कर्मचारी चयन आयोग क्या है? Staff Selection Commission History and Function in Hindi

आईये जानते हैं (एसएससी) कर्मचारी चयन आयोग क्या है? Staff Selection Commission History and Function in Hindi (SSC Kya hai?)

एसएससी – कर्मचारी चयन आयोग क्या है? Staff Selection Commission History and Function in Hindi (SSC Kya hai?)

SSC Kya hai?

एस. एस. सी. (SSC) यानि कि स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (Staff Selection Commission)। यह एक भारतीय संगठन अथवा आयोग है, जो भारत सरकार के अनेक मंत्रालयों तथा विभागों में अनेक पदों के लिए विभिन्न प्रकार की परीक्षाओं का आयोजन कर चयनित प्रतिभागियों को रोज़गार प्रदान करता है। यह अधीनस्थ कार्यालयों के लिए भी कर्मचारियों का चयन करता है। 

भारत की आंकलन समिति द्वारा जारी की गई 47वीं रिपोर्ट (1967- 68) के हवाले से संसद के समक्ष भारत में निचले पदों की रिक्तियों में भर्ती करने हेतु एक सेवा चयन आयोग (Service Selection Board) की स्थापना करने का प्रस्ताव रखा गया था। जिसके फलस्वरूप, कर्मचारी चयन आयोग का गठन 4 नवम्बर, 1975 को कार्मिक तथा प्रशिक्षण मंत्रालय (DoPT) के अन्तर्गत किया गया।

पूर्व में इसका नाम अधीनस्थ सेवा आयोग (Sub- ordinate Service Commission) था, जिसे बाद में बदलकर 26 सितम्बर, 1977 को एस. एस. सी. (SSC) अर्थात कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) कर दिया गया। इस आयोग का संचालन एक चेयरमैन (chairman) की अध्यक्षता में, दो सहायक सदस्य तथा एक सचिव- सह- परीक्षा नियंत्रक (Secretary- cum- controller of examination) के सहयोग से किया जाता है।

कर्मचारी चयन आयोग का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत (New Delhi, India) में स्थित है। यह आयोग कार्मिक तथा प्रशिक्षण मंत्रालय (Department of Personnel and Training) के अंतर्गत कार्य करता है। हर वर्ष एस. एस. सी. (SSC) द्वारा विभिन्न सरकारी पदों में गैर- राजपत्रित अधिकारियों (non- gazetted officers) की भर्ती के लिए एस. एस. सी. कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल एग्जाम (SSC Combined Graduate Level Examination) परीक्षा का आयोजन किया जाता है। 

इसे भी पढ़ें -  भारत में जल संसाधन Water resources in India Hindi

इसके अलावा परीक्षाओं का आयोजन आसानी से, बिना किसी तरह की बाधा के हो जाये, इसलिए यह क्षेत्रीय स्तर पर भी प्रयासरत रहता है। वर्तमान में, संपूर्ण भारत में इस के सात क्षेत्रीय कार्यालय (regional offices) भी उपस्थित हैं, जो कि प्रयागराज (Prayagraj), मुम्बई (Mumbai), कोलकाता (Kolkata), दिल्ली ( Delhi), चेन्नई (Chennai), गुवाहाटी (Guwahati) तथा बेंगलुरु (Bengluru) में स्थित हैं। साथ ही साथ कर्मचारी चयन आयोग के दो अन्य उप- क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर (Raipur) तथा चंडीगढ़ (Chandigarh) में स्थित हैं। 

कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) विभिन्न पदों तथा सेवाओं की रिक्ति को भरने के लिए देश भर में प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन करवाता है। ग्रुप बी (Group B) तथा ग्रुप सी (Group C) पद- स्तरों के मध्य तकरीबन 20 से भी अधिक प्रकार के कार्यों के लिए कर्मचारियों की भर्ती की जाती है। सामान्यतः एस. एस. सी. (Staff Selection Commission) की परीक्षा में शामिल होने के लिए योग्यता के रूप में किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री (Bachelor degree in any stream) मांगी जाती है।

