विश्व तंबाकू निषेध दिवस World No Tobacco Day Essay in Hindi

विश्व तंबाकू निषेध दिवस World No Tobacco Day Essay in Hindi

31 मई को हर साल दुनिया भर में विश्व तंबाकू निषेध दिवस (डब्लू एन टी डी) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य दुनिया भर में तंबाकू की खपत के सभी रूपों से 24 घंटे की रोकथाम को प्रोत्साहित करना है।

इस दिन का उद्देश्य तंबाकू के व्यापक प्रसार और नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों पर ध्यान आकर्षित करना है, जो वर्तमान में दुनिया भर में लगभग 6 मिलियन मौतों का कारण बनते हैं। जिनमें 600,000 लोग शामिल हैं। इसमें दूसरे के द्वारा किये गये धूम्रपान का असर अन्य व्यक्ति पर भी पड़ता है।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस World No Tobacco Day Essay in Hindi

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यू एच ओ) के सदस्य राज्यों ने 1987 में विश्व तंबाकू निषेध दिवस बनाया गया। इस दिन को मनाने के पीछे का कारण यही है कि आम जनता तम्बाकू से होने वाले नुकसान को जाने और तम्बाकू से बने पदार्थों से पूरी तरह दूर रहे।

हम कह सकते है कि तम्बाकू एक धीमे जहर की तरह होता है, जो उपयोग करने वाले व्यक्ति को धीरे-धीरे मौत के मुँह की ओर धकेल देता है फिर भी लोग जाने अनजाने में तम्बाकू उत्पादों का सेवन करते जा रहे है। धीरे-धीरे यह शौक लत मेँ बदल जाता है और तब नशा आनंद प्राप्ति के लिये नहीं बल्कि ना चाहते हुये भी लोग करते है।

इसे भी पढ़ें -  यदि मैं एक इंजीनियर होता Essay - If I were an Engineer in Hindi

तम्बाकू उत्पादों का सेवन व्यक्ति अलग-अलग रूप में करता है, जैसे सिगरेट, बीड़ी, जर्दा, गुटखा, खैनी, हुक्का, चिलम आदि। यही धूम्रपान धीरे-धीरे आदमी को मौत के मुँह में ले जा रहा है। इस दिन हमें यह सुनिश्चित करना चहिये कि ना हमें नशा करना है बल्कि दूसरों को भी नशा करने से रोकना है।

तम्बाकू उत्पादों से नुकसान Harmful effects of Tobacco products in Hindi

  • तम्बाकू में उत्तेजना देने वाला एक मुख्य घटक निकोटीन होता है यही तत्व मनुष्य के लिये सबसे ज्यादा खतरनाक होता है।
  • तम्बाकू खाने से गला, मुँह्  तथा श्वासनली व फेफडोँ का कैंसर होता है।
  • तम्बाकू खाने से दिल की बीमारियाँ होती है।
  • उच्च रक्तचाप हो जाता है।
  • अम्लपित
  • पेट का अल्सर
  • तम्बाकू उत्पादों के सेवन से अनिद्रा आदि रोगों की सम्भावना बढ़ जाती है।
  • तम्बाकू मे उपयोग होने वाले उत्पादों से कैंसर उत्पन्न करने वाले कई तत्व पाये जाते है।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस अभियान का उद्देश्य तम्बाकू और सी वी डी के बीच संबंधों पर जागरूकता बढ़ाने और व्यवहार्य उपायों को बढ़ावा देना है। विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2019 में तंबाकू के खिलाफ लड़ाई है। डब्ल्यू एच ओ तंबाकू के नुकसान से लोगों की रक्षा के लिए दुनिया भर में सरकारों को प्रोत्साहित करता है।

