शेरिल सैंडबर्ग का जीवन परिचय Sheryl Sandberg Biography in Hindi

शेरिल सैंडबर्ग का जीवन परिचय Sheryl Sandberg Biography in Hindi

28 अगस्त 1969 को जन्म, शेरिल कारा सैंडबर्ग एक अमेरिकी प्रौद्योगिकी कार्यकर्ता और लेखक हैं। आज वह अपनी सफलताओं से महिलाओ के लिए एक प्रेरणा बन चुकी है। 2008 में इन्हें फेसबुक का चीफ ऑपरेटिंग ऑफीसर बनाया गया। वह फेसबुक के मुख्य संचालन अधिकारी (सी ओ ओ) और Leanin.org की संस्थापक भी हैं।

जून 2012 में  वह मौजूदा बोर्ड सदस्यों द्वारा निदेशक मंडल के लिए चुनी गयी, जो फेसबुक के बोर्ड पर सेवा करने वाली पहली महिला बन गईं। 2012 में, टाइम पत्रिका के अनुसार, उन्हें टाइम 100 में नामित किया गया था, जो दुनिया की सबसे प्रभावशाली लोगों की एक वार्षिक सूची है।

शेरिल सैंडबर्ग का जीवन परिचय Sheryl Sandberg Biography in Hindi

प्रारंभिक जीवन Early Life

फेसबुक की सी ओ ओ शेरिल सैंडबर्ग का जन्म 28 अगस्त  1969 में वाशिंगटन में हुआ था। उनके पिता एक नेत्र रोग विशेषज्ञ हैं और उनकी मां फ्रांसीसी भाषा के कॉलेज की एक अध्यापिका थी। उन्होंने अपनी शिक्षा हार्वर्ड बिजनेस स्कूल और हार्वर्ड कॉलेज से पूरी की  है। 1991 में उन्होंने हार्वर्ड कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक प्राप्त किया और 1995  में शेरिल सेंडबर्ग  ने MBA की पढ़ाई पूरी की।

1993 में ब्रेन क्रेफ़ के साथ उनकी पहली शादी हुई। किसी कारणवश यह शादी ज्यादा दिन तक नहीं चल पायी। शेरिल  की दो शादियां हुई। 1994 में उनका तलाक हो गया। 2004 में डेव गोल्डबर्ग के साथ शेरिल की दूसरी शादी हुई और इनके दो बच्चे हैं। 2015 में बिजनेसमैन  डेव गोल्डबर्ग  की मृत्यु  हो गयी, इनके पति की मृत्यु एक ट्रेडमिल से गिरने के बाद दिल का दौरा पड़ने से हुई।

व्यवसाय Business

जब उनकी पढ़ाई पूरी हो गई तब 1995 में फेसबुक (चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर)सी ओ ओ में शेरली सेंडबर्ग ने काम करना शुरू कर दिया। मेककिन्ग्सी  एंड कंपनी पहली कंपनी  है जहां  पर उन्होंने मेनेजमेंट कंसल्टेंट्स के रूप में लगभग 1 साल तक काम किया।

इसे भी पढ़ें -  फेसबुक से पैसे कमाने के दस तरीके 10 Best ways to earn money from Facebook in Hindi - 2019

1996 से लेकर 2001 तक लैरी ने सम्मर्स  में काम किया।  उन्होंने अपनी इस नौकरी को छोड़कर 2001 में  गूगल इंक को ज्वाइन किया और इसके बाद 2008 में इन्हें फेसबुक का चीफ ऑपरेटिंग ऑफीसर बनाया दिया गया।

शेरली की कुछ उपलब्धियां और पुरुस्कार Awards

अर्थशास्त्र में स्नातक छात्र के रूप में जॉन एच विलियम्स  पुरस्कार से सम्मानित किया गया। शेरिल ने अपने संरक्षक के समर्थन में 2008 में “द हफ़िंग्टन पोस्ट” के लिए उन्होंने एक लेख लिखा ।

2012 में शेरिल को अंग्रेज़ी पत्रिका टाइम के  द्वारा उन्हें 100 व्यक्तियों की  सूचि में शामिल किया गया । शेरिल फेसबुक में  सी ओ ओ होने के आलावा व्यापार, राजनीति और लोकप्रिय संस्कृति में भी शामिल है।

