्तर के निर्माण में शिक्षक का महत्वपूर्ण योगदान है।

शिक्षक के मार्गदर्शन के बिना कोई भी छात्र अपने जीवन में सफलता प्राप्त नहीं कर सकता है, इसलिए शिक्षक सभी के जीवन में मौलिक रोल ऐडा करते है। कुछ शिक्षक छात्र के जीवन के लिए प्रेरणा बन जाते हैं।

मेरे प्रिय शिक्षक कौन है?

जिस शिक्षक ने मुझे सबसे अधिक प्रभावित किया, वह हैं मिस्टर राधेश्याम सर। वह एक उत्कृष्ट शिक्षक हैं जो हमारे स्कूल में वरिष्ठ कक्षाओं में गणित पढ़ाते हैं। उनके शिक्षण के तरीके और उनके प्रभावशाली व्यक्तित्व के कारण, प्रत्येक छात्र उनकी प्रशंसा करता है और उनका सम्मान करता है।

उनकी सबसे अच्छी बात यह है कि वह सभी छात्रों के साथ समान व्यवहार करते हैं और सभी के साथ बहुत विनम्रता और सौम्यता से पेश आते हैं। वह हमेशा सुंदर सरल भाषाओं व्याख्या करके छात्रों को पड़ते है जिससे प्र्त्येक छात्र अच्छी तरह से लेक्चर को समझ जाता है ।

इसे भी पढ़ें -  भारतीय सभ्यता पर निबंध Essay on Indian Culture in Hindi - Bharatiya Sabhyata

वह मेरे प्रिय शिक्षक क्यों हैं?

वह हमारे विद्यालय के आदर्श शिक्षक और उप-प्राचार्य हैं। वह अपने छात्रों के लिए प्रेरणा का एक उत्कृष्ट स्रोत है। अपने सहयोगियों और छात्रों के प्रति उनका व्यवहार उत्कृष्ट और प्रशंसनीय है। स्कूल का हर छात्र उनका बहुत सम्मान करता है। अपने परिश्रम के कारण, वह हर जगह पहचाने जाते है। उनके जैसे शिक्षक बहुत कम मिलते हैं।

स्कूल और हमारी कक्षा के प्रत्येक छात्र को उसकी शिक्षण शैली पसंद है क्योंकि यह अपने शुद्धतम रूप में बच्चों को पढ़ाते है। एक बार जब सर गणित का पाठ पढ़ाते हैं, तो वे हमें इसे घर पर दोहराने और दो बार अभ्यास करने के लिए कहते हैं, जो उन्हें स्कूल के अन्य शिक्षकों से अलग बनाता है।

जब वह हमें हल करने के लिए प्रश्न देते है, तो एक बार जब हम प्रश्न हल कर लेते हैं, तो वह संख्याओं को अलग-अलग करके अधिक बार अभ्यास करवाते है, जो हमें विषय को ज्यादा से ज्यादा समझने का अवसर देता है।

वह एक प्रेरणाश्रोत है:

मेरे पसंदीदा शिक्षक श्री राधेश्याम सर सभी छात्रों के साथ उच्च व्यवहार करते हैं और हमेशा अपने छात्रों को जीवन में आगे बढ़ने और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। उन्होंने मेरी समझ को विकसित करने में भी मेरी मदद की और मुझे इस योग्य बनाया कि मैं अपने जीवन के लक्ष्यों को प्राप्त कर सकूँ।

हमारे पसंदीदा शिक्षक राधेश्याम सर हमेशा कमजोर छात्रों पर अधिक ध्यान केंद्रित करते है ताकि एक भी छात्र पीछे नहीं रह जाये । कक्षा के उत्कृष्ट छात्रों से भी कमजोर सहयोगियों की मदद करने का अनुरोध करते  है।

वह हमेशा छात्रों से कहते है कि हमेशा पढ़ाई और जीवन के लक्ष्य के बारे में जागरूक रहो। वह न केवल पढ़ाई में बहुत सहायक है, बल्कि हमें पाठ्येतर गतिविधियों में भी भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करते रहते है। वह हमेशा उन छात्रों को प्रेरित करता है जो पढ़ाई और खेल में भी अच्छा करते हैं।

