सर्वनाम की परिभाषा, भेद, उदाहरण PRONOUN – Sarvanam in Hindi VYAKARAN

आज के इस लेख में हमने हिंदी व्याकरण- सर्वनाम की परिभाषा, भेद, उदाहरण के विषय मेबताया है PRONOUN – Sarvanam in Hindi VYAKARAN

सर्वनाम की परिभाषा, भेद, उदाहरण PRONOUN – Sarvanam in Hindi VYAKARAN

सर्वनाम की परिभाषा (Defination of Pronoun) 

वे शब्द जो सदैव संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किए जाते हैं, वे सर्वनाम कहलाते हैं। ऐसे शब्द संज्ञा शब्दों को पूर्ण रूप से स्थानांतरित कर देते हैं। उदाहरणतः 

“राम जा रहा है”। इस वाक्य में राम संज्ञा है, यदि इस वाक्य में से संज्ञा को हटाया जाए तो उसका स्थान सर्वनाम ले सकता है। जैसे, “वह जा रहा है”। इस वाक्य में “वह” सर्वनाम है। 

सर्वनाम ऐसे शब्दों को कहा जाता है जो सफलतापूर्वक संज्ञा को स्थानांतरित कर देते हैं। 

 सर्वनाम से बने वाक्य 

  • वह जा रहा है। 
  • यहां कुछ लोग बैठे हैं। 
  • कौन हो तुम? 
  • अपना कार्य स्वंय करना चाहिए। 
  • क्या तुमने वह कार्य कर लिया? 
  • वह लड़की कौन है? 
  • तुम बाज़ार घूमने गए थे। 
  • मैं कक्षा का सबसे होनहार छात्र हूँ। 
  • मैं वहां पर पहुंच नहीं सकूंगा। 
  • जो जीतेगा उसे पुरूस्कार मिलेगा। 
  • कोई आया था क्या? 
  • वह मेरा पुत्र है। 

सर्वनाम के भेद (Types of Pronoun) 

मुख्य तौर पर सर्वनाम के छह भेद हैं। जिस प्रकार संज्ञा अलग अलग नामों से मिलकर बनी होती है और उसी आधार पर उसके भेद होते हैं, उसी प्रकार सर्वनाम भी संज्ञा को स्थानांतरित करने वाले अनेक शब्दों से बनता है और उसी आधार पर सर्वनाम के भेद किए जाते हैं।

सर्वनाम के भेद हैं :- 

  • पुरुषवाचक सर्वनाम 
  • निश्चयवाचक सर्वनाम 
  • अनिश्चयवाचक सर्वनाम 
  • प्रश्नवाचक सर्वनाम 
  • संबंधवाचक सर्वनाम 
  • निजवाचक सर्वनाम 

पुरुषवाचक सर्वनाम 

वे सर्वनाम जो व्यक्तिवाचक संज्ञा का स्थान लेते हैं अथवा वे सर्वनाम जो अपने लिए, या सुनने वाले किसी व्यक्ति के लिए प्रयोग किए जाते हैं वे सर्वनाम पुरुषवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। 

पुरुषवाचक सर्वनाम से बने वाक्य :- 

  • मैं नहीं जाऊंगा। 
  • वह बहुत खूबसूरत है। 
  • यह तो मेरी व्यथा है। 
  • तुम तो बड़े चालक हो। 
इसे भी पढ़ें -  संज्ञा की परिभाषा, भेद, उदाहरण Noun - Sangya in Hindi VYAKARAN

पुरुषवाचक सर्वनाम के उपभेद

  1. उत्तम पुरुष :- इस प्रकार के सर्वनाम का प्रयोग स्वंय के लिए किया जाता है। जैसे :- मैं, हम, मेरा। 
  2. मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम :- दूसरे व्यक्ति के लिए या वाक् श्रोता के लिए प्रयोग किए गए शब्द मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। जैसे :- तू, तुम, तुम्हारा। 
  3. अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम :- वाक श्रोता के इतर, अन्य व्यक्तियों के लिए जो सर्वनाम प्रयोग किए जाते हैं, वे अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। जैसे :- यह, वह, वे, ये। 

