भारत में राष्ट्रीय युवा दिवस National Youth Day in India Hindi

इस लेख में बेहद आकर्षक ढंग से राष्ट्रीय युवा दिवस पर निबंध (Essay on National Youth Day in Hindi) लिखा गया है। इसमें राष्ट्रीय युवा दिवस क्या है, क्यों मनाया जाता है, कब है, महत्व, कैसे मनाया जाता है, की पूरी जानकारी दी गयी है।

भारत में राष्ट्रीय युवा दिवस National Youth Day in India Hindi

किसी भी देश के निर्माण में युवाओं का बहुत बड़ा योगदान होता है। भारत में युवा जनसंख्या अन्य देशों की तुलना में सबसे अधिक है। देश के युवाओं को नई दिशा और मार्गदर्शन देने के लिए स्वामी विवेकानंद की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है।

राष्ट्रीय युवा दिवस क्या है? What is National Youth Day in Hindi?

विवेकानंद जो एक महान संत और सामाजिक नेता थे, उनके दिए गए शिक्षाओं पर अमल करके जीवन को बेहतरीन बनाया जा सकता है। जब भारत को दुनिया में गरीबों का देश कहा जाता था, तब स्वामी विवेकानंद ने दुनिया को भारतीय मूल से उपजे वेदांत तथा योग से अवगत कराया।

स्वामी विवेकानंद के कारण ही भारत को विश्व गुरु का दर्जा मिला। उनके विचारों और शिक्षा को न सिर्फ भारत में बल्कि दुनिया के कई हिस्सों में एक प्रेरणा की तरह देखा जाता है। युवाओं के अंदर अध्यात्मिकता और ज्ञान का संचार करने वाले स्वामी विवेकानंद की सिखाई गई बातें बेहद मूल्यवान है। 

हिंदुस्तान को दुनिया से परिचित करवाने वाले युवा संत स्वामी विवेकानंद के प्रयासों से प्रेरणा लेते हुए, हर वर्ष 12 जनवरी के दिन राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। 12 जनवरी 1863 के दिन कोलकाता में स्वामी विवेकानंद का जन्म हुआ था। 

उनके बचपन का नाम नरेंद्र नाथ दत्ता था, लेकिन आगे चलकर उन्होंने भारत की दिशा ही बदल दी और स्वामी विवेकानंद के नाम से जाने गए। स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर 12 जनवरी को भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है।

सन 1884 में संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा अंतरराष्ट्रीय युवा वर्ष मनाने की घोषणा की गई। जिसके पश्चात भारत सरकार ने इस दिन के महत्व को समझते हुए 12 जनवरी के दिन स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर पूरे देश में राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने का प्रस्ताव पारित किया। 

और पढ़ें -  जीवन में त्यौहारों का महत्व निबंध Essay on Importance of Festivals in Life (Hindi)

स्वामी विवेकानंद ऐसे महान सदी पुरुष थे, जिन्होंने दुनिया के लोगों को जीवन जीने की कला सिखाया है। राष्ट्रीय युवा दिवस को विवेकानंद की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है। वे ऐसी महान शख्सियत थे, जिनके शिक्षा पर अमल करके सफलता प्राप्त की जा सकती है। 

राष्ट्रीय युवा दिवस के दिन पूरे भारत में विभिन्न प्रकार के सम्मेलनों का आयोजन किया जाता है। यह दिन सभी भारत वासियों के लिए बहुत अहम दिन होता है, जिसे सभी लोग बड़े ही उत्साह से साथ मिलकर मनाते हैं। 

राष्ट्रीय युवा दिवस क्यों मनाया जाता है? Why is National Youth Day Celebrated in Hindi?

