US प्रेसिडेंट Donald Trump की The Beast और अन्य Safety की पूरी जानकरी

जानिए अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की सुरक्षा में “The beast” उनकी कार के अलावा और क्या क्या है जो उनको मजबूत और सुरक्षित बनाता है?

यह सभी भारतीयों के लिए गर्व की बात है की अब पुरे विश्व का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम भारत में है और सभी को पता है अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप 24 फरवरी को भारत आ रहे हैं , ट्रंप पहले तो सरदार पटेल स्टेडियम जायेंगे और उसका भव्य  उद्घाटन उनके द्वारा होगा।

आज हम जानेंगे की दुनिया के सबसे शक्तिशाली इंसान की सुरक्षा में usa security force किन किन हदों के पार जाकर अपने राष्ट्रपति की रक्षा कर सकती है।

सबसे पहले एक महत्वपूर्ण बात की उनके आने के एक महीने पहले ही सुरक्षा की सारी तैयारियां हो चुकी होती है बाकी रहता है तो सिर्फ सुरक्षा का अभ्यास और जितना हो सके सतर्कता का माहौल तैयार रखना।

यह सब करते समय सुरक्षा एजेंसियों को बड़ी ही मुश्किलों का सामना करना पड़ता है और वे इस काम में माहिर होते है इन सब के बिच उन्हें सबसे जरुरी चीज़ राष्ट्रपति के कम्फर्ट का भी ख्याल रखना पड़ता है।

पढ़ें: डोनाल्ड ट्रम्प की जीवनी

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा चर्चित Donald Trump car – The Beast

ट्रंप जिस कार से स्टेडियम जायेंगे, यह कार पूरी दुनिया के अद्वितीय कारों में से एक है यह कार अमेरिका सुरक्षा एजेंसी ने ख़ास  उनकी सुरक्षा के लिए बनाया है यानी भारत में किन्ही और कार का इस्तेमाल वे शायद न करें।

एक राष्ट्रपति के ओह्दे के अनुसार जब भी उन्हें किसी दूसरे देश की यात्रा पर जाना होता  हैं, तो वे इस कार को साथ लेकर जाते हैं उनके इस सबसे सुरक्षित साथी यानी उनके कार का नाम  “The Beast” है।

इसे भी पढ़ें -  रस की परिभाषा, प्रकार, उदहारण Ras in Hindi VYAKARAN

24 सितंबर, 2018 से राष्ट्रपति ट्रंप इसकी सवारी करते हैं। उनके सुरक्षा के लिए इस कार में इतनी खासियत है जिन्हें सुनकर कोई भी आश्चर्यचकित हो सकता है।

क्या आपको पता है ट्रंप के किसी भी देश के दुरे पर पहुंचने से पहले उनकी कार वहां पहुच जाती है और उस कार के साथ कई दिन तक सुरक्षा के ड्रिल्स किये जाते हैं ये कब और कहाँ होती है कौन-कौन से ऑफिसर इस ड्रिल में शामिल होते हैं ये किसी को भी पता नहीं होता।

क्या आप इन खूबियों के बारे में जानते हैं? Donald trump Car – The beast safety features

The beast के खूबियों पर नज़र डालेंगे तो आप पाएंगे की इन चीज़ों को हमने पहले कभी भी नहीं देखा या सुना। जरुरी नहीं की मात्र इतनी ही खूबियाँ हो इस कार The Beast में क्योंकि बहुत से जरुरी तथ्य सुरक्षा एजेंसियां राज़ ही रखती हैं।

क्या आपको पता है की इस The beast car में 8 इंच जितनी मोटी परत मिलिट्री ग्रेड आर्मर से बनी हैं यानी एक घर के दीवाल जितनी मोटी परत जिसपर किसी भी आकार की गोली का कोई भी असर नहीं होगा इसके इतने तक्निकरण से इसपर ग्रेनेड , केमिकल बम या अन्य किसी भी हमलो का कोई भी असर नहीं होगा।

इस कार में उपयोग हुई खिड़कियाँ उच्च गुणवत्ता के बुलेटप्रूफ कांच से बने हैं इसके खिड़कियों के शीशे पॉलीकार्बोनेट के पाँच परतों से मिलकर बना हुआ है और राष्ट्रपति के खिड़की का शीशा नहीं खुलता मात्र ड्राईवर का शीशा सिर्फ 3 इंच जितना खुल सकता है।  इस कार के ड्राईवर को US सीक्रेट सर्विस चुनती और प्रशिक्षण देती है।

अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प की ‘The Beast’ कार के पिछले हिस्से में एक कंपार्टमेंट है उसी में राष्ट्रपति बैठते हैं यह कम्पार्टमेंट ड्राइवर और यात्रियों को अलग करता है इन अलग करने वाले केबिन के बिच में भी उन्ही बुलेटप्रुफ कांच का उपयोग किया गया है

इसे भी पढ़ें -  अव्यय की परिभाषा, भेद और उदाहरण Indeclinable - Avyay in Hindi VYAKARAN

और इस पार्टीशन का स्विच केवल राष्ट्रपति के पास होता है जिस सीट पर ट्रम्प बैठते है उन्हें भी 100 प्रतिशत बुलेटप्रुफ लेदर से बनाया जाता है उनके सीट के पास एक सैटेलाइट फोन होता है जिसका सीधा कनेक्शन उपराष्ट्रपति और सुरक्षा के हेडक्वार्टर पेंटागन के साथ होता है।