मार्च 2013 में शेरिल सेंडबर्ग  की पहली पुस्तक “लीन इन” प्रकाशित  हुई। फॉर्च्यून पत्रिका द्वारा शेरिल सैंडबर्ग को 50 “सबसे शक्तिशाली महिला व्यवसाय” में से एक में स्थान दिया गया है :

  • 2007 में उन्हें 29वे स्थान पर रखा गया था और वह इस सूची में सबसे कम उम्र की महिला थीं।
  • 2008 में उन्हें 34वे स्थान पर रखा गया था।
  • 2009 में उन्हें 22वे  स्थान पर रखा गया था।
  • 2010 में उन्हें 16वे स्थान पर रखा गया था।
  • 2014 में उन्हें 10वे स्थान पर रखा गया था।
  • 2016 में उन्हें 6वे स्थान पर रखा गया था।
  • 2017 में उन्हें 5वे स्थान पर रखा गया था।

शेरिल ने वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा 50 “महिलाओं की सूची में शामिल किया गया। 2007 में उस सूची में उन्हें पहले स्थान पर रखा गया था। 2008 में उस सूची में उन्हें 21वे स्थान पर रखा गया था।

सैंडबर्ग को 2009 में बिजनेस वीक द्वारा “वेब पर 25 सबसे प्रभावशाली लोगों” में से एक रूप में नामित किया गया था। उन्हें फोर्ब्स द्वारा दुनिया की 100वे  सबसे शक्तिशाली महिलाओं में से एक के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

2012 में, न्यूज़ वीक और द डेली बीस्ट ने अपने पहले “डिजिटल पावर इंडेक्स” को उस साल डिजिटल दुनिया में 100वे सबसे महत्वपूर्ण लोगों की एक सूची जारी की (साथ ही 10 अतिरिक्त “लाइफटाइम अचीवमेंट” विजेताओं) और उन्हें “प्रचारकों” में तीसरा स्थान दिया गया।

इसे भी पढ़ें -  कवयित्री महादेवी वर्मा का जीवन परिचय Mahadevi Varma Biography in Hindi

उनकी किताब “लीन इन” को फाइनेंशियल टाइम्स और गोल्डमैन सेच्स बिजनेस बुक ऑफ द ईयर अवॉर्ड (2013) के लिए चुना गया था। 2013 में, उन्हें जेरूसलम पोस्ट द्वारा आयोजित “दुनिया के 50 सबसे प्रभावशाली यहूदियों” पर  8वे स्थान पर रखा गया था।

नवंबर 2016 में सैंडबर्ग ने अपने “लीन इन” फाउंडेशन को शेरिल सैंडबर्ग और डेव गोल्डबर्ग फैमिली फाउंडेशन में बदल दिया। यह नई नींव LeanIn.Org के लिए ढाल  के रूप में काम करता है और उनकी पुस्तक “ऑप्शन बी” सैंडबर्ग के चारों ओर एक नया संगठन फाउंडेशन और अन्य धर्मार्थ प्रयासों में अपना योगदान देने के लिए फेसबुक स्टॉक में लगभग $100,000,000 स्थानांतरित कर दिये गये है।

उनकी पुस्तक में, वह अन्य महिलाओं को चुनौतियों के दौरान आगे बढ़ने का सुझाव देती है।

“… हम महिलाओं को प्रभावित करने के लिए प्रोत्साहित करने में असफल रहे हैं। यह उन लड़कियों और महिलाओं को प्रोत्साहित करने का समय है जो कुछ काम करना चाहती हैं, और अपने करियर को बनान चाहती हैं। “

इसके बजाय, उन्हें एक सी ओ ओ के रूप में जाना जाता है। “वह महिलाएं जो माताओं और जो महिलायें बाहर जाकर काम करती है दोनों बनने में सफल रही हैं।  उनके पक्ष में, यह कहा जा सकता है कि उनकी पुस्तक में वह उन लोगों की एक अलग पहचान है, जो संकट से अपने आप को बचाती हैं।

“मेरे दिल में उन लोगों के लिए अत्याधिक सम्मान है जो संकट में लोगों को सहायता प्रदान करते हैं। यह दुनिया में सबसे कठिन काम है।”

Featured Image – Financialtimes(Flickr)

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.