मोटापा पर भाषण Speech on Obesity in Hindi

आज के इस लेख में हमने मोटापा पर भाषण प्रस्तुत किया है – Speech on Obesity in Hindi आशा करते हैं आपको यह भाषण अच्छा लगेगा और साथ ही इससे आपके मोटापे को कम करने में मदद मिले!

मोटापा पर भाषण Speech on Obesity in Hindi

माननीय प्रधानाचार्य, सभी अध्यापक और सभी छात्रगण आप सभी को मेरा नमस्कार, जैसा की हमें पता है मोटापा एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है। इसे हलके में नही लेना चाहिए। मोटापे की समस्या लोगों में धीरे-धीरे बढ़ रही है। हम माने चाहे न माने लेकिन ये चिंता का कारण है और ये हमारे देश के साथ साथ विश्व स्तर पर भी बढती हुई समस्या है।

वर्तमान समय में मोटापे से पीड़ित लोगो की संख्या बढती जा रहा है। आजकल के लोग फ़ास्ट फ़ूड  खाने के बहुत शौकीन होते है जिससे उनके शरीर में फैट जमा हो जाता है और धीरे धीरे उनके शरीर का आकार बदलने लगता है। जिससे मोटापे के साथ शरीर में और भी कई सारी बिमारियाँ जन्म ले लेती है।

पढ़ें: मोटापा दूर करने के ज़बरदत उपाय

पहले तो हमें ये पता होना चाहिए मोटापा क्या है ? मोटापे को आप कैसे परिभाषित करेंगे? शायद कुछ लोग कहेंगे जिसका वजन ज्यादा हो या शरीर के आकर को देख कर बताएगें, लेकिन अगर इसे सही शब्दो में कहा जाये तो इसे बीएमआई (BMI) बॉडी मास इंडेक्स के रूप में प्रभाषित किया जाता है। अर्थात यदि कोई व्यक्ति जिसका BMI 30 से अधिक है तो वो मोटापे से ग्रसित है।

हमारे शरीर में मोटापा होने के प्रमुख दो ही कारण है आलस्य और शारीरिक गतिविधियाँ। और भी कारण हो सकते है लेकिन मुख्यता यही दो कारण है। हम लोगो को मोटापे को अनदेखा नही करना चाहिए क्योकि इससे हमारे शरीर में विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएँ जैसे हृदय रोग, कैंसर रोग, मधुमेह, गठिया, डिप्रेसन आदि बिमारियाँ उत्पन्न हो सकती है।

इसे भी पढ़ें -  प्रकाश प्रदूषण पर निबंध व कारण, निवारण Essay on Light Pollution in Hindi

मोटापा शब्द सुनने में तो बिलकुल ही आम शब्द है लेकिन वास्तव ये एक समस्या का विषय है। वर्तमान समय में लगभग 30 प्रतिशत बच्चे और 25 वयस्क मोटापे से ग्रस्त है। इसके कारण राष्ट्रीय स्वास्थ्य सर्वेक्षण को हर साल लगभग एक अरब पाउंड का खर्च उठाना पड रहा है। हमारे देश में भी मोटापा एक गहरी समस्या है क्योंकि लगभग हर घर  में एक व्यक्ति मोटापे से ग्रस्त है।

मोटापे के कारण क्या हो सकते है? हमें इस बारे में ज्यादा ध्यान से समझने की जरुरत है कि मोटापा किस कारण होता है। यहाँ उपस्थित अधिकतर लोगो को ये पता भी होगा मोटापा कैसे होता है लेकिन फिर भी वो अपनी आलस्य के कारण कुछ नही करते है।

मोटापा का मुख्य कारण क्या है

1. मोटापे बढ़ने का कारण है वात कफ बढ़ाने वाला भोजन खाना ( Eating Vata and Kapha increasing foods leads to obesity)

2. मोटापे का कारण है ज़्यादा खाना (Overeating causes obesity)

3. मोटापे का कारण है पर्याप्त नींद ना लेना (Weight gain due to insomnia)

4. मोटापा बढ़ने का कारण है पर्याप्त तरीके से सक्रिय व्यायाम ना होना (Weight gain due to lack of exercise)

5. वजन बढ़ने का कारण है रोग या दवाई (Obesity caused by medical condition)

6. वजन बढ़ने का कारण है उपापचयी प्रणाली (Obesity due to metabolism)

7. मोटापे का कारण हो सकता है आनुवंशिकता ( Obesity caused by genetics)