यह कार एक प्रकार से एक तोप के गुणों को धारण करता है बल्कि तोप से अधिक इसमें आधुनिक shotguns , tear gas और tear gas grened launcher लगा होता है साथ ही और भी अन्य बहुत से फीचर्स होते हैं जिनका उनके ड्राईवर के अलावा किसी को पता नहीं होता यह फीचर्स समय-समय पर बदलते रहते हैं यानी हथियारों का स्थान निश्चित नहीं होता।

इस कार में ऑक्सीजन की व्यवस्था रहती है ताकि केमिकल हमले के समय में उन्हें कोई दिक्कत न हो कार में राष्ट्रपति के ब्लड ग्रुप का खून भी हमेशा मौजूद रहता है।

इस कार के टायर नैनो-टेक्नोलॉजी के बेहतर कारीगरी से बनाया गया है जो कभी  भी पंक्चर नहीं हो सकते और न ही इस पर किसी भी बम हमले का कोई असर होगा अगर किसी कारण टायर को कोई भी नुकसान होता है तो इसमें स्टील की रिम का प्रयोग किया गया है मतलब यह कार रिम पर भी उतनी ही रफ़्तार से भाग सकती है।

इस कार में हाई क्वालिटी के कैमरे का उपयोग किया गया है जो अँधेरी रात में भी साफ़ रास्ता दिखा सकती हैं।

The beast car अकेला नहीं है। सीक्रेट सर्विस में वास्तव में The beast जैसी कई गाड़ियां हैं। हालांकि यह किसी को भी नहीं पता की क्या वे सभी कार्यात्मक रूप से समान हैं, कुछ द बीस्ट की तुलना में कैडिलैक CT6 की तरह दिखते हैं।

The Beast से भी बेहतर Aircraft “air force one”

air force one usa

‘एयर फोर्स वन’ यह  दुनिया का सबसे सुरक्षित एयरक्राफ्ट माना जाता है इसका प्रयोग डोनाल्ड ट्रम्प हवाई यात्रा के लिए करते हैं “एयरफोर्स वन” इस पर इसी नाम से हॉलीवुड ने एक फिल्म भी बनाई.

इसे भी पढ़ें -  बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना Beti Bachao Beti Padhao Yojana Benefits in Hindi (BBBPY)

इसे हवा में उड़ता ‘वाइट हाउस’ कहा जाता है यानी की इसमें वाइट हाउस जितनी सुविधाएँ है   सबसे बड़ी और आश्चर्य-जनक बात की  ‘Air Force One’ किसी भी न्यूक्लियर ब्लास्ट को आसानी से झेल सकता है. ‘The Beast’ और ‘Air Force One’ के अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति का एक आधिकारिक हेलिकॉप्टर भी होता है उसका  नाम है “ Marine One” ट्रंप का एक ऑफिशल एस्कॉर्ट एयरक्राफ्ट भी है “Osprey MV-22”

एयर फोर्स वन दो समान हाई क्वालिटी के बोइंग 747-200 बी जेट श्रृंखला के विमानों का नाम है, जिनका सीक्रेट कोड 28000 और 29000 होता है यानी आप यह समझ सकते हैं की रूजवेल्ट से ट्रम्प तक सभी अमेरिकी राष्ट्रपतियों को इन्ही बोइंग हवाई जहाजों ने दुनिया भर में यात्रा करवाया है।

यह  एयर क्राफ्ट  “फ्लाइंग ओवल ऑफिस” के रूप में भी जाना जाता है इस एयर क्राफ्ट में तीन स्तरों पर 4,000 वर्ग फुट जितना स्थान होता  है। इसमें राष्ट्रपति और उनके परिवार के लिए विशेष व्यवस्था होती है साथ ही भोजन कक्ष के लिए अलग क्वार्टर हैं। विमान में वरिष्ठ स्टाफ सदस्यों के लिए भी एक कार्यालय क्षेत्र भी है।

एयर फोर्स वन वर्गीकृत रक्षा प्रणाली और एयर-टू-एयर, एयर-टू-ग्राउंड और उपग्रह संचार के लिए बहु-आवृत्ति रेडियो से सुसज्जित है। यह बेहतरीन सुरक्षित संचार उपकरणों से लैस होता है, जिससे यह एयर क्राफ्ट अमेरिका पर हमले की स्थिति में मोबाइल कमांड सेंटर के रूप में कार्य कर सकता है। एयर फोर्स वन में अत्याधुनिक नेविगेशन, इलेक्ट्रॉनिक और संचार उपकरण शामिल हैं;

कथित तौर पर, एयर फोर्स वन विमानों को वाशिंगटन, डीसी के पास मैरीलैंड में एंड्रयूज एयर फोर्स बेस पर आधारित किया गया है, और वायु सेना के एयर मोबिलिटी कमांड के 89 वें एयरलिफ्ट विंग को सौंपा गया है।

USA सिक्योरिटी एजेंसी हर रोज़ इसे और बेहतर बनाने में कार्यरत है यह तो मात्र दो तीन ऐसे वाहनों की जानकारी है जिसका उल्लेख किया जाता है ऐसे न जाने कितने और भी वाहन हैं जो इनसे कई गुना ज्यादा ताकतवर हैं।

Image Source-

https://en.wikipedia.org/wiki/Air_Force_One#/media/File:Air_Force_One_over_Mt._Rushmore.jpg
https://commons.wikimedia.org/wiki/File:Trump-Inauguration2017-1050923_(31620569063).jpg

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.