आलसी व्यक्ति की दस पहचान 10 Signs of Lazy Person in Hindi

आलसी व्यक्ति की दस पहचान 10 Signs of Lazy Person in Hindi

इस दुनिया में आलसी लोगों को कोई भी पसंद नहीं करता है। आलस करना एक बुरी बात है। जो लोग आलसी होते हैं वह अपना ही नुकसान करते हैं। इसके साथ ही जिस संस्था या कम्पनी में वे काम करते हैं उसका भी नुकसान करते हैं। यदि व्यक्ति सफल बनना चाहता है तो उसे कभी भी आलस नहीं करना चाहिए।

आलसी व्यक्ति की दस पहचान 10 Signs of Lazy Person in Hindi

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कैसे आलसी लोगों को कैसे पहचाने? –

टालमटोल करते है

जो लोग आलसी होते हैं वह काम बहुत कम या धीरे-धीरे करते हैं। वे डरते हैं कि यदि वे जल्दी काम कर लेंगे तो उन्हें तुरंत ही दूसरा काम दे दिया जाएगा। इसलिए वे धीरे-धीरे काम करते हैं। कुछ लोग तो बहाने बनाते हैं और काम करने में टालमटोल करते हैं।

वह बार-बार कहते हैं कि मैं यह काम बाद में करूंगा, कल करूंगा, 2 दिन बाद कर लूंगा, अगले हफ्ते करूंगा। इस तरह से काम को टालते रहते हैं।

जरूरत से अधिक छुट्टिया लेते हैं

यदि आपकी कंपनी में कोई कर्मचारी जरूरत से ज्यादा छुट्टियां लेता है तो समझ जाइए कि वह आलसी है। आलसी व्यक्ति काम नहीं करना चाहता। बिना काम के ही पैसे कमाना चाहता है। इस तरह के लोग छोटे-छोटे बहाने बताकर छुट्टिया लेते रहते हैं।

और पढ़ें -  सफलता के लिए 15 अच्छी आदतें 15 Good habits for success in Hindi

गंदे रहते हैं

आलसी व्यक्ति अपने हर काम में आलस करता है। वह अपने कपड़ों को साफ करने में भी आलस दिखाता है। इस तरह के लोग अक्सर गंदे कपड़े पहने होते हैं। उन्हें इस बात की परवाह नहीं होती कि कपड़े साफ हैं या गंदे। वह अपनी गाड़ियों को भी नहीं धोते हैं, जूतों में पॉलिश भी नहीं करते हैं। उन्हें हर काम बोझ की तरह लगता है।  

इस तरह के लोग रोज नहाते भी नहीं है। वे रोज ब्रश भी नहीं करते, अपने नाखून काटना भी उन्हें बड़ा काम लगता है। बालों को कटवाने में भी वे आलस दिखाते हैं और लंबे लंबे बाल लेकर घूमते रहते हैं। घर का टॉयलेट साफ करना भी उन्हें पसंद नहीं होता है। आलसी लोगों के घर का टॉयलेट हमेशा गंदा होता है। घर में कूड़ा भरा रहता है।  

सोने में आनंद लेते है

आलसी लोगों को नींद बहुत अधिक आती है। वे रात भर सोते हैं। इसके बावजूद जब सुबह ऑफिस या कंपनी में जाते हैं तो वहां पर भी सोते रहते हैं। यदि सोने की समस्या बहुत अधिक है तो ऐसे लोगों को अपना इलाज कराना चाहिए।

दूसरे लोगों से अपना काम कराना

आलसी व्यक्ति की यह बहुत बड़ी पहचान है कि वह अपने ज्यादातर काम दूसरे लोगों से करवाना पसंद करता है। वे स्वयं को व्यस्त होने की बात करता है। इस तरह के लोग अपने छोटे भाई-बहनों से अपने सारे काम करवाते हैं। भाई बहनों को नौकर जैसा समझते हैं।

नये काम सीखने से बचना

आलसी व्यक्ति हमेशा नए काम सीखने से बचने की कोशिश करता है क्योंकि यदि उसने नया काम सीख लिया तो उसको और अधिक काम करने पड़ सकते हैं।

खुद की परवाह नहीं करते

आलसी व्यक्ति ना तो दूसरों की और ना खुद की परवाह करता है। वह बस कम से कम काम करना चाहता है।

