अंकुरित अनाज के फायदे और नुकसान Sprouts Benefits, Side Effects in Hindi

Contents

अंकुरित अनाज के फायदे और नुकसान Sprouts Benefits, Side Effects in Hindi

दोस्तों, सुबह का नाश्ता हम सभी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, क्योंकि जब हम सुबह एक अच्छा नाश्ता करते है तो हम पूरे दिन उर्जा वान बने रहते है। अगर हम नाश्ते में कोई ऐसी ताकत देने वाली चीज खाए, जो हमें ताकत भी दे और स्वस्थ भी रखे। तो ये हमारे लिए और भी अच्छा होगा। 

आज के इस लेख में हम आपको एक ऐसे नाश्ते के बारे में बताने वाले है। जो ताकत से भरपूर और हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद है। उसका नाम है अंकुरित अनाज, जिसे अंग्रेजी में Sprouts कहते है। आज के इस लेख में हम अंकुरित अनाज (Sprouts) के फायदे और नुकसान के बारे में बताने वाले है।

अंकुरित अनाज क्या है? – स्प्राउट (What are Sprouts in Hindi?)

आप में से बहुत से लोगो के मन ये सवाल हो सकता है कि स्प्राउट्स (Sprouts) क्या है? स्प्राउट्स (Sprouts) जिसे हिंदी में अंकुरित अनाज या अंकुरित बीज के नाम से भी जाना जाता है। वैसे से ये प्राकृतिक बीज ही होते है, जिसको लगभग 5 से 6 घंटे के लिए पानी में भिगो कर बीज को अंकुरित कराया जाता है।

इसमें बहुत से पोषक तत्व होते है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी है। बहुत से विशेषज्ञों का मानना है कि स्प्राउट्स (Sprouts) का सेवन सुबह करने से हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी नही होती और इसके साथ-साथ कई जरूरी पोषक तत्व भी मिलते है।

अंकुरित अनाज के प्रकार (Type Of Sprouts)

अंकुरित अनाज के फायदे और नुकसान Sprouts Benefits, Side Effects in Hindi
types of sprouts

वैसे तो हम केवल अनाज का अंकुरण बीज का इस्तेमाल करते है लेकिन इसके अतिरिक्त भी कई प्रकार की किस्में है जिसका इस्तेमाल अंकुरित बीज के रूप में किया जाता है। जो इस प्रकार है:

इसे भी पढ़ें -  जल प्रदुषण पर निबंध व पूरी जानकारी Essay on Water Pollution in Hindi

1. अंकुरित चना (Sprouted gram)

आप में से बहुत से लोग अंकुरित चने का सेवन सुबह नाश्ते के रूप में करते होंगे। आप सभी को पता होगा, अंकुरित चना का उपयोग अंकुरित अनाज के रूप में सबसे ज्यादा किया है। इसमें बहुत से पोषक तत्व पाए जाते है जो हमारे शरीर को स्वस्थ और जीवन शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है।

2. अंकुरित मूंग (Sprouted Moong)

अंकुरित अनाज के रूप में  मूंग का भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें भी बहुत पोषक तत्व पाए जाते है, और इसमें एक विशेष प्रकार का स्वाद भी पाया जाता है।

3. अंकुरित अनाज (Sprouted grains)

कई ऐसे अनाज है जिसका उपयोग अंकुरित बीज के रूप में किया जाता है। जैसे ब्राउन चावल, बाजरा, जई आदि

4.  बीज और नट (Seeds and Nuts)

सभी प्रकार के नट्स और बीज का इस्तेमाल अंकुरित बीज के रूप में लिया जाता है। जैसे – बादाम, मूली बीज,  कद्दू बीज (Pumpkin seeds), तिल के बीज और सूरजमुखी के बीज आदि को अंकुरित करके उपयोग कर सकते हैं

5. दाल परिवार (Lentils family)

दाल परिवार से जुड़े हुए बहुत से बीज है जिस उपयोग अंकुरित अनाज के रूप में किया जाता है। जैसे – मसूर, मूंग, चना, सोयाबीन, मटर आदि।

अंकुरित अनाज के पौष्टिक तत्व (Sprouts Nutritional Value in Hindi)

स्प्राउट्स में फाइबर बड़ी मात्रा में मौजूद होता है, और विटामिन A, विटामिन K तथा विटामिन C की उपस्थिति इस अंकुरित भोजन को पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत बनाती है। स्प्राउट्स में मैंगनीज, कॉपर, कैल्शियम और जिंक एक अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं और जो हमारे लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है इसलिए हमारे स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए हमें इसका सेवन करना चाहिए।

अंकुरित अनाज यानि  स्प्राउट्स एंजाइमों से भरपूर होते हैं जो शरीर की प्रतिरक्षा को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। इसमें विटामिन E पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है तथा इसमें पोटेशियम और फोलिक एसिड भी बड़ी मात्रा में पाया जाता हैं।

अंकुरित अनाज के फायदे (Benefits of Sprouts in Hindi)