राष्ट्रीय युवा दिवस केवल एक उत्सव ही नहीं बल्कि सकारात्मक ऊर्जा से भरा हुआ एक संदेश है। आज के समय में देश के कई प्रतिशत युवा अपने भविष्य के लिए कोई प्रयास नहीं करते। 

समाज में टेक्नोलॉजी के कारण कई सारी बुराइयां पनप रही हैं। ऐसे में हमें उन उच्च आदर्शों का पालन करने की आवश्यकता है, जिसने दुनिया की चेतना को झकझोर कर रख दिया था। 

स्वामी विवेकानंद जैसे अनेकों महान आत्माओं ने भारत में जन्म लिया है। पूरी दुनिया ने इन महान आत्माओं से बहुत कुछ सीखा है। लेकिन यह हमारा फर्ज बनता है, कि हमें अपने पूर्वजों के आदर्शों का पालन करना चाहिए और जीवन को सकारात्मक दिशा देना चाहिए।

12 जनवरी 1984 के दिन भारत सरकार ने स्वामी विवेकानंद की जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस का नाम इसीलिए दिया ताकि आगे चलकर युवा पीढ़ी ऐसे महान व्यक्तित्व को सदा ही अपने स्मृति में सजोए रखें और उनके बताए हुए मार्ग पर आगे बढ़े। 

स्वामी विवेकानंद से जुड़ी हुई एक सुप्रसिद्ध घटना तब हुई थी, जब उन्होने अमेरिका के शिकागो में आयोजित किए गए विश्व धर्म संसद में भारत को परिभाषित किया। स्वामी जी ने अमेरिका वासियों के समक्ष जैसे ही अपना भाषण शुरू किया, तभी कुछ पलों के अंदर ही मंच तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। 

भारतीय संस्कृति का परचम उन्होंने दुनिया भर में लहरा पर फिर से दुनिया की प्राचीनतम संस्कृति को जीवंत कर दिया है। आज भी दुनिया ऐसे महामानव को भूल नहीं पाई है, जिन्होंने अपने स्वार्थ से अलग हटकर विश्व के लिए कल्याण का कार्य किया है। 

भारत वाकई में दुनिया की सबसे भाग्यशाली भूमि है, जहां एक नहीं बल्कि अनेकों बार ऐसे महान आत्माओं ने जन्म लेकर भारत माता के गौरव को बढ़ाया है। स्वामी जी के विचार और आदर्शों को जीवंत रखने के लिए हर वर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है।

और पढ़ें -  सभी भारतीय त्योहारों की सूची List of all Indian Festivals in Hindi

राष्ट्रीय युवा दिवस का उद्देश्य देश में युवा पीढ़ियों को देश के लिए अच्छे कार्य करने तथा अपने जीवन को सफल बनाने का है। स्वामी विवेकानंद ने अपने पूरे जीवन काल में सदैव युवा पीढ़ियों को उच्च शिक्षा प्रदान की है। राष्ट्रीय युवा दिवस मनाए जाने का सबसे मुख्य उद्देश्य स्वामी जी के विचारों को दुनिया में चारों तरफ फैलाना है।

राष्ट्रीय युवा दिवस कब है? When is National Youth Day in Hindi?

हर वर्ष युवाओं को समर्पित करते हुए 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है। इस दिन स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष में भारतीय सरकार द्वारा 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस का दर्जा दिया गया, जिसे पूरे देश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। 

राष्ट्रीय युवा दिवस का महत्व Importance of National Youth Day in Hindi

स्वामी विवेकानंद जी ने जो प्रयास युवाओं के लिए किए हैं, उनके परीणाम देश को तरक्की की राह पर आगे ले जाएंगे। युवाओं को स्वामी जी जैसे दूसरे अन्य प्रभावी व्यक्तित्व के प्रखर नेता आज तक नहीं मिले हैं। 

विश्व को वेदांत से जोड़ने वाले विवेकानंद ईश्वरीय रूप थे, जिन्होंने युवाओं की आंखें खोली है। आज भी करोड़ों लोगों के दिलों में स्वामी जी एक महान आदर्श है। 

जब भारत को स्वतंत्रता नहीं मिली थी, तो चारों तरफ भारतीयों की दशा बेहद दयनीय थी। भारतीय इतिहास का सबसे काला पन्ना गुलामी का दौर था, जब युवा पीढ़ियों का कोई भविष्य नहीं था। चारों तरफ भारत को गरीबों और सपेरों का देश कहकर हंसी उड़ाई जाती थी। 

उस समय स्वामी विवेकानंद ने समाज में लोगों को भ्रष्टाचार, बुराइयों, अपराधों का परित्याग करने के लिए प्रोत्साहित किया और युवाओं को धर्म कार्य और राष्ट्र निर्माण में सहयोग देने के लिए प्रेरित किया।