मोटापा होने के कारण लगभग सभी को पता होंगे लेकिन फिर आज विश्व भर में मोटापा जैसे बड़ी समस्या आ रही है। शायद केवल मोटापा इतनी बड़ी समस्या नही लेकिन इसके साथ जो अन्य बिमारियाँ आती है, हमें उससे ज्यादा नुक्सान पहुंचता है।

मोटापे से लगभग 30 प्रकार की गंभीर बिमारियाँ हमारी शरीर में जन्म ले सकती है।  मोटापे से ग्रसित लोगो में एक न एक बीमारी ऐसी आ ही जाती है जो व्यक्ति उसके मौत तक भी ले जा सकती है।

इसे भी पढ़ें -  अनेकता में एकता पर भाषण Speech on Unity is Strength in Hindi

मोटापा के कारण होने वाली बीमारियाँ

मोटापे के कारण होने वाले कुछ गंभीर बिमारियाँ –

  • मधुमेह
  • उच्च कोलेस्ट्रॉल
  • उच्च रक्त चाप
  • दिल की बीमारी
  • कुछ कैंसर रोग
  • पित्ताशय का रोग
  • ऑस्टियोआर्थराइटिस
  • स्लीप एपेनिया और श्वसन संबंधी समस्या
  • गैस्ट्रो इस्पैगल रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी)
  • आघात

हम मोटापा को कैसे दूर कर सकते है?  कुछ भी असंभव नही है बशर्ते हम किसी चीज अपनी पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी से करे। मुझे पता है कि ये समस्या रातोरात समाप्त नही होने वाली है लेकिन फिर भी हम मोटापे जैसे बड़ी समस्या को भी दूर कर सकते है लेकिन इसके लिए हमें अपनी जीवन शैली मे सुधार करने की जरुरत है और अपने भोजन और अपनी आदतों पर नजर रखने की जरुरत है।  

आज के आधुनिक समय में मोटापे को कम करने के लिए लोग भूख को कम करने के लिए दवाओं का इस्तेमाल करते है। जब हम खाना कम खाते है तो हमारी शरीर body में उपस्थित फैट (fat) का उपयोग करता है। जिससे बहुत हद तक मोटापा कम हो सकता है।

लेकिन आहार में गोलियों को देने से डॉक्टर मना करते है क्योकि माना जाता है कि इसके साइड इफेक्ट से हड्डियों के रोग और कुछ गॉलस्टोन्स भी हो सकते है। लेकिन अगर ये विधि ठीक से काम करे तो 8 से 10 महीने में ही 50 % फैट कम किया जा सकता है।

मोटापा को कम करने के लिए लोगो के द्वारा दो और तरीके है जिनका ज्यादा उपयोग किया जा रहा है, पहला गैस्ट्रिक बैंडिंग या पेट स्टैपल। इसमें स्टेपल या बैंड्स का उपयोग करके पेट पतला किया जाता है। और दूसरा है, रूक्स-एन-वाई नामक एक अन्य विधि है।

जो पेट पतला करने में मदद करता है। लेकिन बहुत बार ये सभी विधियाँ नुक्सान भी पहुंचती है। इसलिए मेरा मानना है कि हमें मोटापे को कम करने के लिए अपनी जीवन शैली को सुधारनी चाहिए और अपने खान-पान पर ध्यान रखना चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  पेट की चर्बी को कैसे कम करें? How to lose side belly and love handles fat in Hindi

इसके साथ साथ हमें रोजाना व्यायाम भी करना चाहिए। मोटापे के स्तर को कम करने के लिए हमें अपने शरीर में कम से कम कैलोरी को अपने शरीर में लेना चाहिए। जिससे हमारे शरीर में फैट जमा ना हो सकते।

मुझे पूरा विश्वास है कि मेरे आज के इस भाषण से आप को समझ आ गया होगा कि हमें मोटापा कम करने के लिए क्या करना होगा और ये भी समझ आ गया होगा कि अपना वजन कम करना जरुरी क्यों है।

मैं आप सभी से यही उम्मीद करता हौं कि आप सभी लोग अपने पहचान और रिश्तेदारों को इससे जागरूक जरुर करेगें।  अगर हम सब मिल कर लोगो को जागरूक करें तो हमारे समाज में बदलाव निश्चित रूप से आयेगा।

और एक दिन मोटापा जैसे समस्या भी दूर हो जाएगी। मैं अपना भाषण यही समाप्त करने की की आज्ञा लेता हूँ। लोगो को जागरूक करे रहे और स्वस्थ रखने के लिए प्रोत्साहित करते रहे।

धन्यवाद!

Help Source-

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1790820/

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.