निश्चयवाचक सर्वनाम 

वे सर्वनाम जो संकेत करने के लिए उपयोग किए जाते हैं वे निश्चयवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। जैसे :- वह, यह। यह दूर एवं पास, दोनों प्रकार के तत्वों को संकेत करते हैं, और इसी आधार पर इसके भेद भी बनाए गए हैं। 

निश्चयवाचक सर्वनाम से बने वाक्य :- 

  • वह मेरा पुत्र है। 
  • यह शर्म जी की कार है। 
  • उन लोगों की मानसिकता खराब है। 
  • ये प्रगति तो कर रहे हैं। 
  • उन्हे अभी खबर नहीं है। 
  • इसे क्या हुआ? 
  • वे सुन नहीं सकते। 
  • वह स्थल बहुत खूबसूरत था। 
  • वह बहुत चालाक है। 

निश्चयवाचक सर्वनाम के उपभेद

  1. निकटवर्ती निश्चयवाचक सर्वनाम :- यह शब्द निकट की वस्तुओं को संबोधित करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। उदाहरण :- यह मेरा है, ये बहुत अच्छे हैं। 
  2. दूरवर्ती निश्चयवाचक सर्वनाम :- यह शब्द दूर की वस्तुओं को सम्बोधित करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। उदाहरणतः- वह, उनका पुत्र है। वे बहुत ही ज्यादा जागरूक हैं। 

अनिश्चयवाचक सर्वनाम 

वे शब्द सभी सर्वनाम जिनसे कुछ निश्चित बोध न हो, और जो किसी प्रकार का प्रमाण न प्रस्तुत कर रहे हों, वे अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। 

अनिश्चयवाचक सर्वनाम से बने वाक्य :- 

  • कुछ लोग आए थे। 
  • कुछ लाए हो। 
  • किसी से बताना मत। 
  • कोई तो करेगा ही। 
  • कोई काम हो तो बताना। 

प्रश्नवाचक सर्वनाम 

वे सभी शब्द जो वाक्य को प्रश्न में रूपान्तरित करते हैं वे प्रश्नवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। 

इसे भी पढ़ें -  लिंग की परिभाषा, भेद, नियम GENDER - Ling in Hindi VYAKARAN

प्रश्नवाचक सर्वनाम से बने वाक्य :- 

  • कौन करेगा यह सब? 
  • तुम्हें किसने मारा? 
  • कब तक आएंगे आप दिल्ली? 
  • क्या वह तुमसे प्रेम करता है? 
  • किन लोगों ने अमेरिका को खोजा था? 
  • रमेश, क्या तुम उत्तीर्ण हो गए? 
  • क्या बात है? 
  • आपका शुभ नाम क्या है? 
  • मैं नहीं आऊंगा तो मेरा स्थान कौन लेगा? 
  • क्यूं करतो हो आलस? 

संबंधवाचक सर्वनाम 

वे सर्वनाम जो दो उपवाक्यों के मध्य संबंध स्थापित करते हैं, वे संबंधवाचक सर्वनाम कहलाते हैं। 

संबंधवाचक सर्वनाम से बने वाक्य :- 

  • जो करेगा, सो भरेगा। 
  • मैंने तो कहा नहीं, तुम कह दो। 
  • वह यही लड़का है, जो कक्षा में शोर मचाता है।
  • जिसकी लाठी, उसकी भैंस। 

निजवाचक सर्वनाम 

जो सर्वनाम वाक्य में कर्ता के साथ अपनेपन का बोध कराते हैं, उन्हे निजवाचक सर्वनाम कहते हैं। इस प्रकार के सर्वनाम पुरुषवाचक सर्वनाम की मुख्यतः सहायता करते हैं।

निजवाचक सर्वनाम से बने वाक्य :- 

  • मैं अपना कार्य स्वंय कर लूंगा। 
  • मैंने तो पूछा नही। 
  • उसे अपने आप आने दीजिए। 
  • मैं उनसे जुड़ा हुआ हूँ। 
  • मैं खुद भी आ सकता हूं। 
  • हाँ मैं खुद सफर कर लूंगा।
  • वह यकीनन उत्तीर्ण हो जाएगा।

2 thoughts on “सर्वनाम की परिभाषा, भेद, उदाहरण PRONOUN – Sarvanam in Hindi VYAKARAN”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.