राष्ट्रीय युवा दिवस यह भारत में मनाए जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण दिन है, जब लोग एक साथ मिलकर स्वामी विवेकानंद जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं और उनके दिए गए अनमोल संस्कारों के मार्ग पर चलने अभ्यास करते हैं। 

युवा दिवस का यह महत्वपूर्ण पर्व सभी लोगों को लक्ष्य प्राप्ति के लिए उत्साहित करता है। हर व्यक्ति के जीवन में कोई न कोई लक्ष्य अवश्य होना चाहिए, जिसे प्राप्त करना उसका प्रथम कर्तव्य होना चाहिए। स्वामी विवेकानंद ने लोगों को जीवन जीने का एक नया उद्देश्य दिया।

राष्ट्रीय युवा दिवस के कारण लोगों को स्वामी विवेकानंद के आदर्शों पर चलने की प्रेरणा मिलती है। यह पर्व पूरे देश में बड़े ही खूबसूरत ढंग से मनाया जाता है। यदि लोग वास्तव में स्वामी जी के कहे गए वचनों पर अमल करें, तो जल्द ही भारत एक सफल राष्ट्र बन कर दुनिया का प्रतिनिधित्व करेगा। 

और पढ़ें -  संतोषी माता व्रत कथा और इसका महत्व Santoshi Mata Vrat Katha Importance in Hindi

राष्ट्रीय युवा दिवस कैसे मनाया जाता है? How is National Youth Day Celebrated in Hindi?

राष्ट्रीय युवा दिवस पूरे भारत में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाने वाला पर्व है। इस दिन कई जगहों पर सरकारी रूप से छुट्टी होती है। स्कूल और कॉलेजों में इस दिन विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। 

योगासन, संगीत, निबंध लेखन, खेल प्रतिस्पर्धा इत्यादि का आयोजन राष्ट्रीय युवा दिवस के दिन किया जाता है। कई जगहों पर बड़े स्तर पर युवा सम्मेलन का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है, जिसमें सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा युवा पीढ़ियों को समाज निर्माण करने के लिए प्रेरणादायक भाषण दिए जाते हैं।

युवा संगठनों के द्वारा स्वामी विवेकानंद जयंती के उपलक्ष में सड़कों पर परेड निकाली जाती है। इस दिन मंदिरों में हवन और पूजा पाठ का कार्यक्रम भी किया जाता है। स्वामी विवेकानंद जी के गुरु रामकृष्ण परमहंस के नाम पर स्थापित रामकृष्ण मठ मिशन में राष्ट्रीय युवा दिवस के दिन बेहद शानदार तरीके से कार्यक्रम को मनाया जाता है।

यह दिन युवाओं को समर्पित होता है, जब जगह-जगह विशेष प्रकार के आध्यात्मिक कार्यक्रम किए जाते हैं। इस दिन स्वामी विवेकानंद जी के समर्पण को याद करते हुए देश के बड़े-बड़े नेता और अभिनेता उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। 

सोशल मीडिया के द्वारा राष्ट्रीय युवा दिवस के दिन लोग एक दूसरे को स्वामी जी के प्रेरणादायक विचारों का आदान प्रदान करके और स्वामी विवेकानंद जयंती की शुभकामनाएं देते हैं।

इस अवसर पर टेलीविजन पर स्वामी विवेकानंद जी के ऊपर बनी हुई फिल्मों को भी दिखाया जाता है, जिसका उद्देश्य लोगों को उनके कर्तव्यों के प्रति जागृत करना होता है। इस दिन पूरा देश राष्ट्रीय युवा दिवस को बड़े ही अनोखे ढंग से मनाता है।

भारत के अलावा दुनिया के दूसरे देशों में निवास करने वाले मूल भारतीय भी राष्ट्रीय युवा दिवस के दिन स्वामी विवेकानंद को स्मरण करते है। इस दिन प्रत्येक भारतीयों को अपने ऊपर गर्व होता है, कि उन्हें स्वामी विवेकानंद जैसे प्रखर व्यक्तित्व के संत और मार्गदर्शक प्राप्त हुए। 

निष्कर्ष Conclusion

इस लेख में आपने हिन्दी में राष्ट्रीय युवा दिवस पर निबंध (Essay on National Youth Day in Hindi) पढ़ा। आशा है यह लेख आपको जानकारी से भरपूर लगा होगा। अगर यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.