चूंकि राधेश्याम सर स्कूल के पास रहता है, इसलिए वह हर शाम कक्षा के कमजोर छात्रों को एक घंटे के लिए मुफ्त ट्यूशन देतें है। प्रत्येक छात्र को घर पर ट्यूशन शुरू करने के बाद अब बेहतर परिणाम मिल रहा है, और अब तक, हर साल मैथ्स विषय के परिणाम में सुधार हो रहा है।

बाल-मनोविज्ञान के विशेषज्ञ:

वे बाल मनोविज्ञान के विशेषज्ञ हैं। बच्चे क्या चाहते हैं, वह क्या सोचते हैं, वह इन सभी बातों को जानते हैं। जब उन्हें लगता है कि छात्र ऊब रहे हैं, तो वह अपने भाषणों में कुछ हास्य जोड़कर कक्षा के वातावरण को जीवंत और हसमुख बना देते है।

कक्षा का माहौल खुशमय हो जाता है, और कक्षा में हर कोई उन्हें फिर ध्यान से सुनता है। सुबह की सभा, प्रयोगशाला, पुस्तकालय और खेल के मैदान में उनकी उपस्थिति छात्रों के लिए बहुत प्रेरणादायक रहती है।

वह उत्कृष्ट और विनम्र है, लेकिन वह पढ़ाने के दौरान सख्त हो जाता है और चाहते है कि पढ़ाते समय कोई भी छात्र इधर उधर की बातें ना करे , केवल बस केवल पढ़ाई पर ही केन्द्रित करे।

वह कोमल चुटकुलों के साथ कक्षा को खुश करने के लिए पूरे स्कूल में प्रसिद्ध है, लेकिन वे यह सुनिश्चित करते है कि छात्र परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करें। वह उत्कृष्ट शिक्षण क्षमता, सबसे मिलनसार स्वभाव, हास्य की अच्छी इस्तेमाल और शिक्षक के अन्य अच्छे गुणों के साथ संपूर्ण शिक्षक हैं।

छात्रों में नैतिकता का ज्ञान : 

कक्षा में पढ़ाने के साथ-साथ वह हमें कई अच्छी बातें भी समझाते है जैसे: –

  1. बड़ों का सम्मान करना,
  2. सुबह जल्दी उठना,
  3. बड़ों के पैर छूने के लिए,
  4. अपनी गलती के लिए माफी मांगना और फिर से ना हो इसके लिए ध्यान देना
  5. विनम्र तरीके से व्यवहार करना आदि।
इसे भी पढ़ें -  उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना की पूरी जानकारी UP Mukhyamantri Yuva Swarojgar Yojana details in Hindi

सख्त अनुशासन लेकिन मददगार :

हमारे पसंदीदा शिक्षक राधेश्याम सर सभी चीजों की विस्तार से व्याख्या करते है और प्रेरक व्यक्तित्व वाले लोगों के जीवन की कहानियां भी सुनाते है। अगर हम गलती करते हैं, तो कभी-कभी हमें हल्की डांट भी पड़ती है।

लेकिन डांट के पीछे हमारी क्या भलाई है उसे भी समझाते है। वह हमेशा छात्रों के उत्साह को बढ़ाने की कोशिश करते है और उन्हें खेल और पढ़ाई पर भी समान ध्यान देना सिखाते है।

निष्कर्ष

शिक्षक कुम्हार के समान है, जो मिट्टी के बर्तन बनाते समय, इसे एक हाथ से संभालता है और दूसरी तरफ से इसे आकार देता है। इसी तरह, शिक्षक भी हमें भय और अनुशासन के एक मिश्रण के साथ विकसित करते हैं ताकि हम बेहतर भविष्य की ओर बढ़ सकें।

शिक्षक के बिना बेहतर समाज संभव नहीं हो सकता। शिक्षक हमें समुदाय में जीवंत बनाता है और सोचने और समझने की क्षमता विकसित करता है। हमें अपने प्रिय शिक्षक के साथ-साथ हर शिक्षक का सम्मान करना चाहिए।

मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध My Favourite Teacher essay in Hindi (800 Words)