इसके अलावा कुछ विशेष पदों जैसे कि सब- इंस्पेक्टर (Sub- Inspector), नारकोटिक्स विभाग (Narcotics Department) इत्यादि, में कर्मचारियों के चयन हेतु विशेष रूप से शारीरिक फुर्ती तथा सक्षमता के कुछ अनिवार्य मानक निर्धारित किये जाते हैं। जिन्हें पूर्ण करने के बाद ही प्रतिभागी को आगे की प्रक्रिया के लिए चयनित किया जाता है। 

कर्मचारी चयन आयोग के प्रमुख कार्य (Major Functions of the Staff Selection Commission): 

एस. एस. सी. (SSC) यानी कि कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) द्वारा किये जाने जाने कार्यों में से

कुछ प्रमुख कार्य निम्नलिखित हैं: 

• भारत सरकार के मंत्रालयों, विभागों तथा उनके अधीनस्थ कार्यालयों (sub- ordinate offices) में ग्रुप बी (Group B) पदों में रिक्ति हेतु भर्ती- प्रक्रिया आयोजित करना तथा सरकार के मंत्रालयों, विभागों में ग्रुप सी (Group C) पदों में गैर- तकनीकी रिक्तियों (non- technical posts) की पूर्ति के लिए भर्ती- प्रक्रिया (recruitment- process) का आयोजन करना।

इसे भी पढ़ें -  एक आकर्षक रिज्यूम कैसे बनाएं? How to make an attractive Resume in Hindi?

• अपने कार्य क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली पद- रिक्तियों की पूर्ति के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं तथा अनेक प्रकार के साक्षात्कारों (interviews) का आयोजन करना।

• विभाग के अंदर के कर्मचारियों के निचले पद से ऊपरी पद तक पहुंचने की प्रोन्नति (promotion ) करने हेतु विभिन्न प्रकार की परीक्षाएं आयोजित करना।

• समय समय पर हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं के टाइपिस्ट पद हेतु टाइपिंग (typing) की परीक्षा आयोजित करना।

• समय समय पर केंद्रीय सरकार द्वारा सौंपे गए कार्यों को भी पूर्ण करना।

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित कराई जाने वाली परीक्षाएं (Exams conducted by Staff Selection Commission): 

वर्तमान में एस. एस. सी. एक स्वतंत्र आयोग के रूप में कार्य कर रहा है, जो विभिन्न मंत्रालयों तथा विभागों में पदों की रिक्ति पूर्ति हेतु कर्मचारियों का चयन करने के लिए अनेक प्रकार की परीक्षाएं तथा भर्ती प्रक्रियाएं आयोजित कराने में व्यस्त है। पूर्व के वर्षों में, एस. एस. सी. द्वारा निम्नलिखित परीक्षाओं का आयोजन करवाया गया है:-

• एस. एस. सी. कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल एग्जामिनेशन (SSC Combined Graduate Level Examination): SSC CGL

• एस. एस. सी. कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल एग्जामिनेशन (SSC Combined Higher Secondary Level Examination): SSC CHSL

• जूनियर इंजीनियर (Junior Engineer)

• हिंदी ट्रांसलेटर (Hindi Translator)

• एस. एस. सी. जी. डी. कांस्टेबल (SSC GD Constable)

• एस. एस. सी. मल्टीटास्किंग (SSC Multitasking): SSC MTS

• साइंटिफिक असिस्टेन्ट पोस्ट (Scientific Assistant Post)

• सिलेक्शन पोस्ट (Selection Post)

• एस. एस. सी. सेंट्रल पुलिस आर्गेनाईजेशन (SSC Central Police Organisation): SSC CPO

• स्टेनोग्राफर (Stenographer), इत्यादि।

SSC की Official Website

https://ssc.nic.in/


शेयर करें

1 thought on “कर्मचारी चयन आयोग क्या है? Staff Selection Commission History and Function in Hindi”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.