तंबाकू निषेध उपाय में शामिल हैं Say No to Tobacco Measures Includes

  1. धूम्रपान मुक्त सार्वजनिक स्थानों, कार्यस्थलों, और सार्वजनिक परिवहन का निर्माण।
  2. जो तंबाकू छोड़ने का विकल्प चुनते हैं उन लोगों की सहायता लिये टोल-फ्री नंबर उपलब्ध लाइनें है।
  3. तंबाकू के उपयोग से नुकसान और अन्य किसी के द्वारा किये गये धूम्रपान के बारे में लोगों को शिक्षित करने वाले प्रभावी तंबाकू मास मीडिया अभियानों को लॉन्च करना।
  4. उन्हें कम किफायती बनाने के लिए तंबाकू उत्पादों पर कर बढ़ाना।

विश्व तंबाकू निषेध दिवस का मुख्य कार्य Main theme of World No Tobacco Day

  • तम्बाकू उत्पादों और दिल और अन्य कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों के उपयोग के बीच संबंधों का प्रचार करना है।
  • तंबाकू के उपयोग के प्रभाव से व्यापक जनता के भीतर जागरूकता बढ़ाएं और दूसरों के द्वारा फैलाये गये धुएं को रोकना है।
  • डब्ल्यू एच ओ एफ सी टी सी में निहित एम पी ओ ए आर तंबाकू नियंत्रण उपायों के कार्यान्वयन को मजबूत करने के लिए देशों को प्रोत्साहित करना है।
इसे भी पढ़ें -  2019 हिन्दी दिवस पर निबंध , इतिहास व महत्व Essay on Hindi Diwas in Hindi

तम्बाकू को छोड़ने के कुछ घरेलू नुस्खे Home Remedies for Quitting Tobacco Addiction

  1. 50 ग्राम सौंफ और समान मात्रा में अजवायन लेकर दोनों को तवे पर थोड़ा भून ले। थोड़ा नींबू का रस उसमें डाले एवँ हल्का काला नमक डाल दे। यह मिश्रण एक डब्बी में रख ले और उसे अपनी जेब में रख लें। जब भी सिगरेट या तम्बाकू आदि खाने का मन हो तो कुछ दाने खा लेँ एवं चबाते रहे इससे तलब कम हो जायेगी, इससे हमें अरुचि और गैस  में आराम मिलेगा।
  2. गुनगुने पानी मे नींबू का रस एवँ शहद डालकर पीने से यह आदत कम हो जाती है तथा नशे के विषाक्त तत्वों को भी शरीर से बाहर निकालते है।
  3. एक पैकिट में सूखे आँवले के कुछ टुकडे, सौंफ, इलायची, हर्र के टुकड़े अपने पास रखे ताकि जब तलब लगे तो कुछ टुकडे मुँह में रख ले और उसे चबाते रहें इनसे यह आदत तो कम होती ही साथ ही खट्टी डकार ,भूख ना लगना, पेट फूलना आदि में भी आराम मिलता है।
  4. अपने खान पान के समय में सुधार करें।
  5. किसी के बाध्य करने पर भी आपको नशा नहीं करना चहिये।
  6. नशे की लत एक बार मेँ झटके से नहीं छोड़ पाते है, तो इसे धीरे-धीरे छोड़ना चहिये।
  7. अपने साथ गुटखा, सिगरेट, तम्बाकू, और माचिस आदि सभी सामान रखना छोड देँ। (यह जानकारी अपनी वेबसाइट सोर्स से लिया गया है, अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें)

तंबाकू का नशा छोड़ते वक्त होने वाली कुछ परेशानियाँ Problems arises during leaving Tobacco in Hindi

बीडी, गुटखा, सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पादोँ का नशा छोड़ने पर लोगों को अनेक परेशानियां उत्पन्न होती है जिससे कुछ लक्षण दिख सकते हैं- (यह जानकारी मात्र जानकारी हेतु है)

  • चिंता।
  • ह्रदय की धडकन बढना।
  • बेचैनी।
  • नींद ना आना।
  • भूख ना लगना।
  • ज्यादा पसीना आना।
  • सिर दर्द आदि।
  • नशे की तीव्र इच्छा होना।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.