अंकुरित अनाज के फायदे और नुकसान Sprouts Benefits, Side Effects in Hindi
Chick pea sprouts

वैसे तो आप सभी को पता होगा कि अंकुरित अनाज खाने के बहुत से फायदे है। ये हमारी सेहत के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है। इसके सेवन से हमारे शरीर में बहुत से बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। इसके क्या फायदे है लेख के इस भाग में हम अंकुरित अनाज के कुछ फ़ायदों के बारे में आपको जानकारी देंगे:

1. दिल के लिये फ़ायदेमंद Heart health

हम सभी जानते है कि दिल यानि हृदय हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण भाग है। जब दिल ही स्वस्थ नही रहेगा, तो शरीर कैसे स्वस्थ रहेगा। अगर आप चाहते है कि आप का हृदय स्वस्थ रहे, तो इसके लिए आपको अपने आहार में अंकुरित अनाज को शामिल करना चाहिए। अगर स्प्राउट्स के फायदे को देखे, तो अंकुरित अनाज दिल के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है। क्योंकि ये हमारे दिल के लिए एंटी-हाइपरलिपिडेमिक (antihyperlipidemic) की तरह काम करता है।  

इसे भी पढ़ें -  सेंधा नमक के 15 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ Amazing benefits of Rocksalt in Hindi

ब्रोकली स्प्राउट्स दिल के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है, क्योंकि इसमें  ग्लूकोराफेनिन (glucoraphanin)  नामक  एंटीओक्सिडेंट  पाया जाता है। जो हमारे शरीर में मौजूद हानिकारक कोलेस्ट्रोल (bad choleserol) को कम करता है और हमें दिल संबंधी समस्या से बचाता है।

2. डायबिटीज के लिए फ़ायदेमंद Good for diabetic patients

हम सभी जानते है कि आजकल डायबिटीज़ या मधुमेह एक आम बीमारी बन गई। अधिकतर लोग इससे परेशान रहते है। ऐसे में आपको अपने आहार में अंकुरित अनाज को शामिल करना चाहिए। अंकुरित अनाज डायबिटीज़ के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होता है।

डायबिटीज़ के रोगियों को अपने आहार में ब्रोकली स्प्रोउट को शामिल करना चाहिए क्योंकि  इसमें सल्फोराफेन (sulforaphane) पाया जाता है। जो हमारे शरीर में ब्लड शुगर नियंत्रित करने में मदद करता है। तथा इंसुलिन प्रतिरोध में भी सुधार करता है।

आप चाहे तो अपने आहार में ब्रसेल्स स्प्राउट्स को भी शामिल कर सकते है। इसमें पाया जाने वाले अल्फा-लिपोइक एसिड (alpha-lipoic acid) एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। जो ब्लड शुगर और इन्सुलिन दोनों को नियंत्रित करने में सहायक होता है।

3. वजन कम करने में Reduce body weight

आजकल लोग अपने बढ़ते से परेशान रहते है। क्योंकि वो अपने आहार पर ध्यान नही देते है। ऐसे में आपको अपने सुबह के नाश्ते में अंकुरित अनाज का सेवन करना चाहिए। जिससे आपके के बढ़ते वजन पर रोक लग सके।

एक शोध से पता चलता है कि स्प्राउट का इस्तेमाल हमारे मोटापे में सुधार कर सकता है। यदि आप मोटापे से परेशान है, तो आप अपने रोज़ाना आहार में मूंगफली के स्प्राउट्स, अंकुरित चना आदि का सेवन कर सकते है जो आपके वजन को बढ़ने से रोक सकते है। इसके साथ सही डाइट और नियमित व्यायाम भी जरूरी है।

4. पाचन के लिए Good digestion

आप सभी को पता होगा कि आजकल पेट संबंधी समस्याएं आम बात हो गई है। इसका मुख्य कारण है बाहर का खाना। हम सभी रोजाना बाहर का खाना खाते है जिससे पाचन संबंधी समस्याएं आने लगती है।

ऐसे में आपको अपने सुबह से नाश्ते में स्प्राउट्स को शामिल करना चाहिए। इसमें पाये जाने वाले सल्फोराफेन (sulforaphane) विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम को उत्पन्न करता है। जो गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) का बचाता है और हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है।

5. आंखों के लिए फ़ायदेमंद Keeps eyes healthy

हम सभी जानते है कि उम्र के साथ हमारे आँख की रोशनी कम होने लगती है। यदि आँखों को सही पौष्टिक आहार मिलता रहे तो शायद ऐसा न हो। अंकुरित अनाज में बहुत ऐसे पोषक तत्व है जो हमारे आँख की दृष्टि को कम होने से रोकता है और हमारे शरीर को स्वस्थ रखने का काम करते है।

इसे भी पढ़ें -  अलसी बीज के फायदे और नुक्सान Flaxseed Benefits and Side Effects in Hindi

ब्रसेल्स स्प्राउट्स (Brussels sprouts) में ल्यूटिन और जियाजैंथिन (lutein and zeaxanthin) जैसे शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण तथा विटामिन c  होते हैं, जो आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करते है।

