पर्यायवाची शब्द की परिभाषा व उदाहरण Synonym – Paryayvachi Shabd in Hindi VYAKARAN

आज के इस आर्टिकल में आप जानेंगे प्रतिशब्द या पर्यायवाची शब्द की परिभाषा व उदाहरण Synonym – Paryayvachi Shabd in Hindi VYAKARAN

पर्यायवाची शब्द की परिभाषा व उदाहरण Synonym – Paryayvachi Shabd in Hindi VYAKARAN

पर्यायवाची शब्दों की परिभाषा 

पर्यायवाची शब्द उन्हें कहते हैं, जब भिन्न-भिन्न शब्दों का अर्थ समान हो, अर्थात एक ही शब्द के स्थान पर समान अर्थ वाले अलग अलग शब्द प्रयोग किये जा सके। इसी कारण से इन्हें समानार्थी शब्दों के नाम से भी जाना जाता है।यद्यपि इन शब्दों के अर्थ एक समान होते हैं, परंतु अलग अलग स्थान पर इनका प्रयोग करते समय अत्यंत ही सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है।

उदाहरण के तौर पर:

अटल- अविचल, अडिग, स्थिर, अचल। 

अभिनंदन- स्वागत, सत्कार, आवभगत, अभिवादन।

आजीविका- व्यवसाय, रोजी-रोटी, वृत्ति, धंधा। 

अंशु- रश्मि, किरण, मयूख, मरीचि।

अंकुश- नियंत्रण, पाबंदी, रोक।

आक्रोश- क्रोध, रोष, कोप, रिष, खीझ। 

असुर – दैत्य, दानव, राक्षस, निशाचर, दनुज, रात्रिचर।

अंग- अंश, अवयव, हिस्सा, भाग।

अमृत- सुधा, सोम, पीयूष, अमिय, जीवनोदक।

अर्थ- हय, तुरंग, वाजि, घोड़ा, घोटक।

अहंकार- दंभ, अभिमान, दर्प, मद, घमंड।

अतिथि – मेहमान, अभ्यागत, आगन्तुक।

आयुष्मान- दीर्घायु, दीर्घजीवी, चिरंजीवी, चिरायु। 

ईख- गन्ना, ऊख, इक्षु। 

ईप्सा- इच्छा, ख्वाहिश, कामना, अभिलाषा। 

इन्द्राणि- इन्द्रवधू, मधवानी, शची, शतावरी।

इजाजत- स्वीकृति, मंजूरी, अनुमति। 

ईश्वर – परमात्मा, प्रभु, जगदीश, भगवान, परमेश्वर।

ईर्ष्या- विद्वेष, जलन, कुढ़न, ढाह। 

इल्ज़ाम- आरोप, लांछन, दोषारोपण, अभियोग।

इंतकाल- देहांत, निधन, मृत्यु, अंतकाल। 

उचित – मुनासिब, वाज़िब,युक्तिसंगत, न्यायसंगत, तर्कसंगत।

उजाड़ – जंगल, बियावान, वन।

उजाला – प्रकाश, रोशनी, चाँदनी।

उत्कोच – घूस, रिश्वत।

उत्पत्ति – उद्गम, जन्म, उद्भव, आविर्भाव, उदय।

उद्धार – मुक्ति, छुटकारा, निस्तार।

उपाय – युक्ति, तरकीब, तदबीर, यत्न।

ऊधम – उपद्रव, उत्पात, हुल्लड़, हुड़दंग, धमाचौकड़ी।

ऐश्वर्य – समृद्धि, विभूति।

इसे भी पढ़ें -  पर्यावरण और इसके तत्व Article on Environment and its Components in Hindi