एक शिक्षक का हमारे जीवन में एक बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान होता है। एक शिक्षक हमें उन ज्ञान की बातों को सिखाता है जो हमारे जीवन के लिये अत्यधिक जरूरी हैं। शिक्षक के द्वारा दी गई शिक्षा से हम बच्चों का जीवन बदल जाता है।

शिक्षक अपने लिये कुछ नहीं सोचता वह केवल अपने बच्चों की चिंता करता है। बच्चे अपने शिक्षक से पढ़कर आगे कार्यरत हो जाते है तब एक शिक्षक और भी गर्व महसूस करता है। अतः हम कह सकते है शिक्षक को अपने छात्र से बेहद लगाव होता है।

मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध My Favourite Teacher essay in Hindi

मेरे पसंदीदा शिक्षक श्रीमान प्रतीक है जो मुझे गणित पढ़ाते है। उन्होंने अपनी पढाई अमेरिका में पूरी की थी। वह बहुत नरम, दयालु, सौम्य, और समझदार है। वह हमेशा छात्रों की समस्याओं को धैर्यपूर्वक सुनने के लिये तैयार रहते है।

वह किसी भी बच्चे को मदद के लिये कभी मना नहीं करते है। कई बार वह छात्रों की मदद करने के अपने तरीके से छात्रों के बीच प्रसिद्ध है। उनके ये सभी गुण उन्हें न केवल मुझे बल्कि सभी छात्रों का पसंदीदा बनाते हैं। वह हमारे खेल प्रभारी भी हैं। इसलिए हम सभी अपनी पर्यवेक्षण के तहत खेल खेलना पसंद करते हैं।

मैं अपने अध्ययन को लेकर बहुत परेशान था क्योंकि मैं अपने सहपाठियों की तरह  होशियार नहीं था पर मेरे शिक्षक ने मुझे आगे बढ़ाने के लिये अथक मेहनत की और विद्यालय में छुट्टी के बाद भी उन्होंने मुझे अन्य कक्षायें भी दी।

मैं आपको बताता हूं कि वो वह मेरे पसंदीदा शिक्षक क्यों है। ऐसे कई कारण हैं कि वह मेरे पसंदीदा शिक्षक हैं। मैं गणित में बहुत कमज़ोर था। उन्होंने मुझे गणित के अपने डर को अपने सरल और प्रभावी तरीके से दूर करने में मेरी मदद की। वह हर छात्र के ऊपर समान रूप से ध्यान देते है।

वह हर अवधारणा को सटीक और सरल तरीके से हल करने की सरल विधि बताते है कि कोई भी इसे तुरंत सीख सकता जाता है। वह कुछ भी समझाने के लिये सर्वोत्तम उदाहरण देते है। शिक्षण के अपने सर्वश्रेष्ठ तरीके के अलावा वह बहुत समयबद्ध भी है। वह कक्षा में देर से कभी नहीं आते है और हमेशा समय पर अपना पाठ्यक्रम पूरा कराते है।

उन्होंने हमें कई असाइनमेंट दिये जो हमारी गणित में सुधार के लिये थे। जब भी हम अपने वर्गों में प्रश्न पूछते हैं,वह हमें सिखाने के लिये बहुत उत्साही रहते है। उन्होंने हमें स्कूल या सप्ताहांत में स्वैच्छिक काम करने के लिए प्रोत्साहित किया।

इसे भी पढ़ें -  विश्व स्वास्थ्य संगठन क्या है? World Health Organisation Details in Hindi

वह वाई एम सी ए के प्रभारी भी है और उन्होंने छात्रों के एक समूह को विभिन्न प्रकार की सेवाओं के लिये नेतृत्व किया। जैसे कि वरिष्ठ नागरिकों के लिये घरों की सफाई करना, दान के लिये स्टिकर बेचना और अग्रणी अंधे लोग लोगों के लिये भी वह काम कर रहे है। हालांकि जब छात्र समय पर असाइनमेंट नहीं देते है तो कभी-कभी वह क्रोधित भी हो जाते है।

हालांकि वह गणित के शिक्षक है और वह कला से प्यार करते है। वह हर सुबह असेंबली में सभी बच्चों के साथ प्रार्थना भी गाते है। उनकी आवाज़ बहुत अच्छी है। प्रतीक सर न केवल एक अच्छे शिक्षक है बल्कि वह एक अच्छे इंसान भी है।