6. स्टैमिना बढ़ाने में Increase stamina

दोस्तों, स्टेमिना बढ़ाने का अर्थ है शारीरिक और मानसिक कमज़ोरी को दूर करना और इसको मजबूत बनाना। इसके लिए आपको अपने आहार में सुबह नाश्ते के रूप में स्प्राउट्स को शामिल करना चाहिए। जिससे आप पूरे दिन उर्जा-वान बने रहे। इसे आप आपने नियमित रूप से अपने नाश्ते में शामिल करे जिससे आपका स्टेमिना बना रहे।

7. प्रतिरक्षा तंत्र के लिए Strong immunity

यदि आप सभी रोगों से बचना चाहते है, तो उसके लिए आपका प्रतिरक्षा तंत्र यानी इम्यून सिस्टम मजबूत होना चाहिए।  यदि आप स्वस्थ रहना चाहते है तो स्प्राउट का सेवन करना चाहिए, क्योंकि इसमें कई ऐसे तत्व होते है जो हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है और हमें निमोनिया, डायरिया, मलेरिया और अन्य बीमारियों से बचाता है।

8. एनीमिया के लिए फ़ायदेमंद Good for Anemia patients

एनीमिया यानी शरीर में आयरन की से होनी वाली ये समस्या जिसे आम भाषा में खून की कमी भी कहते है। ऐसे में आपको अपने आहार या नाश्ते में स्प्राउट्स को शामिल करना चाहिए जिससे हमारे शरीर में आयरन की कमी न हो और हम एनीमिया जैसे समस्या से बचे रहे।

9. त्वचा के निखार के लिए Skin health

प्रदूषण, गलत खान-पान , ब्यूटी उत्पादों का उपयोग और त्वचा की देखभाल में कमी के कारण हमारे त्वचा की निखार या चमक कम होने लगती है। ऐसे में त्वचा रूखी, बेजान होने लगी है और चेहरे पर झुर्रियां भी आने लगाती है।

इस समस्या के समाधान के लिए आपको अपने आहार में अंकुरित अनाज को शामिल करना चाहिए। इसमें उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट गुण और एंटी-एजिंग गुण हमारे त्वचा की चमक को बनाये रखता है और आपको स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है।

10.  गर्भावस्था में सही आहार Good to take during pregnancy

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं को अंकुरित अनाज को अपने रोज़ाना के आहार में शामिल करना चाहिए। परन्तु कच्चा स्प्राउट नहीं खाना चाहिए क्योंकि उसमे बैक्टीरिया भी हो सकते हैं ऐसा FDA का कहना है। इसलिए स्प्राउट को 165 डिग्री F पर पका कर ही गर्भावस्था पर इसका सेवन करें। ऐसा करने से नवजात शिशु के मानसिक और शारीरिक विकास में कोई दिक्कत नही होती है। (source)

अनाज को अंकुरित करने का तरीका (How to Make Sprouts?)

हम सभी जानते है कि अंकुरित आहार एक सस्ता पौष्टिक आहार है, जिसे आप आसानी से अपने घर पर ही बना सकते है। आपको जिस अनाज का अंकुरित करना है, उसे रात में भिगो दे। और उसे सुबह छानकर धो ले।

फिर उसे एक गीले कपड़े में लपेट कर रख दे। इस बात का ध्यान रखे कि कपड़े की नमी बनी रहे। इस गीले कपडे को अंधेरे में रख दे। जिससे वो उस अनाज का अंकुरण जल्दी हो जाए। जब आप उस गीले कपड़े को अगले दिन खोलेंगे तो आपको अंकुरित अनाज मिलेगा।

अंकुरित अनाज खाने के नुकसान (Side Effects of Sprouts)

अंकुरित अनाज के फायदे और नुकसान Sprouts Benefits, Side Effects in Hindi
beans sprout on a plate

हम सभी जानते है कि हर चीज का कुछ न कुछ साइड इफ़ेक्ट होता है। उसी तरह स्प्राउट्स का भी साइड इफ़ेक्ट होता है इसके पीछे कई कारण हो सकते है। जो हम आपको बताने वाले है।

  1. अंकुरित अनाज को ज्यादा समय तक रखने कई बार इसमें कुछ बैक्टीरिया पनप जाती है और फूड पॉइजनिंग, उल्टी, दस्त या अन्य कई प्रकार की समस्या आ सकती है। इसीलिए इसे ज्यादा समय तक न रखे, सेवन करने से पहले इसे ठीक से धो ले या आप इसे उबाल कर भी उपयोग कर सकते है।
  2.     इसे ज्यादा खाने से कई बार पेट में ऐठन, दस्त और उलटी जैसी समस्या आ सकती है। इससे बचने के लिए इसका पर्याप्त मात्रा में सेवन करें।
  3.   यदि आप गैसट्रिटाइटिस, डायरिया, गैस्ट्रिक अल्सर या पैंक्रियाटाइटिस के मरीज़ हैं, तो स्प्राउट्स के सेवन से पहले किसी डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.