और पढ़ें -  विज्ञान और तकनीकी पर निबंध Essay on Science and Technology in Hindi

बाहर से खाना मंगाते हैं

आलसी लोगों की यह एक बड़ी पहचान है कि वह घर पर खाना बनाने से बचना चाहते हैं और मौका मिलते ही बाहर से खाना मंगा लेते हैं। इस तरह वह काम से बच जाते हैं।

बहाने बनाते हैं

आलसी लोग अक्सर काम ना करने के बहाने बनाते हैं। वह तुरंत स्पष्टीकरण देते हैं कि कोई काम क्यों नहीं कर सकते।

जिम्मेदारी से बचने की कोशिश करते हैं

जो लोग आलसी होते हैं वह जिम्मेदारी से बचने की कोशिश करते हैं। वे सोचते हैं कि यदि काम की जिम्मेदारी ले लेंगे तो उन्हें बिलकुल भी आराम नहीं मिलेगा और 24 घंटे उन्हें बराबर काम करना होगा। इसलिए वे जिम्मेदारी वाले काम से बचना चाहते हैं।

खुद में बदलाव नहीं करते

बदलाव करना कुदरत का एक नियम है। सफल व्यक्ति अपनी बुरी आदतें छोड़कर अच्छी आदतें अपनाता है। आलसी लोग एक ढर्रे पर जिंदगी जीते हैं। खुद में कोई सकारात्मक बदलाव नहीं करना चाहते। वह एक ही रास्ते पर चलना चाहते हैं। बदलाव से उन्हें डर लगता है

समय से पहले काम नहीं करते

ऐसे लोगों की यह बड़ी पहचान होती है कि वह सभी काम (असाइनमेंट) समय से  या देर में करके देते हैं, परंतु जो लोग ज्यादा सक्रिय और मेहनती होते हैं वह डेडलाइन से पहले ही काम पूरा करके दे देते हैं।

काम करने की लत नहीं होती

काम करने की लत वाले व्यक्ति को Workaholic कहते हैं। ऐसे बहुत से लोग हैं जो खाली बैठना पसंद नहीं करते। वह कुछ ना कुछ हमेशा ही करना चाहते हैं। ठीक उसके विपरीत आलसी लोग कम से कम या कुछ भी काम नहीं करना चाहते हैं। वे बस आराम से सोना, लेटना या टीवी देखना चाहते हैं।

इस तरह के लोगों को काम करने की तलब नहीं लगती है। रिलैक्स करना उनको पसंद होता है। दूसरे लोगों को काम करते हुए देखकर भी उन्हें कोई शर्मिंदगी महसूस नहीं होती है। वह आराम करने को अपना हक मांगते हैं।

और पढ़ें -  सकारात्मक सोच की शक्ति Power of Positive Thinking in Hindi

डॉक्टर के पास देर से जाते हैं

आलसी व्यक्ति अपने हर काम में आलस दिखाता है। बीमार होने पर वह सोचता है कि बिना दवा लाए ही काम चल जाए। इसलिए वह तब तक डॉक्टर के पास नहीं जाता जब तक बहुत अधिक आवश्यकता नहीं होती है।

अपने बिस्तर के आसपास ढेर सारी चीजें रखते हैं

आलसी व्यक्ति एक जगह पर ही बैठे या लेटे रहना चाहता है। वह अपने स्थान से हिलना भी नहीं चाहता। इसलिए ज्यादातर आलसी व्यक्ति अपने बेड के दोनों तरफ ढेर सारी चीजें रखते हैं जो उन्हें काम पड़ती रहती है, जैसे दवाएं, फोन, लैपटॉप, टीवी का रिमोट और दूसरी चीजें।

टीवी देखना और कम्प्यूटर गेम्स

आलसी लोगों की ये बड़ी पहचान है कि वह मनोरंजन के लिए भी ऐसे साधन का प्रयोग करते हैं जिसमें कोई मेहनत ना करनी पड़े, जैसे घंटों बैठकर टीवी देखना कंप्यूटर गेम खेलना। इसके विपरीत जो लोग आलसी नहीं होते वे आउटडोर गेम्स जैसे फुटबॉल, क्रिकेट, बैडमिंटन, टेनिस, खेलते हैं।

1 thought on “आलसी व्यक्ति की दस पहचान 10 Signs of Lazy Person in Hindi”

  1. Nice thank you batane ke ley mai aalshi nhi bas logo ne jabardasti ka level deya h appna ullu sihda karne ko thank you one agine Google

    Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.