वह गरीब छात्रों की फीस भी चुकाते है। वह छात्रों के लिये मुफ्त कक्षाएं लेते है। वह स्वस्थ जीवनशैली जीते है। वह खेल में भी बहुत अच्छे है। अन्य शिक्षकों के साथ विद्यालय में आकर वह सबको सुप्रभात कहते है।

वह हमें कक्षा में होने वाली प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिये प्रेरित करते है या आंतरिक स्कूल प्रतियोगिता के दौरान  बहुत अच्छे से दिशा निर्देशित करते है। वह हमें कक्षा में अपने सहपाठियों के साथ में समान को मिलजुल कर बाँटने की सलाह देते हैं।

वह हमारा चरित्र मजबूत बनाते है और हमें अच्छी नैतिकता वाले आचरण को सिखाते है। उनकी शिक्षा हमेशा मेरे साथ रहेंगी और कठिन परिस्थितियों में हमें सही रास्ता दिखाते है। शायद अगले बर्ष वह हमारी कक्षा अध्यापक नही होंगे हालांकि उनकी दी गई शिक्षायें हम हमेशा याद रखेंगे। वह स्वभाव से बहुत अधिक प्यार करने वाले और नम्र है। वह उच्च शिक्षा के दौरान विश्वविद्यालय में स्वर्ण पदक विजेता रह चुके है। वह हमेशा सबसे अच्छे अध्यापक रहेंगे।

अगर कोई कुछ गलत कर रहा है तो वह उसे डांटते है, और उस बच्चे को उसकी गलती के बारे में भी बताते है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि उन्हें इस वर्ष ” सबसे प्रिय शिक्षक” के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। काश वह कभी हमारे स्कूल को छोड़कर न जाये और हमें गणित अपने अद्भुत तरीके से सिखाते रहे।

मैं उनकी कक्षा में कभी भी अनुपस्थित नहीं होता हूँ। वह  हमारे जीवन में हमेशा सही रास्ते पर चलना सिखाते है, चाहे हम किसी भी बड़ी कठिनाई में हो। वह हमें यह सिखाते है कि, कभी हमें कभी भी नकारात्मक नहीं सोचना चाहिए और हमेशा हमें सकारात्मक रहना सिखाते है, क्योंकि जैसा हम विचार करते हैं, हमारे साथ हमेशा वैसा ही होता है।

वह गणित के साथ-साथ पर्यावरण के बारे में भी हमें बहुत अच्छा ज्ञान देते है। वह चाहते है कि हम सभी उनकी कक्षा में हिन्दी भाषा का उपयोग करें जो कि हमारी मात्रभाषा है। वह अपने घर हमारी स्कूल की बस में हम सभी बच्चों के साथ जाते है, जहाँ हम सभी बच्चे बस में उनके साथ गाना गाते है और वह हमें कविता सुनाने है और हम सब बहुत अधिक आनंद लेते हुये घर जाते हैं।

मेरे प्रिय शिक्षक प्रतीक जी की कुछ निजी बाते

उनकी आंखें चमकदार और उनके बालों का रंग काला है। वह अन्य लोगों की तुलना में थोड़ा ज्यादा लंबे है। वह हमेशा पढाई खुश होकर पढ़ाते है। जिससे हम सब बच्चे उनकी कक्षा में खुश होकर पढ़ते है। मै स्कूल हॉल में पहली बार उनसे मिला था।

वहां मैंने उनको देखा तो वह मुझे वह मुझे सख्त लग रहे थे हालांकि, हमें उनकी कक्षाओं के दौरान बहुत मज़ा आया क्योंकि वह अपनी कक्षा में हमें किताबों की पढाई के अलावा अंग्रेजी में चुटकुले भी बताते है। जिससे उनकी कक्षा में हम सभी बच्चों का मन भी लगा रहता है और हमें पढ़ने में बहुत आनंद आता है। अतः हम कह सकते है कि उनके पास बच्चों को शिक्षा देने का अच्छा कौशल है।

5 thoughts on “मेरे प्रिय शिक्षक पर निबंध My Favourite Teacher essay in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.