PM-WANI Scheme क्या है? पूरी जानकारी (in Hindi)

इस लेख में आप जानेंगे पीएम वाणी (PM-WANI) स्कीम के विषय में पूरी जानकारी हिन्दी में। PM-WANI का फुल फॉर्म है Wi-Fi Access Network Interface. यहां आप पीएम वाणी स्कीम कब शुरू होगी, किसको मिलेगी, और उसके फायदे क्या होंगे यह सब जान पाएंगे।

पीएम वाणी स्कीम PM-WANI (Prime Minister WiFi Access Network Interface) Scheme हिंदी में

हाल ही  दिसंबर 2020 में मोदी कैबिनेट की बैठक में पीएम-वाणी (PM-WANI) स्कीम को लॉन्च करने का निर्णय लिया गया है। PM-WANI यानी की Wi-Fi Access Network Interface स्कीम के तहत पूरे भारत देश में वाईफाई क्रांति की शुरुआत होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में पीएम वाणी PM-WANI स्कीम  को लॉन्च करने की बात कही गई है। सही मायने में देखा जाए तो इससे गांव गांव तक इंटरनेट की सुविधा पूर्ण रूप से पहुंचाई जा सकेगी। सरकार के अनुसार PM-WANI के वाईफाई सेवा को लोक मुफ्त में उपयोग कर पाएंगे।

पीएम वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस (PM-WANI) की मदद से भारत में व्यापक रूप से वाईफाई नेटवर्क को लोगों तक उपलब्ध कराया जा सकेगा।  इससे ज्यादा से ज्यादा लोग इंटरनेट से जुड़ पाएंगे।

पीएम वाणी स्कीम कैसे काम करेगी? How does the PM-WANI Scheme Work in Hindi? – 3 यूनिट

 मोदी सरकार के अनुसार PM-WANI स्कीम के तीन महत्वपूर्ण यूनिट रहेंगे-

1. पब्लिक डेटा ऑफिस ( Public Data Offices – PDOs) – PM-WANI स्कीम के सुचारू रूप से काम करने के लिए सबसे पहले पब्लिक डाटा ऑफिस खोले जाएंगे। सरकार का कहना है कि इसके लिए किसी भी प्रकार के लाइसेंस, फीस, या पंजीकरण की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

2. पब्लिक डाटा एग्रीगेटर (Public Data Aggregator) –  PM-WANI स्कीम के लिए बनाए गए पब्लिक डाटा ऑफिस के सभी एकाउंटिंग और ऑथराइजेशन की जांच के लिए पब्लिक डाटा एग्रीगेटर यूनिट  बनाए जाएंगे।

और पढ़ें -  वाईफाई डिवाइस का पासवर्ड कैसे बदलें? How To Change WiFi Password in Hindi?

3. यूनिट ऐप प्रोवाइडर (Unit App Provider) – PM-WANI स्कीम को सुरक्षित और सही रूप से उपयोग करने के लिए एक ऐसा यूनिट बनाया जाएगा जो ऐप डिजाइनिंग से लेकर ऐप डाउनलोड तक के सभी डिजिटल ऑथेंटिकेशन की जानकारी रखेंगे। इनका मुख्य काम यूजर को सरकार द्वारा डिवेलप किए हुए ऐप को डाउनलोड करवाना,  ऑथेंटिकेट करवाना,  ऐप स्टोर और वेबसाइट पर एप के लिंक को साझा करना होगा।

पीएम वाणी स्कीम के अनुसार सभी यूजर को प्ले स्टोर, एप स्टोर, या दिए गए वेबसाइट से ऐप को डाउनलोड करके उसे ऑथेंटिकेशन करना होगा उसके बाद नागरिक देश के किसी भी डाटा ऑफिस से मुफ्त में वाईफाई एक्सेस कर सकेंगे।

सरकार के अनुसार पीएम वाणी (PM-WANI) पहले चरण में कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) या जन सेवा केंद्र जैसे सरकार से जुड़े केंद्रों में शुरू करेगी जो आगे चलकर छोटे से छोटे दुकानों में भी शुरू होगी।

पीएम वाणी स्कीम के फायदे PM-WANI Scheme Benefits in Hindi

PM-WANI जैसी योजनाओं से देश में वाईफाई क्रांति तो होगी लेकिन साथ ही डिजिटल इंडिया का मिशन और तेजी से भी बढ़ेगा क्योंकि लोग ज्यादा से ज्यादा इंटरनेट से जुड़ पाएंगे। इस योजना से अब इंटरनेट का उपयोग ना कर पाने वाले लोग भी मुफ्त में इंटरनेट के लाभ उठा पाएंगे।

आइए पीएम वाणी स्कीम के फायदे क्या होंगे जानते हैं-

  1. रविशंकर प्रसाद जी ने कहा कि पब्लिक वाई-फाई एग्रीगेटर और एप्प प्रोवाइडर आदि को 7 दिन के अंदर ही पीएम वाणी (PM-WANI) का रजिस्ट्रेशन दिया जाने वाला है, जो कि एक अच्छी बात है।
  2. इससे भारत देश में वाईफाई कांति की शुरुआत हो जाएगी।
  3. इंटरनेट चार्ज है ना दे पाने वाले लोग अब फ्री में वाईफाई के माध्यम से इंटरनेट चला सकेंगे।
  4. इससे देश के कोने कोने तक इंटरनेट की सुविधा लोगों तक पहुंच पाएगी।
  5. अब लोग इंटरनेट चलाने  के दाम के विषय में नहीं सोचेंगे क्योंकि पीएम वाणी स्कीम लोगों को मुफ्त में दी जाएगी।
  6. अब गांव में भी विद्यार्थी ऑनलाइन शिक्षा ले पाएंगे।
  7. पीएम वाणी स्कीम (PM-WANI) की मदद से डिजिटल इंडिया का सपना और भी तेजी से पूरा होगा।
और पढ़ें -  एकीकृत ग्रामीण विकास योजना की पूरी जानकारी Integrated Rural Development Programme details in Hindi

सही मायने में कहा जाए तो पीएम वाणी स्कीम (PM-WANI Scheme) भारत की असली नियम यानी कि गांव देहात में इंटरनेट को और मजबूत बनाने की एक योजना है। अगर यह योजना पूर्ण रूप से सफल हो जाती है तो भारत को तकनीकी क्षेत्र में आगे बढ़ने से कोई भी नहीं रोक सकता। 

इसलिए नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा यह पीएम वाणी स्कीम (PM-WANI Scheme) सही मायने में वाईफाई कांति नहीं बल्कि भारत में डिजिटल और तकनीकी क्रांति का रूप लेने की शक्ति रखता है। 

1 thought on “PM-WANI Scheme क्या है? पूरी जानकारी (in Hindi)”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.