ओंठ– ओष्ठ, अधर, होंठ।

औरत – स्त्री, जोरू, घरवाली।

किसान – कृषक, भूमिपुत्र, हलधर, खेतिहर, अन्नदाता।

कोयल – कोकिला, पिक, बसंतदूत, सारिका, वनप्रिया।

ऋषि – मुनि, साधु, यति, संन्यासी, तेजस्वी।

कबूतर – कपोत, रक्तलोचन, पारावत।

कपड़ा – चीर, वसन, पट, वस्त्र, परिधान।

खल – दुर्जन, दुष्ट, घूर्त, कुटिल।

खून – रक्त, लहू, शोणित, रुधिर।

खग – पक्षी, विहग, नभचर, पखेरू।

गुरु – शिक्षक, आचार्य, उपाध्याय ।

गणेश – विनायक, गजानन, गणपति, लम्बोदर, एकदन्त।

गाय – गौ, धेनु, भद्रा, सुरभि।

गज – हाथी, हस्ती, मतंग, मदकल ।

गृह – घर, सदन, धाम, निकेतन, निवास, आवास।

गंगा – देवनदी, मंदाकिनी, भगीरथी, देवनदी, जाह्नवी।

घट – घड़ा, कलश, कुम्भ, निप।

घृत – घी, अमृत, नवनीत। 

घास – तृण, दूर्वा, दूब, कुश।

चतुर – निपुण, कुशल, दक्ष, प्रवीण, योग्य।

चंद्रमा – चाँद, चन्द्र, शशि, रजनीश, सोम।

चरण – पद, पग, पाँव, पैर, पाद।

चाँदी – रजत, सौध, रूपा, रूपक, चन्द्रहास।

चोटी – मूर्धा, सानु, शृंग।

छली – छलिया, कपटी, धोखेबाज।

छैला – सजीला, बाँका, शौकीन।

छवि – शोभा, सौंदर्य, कान्ति, प्रभा।

छानबीन – जाँच, पूछताछ, खोज, अन्वेषण।

जल – सलिल, वारि, नीर, तोय, अम्बु, पानी।

जीभ – रसज्ञा, जिह्वा, वाणी, वाचा, जबान।

जंगल – कानन, वन, अरण्य, बीहड़, विटप।

तरुवर – वृक्ष, पेड़, द्रुम, तरु, पादप।

तलवार – असि, कृपाण, करवाल।

तीर – शर, बाण, अनी, सायक।

तालाब – सरोवर, जलाशय, पुष्कर, पोखरा, तड़ाग।

दरिद्र – निर्धन, ग़रीब, रंक, कंगाल, दीन।

दुःख – पीड़ा,कष्ट, व्यथा, वेदना, संताप, शोक, खेद, पीर।

दास – सेवक, नौकर, चाकर, अनुचर, भृत्य।

दिन – दिवस, याम, दिवा, वार।

दीन – ग़रीब, दरिद्र, रंक, निर्धन, कंगाल।

दर्पण – शीशा, आरसी, आईना।

धरती – धरा, वसुधा, वसुंधरा, अचला, मही, रत्नगर्भा।

नाव – नौका, तरणी, तरी।

नया – नूतन, नव, नवीन, नव्य।

पक्षी – खगचर, दविज, पंछी, विहंग, नभचर।

पति – स्वामी, प्राणाधार, प्राणप्रिय।

पुत्र – बेटा, आत्मज, सुत, तनुज, तनय।

इसे भी पढ़ें -  बेहतरीन प्रेरणादायक किताबें Best 10 Inspirational Motivational Books Hindi

पुत्री – बेटी, आत्मजा, सुता, तनूजा, तनया।

पत्नी – भार्या, अर्धांगिनी, सहधर्मिणी, वनिता, वामांगिनी।

पुष्प – फूल, सुमन, कुसुम, मंजरी, प्रसून।

बन्दर – वानर, कपि, हरि।

बगीचा – वाटिका, उपवन, उद्यान, फुलवारी, बगिया।

बाल – कच, केश, चिकुर, चूल।

बलदेव – बलराम, बलभद्र, हलायुध, रोहिणेय।

ब्राह्मण – द्विज, भूदेव, विप्र, महीदेव, भूमिदेव।

भाई – तात, अनुज, अग्रज, भ्राता, भ्रातृ।

भूषण – जेवर, गहना, आभूषण, अलंकार।

मनुष्य – नर, मानव, मानुष, मनुज।

मृग – हिरण, सारंग, कृष्णसार।

मछली – मीन, मत्स्य, जलजीवन, शफरी, मकर।

मित्र – सखा, सहचर, साथी, दोस्त।

यमुना – कालिन्दी, सूर्यसुता, रवितनया, तरणि-तनूजा।

यम – सूर्यपुत्र, जीवितेश, अन्तक, दण्डधर, कीनाश।

युवति – सुंदरी, श्यामा, किशोरी, तरुणी, नवयौवना।

रात्रि – निशा, रैन, यामिनी, शर्वरी, विभावरी।

रावण – दशानन, लंकेश, लंकापति, दशकंधर।

लड़का – बालक, सुत, किशोर, कुमार।

लड़की – बालिका, सुता, किशोरी,कुमारी, बाला, कन्या।

लक्ष्मण – लखन, शेषावतार, सौमित्र, रामानुज।

वायु – हवा, पवन, समीर, अनिल, मारुत।

विष – ज़हर, हलाहल, गरल, कालकूट।

विद्युत – चपला, चंचला, दामिनी, तड़ित, क्षणप्रभा।

बारिश – वृष्टि, वर्षा, पावस, बरसात।

वृक्ष – गाछ, तरु, पेड़, पादप, विटप।

शेर – केहरि, केशरी, वनराज, सिंह।

शुभ्र – गौर, श्वेत, अमल, शुक्ल।

षडानन – षटमुख, कार्तिकेय, षाण्मातुर।

शहद – पुष्परस, मधु, रस, मकरन्द।

षंड – हीजड़ा, नपुंसक, नामर्द।

साँप – अहि, भुजंग, सर्प, विषधर, उरग।

सूर्य – दिनकर, आदित्य, दिनेश, भास्कर, भानु।

सभा – अधिवेशन, संगीति, परिषद, बैठक, महासभा।

सोना – स्वर्ण, कंचन, कनक, कुंदन।

समुद्र – सागर, नदीश, जलधि, रत्नाकर, वारिधि।

समीप – सन्निकट, आसन्न, निकट, पास।

सरस्वती – गिरा, शारदा, भारती, वीणापाणि, विमला।

सहेली – अली, सखी, सहचरी, सजनी, सैरन्ध्री।

हिमांशु – हिमकर, निशाकर, चन्द्रमा, चन्द्र।

हंस – मराल, सिपपक्ष, मानसौक।

हाथी – हस्ती, कुंजर, कूम्भा, मतंग, गज, द्विप।

हस्त – हाथ, कर, पाणि, बाहु, भुजा।

हिमालय – हिमगिरी, हिमाचल, गिरिराज, पर्वतराज।

हिरन– कुरग, मृग, सारंग, हिरण

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.